*कोरोना काल मे छात्रों तक शिक्षा पहुँचाना सभी शिक्षकों का नैतिक दायित्व-बीईओ जायसवाल*

*कोरोना काल मे छात्रों तक शिक्षा पहुँचाना सभी शिक्षकों का नैतिक दायित्व-बीईओ जायसवाल*

पथरिया- (रवि निर्मलकर)
शिक्षा विभाग द्वार कोविड 19 के इस दौर में छात्रों को शिक्षा से जोड़े रखने और उन तक पहुँच कर शिक्षा प्रदान करने के नित नए नए प्रयास कर रही है इसके लिए शासन की महत्वाकांक्षी योजना पढ़ई तुंहर दुवार योजना लाई गई जिसके अंतर्गत आन लाइन पढ़ाई , लाउड स्पीकर से पढ़ाई , मोहल्ला पाठशाला के साथ साथ सामुदायिक सहभागिता से पढ़ाई जैसे कई नवाचार शामिल है ।चूंकि ये सभी प्रयास पहले कभी अभ्यास में शामिल नही था इसलिए धरातल पर कई चुनौतियों का सामाना भी शिक्षकों को करना पड़ रहा है । ग्रामीण क्षेत्रो में पढ़ई तुंहर दुवार के क्रियान्वयन में आ रही समस्यों के समाधान और नवीन कार्य योजना की चर्चा के लिए जिला मिशन समन्वयक वी पी सिंग और सहायक परियोजना समन्वयक और पढ़ई तुंहर दुआर के जिला नोडल अधिकारी पीसी दिव्य ने पथरिया बीआरसी भवन में विकास खंड के सभी संकुल समन्यवयकों की बैठक लेकर हर हाल में ग्रामीण छात्रों तक शिक्षा पहुचाने के लिए कार्य योजना पर चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए ।इस बैठक में पढ़ई तुंहर दुवार के ब्लाक नोडल अधिकारी एबीओ रामजी पाल ने बताया कि विकास खंड के 238 प्राथमिक और मिडिल स्कूलों के लगभग सभी शिक्षकों का पंजीयन ऑनलाइन कक्षा के लिए विभाग के वेबसाइट में किया जा चुका है और ऑनलाइन क्लासेस भी चल रही है वही क्षेत्र के सभी 96 पंचायत मुख्यालय में लाउड स्पीकर से पढ़ाई के लिए शिक्षकों की सूची बनाई गई है । अब ऑनलाइन कक्षाओं में पहले से ज्यादा छात्र छात्राओं की उपस्थिति दर्ज हो रही है । ऑनलाइन पंजीयन और पढ़ाई में आ रही तकनीकी दिक्कतों को दूर करने के लिए अनेक अहम जानकारी बैठक में साझा किया गया ।सभी संकुल समन्यवकों को निर्देशित किया गया कि वे अपने क्षेत्र के शिक्षको को ऑनलाइन पढ़ाई बारे में और अधिक प्रशिक्षित करें और विजुअल क्लास के पहले शिक्षक अपने विद्यार्थियों और उनके पालको से बात कर पहले से कक्षा का समय निर्धारित करें इससे ऑनलाइन क्लास में अधिक बच्चे जुड़ेंगे ।

मोहल्ला पाठशाला में होगी पढ़ाई -
बैठक में कहा गया कि ऑनलाइन क्लास के साथ साथ अब गाँव के अलग अलग पारा मोहल्ले में सोसिअल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शिक्षक छात्रों को पढ़ाएंगे इसमे सामुदायिक सहयोग भी ली जाने की योजना है जिसके अंतर्गत उस मोहल्ले के पढ़े लिखे युवकों से घर पर ही पढ़ाने के लिए सहयोग लिया जाएगा । इसके साथ ही मातृ सम्मेलन में हमेशा शामिल होने वाली माताओं से भी घर पर बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित किया जाएगा ।
दस अगस्त तक पुस्तक वितरण-

बैठक के आखिर में विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी यू एल जायसवाल ने कहा कि इस कोरोना काल मे बच्चो तक शिक्षा पहुंचना सभी शिक्षकों का नैतिक दायित्व है चाहे ऑनलाइन पढ़ाई हो या मोहल्ला पाठशाला के माध्यम से पढ़ाई हो या फिर लाउडस्पीकर द्वारा बच्चों तक शिक्षा पहुचना हो ये सभी हमारी जिम्मेदारी है जिसे किसी हाल में पूरा करना होगा । वही सभी प्रधान पाठक और शिक्षक दस अगस्त तक नवीन पाठ्यपुस्त छात्र छात्राओं के घर घर जाकर पहुचना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया साथ ही दस अगस्त तक पुस्तक वितरण नही करने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही की चेतावनी भी दी गयी । बैठक में बीआरसीसी सूर्यकांत उपाध्याय पढ़ई तुंहर दुवार के मुंगेली प्रभारी राजेन्द्र सिंह ठाकुर पढ़ाई तुंहर दुआर मीडिया सेल के गुना राम निर्मलकर संकुल समन्वयक जहिर खान मोहित खण्डे महेंद्र खरे भगवती प्रसाद मिश्रा रोहित साहू राकेश टण्डन उत्तम सिंह सोलंकी परमेश्वर पटेल एवं क्षेत्र सभी संकुल समन्वयक उपस्थित रहे ।

ब्यूरो रिपोर्ट 


Related Post

Add Comment