*अभिनेता राजू श्रीवास्तव की हालत बेहत नाजुक*

कॉमेडियन और अभिनेता राजू श्रीवास्तव को कार्डियक अरेस्ट हुआ आया था। जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। राजू श्रीवास्तव को पिछले 8 दिनों से होश नहीं आया है। डॉक्टर लगातार उसकी हालत पर नजर रखे हुए हैं। हाल ही में खबर आई थी कि उनकी तबीयत में सुधार है, लेकिन एक बार फिर उनकी हालत बेहद नाजुक है। राजू श्रीवास्तव के मुख्य सलाहकार अजीत सक्सेना का कहना है कि राजू श्रीवास्तव की हालत बेहद नाजुक है। उसका दिमाग काम नहीं कर रहा है। उनके दिमाग में सूजन है, जिसके बाद उनकी तबीयत और ज्यादा ख़राब हो गई है। 
ब्रेन में आ रहा है सूजन 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजू श्रीवास्तव के मुख्य सलाहकार अजीत सक्सेना का कहना है कि उनका दिमाग काम नहीं कर रहा है। इसके साथ ही उनके दिल में भी दिक्कत है। अब सब ईश्वर के भरोसे है। उनके डॉक्टरों का कहना है कि हमने उन्हें एक इंजेक्शन दिया था, जिससे ब्रेन में सूजन आ रही है। उन्होंने कहा कि सूजन कम होने के बाद राजू श्रीवास्तव की हालत में सुधार हो सकता है। फैंस लगातार उनकी सलामती की दुआ कर रहे हैं। राजू श्रीवास्तव के स्वास्थ्य के लिए उनके कानपुर स्थित घर पर पूजा-हवन किया जा रहा है।
ब्रेन की एक नस दबती हुई आई नज़र 

कॉमेडियन और अभिनेता राजू श्रीवास्तव को दिल का दौरा पड़ने से उनका ब्रेन डैमेज हो गया था। जिसके बाद उनकी MRI रिपोर्ट में दिमाग की एक नस दबती नजर आई। उसका दिमाग पहले से प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है। इसके अलावा डॉक्टर ने बताया था कि उनके दिल के हिस्से में 100 फीसदी ब्लॉकेज है। वह वेटिंग लिस्ट में हैं। राजू श्रीवास्तव के दोस्त शेखर सुमन लगातार उनकी तबीयत को लेकर अपडेट दे रहे हैं। उन्होंने बताया था कि राजू श्रीवास्तव की हालत में सुधार हो रहा है। शेखर सुमन ने बताया था कि मैं राजू श्रीवास्तव से 15 दिन पहले इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के सेट पर मिला था। मैंने उससे तब भी कहा था, अपनी सेहत का ध्यान रखना। तुम बहुत कमजोर लग रहे हो। जवाब में उन्होंने कहा कि मैं बिल्कुल ठीक हूं। 


*पीएम- श्री स्कूलों का रोडमैप तैयार, पहले दौर में देशभर के 15 हजार स्कूलों को किया जाएगा अपग्रेड*

■पीएम- श्री स्कूलों का रोडमैप तैयार
■पहले दौर में देशभर के 15 हजार स्कूलों को किया जाएगा अपग्रेड
■प्री-प्राइमरी से 12वीं तक के स्कूल होंगे शामिल, सितंबर में लांचिंग

नई दिल्ली: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को तेजी से अमल कराने में जुटी केंद्र सरकार जल्द ही सभी राज्यों में प्रस्तावित पीएम श्री स्कूलों - की भी शुरूआत करेगी। इसका पूरा रोडमैप तैयार हो चुका है। माना जा रहा है कि सितंबर के मध्य तक इन्हें लांच कर दिया जाएगा। यह स्कूल न केवल राज्यों के लिए माडल स्कूल होंगे, बल्कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के ध्वजवाहक भी होंगे। इनमें नई नीति से जुड़ी सारी सिफारिशों पर अमल होगा। योजना के तहत 2024 तक देशभर में 15 हजार से ज्यादा सरकारी स्कूलों को अपग्रेड किया जाएगा। इनमें प्री-प्राइमरी से बारहवीं तक के स्कूल शामिल होंगे।
खास बात यह है कि इस योजना के तहत कोई नया स्कूल स्थापित नहीं होगा, बल्कि पहले से संचालित सरकारी स्कूलों को अपग्रेड किया जाएगा। ऐसे स्कूलों को प्राथमिकता मिलेगी जिनका इन्फ्रास्ट्रक्चर मजबूत है और उनके पास पर्याप्त जगह है। शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक इसके तहत सभी ब्लाक में एक प्री- प्राइमरी और एक प्राइमरी स्कूल को अपग्रेड किया जाएगा।
प्रत्येक जिला स्तर पर एक माध्यमिक और एक वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल को स्कीम से जोड़ा जाएगा। सभी राज्यों से प्रस्ताव मांगे गए हैं। मंत्रालय से जुड़े उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार प्रस्तावित पीएम श्री स्कूलों से जुड़ी स्कीम को लेकर वित्त मंत्रालय सहित केंद्र सरकार से जुड़े दूसरे मंत्रालयों और राज्यों के साथ अंतिम दौर की चर्चा चल रही है। इस स्कीम के तहत स्कूलों के अपग्रेडेशन का खर्च केंद्र उठाएगा जबकि इसके अमल का जिम्मा राज्य के पास होगा। स्कीम के अमल पर केन्द्र रखेगा नजर।
गौरतलब है कि केंद्र की यह स्कीम स्कूलों की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए राज्यों को प्रोत्साहित करने को लेकर है। माना जा रहा है कि इन पीएम श्री स्कूलों को देखकर राज्य अपने बाकी स्कूलों को भी उसके अनुरूप बनाने के लिए काम करेंगे। 


*भक्तों’ में दम है तो वो उनकी फिल्म ‘पठान’ को फ्लॉप करवा के दिखाएं, जानिए इस वायरल बयान का सच*

