*अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव,नानावती अस्पताल में भर्ती*

मुंबई- महानायक अमिताभ बच्चन को मुबंई के नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है।जानकारी के मुताबिक उन्हें कोरोना के लक्षण मिले है। इस बात की जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी  है।इससे पहले भी अमिताभ को कई बार रूटीन चेक अप के लिए अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। अमिताभ बच्चन बहुत फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' में दिखाई देने वाले हैं। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*Big Breaking:गैंगेस्टर विकास दुबे पुलिस इनकाउंटर में ढेर*

कानपुर-आखिर कार काल का अंत हो ही गया। बता दें कि गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया। आज सुबह विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था। यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को लेकर जैसे ही कानपुर पहुंची, वह गाड़ी में सुरक्षाकर्मियों के पिस्तौल छीनने लगा। इसी बीच बैलेंस बिगड़ने के बाद गाड़ी पलट गई। गाड़ी पलटते ही विकास दुबे भागने लगा और पुलिस पर फायरिंग भी की। सुरक्षाकर्मियों ने भी अपने बचाव में गोलियां चलाई, जिसके बाद विकास दुबे गंभीर रूप से घायल हो गया। सुरक्षाकर्मी उसे लेकर जल्दी अस्पताल पहुंचे। थोड़ी देर बाद डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*गैंगेस्टर और पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला गुनहगार विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार*

रायपुर-कुख्यात गैंगस्टर और आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का गुनाहगार आरोपी विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार हो गया है। जानकारी के मुताबिक विकास दुबे सुबह महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए आया था। इस दौरान वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिसकर्मी उसे चौकी लेकर पहुंचे।‌ बाद में उज्जैन एसपी मनोज सिंह दुबे को गिरफ्तार कर कंट्रोल रूम ले गए।यह भी बताया जा रहा है कि मंदिर के अंदर पहुंचा एक शख्स चिल्ला-चिल्लाकर खुद को विकास दुबे बताने लगे, इस पर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी। तुरंत ही इस बात की सूचना पुलिस अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस को दी। विकास दुबे के पकड़े जाने को लेकर दो बातें सामने आ रही हैं, पहली यह कि वो सरेंडर करने के लिए ही यहां आया था और दूसरी उसे महाकाल मंदिर के सुरक्षा गार्ड ने पहचान लिया और पुलिस को सूचना दे दी। 

ब्यूरो रिपोर्टर


देश;पिछले 24 घण्टे में 15,968 कोरोना के नए केस आए है,वही 465 लोगो की मौत हो चुकी है,पॉजिटिव केस की संख्या 4,56,138 हो गई है

नई दिल्ली- पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। भारत भी कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस महामारी का संकट भारत में हर दिन बढ़ता जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 15,968 नए मामले सामने आए हैं और 465 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 4,56,183 हो गई है, जिनमें से 1,83,022 सक्रिय मामले हैं, 2,58,685 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 14,476 लोगों की मौत हो चुकी है। 

ब्यूरो रिपोर्टर


*एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने की खुदकुशी,फ़िल्म जगत सदमे में*

