*खेत से निकल रहे सोने के सिक्के, लूटने के लिए गांव के लोगों में मची होड़, करनी पड़ी खेत की घेराबंदी, जानें मामला*

बक्सरः बिहार में खेत से सोने के सिक्के निकल रहे हैं. यह सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा लेकिन बक्सर से ऐसा ही मामला सामने आया है. सोने का सिक्का निकलते ही गांव वालों में उसे लूटने के लिए होड़ मच गई. वहीं दूसरी ओर तरह-तरह की चर्चा होने लगी.
बात इतनी फैल गई कि पुलिस को आना पड़ा. यहां तक की खेत की घेराबंदी तक कर दी गई. खेत से कुल छह सिक्के मिले हैं जिसमें से पुलिस ने तीन बरामद कर लिए हैं. वहीं बाकी सिक्के अभी नहीं मिल सके हैं.

क्या है पूरा मामला?
पूरा मामला बक्सर जिले के नावानगर प्रखंड क्षेत्र के गिरधर-बरांव गांव का है. हरिहर साह के आलू के खेत से सोने के सिक्के मिलने की बात जैसे ही गांव मे फैली तो लोगों की भीड़ लग गई. गांव के लोगों ने खेत की खुदाई शुरू कर दी.

हरिहर साह ने बीहसी देवी को मालगुजारी पर यह जमीन दी थी. बीते शुक्रवार को बाड़ (घेराबंदी) हटाने के लिए बीहसी देवी ने खुरपी से खेत में लगे बाड़ हटाने लगी. इसी दौरान उसे एक-एक कर चार सोने के सिक्के मिले.

इसमें से एक सिक्के को सत्यम सिंह ने ले लिया, बाकी बचे तीन सिक्कों में से एक सिक्का बीहसी देवी ने पुलिस को दिया और बाकी सिक्के को कुएं में फेंकने की बात कह रही है. इस बात की भनक गांव वालों को लगी तो देर रात गांव वाले भी मिट्टी की खुदाई करने लगे. इस दौरान दो व्यक्तियों को एक-एक सिक्के मिले. 

 

सिक्के को सुनार के पास बेचा
वृद्ध महिला बीहसी देवी से सत्यम सिंह द्वारा लिया गया एक सिक्का भी पुलिस ने सोनार शिवकुमार से बरामद कर लिया है, जिसे सुनार ने तोड़कर जांच की थी. सत्यम सिंह ने उसे शिवकुमार सेठ को 27,500 में बेचा था. उस सिक्के को पुलिस ने बरामद कर लिया है.

वहीं रात में ही जमीन की खुदाई के दौरान सरोज पाल को एक सिक्का मिला था. उस तीसरे सिक्के को भी पुलिस ने बरामद कर लिया. खेत में मिले छह सिक्कों में से फिलहाल तीन सिक्के को बरामद किया गया है.

सोनबरसा थाना प्रभारी प्रियदर्शी ने तीन सिक्के बरामद होने की पुष्टि की है. पुलिस पता लगा रही है कि अन्य सिक्के कहां हैं. फिलहाल इस घटना के बाद रविवार को पुलिस ने खेत की घेराबंदी कर वहां पुलिस बल को तैनात कर दिया है. वहीं सिक्का मिलने के बाद आला अधिकारियों को सूचना दी गई है. बहरहाल, अब देखने वाली बात ये होगी कि पुरातत्व विभाग की टीम इस सिक्के के बारे में क्या जांच करती है.


*अब इस बड़े नेता ने कांग्रेस पार्टी को अलविदा कहा।*

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रहे एके एंटनी ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कहा है कि वह अब सक्रिय राजनीति से संन्यास लेना चाहते हैं और कोई भी चुनाव नहीं लड़ेंगे।

81 साल के एंटनी ने सोनिया गांधी से कहा है कि 2 अप्रैल को उनका राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है और अब इसके बाद वह दोबारा चुनाव में नहीं उतरना चाहते। वह इस समय केरल से राज्यसभा सांसद हैं।

