*Breaking,निर्भया के दरिंदो को जल्द होगी फाँसी,सारे विकल्प खत्म*

नई दिल्ली;- निर्भया दुष्कर्म मामले में सभी दोषियों के पास कानूनी विकल्प खत्म हो गए है। निर्भया के दरिंदों में से एक पवन कुमार गुप्ता की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को खारिज कर दी। पवन की अर्जी खारिज होने के साथ ही तिहाड़ जेल प्रशासन ने फांसी की नई तारीख के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी लगा दी। इस पर आज सुनवाई होगी।

निर्भया की मां ने राष्ट्रपति को धन्यवाद दिया निर्भया की मां ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को दोषी पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि अब उन्हें इंसाफ मिलने की उम्मीद पूरी होने वाली है। वहीं कोर्ट ने चारों दोषियों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की जांच कराने और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) को हस्तक्षेप करने का निर्देश देने की मांग वाली याचिका पर बुधवार को सुनवाई करने से इनकार कर दिया। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*निर्भया मामला:फिर टला दोषियों की फांसी अगले आदेश तक कोर्ट ने लगाई रोक,निर्भया की माँ ने कहा उन्हें न्याय प्रणाली पर पूरा भरोसा*

नई दिल्ली:-दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट के जज धर्मेंद्र राणा ने सोमवार को निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या के चारों दोषियों की मौत की सजा पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने कहा कि ऐसे में जब दोषी पवन कुमार गुप्ता की दया याचिका लंबित है, फांसी की सजा की तामील नहीं की जा सकती। अदालत ने यह आदेश पवन की उस अर्जी पर दिया,जिसमें उसने फांसी पर रोक लगाने का अनुरोध किया था क्योंकि उसने राष्ट्रपति के समक्ष सोमवार को एक दया याचिका दायर की है। सोमवार को ही पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की है, तो साथ ही पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वॉरंट पर रोक लगाने की अक्षय और पवन की याचिका खारिज कर दी। दो झटकों के बाद निर्भया के वकील एपी सिंह ने अब आखिरी दांव चला। दोपहर में पवन की ओर से दया याचिका राष्ट्रपति के पास दी और इसके तुरंत बाद डेथ वॉरंट पर रोक लगाने के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी लगाई।
जज ने क्यूरेटिव और दया अर्जियां दायर करने में इतनी देरी करने के लिए दोषी के वकील की खिंचाई की। पवन के वकील एपी सिंह ने कहा कि उन्होंने एक दया अर्जी दायर की है और फांसी की तामील पर रोक लगनी चाहिए। अदालत ने उसके बाद उनसे कहा कि वह अपने मामले की जिरह के लिए दोपहर लंच के बाद आएं। लंच के बाद की सुनवाई के दौरान अदालत ने सिंह की यह कहते हुए खिंचाई की, 'आप आग से खेल रहे हैं, आपको सतर्क रहना चाहिए। किसी के द्वारा एक गलत कदम, और आपको परिणाम पता हैं।' वहीं निर्भया की मां ने सोमवार को कहा कि मामले में दोषी न्यायालय को गुमराह कर रहे हैं लेकिन उन्हें न्याय प्रणाली पर भरोसा है। इस मामले के दोषियों को मृत्युदंड दिए जाने की सजा सुनाई गई है। मामले के चार दोषियों में से एक दोषी पवन कुमार गुप्ता ने राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर की है। इसी के मद्देनजर निर्भया की मां ने यह बयान दिया। निर्भया की मां ने संवददाताओं से कहा,'ये लोग न्यायालय को गुमराह कर रहे है। मुझे भारत की न्याय प्रणाली पर भरोसा है और हमें अब भी इस बात का विश्वास है कि उन्हें जल्द ही फांसी दे दी जाएगी।