नई दिल्ली-बॉलीवुड से एक बहुत ही चौंकाने वाली खबर सामने आई है। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने खुदकुशी कर ली है। सुशांत ने मुंबई में अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी है। सुशांत ने अपने कैरियर की शुरुआत टीवी एक्टर के तौर पर की थी। उन्होंने सबसे पहले 'किस देश में है मेरा दिल' नाम के धारावाहिक में काम किया था, पर उन्हें पहचान एकता कपूर के धारावाहिक पवित्र रिश्ता से मिली। इसके बाद उन्हें फिल्मों का सफर शुरू किया था।वे फिल्म काय पो छे में लीड एक्टर के तौर पर नजर आए थे, और उनके अभिनय की तारीफ भी हुई थी। इसके बाद वो शुद्ध देसी रोमांस में वाणी कपूर और परिणीति चोपड़ा के साथ दिखे थे। हालांकि उन्होंने सबसे ज्यादा चर्चा भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी का किरदार निभा कर बटोरी थी। ये सुशांत के कैरियर की पहली फिल्म थी, जिसने सौ करोड़ का कलेक्शन किया था। सुशांत इसके अलावा फिल्म सोनचिड़िया और छिछोरे जैसी फिल्मों में नजर आ चुके थे। उनकी आखिरी फिल्म केदारनाथ थी, जिसमें वे सारा अली खान के साथ दिखे थे। अभी तक उनके इस फैसले के बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है।बता दें कि सुशाांत सिंह राजपूत की मैनेजर रह चुकीं दिशा सालियन के निधन की खबर भी कुछ दिन पहले ही आई है। पिछले कुछ समय में बॉलीवुड के कई दिग्गज कलाकारों ने इस दुनिया को अलविदा कहा है। अप्रैल के महीने में इरफान खान और ऋषि कपूर जैसे लेजेंडरी कलाकारों का निधन हुआ था। वही हाल ही में सिंगर और म्यूजिक कंपोजर वाजिद खान का 42 साल की उम्र में निधन हुआ था। इसके अलावा पिछले महीने वरिष्ठ गीतकार योगेश गौर भी इस दुनिया को अलविदा कह गए थे। 

ब्यूरो रिपोर्टर


*Breaking:14 खरीफ फसलों पर समर्थन मूल्य बढ़ाया गया,किसानों के कर्ज चुकाने की अवधि भी बढ़ाई गई,केबिनेट ने लिए कई फैसले*

