*सेंदरी में राजस्व शिविर 13 नवम्बर को आयोजित होगी*

बिलासपुर। जिले के विकासखण्ड बिल्हा के ग्राम सेंदरी में 13 नवम्बर 2021 को सुबह 10 बजे से राजस्व शिविर का आयोजन किया जा रहा है। राजस्व शिविर में राजस्व से संबंधित आवेदन पत्रों का शिविर स्थल पर ही निराकरण किया जाएगा। इच्छुक व्यक्ति सुसंगत अभिलेख के साथ उपस्थित होकर आवेदन पत्र प्रस्तुत कर सकते है। 

ब्यूरो रिपोर्ट


डीजीपी को प्रशासनिक व्यवस्था के दृष्टिकोण से बदलने का सीधा तात्पर्य है तीन वर्षो से राज्य में अव्यवस्था का आलम था- अमर अग्रवाल*

बिलासपुर।भाजपा नेता और पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल जारी प्रेस रिलीज में कहा कि केंद्र सरकार ने विगत 3 नंवम्बर को एक्साइज ड्यूटी कम करके जनता को बड़ी राहत दी है. अन्य राज्यो की तरह भूपेश सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि प्रधानमंत्री के आग्रह किए जाने पर जनता के हित में वैट (VAT) घटाकर लोगों को राहत दी जाए लेकिन पेट्रोल और डीजल की दरों में कमी को लेकर के राज्य की सरकार केवल राजनीतिक बहानेबाजी में लगी हुई है।छत्तीसगढ़ की जनता जानना चाहती है कि सरकार द्वारा जनता के हित में लिए गए निर्णय योजनाओं और नीतियों का लाभ से राज्य सरकार द्वारा क्यो वंचित किया जा रहा है।जब बढ़े हुए दाम जनता चुकाती है तो सस्ती हुई सेवाओ का लाभ भी समान रूप से मिले। केवल राजनीतिक कारणों से प्रदेश की जनता के साथ दोहरा व्यवहार भूपेश बघेल की सरकार को बंद करना चाहिए, आखिर छत्तीसगढ़ भारत के अन्य राज्यो में से एक राज्य है।
दरअसल छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल का एजेंडा शुरू से केंद्र विरोधी रहा है,2009 में मनमोहन सरकार की एक्साइज की दर तक केंद्र सरकार को कर में छूट देनी चाहिए, उनका यह बयान बिल्कुल गैरतार्किक है। एक तरफ तो वे 2 वर्ष पूर्व स्थिति में वेट कर को कम नहीं करना चाहते, दूसरी ओर 12 साल पूर्व की स्थिति में एक्साइज में छूट चाहते हैं।छत्तीसगढ़ में वर्तमान में पेट्रोल पर स्टेट टैक्स यानी वैट के रूप में 25 प्रतिशत प्लस 2 रुपए तथा डीजल पर 25 प्रतिशत प्लस 1 रुपए प्रति लीटर आरोपित किया जा रहा है। राज्य की सरकार केंद्र की तरह निर्णय लेवे तो 100 रु ली की जगह 85 रु लीटर पेट्रोल और 75- 80 रु ली में डीजल छत्तीसगढ़ की जनता को उपलब्ध कराया जा सकता है।

