*कोरोना की जांच अब कोरबा में भी उपलब्ध*

 निर्मल जैन ब्यूरो चीफ मोर न्यूज़

Big breaking
 कोरबा।Big breaking
सरकार की बड़ी पहल अब कोरबा में ही हो सकेंगे कोरोना की जांच हेल्थ  निहारिका बारिक से मिले 2000 टेस्ट किट अब हर रोज 20 से 30 टेस्ट कोरबा में ही संभव सर्दी खांसी के मरीजों का लिया जाएगा सैंपल ।

*कोरबा,एक पॉजिटिव मरीज मिलने से प्रशासन में अडकंम्प पूरे शहर में लॉकडाउन,अधिकारियों की लगी ड्यूटी*

कोरबा:- जिले के कटघोरा में दूसरा कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद पूरा प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया है। देर रात पुरानी बस्ती से एक सख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव बताई जा रही है, जिसे संजीवनी 108 की मदद से बीती रात ही रायपुर एम्स भेजा गया है। बताया जा रहा है कि ये शख्स पहले मिले कोरोना संक्रमित नाबालिग जमाती के संपर्क में रहा होगा। इस वजह से संक्रमण का शिकार हो गया।कोरोना वायरस का यह दूसरा मामला सामने आते ही प्रशासन ने समूचे शहर को लॉकडाउन कर दिया है। अभी तक लॉकडाउन में आवश्यक सेवाएं जैसे किराना, फल, सब्जी, डेयरी खुलने से लोगों को राहत मिल रही थी लेकिन अब ये सभी सेवाएं पूरी तरह से आगामी आदेश तक बन्द रहेगी। इनमे पेट्रोल पंप और मेडिकल संस्थान भी शामिल हैं।

जिला कलेक्टर के निर्देश पर शहर में अब पूर्ण कर्फ्यू लागू है। पुलिस की गश्त तेज हो गई है। गली मोहल्लों, चौक-चौराहों व मुख्यमार्ग पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी। इस दौरान अगर कोई भी शख्स बिना किसी ठोस वजह के घर से बाहर घूमता पाया गया तो उस पर सीधे कानून के तहत दंडात्मक कार्यवाही की जा सकती है। 

"जरूरी सेवा प्राप्त करने के लिए इन अधिकारियों से संपर्क कर सकते है,देखिए लिस्ट;

ब्यूरो रिपोर्ट


*तब्लीगी जमात से आए 16 जमातियों के खिलाफ अपराध दर्ज,देखिए रिपोर्ट

कोरबा:-कटघोरा के पुरानी बस्ती स्थित मस्जिद में आकर ठहरे 16 जमातियों के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है। इनमें से एक 16 वर्षीय जमाती का कोरोना पॉजिटिव आया है। तब्लीगी जमात के 50 लोग कोरबा में होम आइसोलेशन में हैं , इनकी भी रिपोर्ट अभी आनी शेष है। रामसागर पारा में एक संक्रमित युवक मिलने के बाद से प्रशासन पहले ही सतर्क है। जमाती का पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने पर प्रशासन अब और अधिक सतर्क हो गया है।
इस संबंध में एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि जमातियों ने अपनी जानकारी छिपा कर अन्य लोगों के स्वास्थ्य व जान को खतरे में डाला है। इन्होंने ने जांच के दौरान भी स्वास्थ्य विभाग को सहयोग नहीं किया। लिहाजा, उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया है। इनके पक्ष में बयान देकर जानकारी छिपाने व सहयोग करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*कोरोना पर जिला पुलिस सख्त,;आवश्यक दिशा-निर्देश जारी*

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000727330

कोरबा:- जिला पुलिस द्वारा आज जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोरोना के मद्देनजर, होम क्वेरेंटाइन और हॉस्पिटल- आइसोलेशन पर रखे गए ऐसे व्यक्ति जो कि पुलिस और प्रशासन के दिये गए निर्देश और क्वेरेंटाइन के नियमों का उल्लंघन करते पाए गए तो उन सभी पर होगी FIR, 
 
-विदेश या संक्रमित राज्य और प्रदेश से आये हुए प्रत्येक व्यक़्क्तियों को अपनी जानकारी के साथ साथ उनके संपर्क में आये प्रत्येक व्यक़्क्तियों की जानकारी भी स्वतः देनी होगी। जानकारी छुपाकर रखने पर FIR की जाएगी।
 
-क्वेरेंटाइन रहते हुए कोई व्यक्ति अपने घर के अंदर अन्य व्यक्तियों जिसमें, कपड़े धोने-प्रेस करने वाला, बाल काटने वाला, अन्य कोई नौकर आदि का सेवा दिए गए निर्देशों का उल्लंघन करते हुए लेता है तो भी उस पर FIR होगी।
 
-01 मार्च 2020 के बाद विदेश से आये हुए सभी व्यक्तियों का होगी सैंपल जांच। 
 
                 जिला पुलिस कोरबा की आम जनता से अपील की गई ६ै कि विदेश और संक्रमित शहर, राज्य से आये हुए सभी नागरिक स्वस्फूर्त अपनी जानकारी प्रदान करें। पड़ोसी भी ऐसे व्यक्तियों की जानकारी को पुलिस और प्रशासन को बिना देरी किये तत्काल बताये ताकि उन पर समुचित कार्यवाही किया जा सके।
                    मानव जीवन की सुरक्षा और आम नागरिकों को भय मुक्त वातावरण प्रदान करने हेतु कोरबा पुलिस द्वारा धारा 144 के उल्लंघन करते पाए जाने वाले पर सख्ती से कार्यवाही किया जा रहा है साथ ही आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं से संबंधित निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर भी कोरबा पुलिस द्वारा कार्यवाही की जा रही है ।
 