एके एंटनी ने यह भी कहा है कि वह अब दिल्ली में नहीं रहेंगे। जल्द ही वह तिरुवनंतपुरम में शिफ्ट होंगे। वह 52 साल से राजनीति में हैं। पहली बार 1970 में वह केरल में विधायक बने थे। वह कांग्रेस युवा और छात्र विंग के नेता थे। एंटनी तीन बार केरल के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। 37 साल की साल की उम्र में वह केरल के मुख्यमंत्री बन गए थे। वो तीन बार बने केंद्रीय मंत्री और पांच बार राज्यसभा में मेंबर भी बने हैं। एंटनी कांग्रेस संसदीय समिति के प्रेसिडेंट रहे और पांच बार विधानसभा पहुंचे। तीन बार वह केंद्रीय मंत्री रहे और पांच बार राज्यसभा पहुंचे। 


बिना डींग हाँके खाड़ी युद्ध से 1.70 लाख लोगों को निकाल लाये थे-कांग्रेस

 नई दिल्ली:- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को बाहर निकाले जाने को लेकर प्रधानमंत्री की ओर से डींग हांकना स्वघोषित न्यू इंडिया की ताकत को दिखाता है। उन्होंने कहा कि 1990 में खाड़ी क्षेत्र से लगभग 1.7 लाख लोगो को बाहर निकाला। उस वक्त कोई नाटक नहीं था, मंत्रियों के स्तर पर कोई तमाशा नहीं था।



*बेटी के जन्म पर सरकार देगी पूरे 21000 रुपये, जानिए कैसे करना होता है इस योजना के लिए आवेदन*

हरियाणा सरकार द्वारा आपकी बेटी-हमारी बेटी योजना चलाई गई है, जो कि बहुत ही महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना का उद्देश्य राज्य में कन्या भू्रण हत्या पर रोक लगाना, लिंगानुपात में सुधार तथा बालिकाओं को शिक्षा के उचित अवसर प्रदान करना है। अनुसूचित जाति व बीपीएल परिवार में बेटी पैदा होने पर आर्थिक मदद दी जाती है। 

इस योजना के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 22 जनवरी 2015 को या उसके बाद जन्मी अनुसूचित जाति तथा बीपीएल परिवारों की पहली बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये तथा सभी वर्गों की दूसरी व तीसरी बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये की राशि दी जाती है। इस योजना में लाभार्थी लड़की के खाते में कुल संचित राशि उसके 18 वर्ष पूर्ण होने पर ब्याज सहित देय होगी, बशर्ते की लाभार्थी लड़की अविवाहित हो। योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

आवेदन के लिए लाभार्थी लड़की के जन्म प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रति, टीकाकरण कार्ड, आधार नम्बर (लड़की अथवा माता या पिता) आदि दस्तावेजों को संबंधित आंगनवाड़ी केंद्र या स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारी से वैरीफाई करवाना आवश्यक है। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जहां प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, आपकी बेटी हमारी-बेटी योजना जैसी योजनाओं का लाभ सरलता से पहुंचाया जाता है

वहीं बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के तहत बेटी के जन्म पर कूआं पूजन, गोद भराई आदि कार्यक्रमों के माध्यम से प्रेरित किया जाता है। इसके अलावा बेस्ट मदर अवार्ड तथा महिला खेलकूद आदि प्रतियोगिताओं के माध्यम से भी आमजन को बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।


*फेमस म्यूजिक डायरेक्टर बप्पी दा का निधन,मुंबई के निजी अस्पताल में ली अंतिम सांस,प्रशंसको में शोक की लहर*

मुंबई।फेमस म्यूजिक डायरेक्टर बप्पी लहरी का निधन हो गया मुंबई के निजी अस्पताल में ली अंतिम सांस, बता दे बप्पी दा कुछ समय से बीमार चल रहे थे,कोरोना संक्रमित भी वे हुए थे,स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन के बाद बप्पी दा के जाने से म्यूजिक फेन्स दुखी है।बप्पी दा सभी गाने काफी फेमस है उन्होंने कई फिल्मों में गाना गाया जो काफी फेमस थे,उनके निधन से म्यूजिक जगत और उनके चाहने वालों में शोक की लहर है। 


*सदर सीट से मोख्तार अंसारी को चुनाव लड़ाने की तैयारी शुरू*


◆सुभासपा के टिकट पर लड़ेंगे चुनाव

◆नामांकन की औपचारिकताएं पूरी कराने को, विशेष न्यायाधीश एमपी-एमएलए कोर्ट से मांगी गई अनुमति