■हमने पाया कि एक्टर शाहरुख खान ने फिल्म ‘पठान’ को लेकर इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है. ये पूरी तरह से मनगढ़ंत है. हां, इतनी बात सच है कि शाहरुख के समर्थक जरूर उनकी फिल्म को हिट करवाने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चला रहे हैं.
एक्टर आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के बाद अब एक्टर शाहरुख खान की जनवरी में रिलीज हो रही फिल्म ‘पठान’ के बॉयकॉट की मुहिम सोशल मीडिया पर तेज हो गई है. ये देखते हुए शाहरुख के फैंस ‘#PathaanFirstDayFirstShow’ जैसे हैशटैग्स की मदद से फिल्म के पक्ष में माहौल बनाने में जुट गए हैं. 
साल 2018 में रिलीज ‘जीरो’ के बाद से शाहरुख की कोई फिल्म नहीं आई है. वो सिर्फ ‘रॉकेट्री: द नम्बी इफेक्ट’ और ‘लाल सिंह चड्ढा’ जैसी फिल्मों में छोटी भूमिकाओं में नजर आए हैं. यही वजह है कि उनके फैंस बेसब्री से ‘पठान’ का इंतजार कर रहे हैं.
इसी बीच सोशल मीडिया पर शाहरुख खान के नाम पर एक बयान वायरल हो गया है जिसमें कहा गया है कि अगर ‘भक्तों’ में दम है तो वो उनकी फिल्म ‘पठान’ को फ्लॉप करवा के दिखाए
कैसे पता लगाई सच्चाई?
हमें फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के बॉक्स ऑफिस नतीजों से जुड़ा शाहरुख खान का ऐसा कोई इंटरव्यू नहीं मिला जिसमें उन्होंने लोगों को अपनी फिल्म ‘पठान’ को फ्लॉप करवाने का चैलेंज दिया हो.
शाहरुख के सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी हमें उनका ऐसा कोई बयान नहीं मिला.

*आज से गैस का नया रेट लागू, जानने के लिए न्यूज़ पढ़े*

नई दिल्ली: गैस सिलेण्डर की बढती किमतो से आम जनता को मँहगाई का सामना करना पड रहा है, ऐसे मे सरकार द्वारा समय समय पर इसकी किमतो मे बढोत्तरी तो कभी कभी घटोत्तरी देखने को मिलती है, ऐसे मे सरकार इसमे प्रत्येक परिवार को कई योजनाओ के अन्तर्गत गैस सिलेण्डर फ्री मे भी देती है, पर अभी हाल ही मे गैस सिलेण्डर के नए दाम जारी किए गए है, नीचे हमने कई राज्यो मे जारी किए गए नए सिलेण्डर के रेट की लिस्ट जारी की है, दी गई समुचित जानकारी को ध्यानपूर्वक पढे। गैस सिलेण्डर की नई किमतो पर ध्यान दे तो आज 36 रुपये घरेलु गैस सिलेण्डर पर दाम कम किए गए है, जिससे थोडा आम जनता को राहत देने के लिए सरकार इंतजाम मे लगी है, कमर्शियल गैस सिलेण्डर मे भी किमते घटाई गई है, पिछली बार 6 जुलाई को कमर्शियल सिलेंडर की कीमते घटाई गई थी जिसमे कई सालो मे किमते बहुत बढ गई है, नीचे हमने लिस्ट जारी की गई है, जिसे आपको ध्यान देना जरुरी है।
गैस सिलेण्डर के नए दाम सभी राज्यो के लिए जारी किए गए है, जिससे 14.2 किलो वाले सिलेण्डर के दाम नीचे दर्ज किए गए है।दिल्ली- 1,053 रुपये प्रति सिलेंडरमुंबई- 1,052 रुपयेकोलकाता- 1,079 रुपयेचेन्नई- 1,068 रुपये 


*लालकिले से पीएम नरेंद्र मोदी ने दिलाए 5 प्रण, 25 सालों का दिया टारगेट*

विकसित भारत, गुलामी से मुक्ति...
लालकिले से पीएम नरेंद्र मोदी ने दिलाए 5 प्रण, 25 सालों का दिया टारगेट

नई दिल्ली : पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के ऐतिहासिक मौके पर लाल किले से देश को 5 प्रण दिलाए हैं। उन्होंने कहा कि अगले 25 सालों में जब देश अपनी आजादी के 100 साल पूरे करेगा, तब तक हमें इन संकल्पों को पूरा करना है। उन्हों कहा, 'मुझे लगता है कि आने वाले 25 सालों के लिए हमें अपने संकल्पों को 5 आधारों पर केंद्रित करना होगा। हमें उन पंच प्रण को लेकर 2047 में जब आजादी के 100 साल होंगे तो आजादी के दीवानों के सपनों को पूरा करना होगा।'

पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से कहा कि हमें 5 बड़े संकल्प लेकर चलना होगा। इनमें से एक संकल्प होगा, विकसित भारत। दूसरा यह कि किसी भी कोने में गुलामी का अंश न रह जाए। अब हमें शत-प्रतिशत उन गुलामी के विचारों से पार पाना है, जिसने हमें जकड़कर रखा है। हमें गुलामी की छोटी से छोटी चीज भी नजर आती है तो हमें उससे मुक्ति पानी ही होगी। उन्होंने कहा कि कब तक दुनिया हमें सर्टिफिकेट देती रहेगी। क्या हम अपने मानक नहीं बनाएंगे। हमें किसी भी हालत में औरों के जैसा दिखने की कोशिश करने की जरूरत नहीं है। हम जैसे भी हैं, वैसे ही सामर्थ्य के साथ खड़े होंगे। यह हमारी मिजाज है।