ब्यूरो रिपोर्ट

निजामुद्दीन के मरकज में शामिल हुए बीस लोग कोरबा में आइसोलेशन में गेवरा के सीईआई हास्टल में किया गया क्वारेंटाईन, जांच के लिए भेजे गये सभी के सेम्पल कलेक्टर श्रीमती कौशल ने एसपी के साथ किया गेवरा हास्टल का निरीक्षण, व्यवस्थाएं देखीं

 कोरबा / दिल्ली की निजामुद्दीन में हुए मुस्लिम धर्मावलंबियों के मरकज में शामिल हुए 20 लोगों को जिला प्रशासन ने कोरबा में टेªस कर लिया है। इनमें से पंद्रह लोग राताखार की अंजुमन इस्लाहुल मुस्लमीन मस्जिद में रूके हुए थे जबकि पांच लोगों को कोरबा शहर में अलग-अलग जगहों से चिन्हांकित किया गया है। सभी 20 लोगों को आज गेवरा के सीईआई हास्टल में आइसोलेशन में रखा गया है। आज स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन सभी 20 लोगों के स्वाब सेम्पल कोरोना जांच के लिए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर भेज दिये हैं। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने एसपी श्री अभिषेक मीणा के साथ गेवरा हास्टल का आज दोपहर निरीक्षण किया। कलेक्टर ने यहां रूके सभी लोगों को कमरों से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी। इन लोगों को कमरों में ही सभी व्यवस्थाएं जिला प्रशासन द्वारा मुहैया करा दी गई हैं। सुरक्षा के भी पर्याप्त इंतजाम किये गये हैं। पुलिस कर्मियों का पहरा गेवरा हास्टल में लगाया गया है, साथ ही मेडिकल टीम भी तैनात की गई है। आइसोलेट किये गये लोगों को भोजन, पानी के लिए भी पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा कर दी गई है। 

     निजामुद्दीन के मरकज में शामिल होकर आये राताखार मस्जिद में रूके हुए सभी 15 लोग दिल्ली या उसके आसपास के क्षेत्रों के हैं जबकि अन्य पांच लोग मरकज में शामिल होने कोरबा से निजामुद्दीन गये थे। कोरोना वायरस के संक्रमण और उसके फैलाव की आशंका को लेकर इन सभी लोगों को आइसोलेट कर लिया गया है। मरकज में शामिल हुए तबलीगी जमात के इन सभी 20 लोगों के स्वास्थ्य पर विशेष नजर रखी जा रही है। इन्हें सावधानी स्वरूप सेनेटाईजर और मास्क आदि भी जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध करा दिये गये हैं। साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने, लाक डाउन के दौरान निर्धारित जगहों से बाहर नहीं निकलने और शासन द्वारा समय-समय पर जारी किये गये दिशा निर्देशों की पूरी जानकारी भी इन्हें दी गई है। इन सभी लोगों को यह भी हिदायत दी गई है कि वे आईसोलेशन की अवधि में पूरी तरह से अलग रहें। रहने की निर्धारित जगहों से बाहर न निकलें, भीड-भाड़ वाले इलाकों में न जायें। इसके साथ ही सर्दी, खांसी, बुखार या श्वास लेने में तकलीफ जेैसी कोई भी परेशानी होने पर तत्काल शासन प्रशासन के प्रतिनिधियों को सूचित करें।
      जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अभी सभी लोग स्वस्थ्य हैं। किसी को भी कोरोना के प्रारंभिक लक्षणों संबंधी कोई तकलीफ नहीं है। सावधानी बरतते हुए गहन अवलोकन में इन लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है। मेडिकल टीम द्वारा जांच लगातार की जा रही 
 
    
      कोरबा में आईसोलेट हुए मरकज में शामिल होने वाले इन लोगों में मुस्तफा बाग दिल्ली के छः, नेहरू बिहार दिल्ली के दो, गाजियाबाद के तीन और सुंदरनगरी दिल्ली, नागलोई दिल्ली, पुरानी दिल्ली तथा बेगुसराय बिहार का एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। आईसोलेट हुए इन लोगों में से एक ने बताया कि वे 12 मार्च को रात 10 बजे से 13 मार्च को दोपहर दो बजे तक निजामुद्दीन में हुई तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए थे। उन्होंने यह भी बताया कि मुस्लिम धर्म की मानव कल्याण से जुड़ी बातों और सीखों के प्रचार-प्रसार के लिए वे लोग कोरबा आये हैं। यह सभी लोग दिल्ली से नागपुर, बिलासपुर होते हुए 15 मार्च को कोरबा पहुंचें हैं और तभी से राताखार की मस्जिद में रूके थे।
कटघोरा की दो मस्जिदों में 25 फरवरी और दो मार्च को आए 30 अन्य जमाती भी प्रशासन की निगरानी में - कटघोरा के पूछापारा की मक्का मस्जिद और पुरानी बस्ती की जामा मस्जिद में भी 30 मुस्लिम धर्मावलंबियों की पहचान प्रशासन ने की है। इनमें से मक्का मस्जिद पूछापारा में 14 लोग रूके हैं जोकि पिछली 25 फरवरी को कटघोरा पहुंचें हैं। इसी तरह ं कामठी महाराष्ट्र से 16 लोग दो मार्च को पुरानी बस्ती की जामा मस्जिद कटघोरा पहुंचें हैं। मक्का मस्जिद में रूके 14 लोगों में से 13 मुस्तफाबाद दिल्ली के रहवासी हैं जबकि एक झारखंड के गढ़वा जिले के मखातू का निवासी है। लगभग एक माह से अधिक समय पहले आये इन लोगों को भी प्रशासन ने एतिहातन मस्जिदों में ही आइसोलेशन में रखा है। जिला प्रशासन की मेडिकल टीम ने 29 मार्च को इनका स्वास्थ्य परीक्षण किया है और यह सभी लोग पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं। इसी तरह कटघोरा की जामा मस्जिद में कामठी महाराष्ट्र के 16 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण दो बार 24 एवं 26 मार्च को मेडिकल टीम द्वारा किया जा चुका है। जिला प्रशासन द्वारा इन सभी लोगों पर कड़ी निगाह रखी जा रही है। सभी को मस्जिद से बाहर नहीं निकलने, भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर नहीं जाने और मस्जिद में रहने के दौरान आपस में एक-एक मीटर की दूरी बनाये रखने की हिदायत भी दी गई है। सभी लोगों को सर्दी, खांसी, बुखार जैसी परेशानी होने पर तत्काल कटघोरा के स्वास्थ्य केंद्र और जिला प्रशासन को सूचित करने के निर्देश दिये गये हैं।