*मऊ*, मुख्तार अंसारी के इस बार चुनाव लड़ने के बावत जो संशय ब्यक्त किया जा रहा था वह मंगलवार को दूर हो गया और उनको विधान सभा चुनाव में उतारने के लिए उनके समर्थकों ने तैयारी तेज कर दिए है। चुनावी तैयारी के बीच ही सुभासपा ने सदर विधानसभा सीट से उन्हें प्रत्याशी घोषित कर दिया है। मुख्तार अंसारी के अधिवक्ता दरोगा सिंह ने बताया कि विशेष न्यायाधीश एमपी एमएलए कोर्ट में दी अर्जी दी गई है। अर्जी में बांदा जेल में बंद सदर विधायक से उनके अधिवक्ता, प्रस्तावकों, नोटरी अधिवक्ता एवं फोटोग्राफरों की मुलाकात की अनुमति देने की मांग की गई है। 


*दुखत समाचार: लता मंगेशकर का निधन हुआ*

रविवार, 6 फरवरी को, प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर की मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में कोविड -19 संबंधित जटिलताओं से मृत्यु हो गई। वह 92 साल की थीं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, उनका अस्पताल के इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) में इलाज चल रहा था। लता मंगेशकर निमोनिया से पीड़ित थीं। उसने अपने स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार दिखाया, लेकिन उसकी हालत बिगड़ने पर उसे फिर से वेंटिलेटर और आईसीयू पर स्थानांतरित कर दिया गया। रविवार की सुबह उसने अंतिम सांस ली। 


*स्वामी प्रसाद मौर्य की बदली गई सीट*

लखनऊ: बीजेपी से सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपनी सीट बदल दी है. स्वामी प्रसाद मौर्य अब कुशीनगर की पडरौना से नहीं बल्कि फाजिलनगर सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे. समाजवादी पार्टी ने आज (बुधवार को) लखनऊ, कुशीनगर और प्रयागराज की सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की.

बता दें कि समाजवादी पार्टी ने प्रयागराज की सिराथु सीट से पल्लवी पटेल को टिकट दिया है. पल्लवी पटेल यूपी के डिप्टी और सिराथु से बीजेपी के उम्मीदवार सीएम केशव प्रसाद मौर्य को चुनौती देंगी. जान लें कि पल्लवी पटेल अपना दल की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल की बहन हैं. पल्लवी पटेल ने अपनी अलग पार्टी बना ली है.

वहीं लखनऊ की सरोजिनी नगर सीट से समाजवादी पार्टी ने ब्राह्मण चेहरे अभिषेक मिश्रा को उम्मीदवार बनाया है. अभिषेक मिश्रा ईडी के पूर्व डायरेक्टर और बीजेपी के उम्मीदवार राजराजेश्वर सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे. 


*Breaking News: INDIA कॉइन के नाम से क्रिप्टो टोकन, क्या भारत सरकार या रिज़र्व बैंक आम जनता के पैसे की गारण्टी लेंगी जो इस कॉइन में पैसा लगाएंगे*

 

*बिना लगाम के दौड़ता क्रिप्टो मार्केट का एक और कारनामा, इंडिया कॉइन के नाम से क्रिप्टो मार्केट में लॉन्च किया ।
हमारा सवाल है*
◆क्या भारत सरकार या रिज़र्व बैंक से मान्यता प्राप्त है ये क्रिप्टो?
◆ किस नियम के अंतर्गत इस कॉइन को INDIA नाम का प्रयोग करने की अनुमति दी गई हैं?
◆ आम जनता जो अपने मेहनत की कमाई इस कॉइन को खरीदने में लगाएगी, क्या उसकी सुरक्षा की व्यवस्था रिज़र्व बैंक की रहेंगी?

अगर ये कॉइन बिना सरकार के जानकारी के लॉन्च किया गया है तो क्या भारत सरकार का वित्त मंत्रालय इसे संज्ञान में लेंगी?