नई दिल्ली-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरे होने के बाद सोमवार को कैबिनेट की पहली बैठक हुई, जिसमें कई फैसले लिए गए। इसमें कैबिनेट ने 14 खरीफ फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य 50 से 83 प्रतिशत तक बढ़ाया है। मंत्रिमंडल ने 14 खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को मंजूरी दी है। वहीं लॉकडाउन की वजह से सरकार ने किसानों को कर्ज चुकाने के लिए समय 31 अगस्त कर दिया है। बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, नितिन गडकरी और नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बैठक में हुए फैसलों की जानकारी दी।प्रकाश जावडे़कर ने कहा कि किसानों, एमएसएमई और रेहड़ी पटरी वालों पर एक परिवर्तनकारी प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने एमएसएमई की परिभाषा को और विस्तार दिया है। सूक्ष्म उद्योगों के लिए सीमा एक करोड़ रुपये का निवेश और पांच करोड़ रुपये का टर्नओवर होगी। 10 करोड़ का निवेश और 50 करोड़ रुपये का टर्नओवर वाले उद्योग छोटे उद्योमों के अंतर्गत आएंगे। वहीं, 20 करोड़ रुपये निवेश और 250 करोड़ रुपये टर्नओवर वाले उद्योग मध्यम उद्योगों की श्रेणी में आएंगे।प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि किसानों की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य की कुल लागत का डेढ़ गुना ज्यादा रखने का वादा सरकार पूरा कर रही है। खरीफ फसल 20-21 के 14 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी कर दिया गया है। इन 14 फसलों पर किसानों को लागत का 50-83 प्रतिशत तक ज्यादा दाम हासिल होगा। उन्होंने बताया कि कैबिनेट ने स्ट्रीट वेंडर के लिए क्रेडिट स्कीम को अपनी मंजूरी दे दी है।कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों को लेकर हुए फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गेंहू की खरीद 360 लाख मीट्रिक टन हो चुकी है। धान की 95 लाख मीट्रिक टन खरीद हो चुकी है और साथ ही 16.07 लाख मीट्रिक टन दालों ओर तिलहन की खरीद हो चुकी है। उन्होंने बताया कि 14 फसलों के लिए जो समर्थन मूल्य की सिफारिश थी, उसे मान लिया गया है। अब किसानों को लागत का 50 से 83 प्रतिशत अधिक मिलेगा।
उन्होंने बताया कि कैबिनेट ने धान की एमएसपी 1,868 रुपये, ज्वार की 2,620 रुपये, बाजरा की 2,150 रुपये प्रति क्विंटल तय की है। साथ ही मक्का की एमएसपी में 53 फीसदी, मूंगफली में 50 फीसदी, सूरजमुखी में 50 फीसदी, सोयाबीन में 50 फीसदी और कपास में 50 फीसदी की वृद्धि हुई है।नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि यदि किसान अपना कर्ज समय पर चुकाता है तो उसे अगली बार 4 फीसदी में ही कर्ज मिलता है। लॉकडाउन की वजह से सरकार ने किसानों को कर्ज चुकाने के लिए समय को 31 मार्च से बढ़ाकर 31 मई तक समय दिया था, लेकिन अब उसे और बढ़ाया गया है। अब किसान 31 अगस्त तक कर्ज चुका सकते हैं, उन्हें अगली बाद 4 फीसदी में ही कर्ज दिया जाएगा।केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि 10,000 करोड़ का एक फंड बनाया गया है, जिसे बाद में 50,000 करोड़ तक बढ़ाया जाएगा। इस फंड से सरकार अच्छा काम कर रही एमएसएमई में इक्विटी खरीदेगी। इससे उन्हें मजबूती मिलेगी और शेयर मार्केट से उस शेयर को और मजबूती मिलेगी।उन्होंने कहा कि हमारे देश में 6 करोड़ एमएसएमई है, जिससे 11 करोड़ रोजगार मिलता है। माइक्रो में मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर को एक कर दिया गया है। एक्सपोर्ट के टर्नओवर को एमएसएमई की लिमिट से बाहर किया गया है। इससे 2 लाख एमएसएमई को फिर से शुरू करने में फायदा होगा।नितिन गडकरी ने बताया कि एमएसएमई की परिभाषा को और संशोधित किया गया है और संकट में फंसे एमएसएमई को मदद दी जाएगी। इसके अलावा कैबिनेट ने तवावग्रस्त एमएसएमई के लिए 20 हजार करोड़ रुपये के सबऑर्डिनेट लोन की मंजूरी दे दी है, इससे 2 लाख एमएसएमई को लाभ मिलेगा।  

mornews beuro


*Breaking:भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा अस्पताल में भर्ती,कोरोना के लक्षण*

रायपुर/नई दिल्ली,-भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को कोरोना वायरस जैसे लक्षण दिखने के बाद गुरुग्राम के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। संबित पात्रा को गुरुवार को गुरूग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। संबित पात्रा के अस्पताल में भर्ती होने की खबरों के बाद नेताओं ने उनके जल्दी स्वस्थ होने की प्रार्थना की है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर संबित पात्रा के जल्द स्वस्थ होनो की प्रार्थना की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि संबित पात्रा के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। दिल्ली बीजेपी के नेता तेजिंदर पाल बग्गा ने भी संबित पात्रा के जल्द ठीक होने की कामना करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि जल्दी ठीक हों संबित भाई।
बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में संबित पात्रा ने ओडिशा के पुरी सीट से किस्मत आजमाई थी,जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। राजनीति में आने से पहले संबित पात्रा एक सफल चिकित्सक रहे हैं। 45 वर्षीय संबित पात्रा समाचार चैनलों की डिबेट में अपनी वाकपटुता के लिए जाने जाते हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट


*यूपीएससी ने सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा को स्थगित कर दिया है*

