*मध्य प्रदेश में इंजीनियरिंग के सिलेबस में पढ़ाया जाएगा रामायण और महाभारत*

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार शिक्षा में बड़ा बदलाव किया है। सरकार ने युवाओं को भारतीय संस्कृति से परिचय कराने के लिए राज्य में इंजीनियरिंग के सिलेबस में रामायण और महाभारत महाकाव्यों को शामिल करने का निर्णय लिया है। इस संबंध की जानकारी देते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा कि अगर हम अपने गौरवशाली इतिहास को आगे ला रहे हैं तो इस पर किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

मोहन यादव ने कहा, “जो कोई भी भगवान राम के चरित्र और समकालीन कार्यों के बारे में सीखना चाहता है, वो इंजीनियरिंग के सेलेबस में ऐसा कर सकता है। ये नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के दायरे में उठाए जा रहे कदम है। हमारे अध्ययन बोर्ड के शिक्षकों ने एनईपी 2020 के तहत पाठ्यक्रम तैयार किया है। अगर हम अपने गौरवशाली इतिहास को आगे ला सकते हैं, तो किसी को भी इससे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।” सरकार इस ऐलान के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया देने लगे।


कुछ यूजर्स ने सीएम शिवराज के इस फैसले का स्वागत किया है तो कुछ ने इसकी आलोचना की है। यानी की यूजर्स की तरफ से मिली जुली प्रतिक्रिया मिली है। यूजर्स ने कहा है कि ये देश के युवाओं को महाभारत और रामायण पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करेगा। वहीं कुछ यूजर्स ने सवाल किया है कि कैसे दो महाकाव्यों को पढ़ने से इंजीनियरों को उनके करियर में मदद मिलेगी। मध्य प्रदेश उन पहले राज्यों में से एक है जो एनईपी को स्कूल के साथ-साथ कॉलेज के पाठ्यक्रम में शामिल करने की कोशिश कर रहा है। 


*बीजेपी सांसद के घर पे बम से हमला*

West Bengal News: पश्चिम बंगाल में बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह के आवास के पास बम विस्फोट हुआ है. सांसद के उत्तरी 24 परगना स्थित आवास पर आठ सितंबर को भी हमला किया गया था. इस मामले की जांच सोमवार को ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अपने हाथ में ली है. बम विस्फोट के बाद अर्जुन सिंह ने वीडियो के साथ ट्वीट किया. उन्होंने कहा, ''8 सितंबर को मेरे घर के सामने बम फेंके गए थे और आज सुबह घर के पीछे. अपराधियों को कोई डर नहीं है क्योंकि उनको टीएमसी और पश्चिम बंगाल पुलिस का संरक्षण प्राप्त है.'' उन्होंने कहा कि अपराधी खुले घूम रहे हैं, पुलिस तृणमूल की ‘दलदास’ बनी है. ऐसे हमलों से ना कभी डरा था और न डरूँगा. अर्जुन सिंह ने ट्वीट में गृह मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग किया है.


पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि सुबह करीब 9.10 बजे अर्जुन सिंह के भाटपाड़ा आवास से करीब 200 मीटर की दूरी पर खाली पड़ी जमीन पर बम विस्फोट हुए. उन्होंने कहा, ‘‘हम मामले की जांच कर रहे हैं. हमारे अधिकारी वहां हैं.’’ बीजेपी नेता सिंह ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सदस्य उनकी जान लेने की कोशिश कर रहे हैं. सिंह ने आरोप लगाया कि इस हमले की योजना तृणमूल कांग्रेस द्वारा उन्हें, उनके परिवार के सदस्यों और उनके करीबी लोगों को मारने के लिए बनाई गई थी. अर्जुन सिंह ने कहा कि बंगाल सरकार एनआईए को चुनौती दे रही है. डर का वातावरण बनाया जा रहा है. एनआईए को जांच करनी चाहिए कि ऐसे विस्फोटक कहां से लाए जा रहे हैं. मैंने एक प्राथमिकी दर्ज की है. टीएमसी के उत्तर 24 परगना के अध्यक्ष पार्थ भौमिक ने आरोपों को खारिज किया और कहा कि बीजेपी सांसद अपने घर के बाहर विस्फोटों के लिए किसी न किसी तरह से जिम्मेदार हैं.  