 


*स्वामी प्रसाद के इस्तीफे के बाद भाजपा के शीर्ष नेताओं ने संभाला मोर्चा*

◆*स्वामी प्रसाद के इस्तीफे के बाद भाजपा के शीर्ष नेताओं ने संभाला मोर्चा*

◆*गृहमंत्री अमित शाह ने कई मंत्रियों व विधायको से बात कर बचाई इज्जत*

*लखनऊ*। चुनावी बेला में वैसे तो सभी दल के नेताओ द्वारा आया राम, गया राम की कहानी को चरितार्थ किया जा रहा है। भाजपा संगठन व सरकार से जो लोग नाराज चल रहे थे वे सभी चुनाव की घोषणा होते ही पार्टी से किनारा करने लगे। इसी बीच पार्टी व सरकार के महत्तपूर्ण अंग रहे स्वामी प्रसाद मौर्य व दो और विधायकों को जाने से वे नहीं रोक सके।
इधर, सपा मुखिया अखिलेश यादव द्वारा स्वामी प्रसाद के साथ तस्वीर साझा करते हुए उनका और समर्थकों का पार्टी में स्वागत भी कर दिया। इसके बावजूद स्वामी प्रसाद और उनकी बेटी संघमित्रा ने अभी सपा में जाने का एलान नही किया है। फिर भी समझा जा रहा है कि ये सपा मे ही जायेगे। इसी को संज्ञान में लेकर भाजपा के बड़े नेता यानी गृह मंत्री अमित शाह के अलावा यूपी के प्रभारी राधा मोहन सिंह, धर्मेंद्र प्रधान आदि लोग डैमेज कंट्रोल में जुट गए।इससे यह हुआ कि और लोग जो पार्टी से बगावत कर रहे थे वे रुक गए। क्योकि देखा गया कि
भाजपा विधायक धर्म सिंह सैनी ने इसके तुरंत बाद ही वीडियो जारी कर कहा कि स्वामी प्रसाद मेरे बड़े भाई हैं लेकिन उन्होंने उनका नाम सपा में जाने वाले विधायकों की लिस्ट में क्यों जोड़ दिया यह वह नहीं जानते। उन्होंने कहा कि वे भाजपा में हैं और भाजपा में ही बने रहेंगे। वह पार्टी कतई नहीं छोड़ रहे।
स्वामी प्रसाद मौर्या के इस्तीफे के कुछ देर बाद ही मंत्री नंद गोपाल नन्दी ने ट्वीट कर कहा कि सपा में शामिल होने का आपका फैसला विनाश काले विपरीत बुद्धि जैसा है। अखिलेश यादव की डूबती नाव की सवारी स्वामी प्रसाद जी के लिए राजनैतिक आत्महत्या जैसा आत्मघाती निर्णय साबित होगा। भाजपा राष्ट्र को सर्वोपरि मानने वाली विचारधारा का नाम है। अवसरवादियों और परिवारवादियों के लिए सपा ही सही ठिकाना है! उन्होंने कहा कि जय श्रीराम, जय भाजपा, तय भाजपा...।
प्रदेश के पिछड़े नेताओं में प्रमुख चेहरा माने जाने वाले स्वामी प्रसाद के भाजपा में रहते हुए ही अलग पार्टी बनाने और सपा से गठजोड़ किए जाने की चर्चाएं भी बीते दिनों हवा में खूब तैरती रहीं। मौर्य खेमे ने इनका कोई खंडन भी नहीं किया। वहीं ऐसी खबरों के चलते भाजपा उन्हें लेकर थोड़ी सचेत जरूर हो गई थी।
 


*भारत निर्वाचन आयोग द्वारा शुरू किया गया सीविजिल ऐप*


◆भारत निर्वाचन आयोग द्वारा शुरू किया गया सीविजिल ऐप
◆जागरूक नागरिक आदर्श आचार संहिता के उलंघन की कर सकेंगे शिकायत

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा शुरू किए गए नए सीविजिल ऐप फास्ट-ट्रैक कम्प्लेन रिसेप्शन और निवारण प्रणाली है। सीविजिल नागरिकों के लिए निर्वाचन के दौरान आदर्श आचार संहिता और व्यय संबंधी उल्लंघनों की रिपोर्ट करने के लिए एक नवोन्मेषी मोबाइल ऐप्लिकेशन है। ‘सीविजिल’ का अर्थ जागरूक नागरिक है और यह स्वतंत्र और निष्पक्ष निर्वाचनों के संचालन में नागरिकों द्वारा निभाई जा सकने वाली सक्रिय और जिम्मेदार भूमिका पर जोर देती है। इस ऐप को ऐसे किसी भी एंड्रॉइड स्मार्टफोन कैमरा में इन्सटाल किया जा सकता है। इस एप्लिकेशन का उपयोग करके, नागरिक राजनीतिक कदाचार की घटनाओं को देखते ही तत्काल कुछ ही मिनट में इसकी रिपोर्ट कर सकते हैं और इसके लिए उन्हें रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय में भी नहीं जाना पड़ेगा। शिकायत दर्ज करने से पहले आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वाली गतिविधि की केवल एक तस्वीर या 2 मिनट का वीडियो बनाएं और संक्षिप्त में इसका वर्णन कर दें। शिकायत के साथ कैप्चर की गई जीआईएस जानकारी स्वतः इसे संबंधित जिला नियंत्रण कक्ष को भेज दी जाती है, जिससे फ्लाइंग स्क्वॉड को कुछ ही मिनटों में घटनास्थल पर भेज दिया जाता है। इस एप को प्ले स्टोर के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है। 