उन्होंने कहा कि तीसरी प्रण शक्ति यह है कि हमें अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिए। यही विरासत है, जिसने कभी भारत को स्वर्णिम काल दिया था। यही विरासत है, जो काल बाह्य छोड़ती रही है और नूतन को स्वीकारती रही है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी विरासत में ही पर्यावरण जैसी जटिल समस्या का समाधान रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी संस्कृति वह है, जो जीव में शिव देखती है और कंकर में शंकर देखती है। हमारी यह परंपरा ही बताती है कि कैसे पर्यावरण के साथ रहा जा सकता है।

पीएम मोदी का चौथा प्रण
उन्होंने कहा कि चौथा प्रण यह है कि देश में एकता रहे और एकजुटता रहे। देश के 130 करोड़ देशवासियों में एकता रहे। यह हमारा चौथा प्रण है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें हर किसी का सम्मान करना होगा। श्रम को अच्छे नजरिए से देखना होगा और श्रमिकों का सम्मान करना होगा।


बताया कैसा होना चाहिए देश के नागरिक का व्यवहार
पीएम ने कहा कि 5वां प्रण है नागरिकों का कर्तव्य। इससे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री भी बाहर नहीं हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह देश तभी आगे बढ़ सकता है, जब हम अपने कर्तव्यों का पालन करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि सरकार का कर्तव्य है कि वह हर समय बिजली की सप्लाई दे तो यह नागरिक का कर्तव्य है कि वह कम से कम यूनिट खर्च करे। यदि सरकार सिंचाई के लिए पानी दे तो नागरिक का कर्तव्य है कि वह पानी की ज्यादा से ज्यादा बचत करे।

महिला के सम्मान का भी दिलाया संकल्प, कहा- गलत बातें न करें
इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने नारी का सम्मान करने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि हमारी बोलचाल में कुछ विकृति आई है। हम नारी का अपमान करते हैं। क्या हम रोजमर्रा की जिंदगी में नारी को अपमानित करने वाली हर बात से मुक्ति का संकल्प ले सकते हैं? नारी का सम्मान करना देश की प्रगति के लिए बहुत जरूरी है और हमें ऐसे शब्दों का त्याग करना चाहिए, जिससे महिलाओं का अपमान होता हो। 


*नर्सिंग छात्रा के साथ धर्म छिपाकर मुस्लिम युवक ने किया धोखा, छात्रा ने आरोपी व उसके दो भाइयो के खिलाफ लिखवाई एफआईआर*

◆बलिया की नर्सिंग छात्रा के साथ धर्म छिपाकर मुस्लिम युवक ने किया धोखा
◆छात्रा ने आरोपी व उसके दो भाइयो के खिलाफ लिखवाई एफआईआर

प्रयागराज। कर्नलगंज में धर्म छिपाकर नर्सिंग छात्रा से शादी करने व दुष्कर्म का मामला सामने आया है। युवती ने शनिवार को कर्नलगंज थाने में आरोपी व उसके दो भाइयों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। बलिया की रहने वाली युवती शहर में किराये के कमरे में रहकर नर्सिंग का कोर्स कर रही है। उसने बताया कि पिछले साल अगस्त में सोशल मीडिया क्लब हाउस में उसकी मुलाकात एक युवक से हुई थी। उसने अपना नाम अनुज प्रताप सिंह उर्फ सोनू बताया।
इसके बाद एक दिन तबीयत खराब होने पर वह उसे लेकर डॉक्टर के पास और फिर अगले दिन काशी विश्वनाथ दर्शन करने गया। वहां पता चला कि वह अधिवक्ता है और रात में मुकदमे की पैरवी के लिए नैनी आया। इसके बाद लगातार बातचीत होती रही। एक दिन उसने कहा कि वह उससे प्यार करता है और शादी करना चाहता है। इसके बाद 27 अगस्त 2021 को उसे रामबाग स्थित होटल ले गया और शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए और फिर कई बार ऐसा किया।
इसी साल 24 फरवरी को शादी का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के बहाने उसे रजिस्ट्रार के पास ले गया। यही नहीं दवा खिलाकर गर्भपात भी करवा दिया। बाद में अपने घर ले गया जहां पता चला कि वह मुस्लिम है। पूछने पर कहा कि अब शादी हो गई और तुम्हें मुस्लिम धर्म स्वीकारना होगा।
इन्कार करने पर बंधक बना लिया और जबरन संबंध बनाता रहा। विरोध पर अपने भाई मो. असलम व नूर आलम को भी कमरे में भेजा, जिन्होंने जबरन शारीरिक संबंध बनाए। 12 अगस्त को छोड़कर भाग गया, जिसके बाद वह जान बचाकर थाने आई। इंस्पेक्टर राममोहन राय ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है। जांच पड़ताल की जा रही है। 


*ब्रेकिंग न्यूज़: शेयर मार्केट किंग राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली आखिरी सांस*

मुंबई: शेयर मार्केट किंग राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

कारोबारी जगत में शोक की लहर

महज 5,000 रुपये से 40,000 करोड़ रुपये का साम्राज्य खड़ा करने वाले राकेश झुनझुनवाला का निधन 62 साल की उम्र में रविवार को मुंबई में हो गया. रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के कारण उन्हें ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां सुबह 6.45 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली. उनके निधन की खबर से पूरे कारोबारी जगत में शोक की लहर दौड़ गई.

पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया शोक
फोर्ब्स की बिलेनियर लिस्ट के मुताबिक, फिलहाल राकेश झुनझुनवाला अरबपतियों की सूची में दुनिया के 440वें सबसे अमीर व्यक्ति थे. पीएम मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट में लिखा, 'राकेश अपने पीछे वित्तीय दुनिया में एक अमिट योगदान छोड़ गए हैं, जीवन से भरपूर, मजाकिया और व्यावहारिक झुनझुनवाला भारत की प्रगति के लिए बहुत भावुक थे. उनका जाना दुखद है. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं. ओम शांति.'