ब्यूरो रिपोर्ट 


*Breaking,निर्भया के दरिंदो को कल दि जाएगी फाँसी सभी विकल्प समाप्त*

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए एक दोषी पवन गुप्ता की क्यूरेटिव पिटीशन को खारिज कर दी है। साथ ही फांसी की सजा पर रोक लगाने से भी इनकार किया है। हालांकि उसके पास अब भी राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करने का विकल्प बचा हुआ है। दरअसल दोषी पवन कुमार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की और मौत की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग की थी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई करते हुए दोषी पवन की याचिका खारिज कर दी है। बता दें कि पवन समेत तीन अन्य दोषियों को तीन मार्च को फांसी होने वाली है।

"निर्भया की माँ ने कहा"
7 साल 3 महीने से इंसाफ का इंतजार सुनवाई से पहले निर्भया की मां ने कहा कि मैं 7 साल 3 महीने से संघर्ष कर रही हूं। वो कहते हैं हमें माफ कर दो। कोई कहता है कि मेरे पति,बच्चे की क्या गलती है। मैं कहती हूं कि मेरी बच्ची की क्या गलती थी। 

ब्यूरो रिपोर्ट


* होली पर्व में गैस सिलेंडर उपभोक्ताओं को सरकार से बड़ी राहत,सिलेंडर के दाम हुए काम*

दिल्ली:-होली से पहले रसोई गैस उपभोक्ताओं को तोहफा देते हुए सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में कमी की है। आज यानी एक मार्च से गैर सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर (14.2 किलोग्राम) 52.50 रुपए सस्ता हो गया है। अभी तक 893.50 रुपए में मिलने वाला घरेलू सिलेंडर मार्च माह में 841 रुपए की मिलेगा। बता दें कि हर माह की पहली तारीख को देश में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में बदलाव होता है। हालांकि फरवरी माह में 12 तारीख को इसमें बदवाल किया गया था। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, फरवरी में दिल्ली में 14.2 किलो वाला सिलिंडर 144.50 रुपये महंगा हुआ था। इसका दाम 858.50 रुपये है। वहीं कोलकाता में यह 149 रुपये महंगा हुआ था। वहां गैस सिलेंडर 896.00 रुपये का है। मुंबई में इसका दाम 829.50 रुपये है और वहीं चेन्नई में यह 881 रुपये का है।

सरकार देती है गैस सिलिंडर पर सब्सिडी

मौजूदा समय में सरकार एक वर्ष में प्रत्येक घर के लिए 14.2 किलोग्राम के 12 सिलिंडरों पर सब्सिडी प्रदान करती है। अगर ग्राहक इससे ज्यादा सिलिंडर लेना चाहते है, तो वे उन्हें बाजार मूल्य पर खरीदते हैं। गैस सिलिंडर की कीमत हर महीने बदलती है। इसकी कीमत औसत अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क और विदेशी विनिमय दरों में बदलाव जैसे कारक निर्धारित करते हैं। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*कन्हैया कुमार के खिलाफ चलेगा देश द्रोह का मुकदमा,सरकार ने दी अनुमति*

नई दिल्ली:- जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार सहित दो अन्य पूर्व छात्रों पर भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप में देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति दिल्ली पुलिस को मिल गई है। शुक्रवार को दिल्ली सरकार के अभियोजन विभाग ने मामले में सुनवाई के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। पुलिस ने 2016 के इस मामले में कुमार के साथ ही जेएनयू के पूर्व छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था। पुलिस ने कहा था कि आरोपियों ने नौ फरवरी, 2016 को जेएनयू परिसर में एक कार्यक्रम के दौरान जुलूस निकाला और वहां कथित रूप से लगाए गये देश-विरोधी नारों का समर्थन किया था। 

ब्यूरो रिपोर्टर


*मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान,जो माहौल खराब करेगा कानून हाथ मे लेगा तो उसकी आरती नही उतारी जायेगी, कार्यवाही होगी*