*गुजरात के 17 वें मुख्यमंत्री के रूप में भूपेन्द्र पटेल ने ली शपथ*

अहमदाबाद। गुजरात के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में भूपेंद्र पटेल ने सोमवार को शपथ ली। बता दें कि भाजपा के टिकट पर पहली बार भूपेंद्र पटेल विधायक बने। विजय रूपाणी ने दो दिन पहले मुख्यमंत्री पद से अचानक इस्तीफा दे दिया था। राज्य में लगभग सवा साल बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। पटेल को रविवार को भाजपा विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से नेता चुन लिया गया था और राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने आज उन्हें यहां आयोजित एक सादे समारोह में राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई। भाजपा सूत्रों ने बताया कि राजभवन में हुए समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कुछ भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद थे। पार्टी के निर्णय के अनुसार, केवल पटेल ने शपथ ली। सूत्रों ने बताया कि मंत्रियों के नामों को अंतिम रूप दिए जाने के बाद अगले कुछ दिनों में मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्य शपथ लेंगे।

 ब्यूरो रिपोर्ट


*कांग्रेस MLA के खिलाफ बहू की प्रताड़ना का केस*

कोल्हापुर। कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष और मौजूदा विधायक पांडुरंग पाटिल उर्फ पी.एन.पाटिल के खिलाफ पुत्रवधु को प्रताड़ित करने का मामला दर्ज किया गया है। पांडुरंग पाटिल की पुत्रवधु अदिति राजेश पाटिल महाराष्ट्र के सहकारिता मंत्री एवं राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष रहे बालासाहेब पाटिल की भतीजी और कोल्हापुर जिले के वरिष्ठ नेता सुभाष पाटिल की बेटी हैं। इस प्रकरण में विधायक पीएन पाटिल सहित उनके बेटे राजेश और बेटी टीना महेश पाटिल के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

पांडुरंग पाटिल के खिलाफ यह मामला दर्ज होने के बाद समूचे जिले में काफी खलबली मच गई है। अदिति पाटिल द्वारा पुलिस के पास दर्ज कराई शिकायत के मुताबिक विधायक पांडुरंग पाटिल, उनके बेटे राजेश और बेटी टीना उन्हें गालियां देते हुए न केवल मारा-पीटा, बल्कि एक करोड़ रुपये भी मांगे।
अदिति की शिकायत के आधार पर पुलिस ने इस प्रकरण में विवाहिता को शारीरिक-मानसिक रूप से प्रताड़ित करने, धोखा-गाली देने, पीटने-धमकाने आदि के सिलसिले में उक्त सभी अभियुक्तों के खिलाफ विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। सत्तारूढ़ दल के एक विधायक के खिलाफ इतने संगीन मामले के दर्ज होने से ही समूचे राज्य की तस्वीर साफ है कि कानून-व्यवस्था कितनी लचर हो गई है। 


बदमाशों ने एक बिजनेसमैन को मारी गोली, घर से बाहर बुलाकर बरसाई गोलियां

PATNA : राजधानी पटना में बदमाशों ने एक शख्स को गोली मार दी है. कृषि कारोबारी को बदमाशों ने घर से बुलाकर उसके ऊपर गोलियां बरसाई. गोली लगने के कारण कृषि कारोबारी गंभीर रूप से जख्मी हो गया है. उसे इलाज के लिए आनन-फानन में नजदीकी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है. 

 

 वारदात राजधानी पटना के पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र की है. यहां पाटलिपुत्र कालोनी में कुछ बदमाशों ने कृषि कारोबारी पर गोलियां बरसा दी. इसके बाद कारोबारी गंभीर रूप से घायल हो गया. इस घटना को अंजाम देने के बाद हथियारबंद बदमाश मौके से भाग निकले. गोली लगने के कारण कृषि कारोबारी गंभीर रूप से जख्मी हो गया है. उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा.

 

इस घटना में जख्मी करोषि कारोबारी की पहचान आनंद उर्फ डब्बू के रूप में की गई है. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची. पाटलिपुत्र थाना प्रभारी एसके शाही का कहना है, कारोबारी को दो-तीन गोलियां लगी है. एक गोली सीने के पास लगी है.घटना का कारण अब तक स्पष्ट नहीं हो सका. विभिन्न बिंदुओं पर मामले की छानबीन की जा रही है. जांच के दौरान पुलिस को मौके से एक बंदूक मिला, जिसे जब्त कर लिया है. आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं.


कोविशील्ड वैक्सीन के 4 नए साइड इफेक्ट्स, ये लक्षण दिखें तो न करें नजरअंदाज

नई दिल्ली: कोविड-19 वैक्सीन के आने की शुरुआत से ही इसके साइड इफेक्ट्स पर भी लगातार चर्चा चल रही है. इनमें Oxford-Astrazeneca वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हेल्थ एक्सपर्ट्स की चिंता को बढ़ा रहे हैं. शुरुआत में ऐसी रिपोर्ट आई कि वैक्सीन से न्यूरोलॉजिकल कॉम्पलीकेशंस के साथ ब्लड क्लॉटिंग डिसऑर्डर के मामले सामने आ रहे हैं. हालांकि वैक्सीन को इस्तेमाल की मंंजूरी मिली हुई और इसे सु​रक्षित माना गया है.