नई दिल्ली:-यूपीएसई ने सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा को स्थगित कर दी है। यह परीक्षा 31 मई को होनी थी, लेकिन लॉकडाउन के तीसरे चरण की वजह से परीक्षा को फिलहाल स्थगित कर दी गई है। परीक्षा की नई तारीख की घोषणा 20 मई को की जाएगी।संघ लोक सेवा आयोग का कहना है कि परीक्षा की नई तारीख की घोषणा स्थिति का जायजा लेने के बाद 20 मई को की जाएगी। गौरतलब है कि इस वक्त कोरोना वायरस से बचाव के लिए देश में तीसरे चरण का लॉकडाउन चल रहा है, जो कि 17 मई तक है।यूपीएसई सिविल सर्विस प्रीलिमिनरी एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड पहले इसी हफ्ते जारी होने थे, लेकिन अब इस परीक्षा को ही स्थगित कर दिया गया है। परीक्षा की नई तारीख की घोषणा के बाद एडमिट कार्ड के जारी होने की जानकारी दी जाएगी। यूपीएसई का कहना है कि सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा देने वाले कई उम्मीदवारों ने आयोग से परीक्षा को स्थगित करने का निवेदन किया था।

ब्यूरो रिपोर्ट


*केंद्रीय गृहमंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन,ग्रीन जोन वाले जिले में इन दुकानों को मिलेगी शर्तो सहित छूट*

नई दिल्ली:-देश में कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए लॉक डाउन को फिर से बढ़ाकर 4 से 17 मई तक कर दिया गया है। इस अवधि में सामान्य गतिविधियों को लेकर नई गाइडलाइंस भी जारी की गई हैं। हालांकि, यह सिर्फ सीमित क्षेत्रों में ही लागू किया जाएगा। इसी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा शराब की दुकानों के साथ ही पान की दुकानों को खोलने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।इसमें यह कहा गया है कि शराब की दुकानों और पान की दुकानों को एक दूसरे से न्यूनतम छह फीट की दूरी सुनिश्चित करते हुए ग्रीन जोन में कार्य करने की अनुमति दी जाएगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि दुकान पर एक बार में 5 से अधिक व्यक्ति मौजूद न हों। लॉकडाउन के तीसरे चरण के लिए नई गाइडलाइंस भी जारी की गई है। इस नई गाइडलाइंस में रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में बांटे जिलों में होने वाली गतिविधियों को लेकर सूचना दी गई है। ग्रीन और ऑरेंज जोन वाले जिलों को लॉकडाउन के दौरान कुछ रियायतें दी गई हैं। ग्रीन जोन में वे जिले रखे गए हैं, जहां पिछले 21 दिनों से कोई नया केस नहीं मिलेगा। गृह मंत्रालय ने कहा है कि मौजूदा समय में जिन गतिविधियों के लिए अनुमति मिली है, उसके लिए अलग से कोई अनुमति लेने की जरूरत नहीं है।  

ब्यूरो रिपोर्ट


*मशहूरअभिनेता इरफान खान के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,अमित शाह ने शोक व्यक्त किया*

नई दिल्ली:- बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफान खान ने 54 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, ने इरफान खान के निधन पर ट्वीट किया उन्होंने लिखा- विख्यात अभिनेता इरफान खान के असामयिक निधन से गहरा दुःख हुआ। वे दुर्लभ प्रतिभा-सम्पन्न कलाकार थे, उनकी विविध भूमिकाओं की छाप सदैव हमारे दिलों में अंकित रहेगी। उनका निधन, सिने-जगत व अनगिनत प्रशंसको के लिए अपूरणीय क्षति है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनेता इरफान खान के निधन पर शोक जताया है,पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा-इरफान खान का निधन सिनेमा और रंगमंच की दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। उन्हें विभिन्न माध्यमों में उनके बहुमुखी प्रदर्शन के लिए याद किया जाएगा। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के साथ हैं।उनकी आत्मा को शांति मिले।