नई दिल्ली,(ब्यूरो रिपोर्ट) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर सख्त लहजे में बयान दिया है। योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा में इस संबंध में बयान दिया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यदि 12-15 लोग तलवार लेकर आएंगे, मार-काट करेंगे तो उनकी आरती नहीं उतारी जाएगी। आगजनी और तोड़फोड़ करने, कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। नोट कर लें, गलतफहमी है तो दिमाग से निकाल लें, कयामत का दिन कभी नहीं आने वाला। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष और सीएए के विरोधियों को निशाने पर लिया। योगी ने कहा कि सरकार सबका विकास करेगी लेकिन तुष्टकरण किसी का नहीं करेगी। सभी अपनी परंपराओं के अनुसार त्योहार मनाएं लेकिन दूसरे के मामलों में दखल देंगे तो खामियाजा भुगतना पड़ेगा। पिछली सरकार में पुलिस लाइन में जन्माष्टमी नहीं मनाई जाती थी, कांवड़ यात्रा में डीजे नहीं बजा सकते थे। हमने दोनों परंपराओं को फिर शुरू किया। पिछली सरकार में हिंदू आस्था के साथ खिलवाड़ की जाती थी, उन्हें चिढ़ाया जाता था। पिछली सरकार को कांवड़ लाने वाले शिवभक्तों की ड्रेस से चिढ़ थी। मुख्यमंत्री ने विपक्षी सदस्यों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि यहां सीएए समर्थक बैठे हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि वे देश की छवि खराब करके क्या पाना चाहते हैं ,आगजनी, तोड़फोड़ करने व निर्दोषों को निशाना बनाकर वे क्या साबित करना चाहते हैं।

ब्यूरो रिपोर्टर


*वाराणसी से इंदौर चलने वाली काशी महाकाल एक्सप्रेस शुरू,ट्रेन में बजती है ॐ नमःशिवाय की शानदार धुन यात्रियों को कर रहा आकर्षित*

नईदिल्ली-वाराणसी से इंदौर के बीच चलने वाली आईआरसीटीसी की कॉरपोरेट ट्रेन काशी महाकाल एक्सप्रेस रविवार को पहली बार कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आई। ट्रेन में ओम नम: शिवाय मंत्र की धुन बज रही थी। ट्रेन के एक कोच में भगवान शिव का छोटा सा मंदिर भी बनाया गया यहां पर पूजा-अर्चना के बाद नारियल फोड़कर इसका स्वागत किया गया। उल्लेखनीय है कि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो ज्योतिर्लिंग को जोड़ने के लिए ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर शुरुआत की थी। भगवान शिव के तीन ज्योतिर्लिंगों ओंकारेश्वर, महाकालेश्वर और काशी विश्वनाथ को जोड़ने वाली काशी महाकाल एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन वाराणसी से इंदौर के बीच चलेगी। महाकाल एक्सप्रेस में 12 कोच हैं। सभी एसी थ्री टियर कोच हैं। आईआरसीटीसी की ओर से कैटरिंग सेवाएं दी यात्रियों को जाएंगी। ट्रेन में सर्विस देने वाले कर्मियों का ड्रेस केसरिया है। इसका टिकट ऑनलाइन मिलेगा। इस ट्रेन की विषेशता है कि इसमें ऊं नम: शिवाय मंत्र बजता रहता है। 

ब्यूरो रिपोर्टर


*शाहीन बाग गोलीकांड में क्राइमब्रांच का बड़ा खुलासा गिरफ्तार हुए कपिल बैसला आम आदमी पार्टी का सदस्य*