*आम आदमी को राहत: जुलाई में महंगाई दर 7.01 से घटकर हुई 6.7 फीसदी*

नई दिल्ली: शुक्रवार को जारी किए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित रिटेल महंगाई दर जुलाई में घटकर 6.7% हो गई। जून में ये 7.01% थी। हालांकि, यह लगातार 7वां महीना है, जब रिटेल महंगाई दर RBI की 6% की ऊपरी लिमिट के पार रही है। जनवरी 2022 में रिटेल महंगाई दर 6.01%, फरवरी में 6.07%, मार्च में 6.95%, अप्रैल में 7.79% और मई में 7.04% दर्ज की गई थी। 


*आइये जानते है राखी का पर्व किस दिन मनाया जाए*

 रक्षाबंधन का पर्व आने में कुछ ही दिन बाकी हैं, लेकिन लोग इसकी डेट को लेकर काफी कंफ्यूज हैं. कुछ लोगों का मानना है कि राखी 11 अगस्त को बांधी जाएगी. वहीं, कुछ का मानना है कि 11 अगस्त 2022 को भद्रा काल होने के कारण राखी का त्योहार 12 अगस्त 2022 को शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा. तो आइए पंडितों से जानते हैं कि किस दिन राखी बांधना ज्यादा सही है.

रक्षाबंधन का पर्व पूर्णिमा तिथि में ही मनाया जाता है. 11 अगस्त 2022 को 10 बजकर 37 मिनट के बाद पूर्णिमा तिथि लग जाएगी जो 12 अगस्त को सुबह 7 बजे के करीब खत्म होगी. पंडित प्रकाश शर्मा का कहना है कि रक्षाबंधन के विषय में इस बार लोगों में ये भ्रांति है कि 11 अगस्त को पूर्णिमा देर से आ रही है जबकि 12 को उदया तिथि में पूर्णिमा है इसलिए 12 अगस्त को रक्षाबंधन मनाया जाए. हालांकि, पूर्णिमा तिथि पर रात्रिकालीन चंद्रमा होना चाहिए. 11 अगस्त को पूर्णिमा सुबह 10.37 बजे से लग जाएगी और पूर्णमासी जिस दिन लग रही है, उसी दिन रक्षाबंधन का त्योहार मनेगा. यानी 11 अगस्त की पूर्णिमा में रक्षाबंधन मनाया जाना ही शास्त्रोचित है.


पंडित प्रकाश शर्मा ने 11 अगस्त को भद्रा काल पड़ने के संशय को लेकर बताया, जब भद्रा पाताल में होती है तो इस दौरान राखी बांधी जा सकती है. ऐसा करना नुकसानदायक नहीं बल्कि शुभ फलदायी माना जाता है. इसके साथ ही शुक्ल यजुर्वेदी ब्राह्मणों का उपाक्रम संस्कार भी 11 अगस्त को ही किया जाएगा.

पंडित प्रकाश शर्मा का कहना है कि अगर तिथियों का अवलोकन किया जाए तो एकादशी, त्रयोदशी और पूर्णमासी आदि तिथि पर भद्रा रहती ही है. उन्होंने बताया कि भद्रा के विषय में एक बात है जिसके बारे में लोगों के पास जानकारी नहीं है कि भद्रा का वर्णन वास्तु शास्त्र में किया गया है. कुंभ, मीन, कर्क और सिंह में चंद्रमा हो तो भद्रा का वास मृत्यु लोक यानी पृथ्वी पर माना जाता है. इसके अलावा मेष, वृष, मिथुन ,वृश्चिक में चंद्रमा होने पर भद्रा का वास स्वर्ग लोक में होता है.

वहीं, कन्या, तुला और धनु में चंद्रमा होने पर भद्रा का वास पाताल लोक में माना जाता है. ऐसे में भद्रा अगर पाताल लोक में हो या स्वर्ग लोक में यह काफी शुभ फलदायी माना जाता है. ऐसे में 11 अगस्त 2022 को भद्रा पाताल लोक में है जिसके चलते आप बिना किसी दिक्कत के 11 अगस्त को रक्षा बंधन का त्योहार मना सकते हैं और सुबह 10 बजकर 37 मिनट के बाद भाइयों को रक्षा सूत्र बांध सकते हैं. भद्रा के पाताल लोक में होने के कारण वह आपको किसी भी तरह का कष्ट नहीं देगी.


पंडित प्रकाश शर्मा
प्रतिपदा तिथि में नहीं बांधी जाती राखी 

पंडित प्रकाश शर्मा का कहना है कि भद्रा अगर धरती लोक पर भी होती है तब भी उसके मुख और पूंछ का समय देखा जाता है. भद्रा के मुख के समय पर राखी नहीं बांधी जाती लेकिन आप पूंछ के समय पर राखी बांध सकते हैं, यह शुभ फलदायी माना जाता है और इससे कोई दिक्कत भी नहीं होती. 12 तारीख को सुबह 7 बजे के आसपास पूर्णिमा तिथि समाप्त होकर प्रतिपदा तिथि लग जाएगी. प्रतिपदा तिथि में राखी नहीं बांधी जाती है. ऐसे में इस साल रक्षा बंधन का पर्व 11 अगस्त 2022 गुरुवार के दिन ही मनाया जाएगा. भद्रा पाताल लोक में होने की वजह से शुभ फलदायी साबित होगी.

रक्षाबंधन पर भद्रा काल का समय
रक्षा बंधन भद्रा अन्त समय - रात 08 बजकर 51 मिनट पर
रक्षा बंधन भद्रा पूँछ - शाम 05 बजकर 17 मिनट से 06 बजकर 18 मिनट पर
रक्षा बंधन भद्रा मुख - शाम 06 बजकर 18 मिनट से लेकर 08 बजे तक

11 अगस्त को इतने बजे के बाद बांधें राखी

पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 37 मिनट से शुरू होकर 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर समाप्त होगी. ऐसे में पूर्णिमा तिथि 11 को पूरा दिन है. ऐसे में आप 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 37 मिनट के बाद राखी का त्योहार मना सकते हैं.