हर व्यक्ति पर अलग असर
Covishield Vaccine के इस्तेमाल से ऐसे मामले भी सामने आए जिसमें लोगों में बुखार और फ्लू जैसे लक्षण देखे गए. पोस्ट वैक्सीनेशन से जुड़े इन मामलों में ये भी सामने आया है कि कोविशील्ड वैक्सीन हर व्यक्ति पर अलग तरीके से असर करती है.



टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, हाल में कोविशील्ड वैक्सीन के 4 साइड इफेक्ट्स सामने आए हैं, जिन पर लोगों को ध्यान देने की जरूरत है. अभी लोगों को जैसे-जैसे ये वैक्सीन लगाई जा रही है. साइड इफेक्ट्स के मामले सामने आ रहे हैं.



पैरों और हाथों में दर्द
कोविशील्ड वैक्सीन लेने के बाद आपको पैरों और हाथों में दर्द की शिकायत हो सकती है. हालांकि ये ज्यादातर वैक्सीन के साथ होता है. अगर ये दर्द कम है, तो ये लोकल साइड इफेक्ट हो सकता है, लेकिन अगर दर्द ज्यादा है तो डॉक्टर से सलाह लें. कई लोगों के दोनों पैरों और जोड़ों में दर्द होता है और उन्हें थकान महसूस होती है. वहीं कुछ लोगों के एक ही पैर में दर्द होता है, अगर दर्द एक ही पैर में हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें.



वायरल इंफ्लूएंजा जैसे लक्षण
वैक्सीन लगवाने के बाद आपको फ्लू जैसे लक्षण दिख सकते हैं. यूरोपियन मेडिकल अथॉरिटीज के मुताबिक, आपको ठंड लगकर बुखार आने और बॉडी पेन जैसे लक्षण दिख सकते हैं, जैसा कि वायरल इंफ्लूएंजा में होता है. ये हर किसी के साथ नहीं होता, लेकिन चूंकि ये वैक्सीन का साइड इफेक्ट इसलिए इस पर ध्यान देने की जरूरत है. इसलिए अगर आपको बुखार, मांसपेशियों में दर्द, नाक बहने और किसी तरह से सांस लेने किसी तरह की दिक्कत महसूस हो, तो ये वैक्सीन का साइड इफेक्ट हो सकता है. इससे पहले की स्टडीज में ये भी सामने आया है कि नाक बहना एक रेयर साइड इफेक्ट है, जो उन लोगों में भी वैक्सीन लेने के बाद दिखता है, जिन्हें पहले कोविड हो चुका है.

उबकाई आना
मिचली, उबकाई आना, पेट में क्रैम्प ये लक्षण आपको Covishield वैक्सीनेशन के बाद नजर आ सकते हैं. ये डाइजेस्टिव लक्षण पहले भी दूसरी वैक्सीन लगवाने वाले लोगों में देखे गए हैं, लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट्स ने पाया कोविशील्ड- एस्ट्राजेनेका वैक्सीन लगवाने पर भी आपको ये लक्षण दिख सकते हैं. वैक्सीन लगवाने के बाद आपको उल्टी आने की समस्या हो सकती है. ये लक्षण ज्यादातर फर्स्ट डोज के समय नजर आता है. 


*पीएम का पत्र पढ़ भावुक हुए चिराग पासवान*

पटना। LJP के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की आज पहली बरसी है,रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने जिन लोगों ने को पहली बरसी में आने के लिए निमंत्रण दिया था उनमें पीएम नरेंद्र मोदी भी शामिल थे,पीएम मोदी पटना में होने वाले इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो रहे हैं, लेकिन उन्होंने पहली बरसी पर रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देते हुए एक पत्र लिखा है।

इस पत्र में उन्होंने रामविलास पासवान को देश का महान सपूत, बिहार का गौरव और सामाजिक न्याय की बुलंद आवाज बताया है, पीएम ने लिखा है कि आज का दिन उनके लिए काफी भावुक है और इस दिन को वह न केवल अपने आत्मीय मित्र के रूप में याद कर रहे हैं बल्कि भारतीय राजनीति में उनके जाने से जो शून्य उत्पन्न हुआ है उसे भी अनुभव कर रहे हैं,रामविलास पासवान के साथ अपने लंबे राजनीतिक जीवन को भी पीएम नरेंद्र मोदी ने इस चिट्ठी में याद करते हुए शामिल किया है। एनडीए सरकार के 6 वर्षों के कार्यकाल के दौरान भी रामविलास पासवान द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया है।