*आदित्य ठाकरे को जान से मारने की धमकी, मुंबई क्राइम ब्रांच ने एक युवक को किया गिरफ्तार पूछताछ जारी*

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुंबई क्राइम ब्रांच ने जयसिंह राजपूत नाम के व्यक्ति को बेंगलूरु से गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार वह खुद को दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का फैन बता रहा है,इस पूरे मामले में पुलिस जांच कर रही हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट 


*प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर का उद्घाटन किया,क्या कहा प्रधानमंत्री मोदी ने देखिए खास रिपोर्ट mornews*

Mor news

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परियोजना की नवनिर्मित संरचनाओं का करीब 339 करोड़ रुपए की लागत से बने काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर का उद्घाटन किया।यह 5 लाख वर्गफिट से ज्यादा में फैला है।कॉरिडोर गंगा नदी के ललिता घाट को मंदिर चौक से जोड़ेगा।आज लोकार्पण के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण,भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्जवल भविष्य की तरफ ले जाएगा। ये परिसर, साक्षी है हमारे सामर्थ्य का, हमारे कर्तव्य का।
अगर सोच लिया जाए, ठान लिया जाए, तो असंभव कुछ भी नहीं।

काशी तो काशी है! काशी तो अविनाशी है।
काशी में एक ही सरकार है, जिनके हाथों में डमरू है, उनकी सरकार है।
जहां गंगा अपनी धारा बदलकर बहती हों, उस काशी को भला कौन रोक सकता है। 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज काशी विश्वनाथ में नगर कोतवाल बाबा काल भैरव के दर्शन कर देशवासियों के खुशहाली की कामना की,क्या कहा प्रधानमंत्री मोदी ने देखिए mornews*

Mor News !

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज भगवान शिव की नगरी काशी विश्वनाथ मे नगर कोतवाल बाबा काल भैरव के दर्शन कर देश व प्रदेशवासियों की खुशहाली की कामना की ,प्रधानमंत्री मोदी ने कहा मैं बाबा के साथ साथ नगर कोतवाल कालभैरव जी के दर्शन करके भी आ रहा हूँ,देशवासियों के लिए उनका आशीर्वाद लेकर आ रहा हूँ।काशी में कुछ भी खास हो, कुछ भी नया हो, उनसे पूछना आवश्यक है। मैं काशी के कोतवाल के चरणों में भी प्रणाम करता हूँ। 

 


*बसपा, भाजपा छोड़कर कई लोगों ने थामा कांग्रेस का दामन*

● कांग्रेस ने चलाया सदस्यता अभियान
● बसपा, भाजपा छोड़कर कई लोगों ने थामा दामन
*मऊ :* कांग्रेस पार्टी द्वारा चलाए जा रहे सदस्यता अभियान के तहत आज शनिवार को नगर के बड़ी कम्हरिया में कैम्प लगाया गया। जिसमें दर्जन भर बसपा व भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी पार्टी छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ली। कांग्रेस के शहर अध्यक्ष विष्णु प्रसाद कुशवाहा ने बताया कि सूबे की अगली सरकार प्रियंका गांधी के नेतृत्व में बनने जा रही हैं।
इस मौके पर फिरोज अहमद, दिलशाद अहमद, धनेश राजभर, हरिशचंद्र कश्यप, उमेश राजभर, सन्तोष कश्यप, हरिकेश यादव, अशोक चौहान, प्रकाश चौहान, राजेंद्र सहित कई मौजूद रहे। 


*शिक्षा बोर्ड का बड़ा निर्णय, आठवीं कक्षा की होगी बोर्ड की परीक्षाएं*

हरियाणा बोर्ड ने CBSE / HBSE के स्कूलो में 8वी की बोर्ड परीक्षाओं पर लगाई फाइनल मोहर, अब हरियाणा बोर्ड और CBSE के साथ-साथ हरियाणा के सभी स्कूलो में 8वी की बोर्ड परीक्षाएं हरियाणा शिक्षा बोर्ड लेगा.