भद्रा काल में क्यों नहीं बांधी जाती राखी

माना जाता है कि सूर्पनखा ने रावण को भद्रा में रक्षा सूत्र बांधा था इसलिए 1 वर्ष के भीतर ही रावण का नाश हो गया था. ऐसे में भद्रा काल में राखी बांधना वर्जित माना जाता है लेकिन पंडित जी का कहना है कि राम चरित्र मानस से लेकर वाल्मीकि रामायण में भगवान राम की बहन की ओर से राम जी को राखी बांधने का उदाहरण कहीं नहीं दिया गया है. इस वजह से शूर्पनखा द्वारा रक्षासूत्र बांधे जाने की कहानी पर सवाल खड़े होते हैं.

 

 

 


*14 साल बाद बृजेश सिंह के रिहा होने के बाद उनके विरोधी खेमे में मची हलचल*

वाराणसी. उदय प्रताप कॉलेज के मेधावी विद्यार्थी से पूर्व एमएलसी बृजेश सिंह को उच्च न्यायालय से मिली सशर्त जमानत के बाद सामान्य जीवन जीने को आजाद हो गए हैं. ऐसा मौका 36 साल बाद मिला है। बता दें कि जरायम की दुनिया में कदम रखने के बाद अंतर्राष्ट्रीय डॉन दाउद तक के संपर्क में आने और फिर उसका साथ छोड़ने के बाद से लेकर बृजेश सिंह ने कुल 22 साल की फरारी काटी। फिर 14 साल जेल में बिताए। अब वो बतौर पूर्व एमएलसी राजनीतिक जीवन जीने को भी आजाद हैं। वर्तमान में उनकी पत्नी अन्नपूर्णा सिंह एमएलसी हैं तो उनके भतीजे सुशील सिंह विधायक हैं। वैसे बृजेश का पूरा परिवार सियासी परिवार है। उनके बड़े भाई उदयनाथ सिंह उर्फ चुलबुल सिंह दो बार एमएली रह चुके हैं। सुशील की पत्नी और भाई जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुके हैं। पंचायत की राजनीति में इस परिवार का अपना अलग ही रसूख है। लेकिन अदावत भी कम नहीं। ऐसे में बृजेश के रिहा होने के बाद विरोधी खेमे में सरगर्मी बढ़ना लाजमी है।

पिता की हत्या के बाद जरायम की दुनिया में रखा कदम
पुराने लोग बताते हैं कि बृजेश बनारस के उदय प्रताप कॉलेज का मेधावी छात्र रहा। लेकिन वाराणसी के चौबेपुर थाना अंतर्गत धौरहरा गांव में 27 अगस्त 1984 को जमीन संबंधी विवाद में बृजेश के पिता रवींद्र सिंह की हत्या कर दी गई। रवींद्र सिंह की हत्या धौरहरा गांव स्थित एक मंदिर के पास पिता रवींद्र सिंह की हत्या की गई थी। उसके बाद बृजेश ने पिता की हत्या का बदला लेने की ठान ली और वो मेधावी छात्र जरायम की दुनिया से जुड़ गया। 1985 में पिता की हत्या के आरोपी हरिहर सिंह की हत्या के मामले में बृजेश के विरुद्ध पहली बार चौबेपुर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। यहीं से हरिहर सिंह के बेटे पांचू से दुश्मनी बढ़ी। आलम ये था कि 1984 से 2008 तक बृजेश अपनी हुलिया बदल-बदल कर देश भर में सुरक्षित स्थानों पर रहते रहे। पुलिस के पास तब उनकी एक फोटो तक नही रही। उसके बाद पूर्वांचल के एक अन्य माफिया मुख्तार अंसारी के साथ बृजेश की वर्चस्व की लड़ाई शुरू हुई। ठेकेदारी को लेकर भी दोनों के बीच खूब ठनी।

पट्टीदार और पड़ोसी इंद्रदेव खेमे से है बृजेश की जानी दुश्मनी
इस क्रम में बात करते हैं उस इंद्रदेव सिंह "बीकेडी" जिसका पता अब तक नहीं लगा पाई है पुलिस। वो बृजेश का जानी दुश्मन माना जाता है। कहा जाता है कि बीकेडी, बृजेश का न केवल पड़ोसी है बल्कि पट्टीदार भी है। उसके पिता हरिहर सिंह का नाम बृजेश के पिता रवींद्र सिंह के हत्यारोपी भी रहे हैं। वैसे बीकेडी का भाई पांचू भी बृजेश का जानी दुश्मन माना जाता रहा पर इस ईनामी बदमाश की पुलिस मुठभेड़ में सारनाथ इलाके में एनकाउंटर हो चुका है। ऐसे में बीकेडी, बृजेश को अपने पिता और भाई की मौत का जिम्मेदार मानता है।


बृजेश के करीबी की हत्या में पहली बार बीकेडी का नाम चर्चा में आया

बता दें कि 2013 में बीकेडी का नाम पहली बार चर्चा में आया जब उसे बृजेश सिंह के करीबी अजय सिंह उर्फ खलनायक पर साथियों संग टकटकपुर इलाके में जोरदार फाइरिंग झोंक दी। हालांकि गोलियों से छलनी अजय सिंह बच गये थे। उस दौरान अजय की पत्नी भी घायल हुई थीं। उनके पैर में गोली लगी थी। इतना ही नहीं मई 2013 की उस घटना के करीब दो महीने बाद बीकेडी ने बृजेश के पैत्रिक गांव धौरहरा गांव में बृजेश के चचेरे भाई सतीश सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर अपने मंसूबों को अंजाम देते हुए इरादे साफ कर दिए थे।


बृजेश की बेटी की शादी के वक्त भी बीकेडी का नाम उछला
अपराध जगत की जानकारी रखने वाले बताते हैं कि अप्रैल 2016 में जब बृजेश सिंह बेटी के विवाह के लिए पेरोल पर बाहर आये, तब एक बार फिर से बीकेडी का नाम चर्चा में आया, तब रोहनिया स्थित एक कार एजेंसी के बाहर फायरिंग और रंगदारी मामले से जुड़ा। बीकेडी का नाम गाजीपुर के राजनाथ यादव की हत्या से भी जुड़ा।