नई दिल्ली:-शाहीन बाग गोलीकांड में क्राइम ब्रांच का बड़ा खुलासा किया है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों की माने तो गोलीकांड में गिरफ्तार हुए कपिल बैंसला आम आदमी पार्टी का सदस्य है। बता दें कि आरोपी ने शनिवार 1 फरवरी को शाहीन बाग में लगे पुलिस बैरीकेड के पास फायरिंग कर दी थी। दरसअल क्राइम ब्रांच ने कपिल बैंसला के मोबाइल फोन की जांच की तो उसका आप पार्टी कनेक्शन सामने आया। क्राइम ब्रांच को कपिल बैसला के मोबाइल से जो फोटो मिली है उसमें कपिल बैंसला आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी और पार्टी के सांसद संजय सिंह के साथ नजर आ रहा है। इतना ही नहीं क्राइम ब्रांच को कुछ फोटो और मिली हैं, जिसमें कपिल के पिता मनीष सिसोदिया के साथ नजर आ रहे हैं। पुलिस के सूत्रों की माने तो यह फोटो करीब एक साल पहले की है जब कपिल बैसला और उसके पिता गजे सिंह ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता ली थी। साल 2019 की शुरुआत में दोनों ने आम आदमी पार्टी ज्वाइन की थी। पुलिस को जांच में कुछ सीसीटीवी फुटेज भी मिले हैं, जिसमें कपिल नज़र आ रहा है। कपिल बैंसला अभी दो दिन की पुलिस रिमांड पर है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि गोली चलाने के पीछे उसका मकसद क्या था, क्राइम ब्रांच की टीम लगातार इस मामले की जांच कर रही है। आम आदमी पार्टी (आप) ने इसे साजिश बताया है। पार्टी सांसद संजय सिंह ने कहा,'अमित शाह इस समय देश के गृह मंत्री हैं, अब चुनाव से ठीक पहले फोटो और साजिश देखने को मिलेंगे। चुनाव में 3-4 दिन बचे हैं, बीजेपी उतनी गंदी राजनीति करेगी, जितना कि वो कर सकती है। किसी के साथ एक तस्वीर होने का क्या मतलब है?  

ब्यूरो रिपोर्टर


*दिल्ली निर्भया मामला फिर टला दोषियों को फाँसी कोर्ट के अगले आदेश तक रोक*

नई दिल्ली:- दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड के चार मुजरिमों की मृत्यु के वारंट की तामील अगले आदेश तक स्थगित कर दी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धमेंद्र राणा ने चारों दोषियों की अर्जी पर यह आदेश जारी किया। ये चारों एक फरवरी को फांसी पर अमल पर स्थगन की मांग कर रहे थे। इस आदेश के साथ ही यह तय हो गया कि निर्भया के गुनहगारों को 1 फरवरी को फांसी नहीं होगी। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने यह फैसला सुनाया। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने फांसी की सजा पर रोक लगाने के तीन दोषियों के अनुरोध वाली याचिका की सुनवाई को दिल्ली की एक अदालत में चुनौती दी थी।

दोषी अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा और पवन गुप्ता के वकील एपी सिंह ने कोर्ट से कहा कि ये दोषी आतंकवादी नहीं हैं। वकील ने जेल मैनुअल के नियम 836 का हवाला दिया,जिसमें कहा गया है कि ऐसे मामले में जहां एक से अधिक लोगों को मौत की सजा दी गई है, वहां दोषियों को तब तक फांसी की सजा नहीं दी गई है जब तक उन्होंने अपने कानूनी विकल्पों का इस्तेमाल ना कर लिया हो। वहीं तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दिल्ली की अदालत को बताया कि केवल एक दोषी की ही दया याचिका लंबित है, अन्य को फांसी दी जा सकती है। वहीं दोषियों के वकील ने दिल्ली की अदालत को बताया कि जब एक दोषी की याचिका लंबित है तो नियमों के अनुसार अन्यों को भी फांसी नहीं दी सकती।

ब्यूरो रिपोर्ट


"चीफ जस्टिस रंजन गोगोई का कार्यकाल आज हो जाएगा समाप्त,नए न्यायधीश एसए बोबडे कल लेंगे शपथ"

नई दिल्ली। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई का कार्यकाल आज समाप्त हो रहा है। सोमवार को भारत के नए चीफ जस्टिस के तौर पर जस्टिस एसए बोबडे शपथ लेंगे। चीफ जस्टिस के तौर पर जस्टिस गोगोई के कार्यकाल में तमाम फैसले हुए। वह चार जजों द्वारा की गई अप्रत्याशित प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी गए। जानकार बताते हैं कि बतौर चीफ जस्टिस अयोध्या मामले में दिया गया उनका फैसला उनके कार्यकाल को यादगार बनाएगा। जस्टिस रंजन गोगोई का विदाई समारोह भी सादगी भरा रहा था।