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर इरफान खान के लिए शोक जताया है, अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा है-इरफान खान के निधन की दुखद खबर से सब दुखी हैं। वह एक बहुमुखी अभिनेता थे, जिनकी कला ने वैश्विक ख्याति और पहचान अर्जित की थी। इरफान हमारे फिल्मी जगत के लिए एक संपत्ति थे। राष्ट्र ने आज एक असाधारण अभिनेता और एक विनम्र शख्स को खो दिया है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इरफान खान के निधन पर ट्वीट किया,उन्होंने लिखा-इरफान खान के निधन की खबर सुन काफी दुख हुआ। वह एक शानदार अभिनेता थे, जो वैश्विक स्तर पर भारत के ब्रांड एंबेसडर थे। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।

ब्यूरो रिपोर्ट 


*बॉलीवुड एक्टर इरफान खान का निधन,केंसर की बीमारी से जूझ रहे थे पूरा बॉलीवुड सकते में*

नई दिल्ली:- बॉलीवुड एक्टर इरफान खान का 54 साल की उम्र में बुधवार को निधन हो गया। इरफान खान जो कि लंबे समय से कैंसर से जंग लड़ रहे थे, आज जिंदगी की जंग हार गए। बता दें कि उनकी तबीयत अचानक खराब होने की वजह से उन्हें मंगलवार को मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल के आईसीयू में एडमिट किया गया था। उन्हें कोलन इंफेक्शन की वजह से भर्ती कराया गया था। बता दें कि बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता इरफान खान का 54 साल की उम्र में निधन हो गया है। वह काफी समय से कैंसर से जूझ रहे थे। डायरेक्टर शूजीत सरकार ने इरफान खान के निधन की खबर दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- मेरा प्यारा दोस्त इरफान। तुम लड़े और लड़े और लड़े। मुझे तुम पर हमेशा गर्व रहेगा। हम दोबारा मिलेंगे। सुतापा और बाबिल को मेरी संवेदनाएं। तुमने भी लड़ाई लड़ी। सुतापा इस लड़ाई में जो तुम दे सकती थीं तुमने सब दिया। ओम शांति इरफान खान को सलाम।

"A person that departs from this earth never truly leaves, for they are still alive in our hearts and minds, through us, they live on. Surely he will not be forgotten"

mornews Beuro

 


*केंद्र सरकार का बड़ा फैसला,कुछ शर्तो के साथ दुकानों और बाजारों को खोलने की अनुमति*

नई दिल्ली:- देश में एक महीने से जारी लॉक डाउन के बीच केंद्र सरकार ने आम आदमी और छोटे दुकानदारों को बड़ी राहत दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को एक आदेश जारी करते हुए कुछ शर्तों के साथ शनिवार से बाजारों में दुकानें खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है। इसमें जरूरी और गैर-जरूरी सामान की दुकानें शामिल हैं। इन दुकानों में काम करने वालों को लॉक डाउन के लिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। लेकिन शॉपिंग मॉल्स और मार्केट कांप्लेक्स को खोलने की अनुमति नहीं दी गई है।कोरोना महामारी की वजह से देश में लगे लॉक डाउन में केंद्र सरकार ने बड़ी रियायत देने का एलान किया है। लॉक डाउन के बीच शनिवार से कंटेनमेंट जोन और हॉटस्पॉट से बाहर की दुकानें खुल सकेंगी। नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्र में स्थित राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत, आवासीय कॉलोनियों के समीप या बाजार में स्थित दुकानें ही खुल सकेंगी। गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक, नॉन हॉटस्पॉट एरिया में आज से सैलून और ब्यूटी पार्लर भी खोले जा सकेंगे। यहां भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और मास्क लगाना जरूरी है। ग्रामीण और अर्ध-ग्रामीण इलाकों में भी सभी दुकानों को गृह मंत्रालय की शर्तों के अनुसार खोला जा सकता है।