*स्वंय के नियत्रण पर घर में रहना हो कोरोना की समस्या का समाधान -राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल*

 *स्वंय के नियत्रण पर घर में रहना हो कोरोना की समस्या का समाधान              -राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल*

 
*निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,मोर न्यूज*7000727330
 
 कोरबा।करोना की समस्या का कोई जादुई समाधान नहीं है। इस समस्या का एक बड़ा समाधान है मन की शक्ति, मन पर विजय पाना, यथार्थ काम, लोभ, क्रोध, अहंकार जैसे शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर शुद्ध मन से स्वयं पर नियंत्रण रखते हुए घर में बने रहना ही इस बड़ी समस्या का एक छोटा सा कारगर उपाय है।
          यह कहना है छत्तीसगढ़ प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल जी का। उन्होंने कहा है कि पहले भी भारत ने अनेकों बार महामारी से अपने मानसिक बल से जीता है और आज एक बार फिर परीक्षा की घड़ी है इस संकट के समय पर मैं आपके साथ हूं। कोरबा वासियों के हर उस व्यक्ति के साथ हूं जिसे इस संकट की घड़ी में कोई परेशानी आ रही है आप इन 98271-15975, 99930-00585, 77730-14771 नंबरों के माध्यम से मुझे सूचना भेज सकते हैं। मैं आपके समस्या के निदान के लिए हर संभव प्रयास करूंगा। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने समस्त नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि संकट की इस घड़ी में आपका संयम ही शासन प्रशासन का हौसला अफजाई करेगा और अंत में जीत आप सब की होगी।
          आप अपने अपने घरों में सुरक्षित है कुछ ही दिनों की बात है इस दरमियान आप सावधानी बरते हैं और हाथों को समय-समय पर साबुन से अच्छी तरह से धोते रहें। गरम गुनगुने पानी का सेवन करें गुनगुने पानी के साथ नमक का दिन में दो बार गरारा करें। हरी सब्जी व फल खाने से कुछ दिन बचे घर के अंदर व घर के बाहर सफाई रखें तथा एसी, कुलर ना चलाएं ना किसी के घर जाएं और ना ही किसी को घर आने दे।
          अति आवश्यक होने पर जैसे गैस रिफलिंग, राशन सामग्री और जरूरी दवाइयां लेनी हो तो ही घर से बाहर निकले। बाहर जाने पर मुंह व नाक, कान को ढक कर रखें। सैनिटाइजर उपलब्ध हो तो प्रयोग करें। किसी प्रकार की दहशत में रहने के बजाय सावधानी बरतें और संयम से रहें निश्चित ही भारत में जीत आपकी होगी कोरोना की नहीं।

*राजस्व मंत्री की पहल पर हीरो मोटोकॉर्प ने कोरबा पुलिस को दिलाई 50 दुपहिया वाहन*

(निर्मल जैन ब्यूरो चीफ कोरबा जिला 7000 72 73 30)

कोरबा :-राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल की पहल और मेसर्स शांति हीरो के प्रयासों से हीरो मोटोकार्प लिमिटेड के सौजन्य से कोरबा जिला पुलिस बल को 25 मोटर सायकिलें और 25 स्कूटर उपलब्ध कराए गये। इस अवसर पर राजस्व मंत्री ने कहा कि समूचे विश्व के साथ ही हमारे देश और प्रदेश में कोरोना संक्रमण कोविड-19 नामक महामारी को नियंत्रित करने के लिए कोरबा जिला प्रशासन के साथ मिलकर पुलिस के जवान अनवरत रूप में कानून व्यवस्था को संभालने के लिए चैबीसों घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं। ऐसी विषम परिस्थितियों में पुलिस बल को निरंतर भाग दौड़ करने की आवश्यकता पड़ रही है। मंत्री जयसिंग अग्रवाल ने विश्वास व्यक्त किया है कि वर्तमान समय की जरूरतों के हिसाब से पुलिस बल को प्रदान की गई 50 नग मोटर सायकिले उनके कर्तव्य निर्वहन में बहुत सहायक सिद्ध हो सकेगी। सुरक्षा और आम नागरिकों की सहायता के नजरिए से सभी वाहनों को पूर्णतः सुसज्जित कराया गया है जिसमें फ्लैसर लाईट, पुलिस सायरन और महिला हेल्प लाईन और सुरक्षा टीम के नम्बर दिए गए हैं। सभी वाहनों के साथ दो-दो हेलमेट भी प्रदान किए गए हैं।
राजस्व मंत्री की संवेदनशीलता और शांति हीरो के प्रयासों और हीरो मोटोकार्प लिमिटेड के सहयोग के लिए पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने आभार जताया है।
 