बृजेश पर लगे आरोप
-2004 में लखनऊ में गैंगवार
2-अप्रैल 1986 में सिकरौरा में पूर्व प्रधान रामचंद्र समेत 7 की हत्या
3- सिकरौरा कांड के बाद पहली गिरफ्तारी
4-2008 में ओडीसा के भुवनेश्वर से गिरफ्तारी
5-1986 में पहली बार गिरफ्तार 


*सजा सुनाते ही कोर्ट से भागे कैबिनेट मंत्री , सरकारी गिट्टी चोरी का है आरोप*

■सजा सुनाते ही कोर्ट से भागे उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री
■सरकारी गिट्टी चोरी का है आरोप, सपा ने लिया निशाने पर
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को सरकारी गिट्टी चोरी के मामले में कोर्ट से सजा मिलने पर समाजवादी पार्टी ने भाजपा पर जोरदार हमला बोला है। कानपुर में आज एसीएमएम 3 कोर्ट ने 35 वर्ष पुराने मामले में राकेश सचान को सजा सुनाई तो उनकी पुरानी पार्टी यानी समाजवादी पार्टी को मंत्री राकेश सचान तथा भाजपा पर हमला बोलने का मौका मिल गया। योगी आदित्यनाथ सरकार में खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, हथकरघा, एवं वस्त्रोद्योग तथा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री राकेश सचान को कानपुर की एक कोर्ट ने 35 वर्ष पुराने मामले में दोषी करार दिया और सजा सुनाई। कोर्ट का फैसला आने से पहले ही मंत्री राकेश सचान कोर्ट से गायब हो गए। समाजवादी पार्टी की मीडिया सेल ने इसको लेकर एक ट्वीट किया है। सपा ने ट्वीट किया है कि सजा सुनते ही मंत्री कोर्ट से फरार हो गए। अब योगी जी बताएं कि अपने इस सरकारी गिट्टीचोर फरार मंत्री के घर/द्वार/प्रतिष्ठान पर बुलडोजर कब चलाएंगे। बताएं योगीजी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री कानपुर देहात के भोगिनीपुर से भाजपा के विधायक राकेश सचान को शनिवार को कानपुर की एसीएमएम तृतीय कोर्ट ने दोषी करार देते हुए फैसला सुरक्षित कर लिया है। उनके खिलाफ गिट्टी चोरी का मामला यहां कोर्ट में विचाराधीन था। शनिवार को कोर्ट में बहस के समय मंत्री राकेश सचान पेशी पर पहुंचे थे लेकिन फैसला आने से पहले वह कोर्ट से फरार हो गए। कानपुर के किदवई नगर के रहने वाले राकेश सचान ने अपनी राजनीति की शुरुआत समाजवादी पार्टी से की थी। सपा से वह 1993 व 2002 में वह घाटमपुर विधानसभा सीट से विधायक रहे और 2009 में उन्होंने फतेहपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था। 


*कैम्पा मद की राशि का दुरुपयोग एवं बंदरबांट का मामला लोकसभा में गूंजा। सांसद अरुण साव ने व्यापक जांच कराकर आवश्यक कार्यवाही करने की मांग किया*

◆कैम्पा मद की राशि का दुरुपयोग एवं बंदरबांट का मामला लोकसभा में गूंजा। सांसद अरुण साव ने व्यापक जांच कराकर आवश्यक कार्यवाही करने की मांग किया।

वन एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए 2004 से स्थापित "क्षतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण" (कैम्पा) के राशि का उपयोग वनीकरण एवं वन्य जीव संरक्षण के लिए ही किया जाना चाहिए। वन भूमि के बदले जारी की गई उक्त राशि का कुशल और पारदर्शी तरीके से शीघ्र उपयोग सुनिश्चित किया जाना चाहिए। परन्तु छत्तीसगढ़ में क्षतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण अधिनियम" (कैम्पा एक्ट) के मंशा के विपरीत कैम्पा के मद की राशि का दुरुपयोग एवं बंदरबांट किया जा रहा है। सांसद अरुण साव ने लोकसभा में नियम 377 के अधीन अत्यंत महत्वपूर्ण लोक महत्व के विषय अंतर्गत उठाते हुए भारत सरकार के वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री से आग्रह किया कि पिछले तीन वर्षों में राज्य में कैम्पा के अंतर्गत किए गए कार्यों की व्यापक रूप से जांच कराकर आवश्यक कार्यवाही करावें।

 

 

 


*अमित शाह ने पटना कार्यकारणी बैठक में इशारो इशारो में कौन होंगे 2024 में प्रधानमंत्री उम्मीदवार का नाम लिया*

पटना: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को पटना में भारतीय जनता पार्टी की विभिन्न मोर्चे की दो दिवसीय संयुक्त राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के समापन सत्र की अध्यक्षता की. बैठक को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, बीजेपी-जेडीयू 2024 में एक साथ चुनाव लड़ेंगे, नरेंद्र मोदी बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे. 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारों की चर्चा हमेशा सुर्खियों में रहती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजनीति से संन्यास लेने और नए चेहरों को उम्मीदवार बनाने की अटकलें अक्सर लगती रहती हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बीजेपी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक और जीत हासिल करने की दिशा में प्रयास करें. यह जानकारी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने दी.