पीएम नरेंद्र मोदी जी इस चिट्ठी को चिराग पासवान ने ट्वीट किया है, साथ ही इस पत्र को लेकर वह काफी भावुक भी हो गए हैं, उन्होंने पीएम की स्थिति को ट्वीट करते हुए लिखा है कि पिताजी की बरसी के दिन आदरणीय प्रधानमंत्री जी का संदेश प्राप्त हुआ है। चिराग ने लिखा है कि पीएम ने पिताजी के पूरे जीवन के सारांश को अपने शब्दों में पिरोकर और समाज के लिए किए गए कार्यों को लेकर सम्मान दिया है और उनके प्रति अपना स्नेह प्रदर्शित किया है. चिराग ने इस चिट्ठी को अपने और अपने परिवार के लिए दुख की इस घड़ी में शक्ति प्रदान करने वाला बताया है। 


*breakin:बीजेपी के 5राज्यों के चुनाव प्रभारियों की सूची जारी,देखिए किन्हें दी गई जिम्मेदारी mornews*

नई दिल्ली।भारतीय जनता पार्टी ने जारी की 5 राज्यों के प्रभारियों की सूची:सूची के हिसाब से अभी जिन राज्यों में चुनाव होने है वहाँ के लिए नियुक्त किये गए प्रभारी-

धर्मेंद्र प्रधान यूपी केचुनाव प्रभारी, अनुराग ठाकुर , मेघवाल सह-प्रभारी

देवेंद्र फडणवीस गोवा के चुनाव प्रभारी

गजेंद्र सिंह शेखावत पंजाब के चुनाव प्रभारी

भूपेंद्र यादव मणिपुर के चुनाव प्रभारी

प्रहलाद जोशी उत्तराखंड के चुनाव प्रभारी

ब्यूरो रिपोर्ट

 


*एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का हार्ट अटैक से मौत,फ़िल्म जगत में शोक की लहर*

 मुंबई -टीवी एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का हार्ट अटैक से निधन हो गया ,बिग बॉस सीजन 13 के विनर रहे सिद्धार्थ शुक्ला का देर रात हार्ट अटैक से निधन हो गया इस खबर के बाद फ़िल्म ने जगत और फेन्स में शोक की लहर है, बालिका वधू सहित कई सीरियल में कर चुके हैं काम,40 वर्ष के शुक्ला के करीबियों के इस घटना के बाद यकीन ही नई हो रहा है के वे अब इस दुनिया मे नई रहे।

ब्यूरो रिपोर्ट


*लगातार बढ़ रही वायरल बुखार के मरीजों की संख्या, अस्पतालों में कम पड़े बैड, देखिए क्या हैं हालात?*

कानपुर: मौसम की मार वायरल के प्रकोप के रूप में सामने आई है. वेक्टर बोर्न डिजीज और वायरल की मार बच्चे, बूढ़े, महिलाओं को अपनी चपेट में तेज़ी से लेती जा रही है. आलम ये है कि उल्टी, दस्त, बुखार, निमोनिया के इतने मरीज आ रहे हैं कि अस्पताल में बेड ही कम पड़ गए हैं. कोरोना के मामलों में बहुत तेजी से कमी आ रही है लेकिन अब वायरल फीवर ने कहर ढाना शुरू कर दिया है. वायरल फीवर (Viral Fever) की चपेट में बच्चे भी बहुत तेजी से आ रहे हैं. बच्चों में संक्रमण इस कदर फैला है कि कानपुर (Kanpur) के हैलट अस्पताल का बाल रोग विभाग पूरी तरीके से फुल हो चुका है. यहां पर एक बेड पर दो तीन बच्चों को लिटा कर उनका इलाज किया जा रहा है.


बच्चों में बढ़ रहा संक्रमण चिंता का विषय बना हुआ है. वहीं युवाओं में भी वायरल फीवर से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अस्पतालों में मरीजों की भारी भीड़ पहुंच रही है. आलम यह है कि ओपीडी में दिखाने के लिए मरीजों की लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं. वहीं हैलट अस्पताल के मेडिसिन विभाग के सभी बेड फुल हो चुके हैं. जिसके चलते हैं एक एक बेड पर दो दो मरीजों का इलाज चल रहा है. वही बेड ना मिलने पर लोगों को जमीन पर लिटा कर भी उनका इलाज किया जा रहा है. वायरल से संक्रमित लोगों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए हैलट अस्पताल में 18 बेड बढ़ाए गए हैं. और अधिक मरीजों का इलाज हो सके इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्थाएं की जा रही है.