ब्यूरो रिपोर्ट

*कोरोना संक्रमण ; निवारक उपाय से समस्या क्म होगी*

 कोरबा। विचारक मो रफीक मेमन ,कर सलाहकार, को२बा नुसार   -19 करोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति जितने लोगों के संपर्क में आएगा यह वायरस सब को अपनी चपेट में लेता हुआ फैलता जाएगा |  भारत देश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी दिनांक 25.03.2020 से 14.04.2020 (21 दिन) तक लॉक डाउन है |  21 दिन तक लॉक डाउन करने का मुख्य उद्देश्य यह है| :- (1) लोगों से अलग रहना(Social Distancing) जिससे कोविड-19 करोना वायरस के फैलने के चक्र को तोड़ा जाए |(2) उन व्यक्तियों की पहचान करके अलग रखना (Quarantine) जो बाहर से आए हैं या जिनके ऊपर शंका जाहिर की गई है  ताकि 2 से 14 दिन के भीतर  यह पता चल सके कि व्यक्ति में  संक्रमण के लक्षण तो नहीं है | (3) उन व्यक्तियों को अलग रखना (Isolation)जो संक्रमित है  एवं पूर्ण व्यवस्था अनुसार  उनका इलाज करना है|  लॉक डाउन के पहले दिन से 18 दिन के भीतर सभी संक्रमित व्यक्ति की पहचान हो गई (और हमने उसे अलग कर लिया) तो हम काफी हद तक सफलता हासिल कर सकते हैं 18 दिन के पश्चात क्वॉरेंटाइन (जिन्हें शक के आधार पर अलग रखा गया है) को छोड़कर अन्य नए संक्रमित व्यक्ति के मामले नहीं आना चाहिए अगर हम इसमें सफलता हासिल कर लेते हैं तो डॉक्टर की सलाह अनुसार छत्तीसगढ़ सरकार घर-घर जाकर प्राथमिक चेकअप के बाद राज्य में जिला अनुसार उल्टे हाथ की हथेली के पीछे सबको ऐसी स्याही से सील लगाएं जो चार माह तक ना निकले जिससे आने वाले दिनों में 14.04.20201 तक स्वस्थ व्यक्ति की पहचान हो सकें|।

ब्यूरो रिपोर्ट


*कोरबा के रानी धनराजदेवी कुंवर प्राथमिक अस्पताल में मरीज के प्रति संवेदना नही,कोरोना के डर से डाक्टर द्वारा कमरे की चौखट पर सामान्य मरीज से चर्चा बाद पर्चा दे बिदाई*

 *कोरबा के रानी धनराजदेवी कुंवर प्राथमिक अस्पताल में मरीज के प्रति संवेदना नही*

 
*करोना के डर से डाक्टर द्वारा कमरे की चौखट पर सामान्य मरीज से  चर्चा बाद  पर्चा दे बिदाई*
निर्मल जैन,कोरबा ब्यूरो चीफ 7000 727330
कोरबा शहर के मध्य स्थित प्राथमिक  स्वास्थ्य केन्द्र रानी घनराज देवी कुंवर चिकित्साल्य में सामान्य सर्दी,जुकाम,बुखार,उल्टी से संबधित मरीजो को प्रतिदिवस 4 नम्बर कमरे में चौखट समीप छुतहा समझ  खड़े कर ही बातों को फटाफट सुनकर जल्दी से पर्चा ऐसे थमाया जा २हा है मानो वह *कोरोना* का ही मरीज आ गया हो,भले ही उसे सामान्य घटना बता कर  दवाई ले कर जाने की हिदायत दी जा २ही है।
 
मरीज के मन में उठ २हे सवालों का जवाब संवेदना के साथ भी देना मुनासिब नही समझा जा २हा है।
ज्ञातव्य हो कि जंहा एक और करोना के मद्देनजर डाक्टरी सेवा को ईश्वरीय तुल्य माना गया है,वंही कतिपय डाक्टर अपनी  सीट पर न रहने और इन्तजार करते अनेक मरीजों में से एक के द्वारा उन्हे बुलाकर इलाज बाबत निवेदन से नाराज होकर ऐसा किया जाना कंहा तक उचित है?
जिला प्रशासन को ऐसी व्यवस्था पर ध्यान दिया जाकर मरीजों की सेवा सर्वोपरि होने संदेश देकर समुचित व्यवस्था करायी जानी चाहिये।

*बीपीएल राशनकार्डघारी को 2माह का राशन;छुट्टी सोमवार को भी मिलेगा राशन*

 (निर्मल जैन,ब्यूरो कोरबा)