गृह मंत्रालय ने लगाई हैं कुछ शर्तें-

मल्टी और सिंगल ब्रांड के शोरूम सहित शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मार्केट कॉम्प्लेक्स नहीं खुल सकेंगे। शुक्रवार देर रात गृहमंत्रालय की ओर से जारी आदेश के अनुसार, दुकानों पर केवल 50 फीसदी कर्मचारी ही काम कर सकेंगे। इन्हें सामाजिक दूरी का पालन करना होगा, हमेशा मास्क लगाना होगा और सैनिटाइजेशन के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल बंद रहेंगे। बड़ी दुकानें, ब्रांड और हफ्ते में एक दिन लगने वाले मार्केट बंद रहेंगे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


मध्यप्रदेश:शिवराज सरकार ने 5 मंत्रियों को दिलाई शपथ,दी विभाग की जिम्मेदारी*

मध्यप्रदेश :- एमपी में नई सरकार के गठन के 29 दिनों बाद पांच मंत्रियों ने शपथ ली,पाँचों मंत्रियों के शपथ लेने के साथ ही मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों को संभाग स्तर का जिम्मा सौपा,संभाग की जिम्मेदारी देने के बाद अब पाँचों मंत्रियों को विभाग का भी बंटवारा कर दिया गया है।वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा को गृह और स्वास्थ्य मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है. कोरोना वायरस के संकट के बीच विपक्ष की ओर से लगातार हमला किया जा रहा था कि राज्य में कोई भी स्वास्थ्य मंत्री नहीं है, ऐसे में अब सरकार की ओर से तुरंत ही कैबिनेट मंत्रियों को विभाग बांट दिए गए।

नरोत्तम मिश्रा – गृह और स्वास्थ्य मंत्रालय
तुलसीराम सिलावट – जल संसाधन मंत्रालय
कमल पटेल – कृषि मंत्रालय
गोविंद सिंह – खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्रालय
मीना सिंह – आदिम जाति कल्याण मंत्रालय
गौरतलब है कि 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान ने राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी, लेकिन तब से अबतक वो बिना मंत्रिमंडल के ही काम कर रहे थे. इसी के बाद वह विपक्ष के निशाने पर थे. मुख्यमंत्री बनने के करीब 29 दिन के बाद शिवराज ने अपनी कैबिनेट का गठन किया और मंगलवार को राजभवन में 5 मंत्रियों ने शपथ ली थी. 

ब्यूरो रिपोर्ट


भारतीय नौसेना पर कोरोना का संकट, 21 मिले कोरोना पॉजिटिव

 कोरोना वायरस लगातार देश में अपना पैर पसारता जा रहा है. हर क्षेत्र में इसके संक्रमण की रिपोर्ट आ रही है. इसी कड़ी में भारतीय नौसेना के जवानों में भी इसके प्रसार का डर पैदा हो गया है. बताया जा रहा है कि नौसेना में 25 से अधिक कर्मियों के कोरोना टेस्ट हो चुके हैं और इनमें से 21 पॉजिटिव बताए जा रहे हैं. आईएनएस आंग्रे, मुंबई में 20 पॉजिटिव केस पाए गए हैं. बताया जा रहा है कि आईएनएस आंग्रे, मुंबई परिसर में एक नाविक से बाकी लोगों में इसका संक्रमण फैला है. यह नाविक 7 अप्रैल को हुई जांच में पॉजिटिव पाया गया था.

आईएनएस आंग्रे, मुंबई परिसर में लोगों को क्वारनटीन कर दिया गया है. साथ ही संक्रमण और न फैले इसके लिए सभी कदम उठाए गए हैं. अच्छी बात ये है कि संक्रमण जहाज और पनडुब्बियों में संक्रमण का कोई मामला नहीं है. बता दें कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है. कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज कर रहे स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं. वहीं भारतीय सेना में शामिल अधिकारी भी कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं. भारतीय सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक डॉक्टर कोविड-19 से पॉजिटिव पाए गए हैं.