केन्द्र सरकार द्वारा पिछले दिनों अन्य उपाय करते हुए पाम आयल, सोयाबीन और सूरजमुखी पर 2.5% आधार शुल्क समाप्त करने की घोषणा की गई है। खाद्य तेलों में कमी के लिए कृषि उपकर भी घटाया गया है। पेट्रोल पर और डीजल पर की गई कटौती से विभिन्न वर्गों को सीधा लाभ मिलेगा। 22 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेश में भी वैट में कमी करके लोगों को राहत दी है। दोनों मिलाकर देखें तो डीजल की कीमतों में लगभग ₹20 की कमी ,पेट्रोल में लगभग 13 रू कमी का लाभ उपभोक्ताओं को मिलने वाला है। केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से खाद्य तेलों में 5 रु से 20 रु किलो कमी आई है। आने वाले दिनों में यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सरसों के वायदा कारोबार पर रोक लगाने से सरसों के तेल के दाम में भी कमी आएगी। अनुमान है कीमतों में कमी का लाभ आम उपभोक्ताओं तक पहुंचेगा एवं बचत बढ़ेगी,मांग में वृद्धि होगी,तरलता बढ़ेगी, मुद्रास्फीति से संबंधित उपभोक्ता धारणा में परिवर्तन आएगा।कीमतों में कटौती का लाभ उद्योग जगत के साथ किसानों को होगा। च जिसके सकारात्मक प्रभाव से परिवहन लागत में कमी आएगी, रोजमर्रा चीजों में बढ़ते दामों पर अंकुश लग सकेगा। केवल एक्साइज कटौती से केंद्र सरकार को राजस्व हानि 50 से 65 हजार करोड़ अनुमानित हैं लेकिन इकोनॉमी की बढ़ी रफ्तार राजस्व के स्रोतों में वृद्धि कर राजस्व हानि को वहनीय बनाया जा रहा है। इस प्रकार ईंधन की कीमतों में प्रति लीटर कमी के साथ खाद्य तेलों में आयात शुल्क प्रतिस्थापन व प्रशुल्कों में की गई कमी का सीधा असर घरेलू बजट के साथ अर्थव्यवस्था की रफ्तार में पड़ेगा,किन्तु छ ग में भूपेश बघेल सरकार की नीयत जनता को राहत देने वाली नही है। वैट में छूट की बजाय केंद्र की आलोचना का राग अलापने मगन है।पिछले ढाई वर्ष से छत्तीसगढ़ की जनता को भ्रमित करने में का कार्य किया गया है। राज्य मंत्रिमंडल में संवाद हीनता ,मतभेद और सत्ता संघर्ष से विकास के कार्यो से सरकार का कोई सरोकार नही है,इसलिए राज्य की जनता को पेट्रोल में छूट का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वाणिज्यकर मंत्री टी एस सिंह देव वेट में कटौती के लिए प्रस्ताव भेजे जाने की बात करते हैं लेकिन दूसरी ओर उनके प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री द्वारा कोई विचार नही होता है, यह देश के लोग जान चुके हैं।आज भी जब अपने हिस्से का वेट टैक्स अन्य राज्यों की तरह कम करके जनता को ईंधन जनित महंगाई में राहत देना चाहिए तो भूपेश बघेल केंद्र सरकार की नुक्ताचीनी में लगे हुए हैं,इससे साबित हो गया है, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को केवल अपनी कुर्सी बचाने से मतलब है।श्री अग्रवाल ने कहा एक तरफ भूपेश बघेल पेट्रोल और डीजल की दरों में कटौती को लॉलीपॉप कहते हैं और दूसरी तरफ से खुद वैट में कटौती करने को तैयार नहीं है, बल्कि आने वाले चुनाव का धान के समर्थन मूल्य 2800 रु क्विटल किए जाने का शिगूफा छोड़ने में लगे है। अग्रवाल ने कहा डीजीपी की बदली पर मुख्यमंत्री का बयान आया है कि डीजीपी को प्रशासनिक व्यवस्था की दृष्टिकोण से बदलाव किया गया है इससे यह बात साबित करती है कि 3 वर्षों से प्रशासनिक अव्यवस्था का आलम है जिसके लिए केवल राज्य सरकार जिम्मेदार है।
वस्तुतः भूपेश बघेल की सरकार विरोधभासो की सरकार है जिसका प्रमुख लक्ष्य केंद्र को उलाहना देना,के संवैधानिक ढांचे पर अविश्वास जताना और अपनी अकर्मण्यता और खोखले वादों की नाकामी को केंद्र सरकार के माथे डालना है। तीन वर्षों में सरकार ने कोई भी नई योजना शुरू नहीं की है जिसका जनता के हितों से सीधा सरोकार हो। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष भानुप्रताप सिंह 13 नवम्बर को जिले के प्रवास पर*

बिलासपुर। छ.ग. राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष (केबीनेट मंत्री दर्जा)भानूप्रताप सिंह 13 नवम्बर को जिले के प्रवास पर रहेंगे। वे प्रातः 9 बजे रायपुर से प्रस्थान कर प्रातः 11 बजे बिलासपुर विश्रामगृह पहुचेंगे। इसके पश्चात् जगमल चैक स्थित हाॅटल इंटरनेशल में युवा स्पीक्स कार्यक्रम में शामिल होंगे।  सिंह बिलासपुर विश्रामगृह में सामाजिक लोगों से भेंट एवं चर्चा करेंगे और शाम 6 बजे रायपुर मुख्यालय के लिए प्रस्थान करेंगे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी क़िस्त से किसानों के खिले चेहरे*

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा किसानों की बेहतरी के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त की राशि मिलने से किसानों के परिवार में त्यौहारों की खुशी दोगुनी हो गयी। उन्होंने दीपावली त्यौहार के ठीक पहले राशि मिल जाने से पूरे उत्साह से त्यौहार मनाया। सही समय पर राशि मिलने से खेती-किसानी में भी किसानों को मदद मिल रही है।
तखतपुर विकासखंड के ग्राम लाखासार निवासीजगदीश प्रसाद ने बताया कि उनके पास 10 एकड़ कृषि भूमि हैं। उन्हें 25 हजार रूपए प्राप्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि दीपावली के ठीक पहले यह राशि मिलने से उन्होंने न केवल त्यौहार उत्साह से मनाया बल्कि इसी राशि से खेती-किसानी में भी मदद मिलेगी। वे कहते हैं कि इस योजना से किसानों की जिंदगी बदल गयी है। समय-समय पर राशि मिलने से अतिरिक्त आर्थिक बोझ नहीं होता। ग्राम सरगांव निवासी श्रीमती कजरा वर्मा को तीसरी किश्त के रूप में 50 हजार रूपए की राशि मिली है। उनकी दस एकड़ कृषि भूमि है। परिवार में 6 सदस्य हैं। खेती-किसानी से ही परिवार का गुजर-बसर होता है। उन्होंने बताया कि इस राशि से परिवार की जरूरते पूरी करेंगी। इसके अलावा बच्चों की शिक्षा में भी यह राशि काम आएगी। वे कहती हैं कि इस योजना के चलते खेती. किसानी अब मुनाफे का व्यवसाय बन गया है।  धन्नूलाल लोनिया को 6 हजार 500 रूपए किश्त मिली है। वे कहते हैं कि इस योजना से उन्हें आर्थिक मजबूती मिली है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलायी जा रही किसान हितैषी योजनाओं से हमारी जिंदगी बदल गयी है। अब हमें साहूकारों पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है। 