जस्टिस गोगोई के सामने सबसे बड़ी चुनौती अयोध्या मामले की सुनवाई की थी। जब चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शपथ ली तो उन्होंने अयोध्या मामले की सुनवाई के लिए संवैधानिक बेंच का गठन किया। खुद उस बेंच की अगुवाई की। मध्यस्थता का प्रस्ताव भी स्वीकारा। समझौते के लिए दोनों पक्षों को बात करने को कहा। आखिर में लगातार 40 दिन मैराथन सुनवाई की और एक ऐतिहासिक फैसला दिया।


जस्टिस रंजन गोगोई और सुप्रीम कोर्ट के तीन अन्य जजों (अब तीनों रिटायर) ने 12 जनवरी 2018 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था जब चार जज मीडिया के सामने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हों। इन्होंने रोस्टर सिस्टम और केसों के आवंटन के तरीके पर सवाल उठाया था। इसके बाद रोस्टर सिस्टम को सार्वजनिक कर दिया गया था। जस्टिस गोगोई समेत अन्य जजों ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में चीजें ठीक नहीं चल रही हैं। 

ब्यूरो रिपोर्ट


"प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस ने की इतने रुपये की कमाई,देखिए रिपोर्ट

नई दिल्ली। देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस ने अक्टूबर में कुल 3.70 करोड़ रुपये कमाए, जिसमें 70 लाख रुपये यानी करीब 20 प्रतिशत का मुनाफा हुआ। दिल्ली-लखनऊ के बीच 5 से 28 अक्टूबर के दौरान इस ट्रेन को 21 दिन चलाया गया। इस पर प्रति दिन 14 लाख रुपये लागत आई, वहीं 17.5 लाख रुपये की कमाई सवारियों से हुई। भारतीय रेलवे कैटरिंग व पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) को प्राइवेट फर्म के साथ हफ्ते में छह दिन चलाने के लिए दी गई इस तेजस एक्सप्रेस के औसतन 80 से 85 प्रतिशत तक टिकट बिक गए। रेलवे के सूत्रों के अनुसार अक्टूबर में इस ट्रेन को चलाने में आईआरसीटीसी ने करीब तीन करोड़ रुपये खर्च किए। रेलवे ने लखनऊ-दिल्ली मार्ग पर प्रयोग करते हुए पहली बार प्राइवेट फर्म के जरिए इस ट्रेन को पांच अक्टूबर से चलाना शुरू किया है।आईआरसीटीसी इस ट्रेन में सवारियों को कई तरह के भोजन के साथ साथ 25 लाख का बीमा और ट्रेन लेट होने पर मुआवजा लेने की सुविधा भी दे रहा है। रेलवे का लक्ष्य 50 विश्वस्तरीय रेलवे स्टेशन विकसित करके 150 प्राइवेट सवारी गाड़ियां चलाना है। केंद्र सरकार ने पिछले महीने ही सचिवों की विशेष टास्क फोर्स बनाकर इन कामों को तेजी देने की पहल की है। इस टास्क फोर्स की पहली बैठक अभी नहीं हुई है। 

ब्यूरो रिपोर्टर


INX मामले में पूर्व वृत्त मंत्री चिदम्बरम को जमानत मिली

 
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में दो महीने हिरासत में बिताने के बाद उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया लेकिन वह अभी रिहा नहीं हो सकेंगे क्योंकि इससे संबंधित धन शोधन के मामले में वह प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में हैं।

कांग्रेस के 74 वर्षीय वरिष्ठ नेता चिदंबरम को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने 21 अगस्त को उनके जोर बाग स्थित आवास से गिरफ्तार किया था। सीबीआई की पूछताछ के बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया।

इस बीच, विशेष अदालत ने 18 अक्टूबर को धन शोधन के मामले में चिदंबरम को 24 अक्टूबर तक के लिये प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में दे दिया।