कोरबा:- जिले के दो लाख 39 हजार बीपीएल कार्ड धारकों को एक साथ मिलेगा दो महीने का चावल
नहीं देनी होगी कोई राषि, सोमवार को भी खुलेगी राषन दुकान, छुट्टी स्थगित
कोरबा 29 मार्च 2020/कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को खाने-पीने की कमीं न हो इसके लिये राज्य सरकार ने व्यापक प्रबंध पहले ही सुनिष्चित कर लिये हैं। कोरबा जिले में दो लाख 39 हजार 029 बीपीएल राषन कार्ड धारकों को अप्रैल एवं मई माह का चावल एक साथ उपलब्ध कराया जायेगा। इस दौरान पूर्व में निर्धारित एक रूपये किलो चावल की दर मंे भी छूट दे दी गई है। सभी बीपीएल कार्डधारकों को दो महीने का चावल निःषुल्क मिलेगा। कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल ने सभी शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में दोनों महीनों का राषन तत्काल भण्डारित करने के निर्देष जारी किये हैं। जिले की लगभग 80 प्रतिषत दुकानों में राषन का भण्डारण भी सुनिष्चित कर लिया गया है। शासकीय उचित मूल्य की दुकानों की सोमवार को होने वाली साप्ताहिक छुट्टी भी स्थगित कर दी गई है। अब सोमवार को भी दुकानें खुलेंगी और कार्डधारक निर्धारित मात्रा में चावल सोमवार को भी ले सकेंगे। राज्य शासन ने गरीबी रेखा श्रेणी के परिवारों को दो महीने का चावल एक साथ निःषुल्क उपलब्ध कराने के लिये तत्काल सर्वर की सभी तकनीकी जरूरतों को शुरू कर दिया है। उपभोक्ता आज से ही अप्रैल एवं मई माह का चावल एक साथ शासकीय उचित मूल्य की दुकान से उठा सकते हैं। कलेक्टर ने इस संबंध में गांव-गांव में जरूरी मुनादी भी कराने के निर्देष जिला खाद्य अधिकारी को दिये हैं।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल ने राषन वितरण के दौरान बायोमेट्रिक डिवाईस या टेबलेट के उपयोग में सावधानी बरतने के निर्देष सभी दुकान संचालकों को दिये हैं। राषन के लिये बायोमेट्रिक पहचान करने उपभोक्ता के अंगूठे का निषान लेने के बाद मषीन को अच्छी तरह से सेनेटाईज करके ही दूसरे उपभोक्ता के लिये उपयोग करने के निर्देष कलेक्टर ने दिये हैं। कलेक्टर श्रीमती कौषल ने राषन दुकानों के बाहर भी लोगों को हाथ धोने के लिये साबुन एवं पानी की व्यवस्था करने को कहा है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके। 
उल्लेखनीय है कि जिले में बीपीएल राषनकार्ड धारकों की कुल संख्या 2 लाख 39 हजार 029 है और इन राषनकार्ड धारकों को प्रतिमाह आठ हजार 125 मेट्रिक टन चावल उपलब्ध कराया जाता है। जिले में 451 शासकीय उचित मूल्य की दुकानें है। इनमें से 390 दुकानें ग्रामीण क्षेत्रों में एवं 61 दुकानें शहरी क्षेत्रों के लोगों को राषन उपलब्ध कराते हैं। जिले में 52 हजार 920 अन्त्योदय कार्डधारक, दो हजार 029 अन्त्योदय गुलाबी कार्डधारक, एक लाख 83 हजार 752 प्राथमिकता वाले कार्डधारक, 236 अन्नपूर्णा कार्डधारक और 092 निःषक्तजन कार्डधारक हैं। 

*कोरबा,मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने लोगो के लिए हेल्पलाइन नं जारी किया है,लॉकडाउन का पालन करने की अपील*

कोरबा:-राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने लॉकडाउन का पालन करने लोगों से अपील की है. मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि रोजमर्रा के सामानों के लिए किसी को दिक्कत नहीं आने देंगे. उन्होंने आगे कहा कि जिला प्रशासन को इसके लिए उचित दिशा निर्देश दिया जा रहा है.

किसी को कोई परेशानी हो तो वे हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल कर मदद ले सकते हैं. सुरेश अग्रवाल 9827115975, प्राणनाथ मिश्रा 9993000585, चद्रकांत यादव 7773014771. जिले वासी इन सभी नंबरों पर 24 घंटे संपर्क कर सकते हैं.

कोरोना संकट के दौरान आवश्यक सुविधाओं के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की नई पहल....

संकट में फंसे श्रमिकों के सहायतार्थ, स्टेट हेल्पलाइन

0771-2443809

91098-49992

(श्रम विभाग)

आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध उपलब्धता हेतु कंट्रोल रूम

0771-2882113

(खाद्य, नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण एवं परिवहन विभाग) 

ब्यूरो रिपोर्टर


आलू ₹50 किलो बिकने की तैयारी में कार्यवाही अपेक्षित

 *कोरबा में आलू ₹50 किलो बिकने की तैयारी में*

 
*कार्यवाही अपेक्षित*
 
निर्मल जैन,ब्यूरो रिपोर्ट,
 
कोरबा।लॉकडाउन का फायदा इन दिनों रोजमर्रा जैसी वस्तुओं के विक्रय में सीधे-सीधे कतिपय व्यापारियों द्वारा जबरिया फायदा उठाया जा रहा है विशेष रूप से  में *आलू* *प्याज* और लहसुन की कीमतें आसमान छू रही है ,,,ऐसा नहीं है कि चिल्लर व्यापारी इसका फायदा उठा रहे हैं हकीकत यह है कि रानी रोड के श्मशान घाट रोड स्थिति  *एक आलू प्याज *थोक व्यापारी* द्वारा कल *आलू*   दुगनी दर पर बेचा गया जबकि अन्य व्यापारीयों ने वास्तविक मुल्य लगभग1000/-रुपये कट्टा अर्थात 50kgमें बेचा गया है।
कालाबाजारी को प्रोत्साहन देने वाले व्यापारीयों के विरूद्ध लगाम लगा कर मूल्य नियंत्र०ण किया जाना चहिये।बताया जाता है कि *आज भी* उक्त व्यापारी द्वारा 1400-1500रुपये कट्टा बेचे जाने की पूरी तैयारी कर रखी है। दुकान गोदाम प्रातः 10 बजे खुलते ही ट्रक से अनलोंड माल तत्काल बेच कर ऐसा कृत्य किया जा २हा है। यदि ऐसा होता है तो आलू  चिल्हर ₹50प्रति किलो में बेचे जाने की संभावना है।
संबधित विभाग,जिला प्रशासन को कालाबाजारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही कर वास्तविक प्रचलित मूल्यो पर रोजमर्रा की उपभोक्ता वस्तुओं विक्रय कराये जाने कदम उठाया जाना चाहिये।
ब्यूरो रिपोर्ट

*टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री,पंचायत मंत्री,शिक्षा मंत्री से मिलकर सम्पूर्ण संविलयन के लिए आभार जताया*