6 दिसम्बर तक सभी स्कूलो को बोर्ड की परीक्षाओ के लिए बच्चो का डाटा अपलोड करना होगा. परीक्षाओं में विद्यार्थियों को रजिस्टर्ड करवाने के लिए सभी स्कूलों को बच्चों का डाटा अपलोड करना होगा जिसके लिए उन्हें 6 दिसंबर तक का समय दिया गया है.


आपको बता दें कि पहले आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं नहीं होती थी किंतु हरियाणा बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए इस निर्णय पर अंतिम मोहर लगा दी है. अब हरियाणा के सभी स्कूलों में आठवीं की बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करवाई जाएंगी. जिसके लिए सभी स्कूलों को आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों का पंजीकरण भी करना पड़ेगा.

हरियाणा बोर्ड का यह प्रयास है कि विद्यार्थियों को शिक्षा के प्रति ज्यादा अलर्ट किया जा सके. साथ ही आठवीं कक्षा से ही विद्यार्थियों की शिक्षा के प्रति गंभीरता के भाव को उत्पन्न किया जा सके. इसके लिए बोर्ड ने अपने निर्णय पर अंतिम मोहर लगा दी है. 


*CM के फरमान का कितना असर? सिर्फ 53 थानों में महिला थानाध्यक्ष*

 PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार थानों में अधिक से अधिक महिला थानाध्यक्षों की पदस्थापन को लेकर अधिकारियों को निर्देश दे चुके हैं। हालांकि थानाध्यक्ष के रूप में महिला पुलिस पदाधिकारियों की संख्या अब भी काफी कम है। सिर्फ 53 थानों में महिला थानाध्यक्षों की पदस्थापना है. इनमें 38 जिलों में महिला थाना में थानाध्यक्ष को छोड़ दें तो केवल 15 थानो में महिला पुलिस अफसर को थानाध्यक्ष की कमान दी गई है।


सीएम नीतीश के निर्देशों की हुई समीक्षा

गृह विभाग की तरफ से जानकारी दी गई है कि बिहार में महिला पुलिस पदाधिकारियों-कर्मियों की कुल संख्या 13718 है जो कुल कार्यरत बल का 25 फीसदी है। इनमें से 5859 पुलिसकर्मियों का पदस्थापन हो चुका है. गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव ने चैतन्य प्रसाद ने पुलिस मुख्यालय को यह निर्देशित किया है की महिला पुलिस कर्मियों को शीघ्र थानों में पदस्थापित की जाये। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देशों के कार्यान्वयन के संबंध में चर्चा की गई. मीटिंग में कब्रिस्तान घेराबंदी, भूमि विवाद, पुलिस थाना-ओपी के लिए भूमि की उपलब्धता, क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला, पुलिस थानों में महिला थानाध्यक्ष-सिपाही की पदस्थापना, लैंडलाइन फोन की व्यवस्था, पुलिस पेट्रोलिंग, महिला हेल्प डेस्क, थाना भवनों में आगंतुक कक्ष, सीसीटीएनएस प्रणाली को सभी थानों में लागू करना के संबंध में समीक्षा की गई.


सीएम नीतीश की गहरी आपत्ति के बाद आई तेजी

हाल के दिनों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भूमिहीन थानों को लेकर गहरी आपत्ति जताई थी. सीएम ने गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव को सख्त हिदायत दी थी कि जो भी थाना भूमिहीन हैं उनके भूमि उपलब्धता को लेकर युद्ध स्तर पर काम करें. बैठक में विभाग के अपर मुख्य सचिव ने कहा कि अगली बार की बैठक तक जिन थाना-ओपी के लिए भूमि चिन्हित नहीं की गई है उन्हें चिन्हित करते हुए भू अर्जन प्रस्ताव की स्वीकृति दी जाए.