न्यायमूर्ति आर भानुमति, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने मंगलवार को पूर्व मंत्री पी चिदंबरम की याचिका पर दिल्ली उच्च न्यायालय के 30 सितंबर का फैसला निरस्त करते हुये उन्हें जमानत देने का निर्णय सुनाया।

पीठ ने कहा कि वह न तो ‘भागने के जोखिम’ वाले हैं और न ही मुकदमे की सुनवाई से उनके भागने की आशंका है।

बहरहाल, शीर्ष अदालत ने स्पष्ट किया कि उसके आदेश का किसी भी अन्य कार्यवाही पर कोई असर नहीं होगा।

पीठ ने चिदंबरम को कुछ शर्तो के साथ जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया है। इनमें उन्हें एक लाख रूपए का मुचलका और इतनी ही राशि के दो जमानती देने के साथ ही अपना पासपोर्ट विशेष अदालत में जमा करना होगा। पीठ ने कहा कि विशेष अदालत की अनुमति के बगैर वह देश से बाहर नहीं जायेंगे। इसके अलावा वह उन आदेशों के दायरे में भी होंगे जो विशेष अदालत समय समय पर देगी।

न्यायालय ने सीबीआई के इस दावे को दरकिनार कर दिया कि 74 वर्षीय चिदंबरम ने इस मामले में दो प्रमुख गवाहों को प्रभावित करने का प्रयास किया था। न्यायालय ने कहा कि ऐसा कोई विवरण उपलब्ध नहीं है कि ‘कब, कहां और कैसे इन गवाहों से संपर्क किया गया।’’

चिदंबरम द्वारा गवाहों को प्रभावित करने संबंधी सीबीआई के दावों के संबंध में पीठ ने कहा, ‘‘इन दो गवाहों से एसएमएस, ईमेल, पत्र या टेलीफोन काल के माध्यम से संपर्क करने के तरीके और इन गवाहों से संपर्क करने वाले व्यक्तियों का कोई विवरण नहीं है।’’

पीठ ने कहा कि जांच ब्यूरो के अनुसार चिदंबरम ने गवाहों को प्रभावित किया और आगे भी प्रभावित किये जाने की आशंका पूर्व वित्त मंत्री को जमानत से इंकार करने का आधार नहीं हो सकती जबकि निचली अदालत में उनकी हिरासत के लिये दाखिल छह आवेदनों में कहीं भी इस तरह की कोई सुगबुगाहट तक नहीं है।

पीठ ने अपने फैसले में कहा, ‘‘अपीलकर्ता (चिदंबरम) द्वारा गवाहों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करने के बारे में अपीलकर्ता के खिलाफ कोई प्रत्यक्ष साक्ष्य नहीं है।’’

केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने भ्रष्टाचार के मामले में चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। जांच ब्यूरो ने यह मामला 15 मई, 2017 को दर्ज किया था। यह मामला 2007 मे वित्त मंत्री के रूप में पी चिदंबरम के कार्यकाल में विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड द्वारा आईएनएक्स मीडिया को 305 का विदेशी निवेश प्राप्त करने की मंजूरी में हुयी कथित अनियमितताओं से संबंधित है।

पीठ ने अपने फैसले में कहा, ‘‘ ‘‘इस समय हमारे लिये यह संकेत देना जरूरी है कि हम सालिसीटर जनरल की इस दलील को स्वीकार करने में असमर्थ हैं कि आर्थिक अपराधियों के ‘‘भागने के जोखिम’’ को एक राष्ट्रीय चलन के रूप में देखा जाना चाहिए और उनके साथ उसी तरह पेश आना चाहिए क्योंकि अन्य चुनिन्दा अपराधी देश से भाग गये हैं।’’

पीठ ने कहा कि किसी आरोपी के भागने के जोखिम का आकलन असंबद्ध मामलों से प्रभावित हुये बगैर ही मामले विशेष के आधार पर करना होगा।