*छत्तीसगढ़ से सांसद अरुण साव को मिल सकता है नरेंद्र मोदी कैबिनेट में मौका*

 मिशन 2024 के चुनावी रणनीति के तहत संगठन स्तर पर किए जा रहे तमाम बदलावों के बीच केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल व विस्तार की तैयारी बीजेपी संगठन ने शुरु कर दी है। इस अहम फेरबदल में छत्तीसगढ़ के किसी एक सांसद को केंद्र में मंत्री बनने का मौका मिल सकता है।

छत्तीसगढ़ में 2023 में विधानसभा चुनाव होना है इस लिहाज से छत्तीसगढ़ के सांसदों को मंत्री बनाने भाजपा नेतृत्व ने मंथन शुरु कर दिया है। इस छोटे लेकिन अहम फेरबदल में बिलासपुर सांसद अरुण साव का नाम सबसे आगे है। अरुण साव ओबीसी वर्ग के साहू समाज से आते हैं, इस लिहाज से वो भाजपा नेतृत्व के मिशन 2024 की रणनीति के तहत बिल्कुल फिट बैठते हैं। साव एबीवीपी की पृष्ट्भूमि से आते हैं। इसके अलावा ओबीसी वर्ग से महासमुंद सांसद चुन्नीलाल का नाम भी दौड़ में शामिल है।


*कॉमनवेल्थ गेम्स के दूसरे दिन भारत ने चार मेडल अपने नाम किये , एक गोल्ड मेडल भी जीता*

कॉमनवेल्थ गेम्स के दूसरे दिन भारत ने चार मेडल अपने नाम किए। ये चारों पदक वेटलिफ्टिंग में आए। संकेत महादेव ने मेंस 55 KG वेट कैटेगरी में देश को पहला मेडल दिलाया। ​​दूसरा पदक गुरुराजा ने 269 KG वेट उठाकर हासिल किया। उनके नाम ब्रॉन्ज मेडल आया।

वहीं, मीराबाई चानू ने 49 KG वेट कैटेगरी में भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलाया। उन्होंने कुल 201 KG वेट उठाते हुए गेम्स रिकॉर्ड के साथ पहला स्थान हासिल किया। बिंदिया रानी देवी ने देश के लिए चौथा मेडल जीता। उन्होंने 55 KG वेट कैटेगरी में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है। बिंदिया ने कुल 202 KG वेट उठाया।

वहीं, टोक्यो ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट लवलीना बोरगोहेन 70 किलोवेट कैटेगिरी में न्यूजीलैंड की एरियान निकोल्सन को 5-0 से हरा कर क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। लवलीना तीनों राउंड में निकोल्सन पर भारी रही। उनको तीनों राउंड में पांचों जज ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया।

भारतीय हॉकी विमेंस टीम ने वेल्स को 3-1 से हराया
भारतीय महिला हॉकी टीम अपने दूसरे मैच में वेल्स को 3-1 से हरा दिया है। वंदना कटारिया ने दो गोल किए। वहीं, गुरजीत कौर ने एक गोल किया। गुरजीत ने इससे पहले घाना के खिलाफ भी दो गोल किए थे। भारत की यह लगातार दूसरी जीत है। उसने पहले मैच में घाना को हराया था। अब भारत अगला मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ दो अगस्त को होगा।

शनिवार को अन्य मुकाबलों में भारत का प्रदर्शन

बॉक्सिंग: हसमुद्दीन आसान जीत से टॉप-16 में
भारतीय मुक्केबाज मोहम्मद हसमुद्दीन ने 54 KG वेट कैटेगरी के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के अम्जोलेले दायेयी को 5-0 से हराया।

टेबल टेनिस : भारत ने गुआना को 3-0 से हराया
टेबल टेनिस के विमेन टीम के ग्रुप-2 में भारतीय टीम ने गुआना पर 3-0 की आसान जीत दर्ज की है। उसने पहले दिन भी आसान जीत दर्ज की थी।

बैडमिंटन : भारत ने श्रीलंका को 5-0 से हराया
बैडमिंटन मिक्स्ड टीम इवेंट के ग्रप स्टेज में भारत ने श्रीलंका को हरा दिया है। पांच मैचों के मुकाबले में भारत ने पहले चार मैच जीत लिए हैं। पहले डबल्स मैच में सात्विक साईराज रेंकी रेड्‌डी और अश्विनी पोनप्पा की भारतीय जोड़ी ने सचिन दास और थिलिनी हेंडाहेवा की जोड़ी को 21-14, 21-9 से हराया। मेंस सिंगल्स में लक्ष्य सेन ने निलुका करुणारत्ने को 21-18, 21-5 से हराया। विमेंस सिंगल्स में आकर्षि कश्यप ने विदरा सुहासनी को 21-3, 21-9 से हराया। इसके बाद मेंस डबल्स में समेश रेड्डी और चिराग चंद्रशेखर रेड्डी ने जीत हासिल की। पांचवें मैच में गायत्री और तृशा की जोड़ी ने आसान जीत हासिल की।

लॉन बॉल: भारत-माल्टा का मैच टाई
लॉन बॉल के टीम इवेंट में भारत और माल्टा का मैच 16-16 से टाई हो गया। विमेन सिंगल्स में तानिया चौधरी हार गई हैं। उन्हें लौरा डेनियल्स ने 21-10 से हराया। 


*स्वर्गीय श्रीकांत वर्मा जी के मूर्ति मे प्रोफेशनल कांग्रेस कमेटी द्वारा माल्यार्पण किया गया*

◆झारखंड प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष अल्प प्रवास बिलासपुर आगमन हुआ।


झारखंड प्रोफेशनल कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सम्माननीय आदित्य विक्रम जयसवाल जी का बिलासपुर अल्प प्रवास हुआ छत्तीसगढ़ भवन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भेट मुलाकात हुआ इसके पश्चात स्वर्गीय श्रीकांत वर्मा जी एवं स्वर्गीय बी आर यादव जी के मूर्ति मे माल्यार्पण किया गया इस कार्यक्रम उपस्थित राष्ट्रीय समन्वयक ओबीसी कृष्ण कुमार यादव जी जिला ग्रामीण अध्यक्ष महावीर साहू जी शहर जिला अध्यक्ष हीरा यादव जी युवा कांग्रेस प्रदेश सचिव गोपाल दुबे जी राहुल हंस पाल अमित यादव सरफराज भाई ध्रुव यादव पिंटू यादव अनिल श्रीवास् इमरोज अशोक सूर्यवंशी मनोहर कुर्रे अशोक रजवाल आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे 