ब्यूरो रिपोर्ट

 


 


*जिला पंचायत के सामान्य सभा की बैठक 18 नवम्बर को आयोजित*

बिलासपुर । जिला पंचायत बिलासपुर के सामान्य सभा की बैठक 18 नवम्बर 2021 को दोपहर 1 बजे जिला पंचायत सभाकक्ष में अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान की अध्यक्षता में आयोजित की जाएगी।बैठक में स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत चल रहे कार्याें की जानकारी एवं समीक्षा, महिला बाल विकास विभाग अंतर्गत रेडी टू ईट जिला विकासखण्डवार किए जा रहे कार्य की जानकारी एवं वित्तीय स्थिति की जानकारी एवं समीक्षा, लोक निर्माण विभाग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना एवं नेशनल हाईवे के अंतर्गत कार्याें की जानकारी एवं समीक्षा, वन विभाग अंतर्गत चल रहे कार्याें की जानकारी एवं समीक्षा, शिक्षा विभाग अंतर्गत अध्यापन एवं स्कूलों के उन्नयन पर चर्चा, 15वें वित्त 2022-23 कार्य योजना के संबंध में चर्चा, मनरेगा योजना अंतर्गत चल रहे कार्याें की जानकारी एवं नरवा, गरवा, घुरूवा, बारी एवं गोधन न्याय योजना गौठान निर्माण की जानकारी एवं समीक्षा, जिले में ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत, जिला पंचायत में लंबित समस्त प्रकरण की स्थिति एवं की गई कार्यवाही की जानकारी एवं समीक्षा एवं अध्यक्ष की अनुमति से अन्य विषय पर चर्चा की जाएगी। बैठक में सभी सदस्य सामाजिक दूरी का पालन करते हुए उपस्थित रहेंगे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*सोशल मीडिया की गतिविधियों पर निगरानी एवं पर्यवेक्षक के लिए जिला स्तरीय मॉनिटरिंग कमेटी गठित*

बिलासपुर । शासन द्वारा दिये गये निर्देश के परिपेक्ष्य में कलेक्टर द्वारा जिले में सोशल मीडिया की गतिविधियों पर निगरानी एवं पर्यवेक्षण करने हेतु जिला स्तरीय सोशल मीडिया मानिटरिंग कमेटी का गठन किया गया है।
जिला स्तरीय कमेटी के अध्यक्ष जिला पंचायत बिलासपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी होंगे तथा संयुक्त संचालक जनसंपर्क बिलासपुर को कमेटी का सदस्य सचिव नियुक्त किया गया है। कमेटी के अन्य सदस्य अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर), आयुक्त नगर निगम बिलासपुर, अनुविभागीय दण्डाधिकारी बिलासपुर, जिला परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास बिलासपुर तथा जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी बिलासपुर होंगे।
यह कमेटी जिले में सोशल मीडिया की नियमित निगरानी करेगी। समिति के सदस्य सचिव समय-समय पर गतिविधियों की जानकारी जिला दण्डाधिकारी बिलासपुर एवं पुलिस अधीक्षक बिलासपुर को उपलब्ध करायेंगे।

 


*राज्यपाल अनुसूईया का शहर आगमन के लिए कार्यपालिक दंडाधिकारीयो की लगाई गई ड्यूटी*

बिलासपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उईके का 14 नवम्बर 2021 को बिलासपुर आगमन होगा। इस दौरान कानून व्यवस्था की दृष्टि से कार्यपालिक दंडाधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है।
जारी आदेश के अनुसार तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी रमेश कुमार मोर, नायब तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी श्रीमती प्रकृति धु्रव की ड्यूटी एसईसीएल गेस्ट हाउस में लगाई गई है। इसी तरह डिप्टी कलेक्टर एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी  महेश शर्मा, अतिरिक्त तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी श्रीमती रिचा सिंह की ड्यूटी सरस्वती शिशु मंदिर तिलकनगर में लगाई गई है। डिप्टी कलेक्टर एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी श्यामसुंदर दुबे और अतिरिक्त तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी  राजकुमार साहू की ड्यूटी उस्लापुर रेलवे स्टेशन में लगाई गई है। 

 


*यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की लगाई गई ड्यूटी,देखिए mor news*

