1. Home
  2. करिअर

करिअर

चाणक्य नीति: जानिए सफलता के लिए कितना जरूरी है समय प्रबंधन ?

आचार्य चाणक्य की नीति हमारे जीवन के लिए बहुत ही उपयोगी हैं। चाणक्य की कुछ नीतियां यहां बता रहे जो सबके लिए हितकर। आचार्य चाणक्य ने सफलता कैसे प्राप्त करें इन पर नीति निर्धारण किया है। इसके उन्होंने घर में लक्ष्मी जी का कैसे वास हो इस पर भी प्रकाश डाला है। बता दें आचार्य चाणक्य महान शिक्षाविद, अर्थशास्त्री और कूटनीतिज्ञ थे। चाणक्य की लिखी बातें आज भी प्रासंगिक हैं।

समय को पहचाने: चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को यदि जीवन में सफलता प्राप्त करनी है तो समय की अहमियत को अवश्य जानना चाहिए। चाणक्य की मानें तो जो लोग समय की कीमत को नहीं जानते हैं, उनके जीवन में सफलता नहीं होती है। जो समय गुजर जाता है, वो लौटकर नहीं आता है। इसलिए समय पर कार्य करने की आदत डालनी चाहिए। कोई भी महत्वपूर्ण कार्य करने से पूर्व उसकी रणनीति यानी योजना अवश्य बनानी चाहिए। जो लोग अपने प्रत्येक लक्ष्य की रणनीति बनाकर कार्य करते हैं, उन्हें सफलता अवश्य मिलती है। चाणक्य नीति के अनुसार सीमित संसाधनों से ही व्यक्ति को लक्ष्य की प्राप्ति करनी चाहिए। संसाधनों का सही ढंग से प्रयोग करना, सफलता की तरफ पहला कदम माना जाता है। संसाधनों का उपयोग बेहतर और सोच समझ कर करना चाहिए. संसाधनों का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए।

ऐसे करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न: चाणक्य कहते हैं कि मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए घर में साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए। घर में खुशहाली बनाकर रखनी चाहिए। जिन घरों में क्लेश होता है, वहां मां लक्ष्मी का वास नहीं होता है। जिस परिवार के सदस्यों के बीच स्नेह और पति-पत्नी के बीच प्रेम होता है, वहां मां लक्ष्मी का वास होता है। चाणक्य कहते हैं कि मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए वाणी में मधुरता होना जरूरी है। कड़वे वचन बोलने वालों पर मां लक्ष्मी कभी अपना कृपा नहीं बरसाती हैं। चाणक्य कहते हैं कि इसके अलावा कार्यक्षेत्र में सभी के साथ तालमेल मिलाकर चलने वालों को सफलता जल्दी हासिल होती है। शास्त्रों में दान को विशेष महत्व दिया गया है। शास्त्रों में जीवन को बेहतर बनाने के लिए मीठी वाणी, मदद, मित्रता, दान और पुण्य आदि बातों का जिक्र किया गया है। चाणक्य कहते हैं दान-पुण्य करने वाले लोगों पर मां लक्ष्मी की विशेष कृपा होती है। 


परदेस के इस शहर में सोना खरीदने में सबसे आगे हैं भारतीय

 संयुक्त अरब अमीरात के शहर दुबई में गोल्ड में निवेश करने के मामले में भारतीय सबसे आगे हैं. दुबई में भारतीयों के बाद गोल्ड में सबसे ज्यादा निवेश पाकिस्तान, ब्रिटेन, सऊदी अरब, ओमान, बेल्जियम, यमन और कनाडा के लोग करते हैं.

 
गौरतलब है कि दुबई में गोल्ड सेक्टर में करीब 4,086 कंपनियां काम करती हैं. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दुबई में गोल्ड के करीब 62,125 निवेशक हैं, जिनमें करीब 60 हजार पुरुष कारोबारी और 2 हजार से ज्यादा महिला कारोबारी हैं. देश के आर्थ‍िक विकास विभाग (DED) की रिपोर्ट के अनुसार, इन 4 हजार से ज्यादा कंपनियों को 2,498 लाइसेंस जारी किए गए हैं.

स्विस बैंकों में काला धन रखने वालों पर कसा शिकंजा, 11 भारतीयों को नोटिस

 स्विट्जरलैंड सरकार ने गजट के द्वारा जारी सार्वजनिक की गयी जानकारियों में स्विस बैंकों में खाताधारकों का पूरा नाम न बताकर सिर्फ नाम के शुरुआती अक्षर बताए गए हैं. इसके अलावा उपभोक्ता की राष्ट्रीयता और जन्म तिथि का जिक्र किया गया है. गजट के अनुसार, सिर्फ 21 मई को 11 भारतीयों को नोटिस जारी किये गये हैं.


सुरजेवाला बोले- अफवाहों पर ध्यान न दें, कांग्रेस में बड़े स्तर पर बदलाव की तैयारी

 लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस बड़े स्तर पर फेरबदल की तैयारी में हैं. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की है लेकिन इसे मंजूर नहीं किया गया. उनके साथ कई प्रदेश अध्यक्षों ने इस्तीफे दिए हैं लेकिन उन पर भी कोई फैसला नहीं हो पाया. माना जा रहा है कि कांग्रेस इस बड़ी हार के बाद पार्टी स्तर पर आमूलचूल बदलाव करेगी ताकि लोगों को संकेत दिया जा सके कि देश की सबसे पुरानी पार्टी भी समय-समय पर बड़े बदलाव कर सकती है. कुछ ऐसा ही संकेत पार्टी के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दिया है. उन्होंने सोमवार को जारी एक प्रेस रिलीज में कहा कि पार्टी लोकसभा चुनाव में हार को एक बड़े अवसर के रूप में ले रही है और आगे कुछ बड़े बदलाव दिख सकते हैं.


इन 7 वजहों से अक्षय तृतीया पर सोना खरीदना माना जाता है शुभ

 वैशाख शुक्ल तृतीया को अक्षय तृतीया या आखा तीज के नाम से पहचाना जाता है. हिंदू धर्म में अक्षय तृतीया का बहुत बड़ा महत्व है. मान्यता है कि इस दिन किए जाने वाले स्नान-दान, यज्ञ, जप-तप आदि कर्मों का अक्षय पुण्य प्राप्त होता है. इस बार अक्षय तृतीया 07 मई 2019, मंगलवार को पड़ रही है. ऐसे में क्या आपके मन में भी यह सवाल उठता है कि अक्षय तृतीया के दिन अचानक सोने की मांग में इतनी बढ़ोत्तरी क्यों हो जाती है. आइए जानते हैं ऐसी 5 खास वजह.