*विधायक को कोर्ट से मिली राहत नही होगी कुर्की*

लखनऊ। एमपी ,एमएलए कोर्ट के विशेष अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अम्बरीश कुमार श्रीवास्तव ने सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी के खिलाफ कुर्की की प्रक्रिया की अर्जी खारिज कर दी है। महानगर पुलिस ने कोर्ट में प्रार्थनापत्र देकर अनुरोध किया था कि अब्बास अंसारी का पता नहीं चल रहा है, लिहाजा उनके विरुध फरारी की उद्घोषणा (82) की कार्रवाई की मंजूरी दी जाए।
अर्जी पर सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि पत्रावली को देखने से प्रतीत होता है कि अब्बास अंसारी के खिलाफ 14 जुलाई को गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। महानगर पुलिस वारंट का तामीला नहीं कर पाई और रिपोर्ट दाखिल कर दी कि काफी प्रयास के बावजूद अभियुक्त का पता नहीं चल रहा है। ऐसी स्थिति में उसके विरोध विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 82 (फरारी की उद्घोषणा) का आदेश जारी किया जाए।
अदालत ने कहा कि यह कहना पर्याप्त नहीं है कि अभियुक्त का कहीं कुछ पता नहीं चल रहा है। 14 जुलाई का वारंट पुलिस को तामील कराना चाहिए, फिर कोर्ट में आना चाहिए।
महानगर पुलिस को कोर्ट ने आदेश दिया कि अभियुक्त की अन्य स्थानों पर तलाश करे और गिरफ्तारी वारंट का अनुपालन सुनिश्चित करे। अदालत की राय में अभी यह नहीं कहा जा सकता कि अभियुक्त न्यायिक प्रक्रिया से खुद को छिपा रहा है लिहाजा यह अदालत धारा 82 की कार्यवाही करने का पर्याप्त आधार नहीं पाती है। पुलिस को अदालत ने स्पष्ट रूप से निर्देश दिया है कि वह अदालत के 14 जुलाई के आदेश का अनुपालन करें तथा आगामी 10 अगस्त तक अभियुक्त को न्यायालय के समक्ष गिरफ्तार करके पेश करें।
अब्बास अंसारी की ओर से अग्रिम जमानत अर्जी एमपी/ एमएलए के विशेष न्यायाधीश हरबंस नारायण की अदालत में दाखिल की है। इस पर दो अगस्त को सुनवाई होगी। 


*द्रौपदी मुर्मू ने ली राष्ट्रपति पद की शपथ, कहा- लोकतंत्र में गरीब की बेटी भी राष्ट्रपति बन सकती है*

◆द्रौपदी मुर्मू ने ली राष्ट्रपति पद की शपथ
◆कहा- लोकतंत्र में गरीब की बेटी भी राष्ट्रपति बन सकती है

नई दिल्ली: द्रौपदी मुर्मू ने देश की 15वीं राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली है। सोमवार को सीजेआई एनवी रमण ने उन्हें शपथ दिलाई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि वे जनजातीय समाज से हैं और उन्हें वार्ड पार्षद से लेकर भारत की राष्ट्रपति बनने तक का अवसर मिला है। यह लोकतंत्र की जननी भारतवर्ष की महानता है। ये लोकतंत्र की ही शक्ति है कि उसमें एक गरीब घर में पैदा हुई बेटी, दूर-सुदूर आदिवासी क्षेत्र में पैदा हुई बेटी, भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद तक पहुंच सकती है।
आज सुबह करीब 10.15 बजे संसद के सेंट्रल हॉल में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया। चीफ जस्टिस एनवी रमण ने उन्हें राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई। इसके बाद उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अपने संबोझन में कहा कि "मैंने अपनी जीवन यात्रा ओडिशा के एक छोटे से आदिवासी गांव से शुरू की थी। मैं जिस पृष्ठभूमि से आती हूं, वहां मेरे लिये प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करना भी एक सपने जैसा ही था। लेकिन अनेक बाधाओं के बावजूद मेरा संकल्प दृढ़ रहा और मैं कॉलेज जाने वाली अपने गांव की पहली बेटी बनी।
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि "मैं देश की ऐसी पहली राष्ट्रपति भी हूं, जिसका जन्म आजाद भारत में हुआ है। हमारे स्वाधीनता सेनानियों ने आजाद हिंदुस्तान के हम नागरिकों से जो अपेक्षाएं की थीं उनकी पूर्ति के लिए इस अमृतकाल में हमें तेज गति से काम करना है। इन 25 वर्षों में अमृतकाल की सिद्धि का रास्ता दो पटरियों पर आगे बढ़ेगा- सबका प्रयास और सबका कर्तव्य। कल यानि 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस भी है। ये दिन, भारत की सेनाओं के शौर्य और संयम, दोनों का ही प्रतीक है। मैं आज, देश की सेनाओं को तथा देश के समस्त नागरिकों को कारगिल विजय दिवस की अग्रिम शुभकामनाएं देती हूं।"
द्रौपदी मुर्मू ने अपने भाषण में कहा कि "मैं भारत के समस्त नागरिकों की आशा-आकांक्षा और अधिकारों की प्रतीक इस पवित्र संसद से सभी देशवासियों का पूरी विनम्रता से अभिनंदन करती हूं। आपकी आत्मीयता, आपका विश्वास और आपका सहयोग, मेरे लिए इस नए दायित्व को निभाने में मेरी बहुत बड़ी ताकत होंगे। भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर निर्वाचित करने के लिए मैं सभी सांसदों और सभी विधानसभा सदस्यों का हार्दिक आभार व्यक्त करती हूं। आपका मत देश के करोड़ों नागरिकों के विश्वास की अभिव्यक्ति है।"
शपथ ग्रहण समारोह में उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, मंत्रिपरिषद के सदस्य, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, संसद सदस्य और सरकार के प्रमुख असैन्य एवं सैन्य अधिकारी मौजूद रहे।