कोरबा:-छत्तीसगढ़ शासन के वित्तीय वर्ष 2020- 21 के बजट में 2 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षाकर्मियों को 1जुलाई 2020 से संविलियन की घोषणा किए जाने पर छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष संजय शर्मा के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित पंचायत मंत्री टी.एस.सिंह देव और शिक्षा मंत्री डाँ.प्रेमसाय सिंह टेकाम से भेंट कर उनके प्रति आभार व्यक्त किए।
संघ के जिलाध्यक्ष मनोज चौबे ने मुख्यमंत्री द्वारा शिक्षाकर्मियों के संपूर्ण संविलियन की घोषणा को ऐतिहासिक बताते हुए कहां की अब प्रदेश में शिक्षाकर्मी प्रथा समाप्त हो गई शिक्षाकर्मी से शिक्षा विभाग में संविलियन अब छत्तीसगढ़ में इतिहास बन गया। जन घोषणा पत्र में उल्लेखित प्रथम विषय संपूर्ण संविलियन को आपने पूरा कर दिया,अब उनकी शेष मांगों पर विचार किया जाए। संघ की शेष मांगों में प्रमुख रूप से क्रमोन्नति, पदोन्नति, वेतन विसंगति,पुरानी पेंशन बहाली और अनुकंपा नियुक्ति की ओर भी ध्यान दिलाया।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन को सकारात्मक पहल का भरोसा दिलाते हुए कहा कि शिक्षकों के विषय में सकारात्मक विचार करेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुख्यमंत्री कक्ष में प्रांताध्यक्ष संजय शर्मा एवं प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ कोरबा जिला से जिलाध्यक्ष मनोज चौबे व टीम शामिल थे। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*बोलेरो और ट्रक में भिडंत दो की मौके पर दर्दनाक मौत तीन गंभीर रूप से घायल*

कोरबा:-बांकीमोंगरा थाना क्षेत्र के शुक्लाखार के पास बोलेरो और ट्रक में जोरदार भिड़ंत हो गई। इस दुर्घटना में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। घायलों को इलाज के लिए कटघोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाय गया है, जहां उनका इलाज जारी है। बता दें कि तेज रफ़्तार बोलेरो वाहन ने खड़े ट्रक को टक्कर मर दी, जिससे यह दुर्घटना हुई। दोनों मृतक बांकीमोंगरा के रहने वाले है। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*आदर्श ग्राम तिलकेजा में नशा मुक्ति कार्यक्रम संपन्न*

आदर्श ग्राम तिलकेजा में नशा मुक्ति कार्यक्रम सम्पन्न।

कोरबा:-मिडिल स्कूल आमापाली के शिक्षक मुकुन्द उपाध्याय ने बताया कि कल 18 फरवरी दोपहर 1 बजे मिडिल स्कूल तिलकेजा में बच्चो के बीच जाकर जिला शिक्षण संस्थान कोरबा (डाइट) टीम के तत्वाधान में नशामुक्ति हेतु जन जागरूकता अभियान के तहत डाइट के व्याख्याता पी. के. कौशिक जी, अरविंद शर्मा, यशपाल राठोर, मुकुन्द उपाध्याय द्वारा मिडिल स्कूल तिलकेजा के बच्चो के बीच जाकर विभिन्न गतिविधियों एवम प्रोजेक्टर के माध्यम से नशा मुक्ति अभियान के तहत जागरूकता कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर डाइट टीम से आये पी. के. कौशिक, अरविंद शर्मा व्याख्याता डाइट रामायण पात्रे, तिलकेजा संकुल समन्वयक मुकुन्द उपाध्याय उच्च वर्ग शिक्षक आमापाली एवं रामकृष्ण जायसवाल व्याख्याता तिलकेजा द्वारा नशा मुक्ति हेतु प्रेरक उद्बोधन दिया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन के. के. दुबे मिडिल स्कूल तिलकेजा ने किया। आज के इस कार्यक्रम में गोविंद कर्स, केदार जायसवाल, वेदराम केवट, श्री तिवारी ने विशेष सहयोग प्रदान किया। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*डिजिटल कार्य हेतू प्राप्त OTP का सुरक्षात्मक दृष्टिकोण ,:महत्वपूर्ण जानकारी*

 मोर न्यूज,निर्मल जैन :7000727330

MOR News,;by Nirmal Jain 7000727330

कोरबा। आज की डिजीटल क्रांन्ति की उपज तथा लाभ हानि के मद्देनजर प्रत्येक नागरिक को यह जानना चाहिये/
क्या आप जानते है One Time Password या OTP क्या है?
 आज के वक़्त में लगभग अनेक लोग अपना सारा काम घर बैठे online ही कर लेते हैं जैसे मोबाइल recharge हो या फिर shopping, तो ऐसे में इस digital दुनिया में हमारी security बहुत ज्यादा माइने रखती है ताकि हमारा personal data और account दोनों ही अनजान व्यक्ति से सुरक्षित रहे जब हम net banking की मदद से online transactions करते हैं मोबाइल recharge करने के लिए या फिर कुछ सामान खरीदने के लिए तब सभी details भरने के बाद last में एक code आता है जिसे हम OTP कहते हैं. आप सभी ने OTP के बारे में सुना होगा और इसका इस्तमाल भी किया होगा, लेकिन क्या आपको पता है की इसका इस्तेमाल क्यूँ किया जाता है? 
 