RBI का बड़ा ऐलान

दिल्ली : -कोरोना वायरस के संक्रमण से इन दिनों पूरी दुनिया जूझ रही है, ऐसे में भारत भी इस बीमारी से लड़ रहा है. कोरोना संक्रमण के चलते देशव्यापी लॉकडाउन का एलान किया गया है, ऐसे में यहाँ की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. इस बीच अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से बड़े ऐलान किए गए. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती का ऐलान किया,

इसी के साथ बाजार में नकदी संकट ना आए इसके लिए भी 50 हजार करोड़ रुपये की अतिरिक्त मदद की बात कही. रिवर्स रेपो रेट में कमी करने से सीधी मदद आम लोगों को पहुंच सकती है, इस ऐलान से बैंकों के पास ज्यादा पैसा उपलब्ध होगा. ऐसे में बैंक आम आदमी को कर्ज दे सकेंगे. ऐसे में इस ऐलान के बाद बैंकों पर कर्ज पर ब्याज दर कम करने का दबाव होगा. RBI गवर्नर ने कहा कि कोरोना संकट के बीच बैंक सभी हालात पर नजर रखे हुए है, कदम-कदम पर फैसले लिए जा रहे हैं. कोरोना संकट की वजह से जीडीपी की रफ्तार घटेगी, लेकिन बाद में ये फिर तेज रफ्तार से दौड़ेगी।

ब्यूरो रिपोर्ट


*बिग ब्रेकिंग;-प्रधानमंत्री ने देश को किया संबोधित,3मई तक बढ़ाया गया देश मे लॉक डाउन,पढ़िए पूरी खबर*

नई दिल्ली:-कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पीएम मोदी ने 3 मई तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि लोगों और राज्यों के सुझाव पर 3 मई तक लॉकडाउन का फैसला किया गया है। अनुशासन के साथ हमें इसका पालन करना होगा। अगले एक सप्ताह तक कोरोना के खिलाफ कठोरता बढ़ायी जाएगी। 20 अप्रैल तक हर कस्बे, थाने और राज्य को बारीकी से परखा जाएगा।
मालूम हो कि 24 मार्च को प्रधानमंत्री ने पहली बार लॉकडाउन का फैसला किया गया था। पहले लॉक डाउन के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश को संबोधित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, कोरोना से कितना खुद को बचाया है इसका आंकलन किया जाएगा। जो इस अग्नि परीक्षा में सफल होंगे जो हॉटस्पॉट नहीं बढ़ने देंगे वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है। ये अनुमति सशर्त दी जाएगी। बाहर निकलने के नियम सख्त होंगे। लॉकडाउन के नियम टूटते हैं और कोरोना का पैर हमारे इलाके में पड़ता है सारी अनुमति तुरंत वापस ले ली जाएगी। इसलिए न कोई लापरवाही करनी है और न किसी अन्य का लापरवाही करने देनी है।
मेरे देशवासियों सरकार की तरफ से कल विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी। 20 अप्रैल से चिन्हित क्षेत्र में सीमित छूट का प्रावधान गरीब भाई-बहनों को ध्यान में रखते हुए किया गया है। वही मेरा वृहत परिवार है। मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता इनकी दिक्कतों को दूर करना है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याणा योजना के तहत इनकी मदद का फैसला किया है। गाइडलाइन में इनका विशेष ध्यान रखा गया है। रवि की फसल कटाई का काम चल रहा है। किसानों को कम से कम दिक्कत हो। दवा से लेकर राशन तक पर्याप्त भंड़ार है। सप्लाई चैन की बाधाएं लगातार दूर की जा रही है। हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के मोर्चे पर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। इस समय 220 से ज्यादा लैबों में जांच कर रही हैं।
कोरोना वायरस वैश्विक बीमारी से देश मजबूती से लड़ रहा है। देशवासियों के त्याग की वजह से भारत कोरोना से होने वाले नुकसान को टालने में काफी हद तक सफल रहा है। आप लोगों ने कष्ट सहकर भी अपने देश को बचाया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप अनुशासित सिपाही की तरह कर्तव्य निभा रहे हैं। इसके लिए मैं देशवासियों को नमन करता हूं। बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती पर हमारी सामूहिक शक्ति का प्रदर्शन उन्हें सच्ची श्रंद्धाजलि है। त्यौहारों के बीच देश के लोग जिस तरह से नियमों का पालन कर रहे हैं ये सारी बातें बहुत ही प्रेरक और प्रशंसनीय है। पीएम मोदी ने कहा कि आज पूरे विश्व में कोरोना की स्थिति से हम सभी परिचित है। अन्य देशों के मुकाबले भारत ने कैसे अपने यहां संक्रमण रोकने के प्रयास किए हैं। आपके इसके सहभागी भी रहे और साक्षी भी रहे हैं।
सात बातों में मोदी ने मांगा लोगों का साथ
1. बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखना है जो कि बीमार हैं।
2. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा का पालन करें।
3. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देशों का पालन करें।
4. कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए आरोग्य सेतू मोबाइल जरूर डाउनलोड करें।
5. जितना हो सके उतने गरीब परिवारों की देखभाल करें।
6. अपने व्यवसाय में काम करने वाले लोगों के प्रति संवेदना रखें।
7. देश के कोराना योद्धा डॉक्टर, नर्स, पुलिस सभी का सम्मान करें। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को सुबह 10बजे देशवासियों को करेंगे संबोधित पीएमओ ने ट्वीट कर दी जानकारी*