शहर में मलेरिया और डेंगू का खतरा भी मंडरा रहा है

इसी तरह उर्सला व अन्य सरकारी अस्पतालों में भी सभी बेड फुल हो चुके हैं. शहर में मलेरिया और डेंगू का खतरा भी मंडरा रहा है. जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग भी सचेत हो गया है. आलम ये है कि हैलट इमरजेंसी में 300 मरीज वायरल फीवर के रिपोर्ट चुके हैं. अस्पताल मरीजों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्थाएं करने में जुटे हुए हैं. इमरजेंसी में हालात ओपीडी जैसे नजर आने लगे हैं. मरीजों के लिए स्ट्रेचर,बेड और ट्रॉली कम पड़ने लगे हैं.

अस्पतालों में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के चलते मरीजो की हालात को सामान्य करके उन्हें घर भेजा जा रहा है और उन्हें घर में रहकर ही दवा करने की सलाह दी जा रही है. हैलट अस्पताल के 4 वार्डों की हालत यह है कि अधिकतर बेड में दो-दो मरीजों का इलाज चल रहा है. कोरोना की तीसरी वेव की आशंका के चलते हैलट अस्पताल में 400 बेड कोरोना पेशेंट के लिए रिजर्व करके रखे गए हैं. जिनमें सामान्य फ्लू और वायरल के मरीजों को भर्ती नहीं किया जा सकता.

 

 

वैकल्पिक व्यवस्थाओं के बारे में भी विचार किया जा रहा है

जिस तरीके से लगातार वायरल फीवर के मरीज बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए हैलट अस्पताल प्रशासन अब न्यूरो कोविड अस्पताल के एक फ्लोर को इन मरीजों के लिए खोलने की तैयारी कर रहा है. जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की वाइस प्रिंसिपल रिचा गिरी का कहना है कि मेडिकल कालेज अधिक से अधिक मरीजों का इलाज करने के लिए तत्पर है. जिसके चलते अभी तक 18 बेड दूसरे वार्ड से मैनेज कर बढ़ाए जा चुके हैं. वही अन्य वैकल्पिक व्यवस्थाओं के बारे में भी विचार किया जा रहा है. 


*वैक्सीनेशन सेंटर पर गोलीबारी: टीके के विवाद में दिनदहाड़े चली गोली, गोली लगने से एक गंभीर घायल, सेंटर पर फैली दहशत*

मुजफ्फरपुर. जिला में वैक्सीनेशन के दौरान बदमाशों ने फायरिंग कर दी. इसमें गोली लगने से एक व्यक्ति घायल हो गया है, जिसे इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया. इसके बाद घायल की स्थिति गंभीर होने के चलते उसे एसकेएमसीएच अस्पताल में रेफर किया गया है. यहां उसका इलाज जारी है. वहीं इसकी सूचना मिलने पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गयी है.

जिला के मोतीपुर थाना इलाके के सिरसिया रामपुर गांव स्थित एक स्कूल में बने वैक्सीनेशन केंद्र में दिनदहाड़े गोलीबारी हुई. इस गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल हो गया है. वहीं इसकी सूचना पर पहुंचकर पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है. बताया जा रहा है कि बदमाश वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गया.

वहीं इस गोलीबारी से वैक्सीनेशन केंद्र पर लोगों में दहशत फैल गयी. लोग इधर-उधर भागने लगे. यह गोलीबारी टीके के विवाद के चलते हुई है. फिलहाल पुलिस आसपास के लोगों से पूछताछ कर रही है और मामले की जांच कर रही है. आरोपी को पता लगाकर उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी. 


*मुख्तार अंसारी की पत्नी एवं सालों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा*

उत्तर प्रदेश में माफियाओं के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत नंदगंज पुलिस द्वारा विकास कंस्ट्रक्शन के पार्टनर्स विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसां अंसारी ,साला अनवर शहजाद व सरजील रजा पुत्रगण जमशेद रजा व अन्य के विरुद्ध फतेहुल्लहपुर में ताल की जमीन पर अवैध कब्जा कर अपने गोदाम के लिए अवैध सड़क निर्माण करने के संबंध में एफआईआर 227/21 अंतर्गत धारा 447 IPC, 3/5 सार्वजनिक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम, 1984 पंजीकृत किया गया है।
मालूम हो कि दो दिन पूर्व
पुलिस एवं प्रशासन ने फतेहुल्लहपुर स्थित उक्त ताल की जमीन को अवैध कब्जे से अवमुक्त करा दिया। प्रशासन ने गोदाम पर जाने वाली सड़क को क्षतिग्रस्त करा दिया था। नंदगंज थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है।अग्रिम विधिक कार्रवाई प्रचलित है। 