One Time Password (OTP) एक security code है जो 6-digits का होता है जिसका इस्तेमाल हम online transactions करते वक़्त करते हैं.जब हम किसी e-commerce website से कुछ सामान खरीदते हैं तब हम अपने ATM card से उसका payment करते हैं, payment करते वक़्त अपने banking details भरने के बाद आखिर में एक security code आपके bank में registered mobile नंबर पर एक sms के रूप में जाता है जिसे हम OTP कहते हैं. उस sms में एक code होता है जिसे भरने के बाद ही हमारा payment सफल होता है इसके बिना आप online कहीं भी transactions नहीं कर पाएंगे.
OTP का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता है?
OTP एक password है जो normal password की जो password user अपना account बनाते वक़्त create करते हैं उनसे बिलकुल अलग और safe होता है. जैसे की जब हम किसी भी website में अपना account बनाते हैं तो हम अपना username और password create करते हैं, हम जो password create करते हैं वो बहुत ही सरल रखते हैं जैसे हमारा नाम या date of birth या और कुछ ताकि हमे वो आसानी से याद रहे लेकिन इसमें हमें hackers से खतरा होता है क्यूंकि वो आसानी से हमारे password को hack कर हमारा details चुरा सकते हैं. या फिर ऐसा भी हो सकता है की कोई व्यक्ति जो आपके जान पहचान का हो अगर उसे आपका username और password पता हो तो वो भी आपका account का इस्तेमाल कर गलत फायेदा उठा सकता है, इसलिए आज कल सभी banks, बहुत सारे e-commerce website और online recharge करने वाले websites ने OTP का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है जिससे उनके users का account सुरक्षित रह सके. OTP आपके account को safe रखता है और आपके banking और personal details को चोरी होने से बचाता है.
            
OTP से हमारा सभी account जैसे Google account, net banking account, bank account इत्यादि सभी सुरक्षित रहते हैं. OTP की खासियत ये है की इससे जो code generate होता है उसका इस्तेमाल सिर्फ एक ही बार किया जा सकता है और वो सिर्फ कुछ समय के लिए ही valid रहता है अगर उस समय के अन्दर हमने code का इस्तेमाल नहीं किया तो फिर वो code हमारे किसी काम का नहीं रहता. यानि की हम जितनी बार भी online transactions करते हैं उतनी बार ये code अलग अलग generate होते हैं जिससे हमारा account पूरी तरह से secure होकर रहता है. अगर आपके किसी भी account का username और password किसी अन्य व्यक्ति को पता भी हो तब भी वो आपके account का इस्तेमाल नहीं कर पायेगा क्यूंकि उसके लिए OTP की जरुरत होगी जो सिर्फ आपके registered mobile नंबर पर या फिर आपके email id पर ही आएगा इसके बिना वो आपके account का गलत फायेदा नहीं उठा पायेगा.
OTP का इस्तेमाल कहाँ कहाँ किया जाता है?
OTP का इस्तेमाल सबसे ज्यादा तो net banking में online transactions करने के लिए किया जाता है इसके अलावा Google ने भी users के account को और भी सुरक्षित बनाने के लिए OTP security का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है. जिसको activate करने के बाद कोई भी दूसरा user अपने device से आपके account का details डाल कर login नहीं कर सकता क्यूंकि Google वहां पर verification करने के लिए OTP password मांगेगा जो सिर्फ आपके पास sms के जरिये आपके मोबाइल नंबर पर OTP code आएगा.
चलिए अब जानते हैं की OTP के फायेदे क्या क्या होते हैं.
 
सुरक्षा या Security को बढ़ाने के – यह एक रकार का सुरक्षा कोड होता है. ऐसा इसलिए क्यूंकि यह यूजर का एक सुरक्षा कवच होता हैं. वहीँ इसके साथ ये पासवर्ड चोरी होने के बाद भी यूजर के अकाउंट को सुरक्षित रहता हैं. क्यूंकि बिना OTP को enter किये कोई अन्य व्यक्ति उसे एक्सेस नहीं कर सकता हैं.
 
   यूजर का प्रमाणिकरण – इसके द्वारा वास्तविक यूजर का प्रमाणिकरण हो जाता हैं. ऐसा इसलिए क्यूंकि OPT केवल User के registered Mobile number पर ही जाता है. यदि सही यूजर ही अपने अकाउंट के माध्यम से कोई गतिविधि कर रहा हैं. जैसे पासवर्ड बदलना, मोबाईल नंबर अपडेट करना आदि तो इनके प्रमाणिकरण के लिए सिस्टम यूजर के द्वारा चुने गए तरीके के अनुसार उसे OTP भेजता हैं. इसे enter करने पर ही actions को valid माना जाता है.
 
Spamming से बचाव – जब हम ऑनलाईन पैसे का लेन-देन करते हैं तो बैंक खाताधारक से अनुमति लेने के लिए OTP भेजता हैं. ताकि असल खाताधारक की पहचान साबित हो जाए. इससे हम ठगी के शिकार होने से बचे रहते हैं. और वित्तिय लेन-देन (financial transaction) में ही इसका सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता हैं.
 
Double Security Enable कर सकते है – हम OTP के द्वारा अपने Account या सोशल मिडिया अकाउंट (फेसबुक, वाट्सएप ट्विटर गूगल इत्यादि) पर OTP Double Security enable कर सकते हैं. और इससे उन्हे ज्यादा सुरक्षित बना सकते हैं. ताकि कोई दूसरा user उसे access न कर सके.
 
              वन टाईम पासवर्ड कन जानकारी पसंद आई होगी।  लोग 06 डिजिट का ओटीपी को नही समझते है और किसी भी अनजान व्यक्ति को ओटीपी शेयर कर देते है। जिससे एकाउंट से पैसा आहरण हो जाता है।
सायबर क्राईम का यह पहला और अंतिम कदम माना गया है। इस हेतू जनमानस को सचेत रहने की आवश्यकता है।
 
साभार;  *दुर्गेश राठौर*  (सायबर शाखा,कोरबा)*

IG द्वारा जिले के पुलिस अधिकारियों के साथ कटघोरा में बैठक

 कोरबा।मोर न्यूज 7000727330 निर्मल जैन ब्यूरो

 
 को२बा । बिलासपुर रेंज के नवनियुक्त पुलिस महानिरीक्षक श्री दीपांशु काबरा आज अपनी पदस्थापना के बाद पहली बार कोरबा जिले के दौरे पर पहुंचे थे. उन्होने कटघोरा के पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में सीएसपी, एसडीओपी और अलग-अलग थाने के प्रभारियों संग बैठक कर उन्हें जरूरी दिशा निर्देश दिए. श्री काबरा ने मीटिंग के ठीक बाद पत्रकारों से भी भेंट की और उनके सवालों का जवाब भी दिया.