रायपुर:-कोरोना से बचाव और नियंत्रण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिवसीय लॉक डाउन का ऐलान किया था। मंगलवार को 21 दिवसीय लॉक डाउन का अंतिम दिन है। ऐसे में तरह-तरह की संभावनाएं लगातार बन रही थी कि लॉक डाउन हटेगा या बढ़ेगा? अलग-अलग तरीके से सभी इस पर मंथन-चिंतन कर रहे हैं। बहरहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार सुबह 10 बजे देशवासियों को संबोधित करने वाले हैं। पूरे देश को इस पल का बेसबरी से इंतजार था कि प्रधानमंत्री कब देश को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री के मंगलवार को संबोधन की पुष्टि स्वयं पीएमओ इंडिया ने ट्वीट कर की है। अब देखना है कि प्रधानमंत्री कल क्या दिशानिर्देश जारी करेंगे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*राज्यो के मुख्यमंत्रीयो के प्रधानमंत्री मोदी को सुझाव,लॉक डाउन बढ़ाया जाए,मास्क में नजर आए पीएम मोदी*

नईदिल्ली:-कोरोना वायरस के मद्देनजर 25 मार्च को लागू 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन को 16 दिनों के लिए आगे बढ़ाकर 30 अप्रैल तक करने मुख्यमंत्रियों ने सुझाव दिये है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा के बाद लाॅकडाउन की अवधि को बढाने की आशंका है। । मालूम हो कि पूर्व में 21 दिनों के लिए लागू लाॅकडाउन की अवधि 14 अप्रैल को खत्म होने वाली है, लेकिन इससे पहले ओडिशा के साथ ही पंजाब सरकार ने लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी है। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा कर रहे है। इस दौरान पंजाब, दिल्ली व महाराष्ट के मुख्यमंत्रियों ने लाॅकडाउन बढाने का सुझाव दिये है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के चर्चा के दौरान पीएम ने चेहरे मास्क पहने नजर आए। देश में पिछले 4-5 दिनों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ा है ऐसे में जहां कुछ राज्यों के जिलों में स्थिति सुधरी है वहीं कुछ में यह और खराब हुई है। कुछ ऐसे क्षेत्रों में भी कोरोना मरीज आ रहे हैं जहां अब तक सबकुछ नियंत्रित दिख रहा था। कुछ राज्यों में तो मुख्यमंत्री ही कम्युनिटी ट्रांसमिशन की आशंका जता रहे हैं। जाहिर है कि यह भारत के लिए नाजुक दौर है। 

ब्यूरो रिपोर्ट