पीठ ने कहा कि उसकी राय में दूसरे अपराधियों के आचरण की वजह से हमारे समक्ष आये मामले में जमानत देने से इंकार करने का यह आधार नहीं हो सकता, यदि पेश मामले में मेरिट के आधार पर व्यक्ति जमानत का हकदार है।

न्यायालय ने कहा कि अत: हमारी राय में ‘भागने के जोखिम’ सहित अन्य बिन्दुओं से किसी दूसरे मामलों से प्रभावित हुये बगैर ही विचार करना चाहिए और वह भी ऐसी स्थिति में जब यह व्यक्तिगत स्वतंत्रता का सवाल हो।

इस बीच, सोमवार को विशेष अदालत ने इस मामले में सीबीआई द्वारा दाखिल आरोप पत्र का संज्ञान लिया है। इस आरोप पत्र में चिदंबरम, उनके पुत्र कार्ति और 12 अन्य आरोपी है। इन सभी पर आरोप है कि इन्होंने भ्रष्टाचार निवारण कानून और भारतीय दंड संहिता के तहत अपराध मानी गई गतिविधियों को अंजाम दे कर सरकारी कोष को नुकसान पहुंचाया।


शोएब अख्तर बरसे श्रीलंका क्रिकेट खिलाड़ी पे, पाकिस्तान जाने को लेकर कही ये बात

 नई दिल्ली, श्रीलंका के करीब एक दर्जन खिलाड़ी ने पाकिस्तान दौरे पर जाने से इनकार कर दिया है। साल 2009 के आतंकी हमले से सहमे श्रीलंकाई खिलाड़ी ने सितंबर और अक्टूबर में पाकिस्तान में होने वाली तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज से अपना नाम वापस ले लिया है। श्रीलंकाई खिलाड़ियों के इस फैसले पर पाकिस्तान टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने निशाना साधा है। 

 
 
रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर पेसर शोएब अख्तर ने कहा है कि वे श्रीलंकाई खिलाड़ियों के पाकिस्तान दौरे पर ना आने से निराश हैं। शोएब अख्तर ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, "10 श्रीलंकाई खिलाड़ियों के पाकिस्तान दौरे पर ना आने के लिए बहुत निराश हूं। पाकिस्तान ने हमेशा श्रीलंका क्रिकेट का सपोर्ट किया है। हाल ही में जब श्रीलंका में ईस्टर अटैक हुआ था तो हमने अपनी अंडर 19 टीम सबसे पहले भेजे थी।"

कल्याण सिंह फिर से बीजेपी में करेंगे वापसी

 

राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह का कार्यकाल 3 सिंतबर को पूरा हो रहा है. उनकी जगह कलराज मिश्रा को राज्यपाल बनाया गया है. इस तरह से कल्याण सिंह राज्यपाल के पद से हटने के बाद 5 सितंबर को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता एक बार फिर से लेंगे


आज कुलभूषण जाधव का कॉन्‍स्‍यूलर एक्सेस लेगा भारत-

 पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत द्वारा फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद यह पहली बार है जब कुलभूषण जाधव  को कॉन्स्यूलर एक्सेस दिया जाएगा



पी वी सिंधु ने सुवर्ण जीत के रचा इतिहास

 पीवी सिंधु ने रचा इतिहास,21/7 -21/7 से जापान की नोजुमी ओकुहारा को बड़ी आसानी से हराया।महिला वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली सिंधु पहली भारती य खिलाड़ी बनीं।


IAF चीफ बोले- हम 44 साल पुराने मिग-21 उड़ा रहे हैं, इतनी पुरानी तो कोई कार भी नहीं चलाता

 

भारतीय वायुसेना के प्रमुख बीएस धनोआ ने  कहा कि हम 44 साल पुराना मिग-21 उड़ा रहे हैं, इतनी पुरानी तो कोई कार भी नहीं चलाता. एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा ने यह बात सुब्रोतो पार्क स्थित एयरफोर्स ऑडिटोरियम में कही।