बिलासपुर । संघ लोक सेवा आयोग, नई दिल्ली द्वारा एनडीए, एन एक्जाम-2, 2021 और सीडीसी परीक्षा 2021, 14 नवम्बर 2021 को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित की जाएगी। आयोग की प्रकिया के अनुरूप 13 नवम्बर 2021 को परीक्षा के पूर्व व्यवस्थाओं एवं परीक्षा दिवस को निष्पक्ष, सुचारू व सहज निर्विघ्न संचालन सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय निरीक्षण अधिकारी के रूप में प्रशासनिक अधिकारी की ड्यूटी लगाई जा रही है।
जारी आदेश के अनुसार संयुक्त कलेक्टर श्रीमती मोनिका वर्मा की ड्यूटी शासकीय बिलासा कन्या स्नातकोत्तर, डिप्टी कलेक्टर मनोज केसरिया की ड्यूटी सीएमडी स्नाताकोत्तर महाविद्यालय, डिप्टी कलेक्टर, उपायुक्त भू अभिलेख  व्ही.सी. चंद्रवंशी की ड्यूटी देवकीनंदन कन्या उ.मा.शाला, डिप्टी कलेक्टर बिलासपुर एवं अनुविभागीय अधिकारी बिल्हा  अमीत कुमार गुप्ता की ड्यूटी कौशलेन्द्र राव विधि महाविधालय एवं डिप्टी कलेक्टर कु. स्मृति तिवारी की ड्यूटी शासकीय जेपी वर्मा स्नातकोत्तर कला एवं वाणिज्य महाविधालय में लगाई गई है। इसी प्रकार डिप्टी कलेक्टर  हरिओम द्विवेदी की ड्यूटी मिशन हा.से. स्कूल एवं डिप्टी कलेक्टर  अजीत पुजारी की ड्यूटी डीपी विप्र विधि महाविधालय में लगाई गई है।

ब्यूरो रिपोर्ट


*पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल छठ पूजा में हुए शामिल,व्रतियों को दी शुभकामनाएं*

बिलासपुर। भाजपा नेता पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने छठी मैया के पूजा महापर्व के अवसर पर छठ घाट पहुॅचकर भगवान सूर्य को अरपा का जल एवं दुध अर्पण कर पूजा अर्चना की। इस मौके पर छठी मईया के व्रतियों के साथ-साथ पूर्वाचल वासियों को बधाई एवं शुभकामनाए दी।
इस मौके पर अग्रवाल ने प्रदेशवासियों के सुख शांति समृद्धि खुशहाली की कामना करते हुए कहा कि बिलासपुर में स्थापित छठ घाट में अब दूर-दूर से भी लोग पहुॅचकर श्रद्धा पूर्वक इस पर्व को मनाते है। कठिन तपस्या का यह पर्व उत्तर भारतीय पूर्वांचलवासियों सहित देश के अनेक राज्यों में इस महापर्व को मनाते आ रहे है। श्री अग्रवाल ने कहा कि इस भव्य आयोजन को सफलता पूर्वक सम्पन्न कराने में सदैव तत्पर छठ पूजा समिति के सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूॅ। इन्होंने वर्षा से इस आयोजन में महत्वपूर्ण जवाबदारी निभाते आ रहे है। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत सहित छठ पूजा समिति के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

ब्यूरो रिपोर्ट

 

 


*राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उइके जिले के प्रवास पर, कार्यक्रम में होंगी शामिल,देखिए mornews*

बिलासपुर । राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके 14 नवम्बर 2021 को बिलासपुर प्रवास पर रहेंगी। दोपहर 2.15 बजे उनका एसईसीएल गेस्ट हाउस में आगमन होगा। शाम 4 बजे से शाम 5.30 बजे तक तिलकनगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होंगी। इसके पश्चात् एसईसीएल गेस्ट हाउस में उनका समय आरक्षित रहेगा। इसके पश्चात् रात्रि में राज्यपाल सुश्री उईके ट्रेन द्वारा अम्बिकापुर के लिए प्रस्थान करेंगी।

 


*कलेक्टर डॉ सारांश मित्तर ने तखतपुर में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया निरीक्षण*

बिलासपुर । कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने आज तखतपुर विकासखण्ड में बनाए जा रहे स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रसूति कक्ष में अव्यवस्था पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए बीएमओ को कारण बताओं सूचना जारी करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का बारीकी से निरीक्षण किया। इस केंद्र के मरम्मत के साथ ही यहां 10 अतिरिक्त बेड की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। कलेक्टर ने वहां दवा वितरण कक्ष, प्रसूति कक्ष, पोस्ट प्रसूति कक्ष, आपातकालीन वार्ड, आॅपरेशन कक्ष एवं अन्य व्यवस्थाओं को बारीकी से देखा। इस दौरान उन्होंने मरीजों को दी जाने वाली सुविधाओं की जानाकारी ली। उन्होंने अस्पताल में मेडिसिन एवं सर्जरी के चिकित्सकों की जानकारी ली। प्रसूति कक्ष में अव्यवस्था एवं साफ-सफाई न होने पर बीएमओ डाॅ. सुनील हंसराज को कारण बताओं सूचना जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रस्तावित निर्माण कार्य के संबंध में भी जानकारी ली एवं अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल का निरीक्षण -

कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर ने आज तखतपुर में निर्माणाधीन स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां की जा रही तैयारियों को देखा। उन्होंने स्कूल बिल्डिंग के उन्नयन, रंगरोगन, पुटटी कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों की भांति सभी सुविधाएं बच्चों को दिया जाना अनिवार्य है ताकि उनका सर्वागींण विकास हो सके। बच्चों को अध्ययन के लिए ऐसा वातावरण दिया जाए जहां वे स्वयं रूचि लेकर अध्ययन करें। हायर सेकेण्डरी की कक्षाओं के लिए अच्छी प्रयोगशाला निर्माण पर भी उन्होंने जोर दिया। पर्याप्त संख्या में कम्प्यूटर उपलब्धता के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने स्कूलों में चल रहे निर्माण कार्यो को पूरी गुणवत्ता के साथ जल्द पूरा करने कहा।
निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीस एस, एस.डी.एम श्री आनंद तिवारी, जिला शिक्षा अधिकारी  एस.के प्रसाद, सहायक संचालक  संदीप चोपड़े सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*संभागायुक्त एवं कलेक्टर ने जिले में चल रहे मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम का किया निरीक्षण*

बिलासपुर। संभागायुक्त डाॅ. संजय अलंग एवं कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने आज जिले के विभिन्न मतदान केन्द्रों में चल रहे मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने यह कार्य पूरी सजगता से करने के निर्देश दिए। मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम का व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार करने भी कहा।
संभागायुक्त डाॅ. अलंग एवं कलेक्टर डाॅ. मित्तर ने सबसे पहले केन मेमोरियल स्कूल में चल रहे मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य का निरीक्षण किया। मतदाताओं के नाम जोड़ने, काटने एवं संशोधन के लिये फार्म 6, 7 एवं 8 की उपलब्धता की जानकारी ली। मतदाता सूची और पूरक मतदाता सूची के बारे में पूछा। उन्होंने बीएलओ की ट्रेनिंग के संबंध में जानकारी ली। 18 वर्ष आयु पूर्ण करने वाले युवाओं का सर्वे करने और मुनादी कराकर मतदाता सूची में उनका नाम जोड़ने के लिये फार्म भराने के निर्देश दिये। उन्हांेने कहा कि युवाओं से आॅनलाईन फार्म भी भराया जाये।
कोटवारों के पास मुनादी पंजी और मुसाफिर पंजी अनिवार्य रूप से संधारित कराने के निर्देश संबंधित तहसीलदार को दिए गए। संभागायुक्त ने कहा कि सूचना तंत्र को मजबूत करने के लिये कोटवार एक महत्वपूर्ण कड़ी है। इसलिये कोटवारों से सतत् संपर्क में रहे, रोटेशन में मुलाकात करें। बीएलओ को निर्देशित किया कि बिना मृत्यु प्रमाण पत्र के किसी भी मतदाता का नाम ना काटें, मतदाता सूची से नाम विलोपन के लिये भी मतदाता को नोटिस दें एवं उनके आवेदन के बाद ही नाम विलोपित करें। संभागायुक्त ने सेफर स्कूल के मतदान केन्द्र में चल रहे कार्य को भी देखा। यहां बीएलओ की सक्रियता देखकर उनकी प्रशंसा की। इसी प्रकार सकरी स्थित बच्चन बाई बाल सुंदर उच्चतर माध्यमिक शाला में चल रहे मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने एसडीएम को निर्दंेश दिए कि मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए। जिससे लोगों को इसकी जानकारी हो सके। नगर निगम की कचरा एकत्रित करने वाली गाड़ी के माध्यम से इस कार्यक्रम का प्रचार प्रसार करवाने के निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान बिलासपुर एसडीएम पुलक भट्टाचार्य, तखतपुर एसडीएम  आनंद तिवारी, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

ब्यूरो रिपोर्ट

 


*जिला नारायणपुर में 212 जवानों का आरक्षक से प्रधान आरक्षक पदोन्नति पूर्व प्रशिक्षण शुरू*

रायपुर/नारायणपुर - जिला पुलिस बल नारायणपुर में 212 जवानों के लिए आरक्षक से प्रधान आरक्षक पदोन्नति पूर्व प्रशिक्षण का शुभारंभ डीआरजी, ग्रेट हॉल में किया गया। उक्त प्रशिक्षण का शुभारंभ आईपीएस श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर के मुख्य अतिथित्व एवं आईपीएस श्री जितेन्द्र शुक्ला, सेनानी, 16वीं वाहिनी छसबल, नारायणपुर की अध्यक्षता में हुआ।

कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि गिरिजा शंकर जायसवाल द्वारा प्रशिक्षण की खासियत बताया गया तथा प्रधान आरक्षक के पदीय दायित्वों की चुनौतियों को रेखांकित करते हुए प्रशिक्षण को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने फिजिकल अभ्यास के फ़ायदे बताते हुए कहा कि पीटी, परेड़ और टीएसटी व्यायाम का सबसे उन्नत और अनुशासनिक स्वरूप है।उन्होंने आगे कहा कि आईपीएस श्री शुक्ला के नेतृत्व में निःसंदेह आप सभी प्रशिक्षण उपरांत एक कुशल विवेचक और कुशल नेतृत्वकर्ता के रूप में उभरेंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी थाना क्षेत्रान्तर्गत "ज़ीरो क्राइम की लक्ष्य" तभी प्राप्त की जा सकती है जब आप बीट प्रबंधन में दक्ष हों। श्री जायसवाल ने जवानों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि "अनुशासन अच्छी जीवन शैली की मूल आधारशिला है।अतः न सिर्फ़ विभागीय अनुसाशन वरन व्यक्तिगत अनुशासन को भी सदैव अपने आचरण में शामिल करें।

