*सूरजपुर जिले के विभिन्न ब्लाकों में सुखा मध्यान्ह भोजन वितरण*

*सूरजपुर जिले के विभिन्न ब्लाकों में सुखा मध्यान्ह भोजन वितरण*

सूरजपुर:- नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से राज्य शासन ने सभी स्कूल लॉक-डाउन की स्थिति में 14 अप्रैल 2020 तक बंद कर दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर अवकाश अवधि में स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन दिए जाने का निर्णय लिया गया है। पूर्व निर्धारित योजनानुसार सूरजपुर जिले के विभिन्न ब्लॉको ओड़गी,भैयाथान,प्रेमनगर,प्रतापपुर,सूरजपुर,रामानुजनगर के शिक्षको ने सूखे मध्यान्ह भोजन का पैकेट बनाया और मास्क लगा कर ठेला,मोटरसायकल,चार पहिया वाहनो में खाद्यान रख वितरण हेतु गांवो में निकल पड़े। खाद्यान्न वितरण के दौरान कर्तव्यनिष्ठ शिक्षको ने घर-घर जाकर सुरक्षित तरीके से बच्चों को सुगंधित पौष्टिक सोया दूध भी पिलाया तथा उपस्थित परिवार को कोरेना वायरस के खतरे और उससे बचाव के तरीकों से अवगत कराया।राज्य शासन के निर्देश के परिपालन में सूरजपुर जिले के शिक्षको ने "संयुक्त शिक्षक/शिक्षाकर्मी संघ" की सकारत्मक पहल पर चैलेंज स्वरूप स्वीकार किया।औऱ तमाम दिक्कतों जैसे महिला शिक्षिकाओं द्वारा वितरण,गांवो में अभिवावकों का घर दूर दूर होना,दाल की अनुपलब्धता,खाद्यान्न का उठाव और उसका वितरण करना।
संयुक्त शिक्षक संघ की प्रांतीय उपाध्यक्ष(महिला प्रकोष्ठ) माया सिंह,प्रांतीय महामंत्री शहादत अली,संभाग प्रभारी राकेश शुक्ल ने संघ जिलाध्यक्ष सचिन त्रिपाठी,ममता मंडल(महिला प्रकोष्ठ)व ब्लॉक अध्यक्ष प्रेमनगर कमलेश यादव, प्रतापपुर राजकुमार सिंह,ओड़गी मोहम्मद महमूद,सूरजपुर कृष्णा सोनी,भैयाथान सुरेंद्र दुबे,रामानुजनगर सदस्य रमेश कुमार साहू तथा जिला पदाधिकारियो के कुशल मार्गदर्शन में जिले के शिक्षको को उनके इस साहस व कर्तव्य परायणता पर बधाई दी है।

ब्यूरो रिपोर्ट 


Related Post

Add Comment