*जर्जर पुलिस क्वाटर में रहने मजबूर शहर के रखवाले,किसी भी अनहोनी घटना होने से नही किया जा सकता इनकार*

*जर्जर पुलिस क्वाटर में रहने मजबूर शहर के रखवाले,किसी भी अनहोनी घटना होने से नही किया जा सकता इनकार*

खरसिया:-जर्जर भवन में रहने को मजबूर शहर के रखवाले जिनके कंधों पर 25 हजार लोगों के सुरक्षा का जिम्मा उनके परिवार पर हमेशा खतरों का साया जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों की ईक्षा शक्ति की कमी कर कारण जर्जर मकान में रहने को मजबूर है खरसिया पुलिस चौकी में कार्यरत शहर के रखवालों का परिवार 24 घण्टे हवा,पानी,तूफान चलने पर रहता है जर्जर मकानों के ढह जाने का खतरा मंडरा रहा है।न ही जिम्मेदार अधिकारियों को इसकी चिंता है न ही निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को ही कोई परवाह है। यदि समय रहते जर्जर भवनों के बारे में विचार नही किया गया तो किसी अनहोनी घटना से इनकार नही किया जा सकता है।

ब्यूरो रिपोर्ट


Related Post

Add Comment