आरक्षक से प्रधान आरक्षक पदोन्नति पूर्व प्रशिक्षण की शुरुआत करते हुए सर्वप्रथम आईपीएस  जितेंद्र शुक्ला ने प्रशिक्षु जवानों को अपनी शुभकामनाएं दी। शुभकामना के बाद उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान गुणवत्तापूर्ण अनुशासन की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि इस प्रशिक्षण में आप सबकी एकमात्र जिम्मेदारी बेहतर अनुशासन बनाये रखना है। आपके प्रशिक्षण टीम में बेहतरीन प्रशिक्षकों को नियुक्त किया गया है ताकि सेवा के दौरान आपको किसी भी स्थिति में दूसरों के ज्ञान और अनुभव पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा। श्री शुक्ला ने कहा कि प्रभारी अधिकारी के बाद प्रधान आरक्षकों की जिम्मेदारी पुलिस विभाग में उल्लेखनीय होती है; विभाग के लगभग 65% आरक्षकों की वेलफेयर, बेहतरी और अनुशासन आपके ऊपर निर्भर करती है और आपकी यही उल्लेखनीय योगदान समाज में पुलिस विभाग की छवि को सुधारने के लिए कारगर साबित होता है। मैं आप सबको विश्वास दिलाता हूँ कि यह प्रशिक्षण आपके लिए अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगा क्योंकि हमारे टीम के प्रशिक्षक आपको बेस्ट देने वाले हैं अतः आप इनके हर सीख को अपने स्किल्स में शामिल रखें।

उक्त कार्यक्रम की शुभारंभ के दौरान आईपीएस अक्षय कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  नीरज चंद्राकर, डिप्टी कमांडेंट  खोमेंद्र सिन्हा, उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकुर, सहायक सेनानी बी आर भगत, रक्षित निरीक्षक  दीपक साव, कंपनी कमांडर  महेंद्र नागवंशी और प्रशिक्षण टीम के अधिकारी/कर्मचारी सहित प्रशिक्षु जवान उपस्थित रहे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


गहवंई कुर्मी समाज के केंद्रीय अध्यक्ष बने - उत्तरा

गहवंई कुर्मी समाज के केंद्रीय अध्यक्ष बने - उत्तरा

पथरिया- छत्तीसगढ़ गहवंई कुर्मी क्षत्रिय समाज के केंद्रीय अध्यक्ष के चुनाव में उतरा कुमार वर्मा 340 मतों से जीत दर्ज की । सोमवार को ग्राम देवरी में वोटों की गिनती की गई इस दौरान उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी भरत लाल वर्मा को हराया । केंद्रीय अध्यक्ष के चुनाव में तीन प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे थे। जिसमे दुर्ग रायपुर और बिलासपुर राज को मिलाकर कुल 8000 मतदाताओं में से 6024 सदस्यों ने मतदान किया इनमें से 124 मत निरस्त हुए कुल वैध मतों की संख्या 5900 रही जिसमें उत्तर कुमार वर्मा को 2667 भरत लाल वर्मा को 2327 लेख राम वर्मा को 906 वोट मिले।
छत्तीसगढ़ का गहवंई कुर्मी क्षत्रिय समाज के केंद्रीय अध्यक्ष के चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से रविवार को हुआ जहां 107 गांव के सामाजिक लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया चुनाव के लिए 100 मतदान केंद्र बनाए गए थे समाज के नवनिर्वाचित अध्यक्ष उत्तर कुमार वर्मा ने कहा कि यह जीत मेरा व्यक्तिगत जीत नहीं बल्कि पूरे गहवंई कुर्मी समाज की जीत है। समाज के नियमों में बड़े बदलाव की जरूरत है। आगे भी बहुत बड़ी चुनौती है उन्होंने कहा कि सामाजिक उत्थान ही उनकी पहली प्राथमिकता है। समाज के लोगों को मुख्यधारा में जोड़कर उनके अंदर सामाजिक भावना जगाना पड़ेगा। समाज के केंद्रीय युवा संगठन के उपाध्यक्ष अमित वर्मा ने बताया कि इस दौरान नवनिर्वाचित अध्यक्ष उतरा वर्मा को समाज के लोगों ने मिलकर बधाई दी। जिसमें वरिष्ठ सलाहकार देवचरण वर्मा, खुमान वर्मा, सुरेश वर्मा, राम नारायण वर्मा, रामचंद्र वर्मा, संजू वर्मा, नंदू वर्मा, युगल किशोर वर्मा, पवन वर्मा, नोखे वर्मा, मोहनलाल वर्मा, भैया राम वर्मा,अशोक कौशिक, सहित समाज के वरिष्ठ जन शामिल हुए। 


शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैमा की तीन बच्चियों के जिला पंचायत सभापति ने किया सम्मान,कहा बच्चियों ने बढ़ाया मान*