*शीर्ष केन्द्रीय नेतृत्व की जुबान, राज्यस्तरिय प्रेशर पॉलिटिक्स के सामने क्या दम तोड़ दिया*

 विगत कुछ दिनों से छत्तीसगढ़ की राजनीति नये नये करवट बदल रही है, लगातार सह और मात का खेल चल रहा है। इस बात से इनकार नही किया जा सकता कि कुछ बात तो नही है, अगर धुंवा निकला है तो कुछ तो बात रही होंगी तभी  प्रदेश के  दो विपरीत ध्रुव अपने खेल पे लगे हुए हैं।

इस खेल में एक बात तो जनता समझ चुकी है कि एक पार्टी जो लंबे समय तक भारत की सत्ता में रही अब उसमें वो धार नही जो पहले रहा करता था। आज फैसला शीर्ष नेतृत्व नही बल्कि प्रेशर पॉलिटिक्स के दबाव में बस लिया जा सकता है, शीर्ष नेतृत्व की जुबान भी फस जाए या सम्मान की बात भी आ जाए तो भी शीर्ष नेतृत्व असहाय जैसा हो जाता है फैसला लेने का समर्थ अब नही रहा, प्रेशर पॉलिटिक्स में उसकी आवाज़ और सम्मान दोनो दम तोड़ दे देती हैं।

 

(संपादक की कलम से)


*शायर मुनव्वर राणा का बेटा तबरेज राणा झूठी रिपोर्ट करवाने के जुर्म में गिरफ्तार*

शायर मुनव्वर राणा के बेटे तबरेज राणा को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया। तबरेज पर खुद पर हमले की साजिश रचने का आरोप है। बताया जा रहा है कि सदर कोतवाली पुलिस और एसओजी की टीम ने लखनऊ में तबरेज के आवास से गिरफ्तार किया गया। कोर्ट द्वारा वारंट जारी होने के बाद भी तबरेज सरेंडर नहीं किया था।

शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राना ने बीते 28 जून को सदर कोतवाली में तहरीर देकर लखनऊ मार्ग पर पेट्रोल पंप के पास जानलेवा हमले का मुकदमा अपने चाचाओं के खिलाफ दर्ज कराया था। मामले में पुलिस ने साजिशकर्ता नयापुरवा निराला नगर निवासी हलीम और सुल्तान अली के अलावा शूटर व भदोखर थाना क्षेत्र के पूरे हंसा मजरे बेलाभेला निवासी सत्येंद्र त्रिपाठी व उत्तरपारा निवासी शुभम सरकार को भी गिरफ्तार करके जेल भेजा था। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ था कि जमीनी विवाद में चाचाओं को फर्जी मामले में फंसाने के लिए तबरेज राना ने स्वयं खुद पर हमले की साजिश रची थी। उस समय तबरेज की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी।
उसकी धरपकड़ के लिए पुलिस प्रयास कर रही थी। बुधवार को मुखबिर से सूचना मिली कि तबरेज लखनऊ के हुसैनगंज के लालकुआं स्थित एफआई टॉवर ढींगरा अपार्टमेंट में मौजूद है। अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव के दिशा-निर्देशन में सदर कोतवाल अतुल सिंह, एसओजी टीम प्रभारी अमरेश कुमार त्रिपाठी की अगुवाई में टीम ने लखनऊ स्थित आवास पर छापा मारकर तबरेज राना को गिरफ्तार कर लिया। बताते हैं कि पुलिस ने छापा मारा तो इसकी भनक लगने पर तबरेज ने भागने की कोशिश की।
पुलिस ने घेराबंदी करके उसे दबोच लिया। बताया जा रहा है कि पुलिस को कई दिन से सूचनाएं मिल रही थीं कि तबरेज घर पर ही मौजूद है। सटीक जानकारी लेने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की। खुद पर हमले की साजिश रचने वाला तबरेज राना आगामी विधानसभा चुनाव तिलोई सीट से लड़ना चाहता था। पिता की तरह सुर्खियां बटोरने और परिवार के लोगों को फंसाकर शांत कराने के मकसद से ही उसे यह करतूत सूझी। पुलिस का कहना है कि तिलोई से चुनाव लड़ने, मीडिया के जरिए सुर्खियां बटोरने और चाचाओं को फंसा कर शांत करके उनके हिस्से की रकम हड़पने की तबरेज की मंशा पूरी नहीं हो सकी थी।
आरोपी तबरेज राना ने अपने साथी हलीम के साथ खुद पर हमले की साजिश रची थी, लेकिन पुलिस की जांच में वह उल्टा फंस गया था। सीसीटीवी फुटेज ने उसकी करतूत को उजागर कर दिया था। यदि यह फुटेज न होती तो पुलिस को मामले का खुलासा कर पाना कठिन होता। घटना के दिन गाड़ी में कई लोगों के बैठे होने की जानकारी तबरेज ने दी, लेकिन सीसीटीवी फुटेज में वह अकेला ही नजर आया। गोली भी जिस तरफ वह बैठकर गाड़ी चला रहा था, ठीक उसके विपरीत स्थान पर कार में मारी गई। 


*केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे को आधी रात जमानत मिली*

मुंबई। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की आधी रात को उनकी जमानत याचिका मंजूर कर ली गई। उन्हें 15 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दे दी गई। इस दौरान एक शर्त रखी गई कि राणे दो दिन रायगढ़ अपराध शाखा में हाजिरी लगाएंगे। नारायण राणे की जमानत की खबर मिलते ही बीजेपी समर्थकों ने जमकर आतिशबाजी और जश्न मनाया। बता दें कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर एक टिप्पणी करने के आरोप में मंगलवार को राणे को गिरफ्तार किया गया था।

बता दें कि नारायण राणे को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस संगमेश्वर पुलिस स्टेशन से महाड के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में ले गई थी। इसके बाद देर रात उन्हेंं कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। महाड के ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के सामने रात 9 बज कर 50 मिनट में नारायण राणे की जमानत पर सुनवाई शुरू हुई और महाड कोर्ट ने रात 11.15 बजे नारायण राणे की जमानत मंजूर कर ली। रत्नागिरि पुलिस द्वारा गिरफ्तारी किए जाने से पहले राणे ने रत्नागिरी कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दी। रत्नागिरी कोर्ट ने जमानत अर्जी ठुकरा दी। इसके बाद मुंबई उच्च न्यायालय ने भी तुरंत सुनवाई करने से इनकार कर दिया।
इसके बाद रत्नागिरी में दोपहर सवा तीन बजे जब नारायण राणे अपने जन आशीर्वाद यात्रा के कार्यक्रम के दौरान खाना खा रहे थे तो रत्नागिरी पुलिस के डीसीपी उन्हें गिरफ्तार करने पहुंचे। नारायण राणे ने अपनी गिरफ्तारी से संबंधित नोटिस दिखाने को कहा ,लेकिन बिना किसी नोटिस के पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर संगमेश्वर पुलिस स्टेशन ले आई. यहां से महाड पुलिस आकर उन्हें महाड के लिए रवाना हुई। महाड के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में रात साढ़े आठ बजे राणे पहुंचे। यहां से महाड पुलिस ने 9 बज कर 50 मिनट में महाड कोर्ट में दंडाधिकारी के सामने राणे को पेश किया। इसके बाद नारायण राणे की जमानत अर्जी पर सुनवाई शुरू हुई। 11.15 बजे रात को नारायण राणे की जमानत याचिका महाड कोर्ट ने मंजूर कर ली। नारायण राणे को जमानत मिलने की खबर बाहर आते ही सिंधुदुर्ग के भाजपा समर्थकों ने पटाखे फोड़ कर जश्न मनाया। नारियल फोड़ कर जोश में नारे लगाए। कुडाल में भी राणे समर्थकों ने पटाखे फोड़ कर अपनी खुशियां जाहिर की।
दरअसल, राणे ने हाल ही में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर एक बयान दिया था। इस बयान में उन्होंने ठाकरे की आलोचना करने के साथ ही कथित तौर पर उन्हें थप्पड़ मारने की बात कही थी। इस बयान के बाद उन पर एफआईआर दर्ज की गई थी। राणे को मंगलवार दोपहर हिरासत में लेने के बाद औपचारिक रूप से गिरफ्तार किया गया। इसके बाद रात में उन्हें रायगढ़ जिले की महाड कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। 


*ससुराल वाले से छुटकारा पाने बहु ने चाय पे जहर मिलाया, मासूम की गई जान, जानिए पूरा मामला*

बहराइच: उत्तर प्रदेश में बहराइच से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. कोतवाली देहात क्षेत्र स्थित मछियाही गांव में ससुराल वालों से छुटकारा पाने के लिए घर की बहू ने चाय में जहर मिला दिया. जहरीली चाय से डेढ़ वर्षीय बच्चे की मौत हो गई और चार अन्य लोगों की हालत गंभीर हैं. पुलिस को इस घटना के पीछे प्रेम संबंधों का मामला होने का शक है.