संसाधन की कमी, सीएसआर से मिलेगी मदद.
आईजी दिपांशु काबरा ने जिले के भीतर हरदिन हो रहे सड़क हादसों पर गहरी चिंता जाहिर की है. उन्होंने बताया कि वे और उनकी पूरी टीम ट्रैफिक इंतज़ामात सुधारने की दिशा में काम कर रही है. इसके लिए उन सड़को और सड़कों के उन खतरनाक  प्वाइंट्स को चिन्हित किया जाएगा जहाँ अधिकाधिक हादसे सामने आए है. श्री काबरा ने बताया कि विभाग में फिलहाल जवानों के साथ संसाधनों की कमी बनी हुई है. विभाग नई भर्तियां कर रहा है जिसके बाद बल में बढ़ोत्तरी होगी. उन्होंने यातायात के लिए महानगरो की तर्ज पर सड़को पर साइनबोर्ड लगाने, राउंड कर्व टर्निंग और तकनीक के माध्यम से निगरानी की बात कही है. साथ ही जरूरत पड़ने पर एसईसीएल सरीखे केंद्र, राज्य के औद्योगिक उपक्रमो से मदद ली जाएगी. प्रयास यह भी होगा कि सीएसआर की मदद से सुरक्षा संसाधन बढ़ाये जाएं. उन्होंने चौक-चौराहों और भीड़भाड़ वाली जगहों पर सीसीटीवी को अनिवार्य करने की बात कही है.
प्रभारियों को निर्देश, फ्री रजिस्ट्रेशन ऑफ क्राइम हो थाने.
आईजी श्री काबरा ने थाना प्रभारियों को भी अपराध में कमी लाने और गम्भीर मामलों पर त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए है. उन्होंने फ्री रजिस्ट्रेशन ऑफ क्राइम के लिए टीआई लेवल अधिकारियों को रिस्पॉन्स टाइम बढ़ाने पर जोर दिया. संज्ञेय अपराध की जानकारी मिलते ही प्राथमिकता के आधार पर एफआईआर कायम कर उनपर संज्ञान लेना है साथ ही असंज्ञेय अपराध होने पर प्रार्थी को इसकी सूचना देने की जरूरत है ताकि वह अपनी शिकायतों के लिए थाने के चक्कर लगाने से बचे. श्री काबरा ने प्रभारियों को थानों को साफ सुथरा रखने के स्पष्ट निर्देश दिए है. वे मानते है कि कोरबा औद्योगिक शहर है लिहाजा कोयला, मालवाहक और दूसरे खनिज से जुड़े जो तस्कर है वे सिर न उठा सके और उनपर तत्काल कार्रवाई हो. स्थानीय गुंडे, बदमाशो पर भी पुलिस का खौफ साफ नजर आना चाहिए.
हाइवे पेट्रोलिंग होगी शुरू, गाड़ियों की खरीदी जारी.
पूर्व आईजी प्रदीप गुप्ता की योजना पर बात करते हुए श्री काबरा ने बताया कि हाइवे पेट्रोलिंग फिर से जिले में शुरू की जाएगी. इसके लिए वाहनो की खरीद की जा रही है. वे खुद भी पुलिस मुख्यालय में तैनात थे लिहाजा वे खुद भी प्रक्रिया से अवगत है. उनका प्रयास होगा कि कोरबा में भी वाहन उपलब्ध हो. वही इससे पहले भी वैकल्पिक तरीके से इस प्लान को मूर्त रूप दे यह प्रयास पुलिस का होगा.

एसपी, एएसपी कर चुके है साथ काम.
आईजीपी श्री काबरा ने बताया कि जिला एसपी श्री मीणा, एएसपी यू उदयक़ीरण उनके साथ पहले भी काम कर चुके है लिहाजा अंडरस्टैंडिंग में किसी तरह की कमी नही होगी. उन्होंने बताया कि आज की उनकी बैठक और इस तरह पूरा दौरा सकारात्मक रहा. उन्होंने जिले के अफसरों को अपनी प्राथमिकताओं से अवगत कराया है. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में एक अलग तरह की पुलिसिंग लोगो को देखने को मिलेंगी.
 बातचीत के दौरान एसपी श्री जितेंद्र सिंह मीणा, एएसपी यू उदयक़ीरण, डीएसपी मुख्यालय रामगोपाल करियारे, सीएसपी राहुल देव, एसडीपीओ पंकज पटेल समेत ज्यादातर थानों के प्रभारी, एसआई, एएसआई व अन्य सिपाही मौजूद थे.

व्यूरो रिपोर्ट

 

 


*यातायात विभाग द्वारा शराबी बस चालक के विरूद्ध कार्यवाही*

 (मोर न्यूज;निर्मल जैन,कोरबा ब्यूरो)

कोरबा। यातायात विभाग कोरबा द्वारा आज गोपालपुर क्षेत्र में नियम विरूद्ध चल २हे वाहन चालको के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की गई।इसमे आज कुल 13प्रकरण बनाये गये जिसमे प्रमुख रूप से कोरबा से युपी के घनवार जाने वाली महेन्द्रा बस चालक विजय यादव के विरूद्ध शराब पीये जाने की वजह से चालान कर घारा 185 के तहत प्रकरण को कोर्ट में पेश किया गया। यातायात निरीक्षक श्री श्याम सिदार द्वारा स्वंय वरिष्ठ जिले के पुलिस अधिकारियों के मार्गदर्शन में यह  रूटिन कार्यवाही की गई इस दौरान अन्य नियम विरूद्ध चल २हे वाहन चालर्को का भी नियमानुसार चालान किया गया ।