बिलासपुर । ग्राम पंचायत बैमा स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की तीन छात्राओं को राज्य में बिलासपुर का नाम रोशन करने पर सम्मानित किया गया। जिला पंचायत सभााापप अंकित गौरहा ने बैमा में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत किया। अपने संबोधन में उन्होने कहा की तीनों छात्राओं ने राज्यस्तर पर बिलासपुर की ताकत का परिचय दिया है। हमें पूरा विश्वास है कि यह सिलसिला अखिल भारतीय स्तर तक जारी रहेगा। बैमा स्थित शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान बतौर अतिथि जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने प्रदेश की ताकतवर और ऊर्जावान बैमा की तीन छात्राओं को सम्मानित किया। बताते चलें कि बैमा स्कूल में पढ़ने वाली तीनो छात्राओं ने राज्य स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता में रिकार्ड वजन उठाकर पदक हासिल किया है।  अपने संबोधन में जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने कहा कि बच्चियों ने हमेशा देश और समाज का नाम बुलन्द किया है। तीनो बेटियों ने राज्यस्तरीय प्रतियोगिता में शिरकत कर प्रदेश में बिलासपुर जिले की दृढ़़ता और शक्ति का परिचय दिया है। आज तीनों छात्राओं को सम्मानित करने पर खुशी महसूस कर रहा हूं।  इस दौरान मुख्य अतिथि गौरहा ने वेटलिफ्टिंग में पदक जीतने वाली नम्रता ध्रुव, ठानिका कैवर्त और मानसी अंगारे को बधाई दी। उन्होने कहा कि तीनो बेटियों ने वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता के प्रदेश को बिलासपुर जिले की ताकत का परिचय कराया है। आज पूरा जिला अपनी बच्चियों की उपलब्धि पर गर्व महसूस कर रहा हैं। सम्मान कार्यक्रम में सरपंच प्रतिनिधि दीपक नायक,उपसरपंच संजय पांडेय,अशोक शास्त्री,शाला विकास समिति के अध्यक्ष सचिन धीवर,कमल सिंह ठाकुर,सुरेश लास्कर,प्राचार्य के.के. तिवारी,ईश्वर तिवारी,रितेश शुक्ला,मनोज कुमार साहू,उमेश यादव,गिरजाशंकर खांडे,रंजना दुबे, दीपशिखा चौबे,रीना शर्मा,निशि गुप्ता,उपासना बक्शी,मोरध्वज क्षत्रिय,अलका शुक्ला,नीलिमा शर्मा,उमा लास्कर,भूमिका श्रीवास,प्रकाश साहू, कंचन अनंत,अयोध्या माहेश्वरी,आलोक शास्त्री समेत गांव के गणमान्य लोग विशेष रूप से मौजूद थे। 


*पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए15 नवम्बर तक किया जा सकता है आवेदन*

बिलासपुर। भारत सरकार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, नई दिल्ली के नवीन गाईड लाईन अनुसार पोस्ट मैट्रिक (कालेज स्तर) तक के विद्यार्थियों के प्रस्तावों एवं स्वीकृति का वेरिफिकेशन कर 20 नवम्बर 2021 तक भुगतान हेतु भेजने के निर्देश दिए गए है।
शिक्षा सत्र 2021-22 हेतु आॅनलाईन पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति कक्षा 12 वीं से उच्चतर के पंजीयन, स्वीकृति एवं वितरण की कार्यवाही http://postmatric-scholarship.cg.nic.in/ वेबसाईट पर आॅनलाईन किया जाना है।
जिले में संचालित समस्त शासकीय एवं अशासकीय महाविद्यालय, विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग कालेज, मेडिकल कालेज, नर्सिंग कालेज, आईटीआई एवं पाॅलीटेक्निक आदि के प्राचार्य एवं संस्था प्रमुख, छात्रवृत्ति प्रभारी एवं उनमें अध्ययनरत अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों, जो विभाग द्वारा संचालित पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति की पात्रता रखते है 15 नवम्बर तक 2021 तक अनिवार्य रूप से आॅनलाईन आवेदन, प्रस्ताव एवं स्वीकृति आदेश लाॅक कर, कार्यालय सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास बिलासपुर को जमा करें।
निर्धारित तिथि तक कार्यवाही पूर्ण नहीं करने पर यदि संबंधित संस्थाओं के विद्यार्थी छात्रवृत्ति से वंचित रह जाते हैं तो इसके लिए संस्था प्रमुख स्वतः जिम्मेदार होंगे।

 