मायके से लेकर आई जहर!
ASP (सिटी) कुंवर ज्ञानन्जय सिंह ने बताया कि युवती अनीता जायसवाल का विवाह पिछले दिसंबर माह में मछियाही गांव के पूरन जायसवाल से हुआ था. अनीता की अपने ससुराल वालों से अनबन रहती थी और वह किसी तरह उनसे छुटकारा पाना चाहती थी. एक दिन पहले ही अनीता मायके से लौटी थी. उन्होंने दर्ज रिपोर्ट के हवाले से बताया कि सोमवार सुबह अनीता का पति घर पर नहीं था. त्योहार के कारण घर पर मेहमान आए हुए थे. आरोप है कि सुबह अनीता ने परिवार और मेहमानों के लिए चाय बनाई और उसमें अपने मायके से लाया हुआ जहरीला पदार्थ मिला दिया.

 


देवर ने दर्ज कराई एफआईआर
चाय पीकर अनीता के ससुर पंचम जायसवाल (50), देवर जितेंद्र जायसवाल (22), ननद शिवानी (8), रक्षाबंधन पर घर आई मेहमान मौसेरी ननद की बेटी सृष्टि (3) और ननद के डेढ़ वर्षीय बेटे शिवांश की हालत बिगड़ने लगी. सभी को स्थानीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया. इलाज के दौरान शिवांश की मौत हो गई. शेष चारों बीमार परिवारीजनों का इलाज चल रहा है. सभी की हालत स्थिर बताई जाती है. महिला के देवर की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी अनीता जायसवाल को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. 


भोजपुरी एक्ट्रेस प्रियंका पंडित का एमएमएस वीडियो हुआ लीक, जानिए पूरा मामला

भोजपुरी इंडस्ट्री का जाना माना नाम प्रियंका पंडित के प्राइवेट वीडियो लीक होने की खबरें आ रही हैं। प्रियंका पंडित की एमएमएस वीडियो धड़ल्ले से इंटरनेट पर वायरल हो रही है। जिससे भोजपुरी इंडस्ट्री और इंटरनेट पर हंगामा मचा हुआ है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो, ऐक्ट्रेस ने दिया बयान

उत्तर प्रदेश के जौनपुर की रहने वाली प्रियंका पंडित सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं और फैंस के लिए आए दिन नई तस्वीरें पोस्ट करती रहती हैं। हाल ही में उनकी एक प्राइवेट वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हुई, जिसके बाद एक बयान में उन्होंने पूरे मामले को अपने खिलाफ साजिश करार दिया है।



प्रियंका ने दावा किया कि कोई उनसे पर्सनल दुश्मनी निकाल रहा है। किसी ने उन्हें बदनाम करने के लिए जानबूझ कर इस वीडियो को वायरल किया है। प्रियंका ने अपना पल्ला झाड़ते हुए यह भी कहा है कि ये उनका वीडियो नहीं है। इसमें नजर आने वाली लड़की कोई और है, जो उनकी जैसी दिख रही है।

हालांकि ये विवाद सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल चुका है और यूजर्स ने सोशल मीडिया पर यह वीडियो खोजना और शेयर करना भी शुरू कर दिया है। प्रियंका ने इस वीडियो के खिलाफ शिकायत भी दर्ज की है। पुलिस अभी भी जांच में जुटी है। अभी तक कुछ कन्फर्म नहीं है कि यह वीडियो कहां से लीक हुआ है, पर फिलहाल सोशल मीडिया पर इसकी खिचड़ी पक रही है।



इन फिल्मों में किया है काम

साल 2013 में भोजपुरी फिल्म ‘जीना तेरी गली में’ से डेब्यू करने वाली प्रियंका पंडित ने अब तक 50 से ज्यादा भोजपुरी फिल्मों में काम किया है। प्रियंका पंडित ने पवन पुत्र, तोड़ दे दुश्मन की नली राम और अली, इच्छाधारी, आवारा बलम और करम युग जैसी हिट फिल्मों में काम किया है। प्रियंका अभी कई भोजपुरी फिल्मों में काम कर रही हैं। उनकी आने वाली फिल्म ‘दिल मत देना मेरी सौतन को’ और ‘पुलिसगीरी’ है। 


*केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे गिरप्तार हुए*

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार किए जाने की खबर इस तरह की जानकारी मिली है। गिरफ्तारी से पूर्व जमानत की अर्जी नामंजूर हो गई। रत्नागिरि कोर्ट ने जमानत अर्जी ठुकरा दी। 


नारायण राणे को अब रत्नागिरि कोर्ट में पेश किया जाएगा। नासिक पुलिस आयुक्त दीपक पांड्ये ने उनको गिरफ्तार करने का आदेश दिया था, उन्होंने रत्नागिरि पुलिस से आग्रह किया था कि वे नारायण राणे को अरेस्ट करे।