*सालसा द्वारा कानूनी जागरूकता पर आधारित शार्ट फ़िल्म फेस्टिवल का आयोजन*

बिलासपुर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) के निर्देशानुसार पूरे देश में आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत अखिल भारतीय जागरूकता एवं आउटरीच अभियान 02 अक्टूबर से दिनांक 14 नवम्बर, 2021 तक 45 दिवसीय अभियान चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत न्यायमूर्ति अरूप कुमार गोस्वामी, मुख्य न्यायाधीश, छ.ग. उच्च न्यायालय एवं मुख्य संरक्षक, छ.ग. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश एवं न्यायूर्ति गौतम भादुड़ी, न्यायाधीश, छ.ग. उच्च न्यायालय एवं कार्यपालक अध्यक्ष, छ.ग. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशा-निर्देश पर छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर एवं जीपीआरएसएस के तकनीकी सहयोग एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायपुर के साथ पं. दीनदयाल उपाध्याय आॅडिटोरियम, रायपुर में कानूनी जागरूकता पर आधारित- शार्ट फिल्म फैस्टिवल, प्रतियोगिता एवं समारोह का आयोजन 09 से 12 नवम्बर 2021 तक किया जा रहा है।
उपरोक्त शार्ट फिल्म फैस्टिवल का शुभारंभ दिनांक 09 नवंबर 2021 को वर्चुअल मोड के द्वारा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश. एन.व्ही. रमना, राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) एवं उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति यू.यू.ललित, केन्द्रीय विधि मंत्री किरण,. रिजजू एवं अन्य अतिथियों की उपस्थिति में नालसा एवं उ.प्र.राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा विधिक सेवा दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान किया गया, उक्त शुभारंभ समारोह से छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, कार्यपालक अध्यक्ष एवं अन्य न्यायाधीशों की गरिमामयी आतिथ्य में विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया, उक्त समारोह में छत्तीसगढ़ के समस्त 23 सिविल जिलों, तालुकाओं को जोड़ा गया था।
उपरोक्त समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं यूनिसेफ द्वारा बच्चों के मानसिक विकास पर तैयार की गई पुस्तिका उमंग का विमोचन किया गया। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए भारत के मुख्य न्यायाधीश एन.व्ही. रमना ने कहा कि फिल्म फैस्टिवल का आयोजन एक सराहनीय प्रयास है, उनके द्वारा पुस्तिका उमंग विमोचित की गई।
नालसा के कार्यपालक अध्यक्ष श्री न्यायमूर्ति यू.यू. ललित ने अपने सम्बोधन में 02 अक्टूबर से 14 नवम्बर 2021 तक आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत की गई गतिविधियों की चर्चा करते हुए जानकारी दी गई।
कार्यक्रम में उपस्थित केन्द्रीय विधि मंत्री श्री किरण जिजयू ने अपने सम्बोधन में कहा कि नालसा माननीय न्यायाधीशों के मार्गदर्शन में बहुत अच्छा कार्य कर रही है। देश के कोने कोने एवं गांव गांव तक पहुंचकर लोगों को जागरूक करना तथा वंचित लोगों को उनके अधिकार का लाभ दिलाना महत्वपूर्ण है।
छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति श्री अरूप कुमार गोस्वामी ने अपने सम्बोधन में फिल्म फैस्टिवल में शामिल की गई विषयों के संबंध में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर यूनिसेफ के माध्यम से तैयार की गई पुस्तिका उमंग का भी विमोचन किया जा रहा है।
यह कार्यक्रम रायपुर में पं. दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में दर्शकों की भौतिक उपस्थिति में आयोजित किया गया था, जहां शुभारंभ समारोह का वर्चुअल मोड से प्रसारण किया गया। आॅडिटोरियम में कार्यक्रम को श्री अरविंद कुमार वर्मा, जिला न्यायाधीश, अध्यक्ष, जि.वि.से.प्रा. रायपुर के द्वारा भी सम्बोधित किया गया।
जीपीआरएसएस के तकनीकी सहयोग से इस फिल्म समारोह में प्रदर्शित फिल्मों को देखने के लिए दर्शकों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। जिसको को कोरोना गाईड का पालन करते हुए देखने की व्यवस्था की गई है।
छत्तीसगढ उच्च न्यायालयय के कांफ्रेंस हाॅल में आयोजित इस कार्यक्रम में छ.ग.राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष श्री न्यायमूर्ति गौतम भादुड़ी, न्यायमूर्ति संजय के. अग्रवाल, श्री न्यायमूर्ति पी.सैम कोशी, श्री न्यायमूर्ति संजय एस.अग्रवाल, अध्यक्ष उ.न्या.वि.से.स.,श्री न्यायमूर्ति आरसीएस सांमत, श्री न्यायमूर्ति पी.पी. साहू, श्री न्यायमूर्ति गौतम चैरड़िया, श्रीमती न्यायमूर्ति विमला सिंह कपूर, श्रीमती न्यायमूर्ति रजनी दुबे, श्री न्यायमूर्ति नरेन्द्र कुमार व्यास, श्री न्यायमूर्ति नरेशकुमार चन्द्रवंशी, श्री न्यायमूर्ति दीपक कुमार तिवारी, श्री सतीश चन्द्र वर्मा, महाधिवक्ता, श्री संजय जायसवाल रजिस्ट्रार जनरल, एवं रजिस्ट्री के अधिकारी, श्री के.एल. चरयाणी निदेशक राज्य न्यायिक ऐकेडमी तथा ऐकेडमी के अधिकारीगण, उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अब्दुल वहाब खान, सचिव अरविंद दुबे, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव सिद्धार्थ अग्रवाल, अवर सचिव श्री द्विजेन्द्रनार्थ ठाकुर उपस्थित थे। कार्यक्रम को सभी 23 सिविल जिला एवं तालुकाओं में वर्चुअल मोड पर देखा गया।

ब्यूरो रिपोर्ट 


*कमिश्नर डॉ संजय अलंग करेंगे मतदान केंद्रों का निरीक्षण*

बिलासपुर। संभागायुक्त डाॅ. संजय अलंग 11 नवम्बर 2021 को बिलासपुर एवं मुंगेली जिले के मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे।