*कटघोरा वन मंडल विभाग में करोड़ों का टेंडर घोटाला सामने आया है. जिसमें सभी टेंडरों को निरस्त कर दिया गया है. उनमें अब बड़े कांग्रेस ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने की तैयारी है.*

{निर्मल जैन कोरबा}

 कोरबा- प्रदेश के बेरोजगार इंजीनियरों की चिंता करते हुए शासन ने उनके लिए काम की व्यवस्था कर रही और दूसरी ओर वन विभाग के अधिकारी इसमें भी अपना निजी फायदा ढूंढ रहे। इंजीनियरों को जारी टेंडर को निरस्त कर अपने चहेते  ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने का आरोप वन विभाग के अधिकारियों पर लगाया गया है।
 
*मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बेरोजगार इंजीनियरों के लिए रोजगार उपलब्ध कराने की महत्वपूर्ण योजना दी है। इधर वनमंडल कटघोरा के अधिकारी उसमें पलीता लगाने कोई कसर नहीं छोड रहे।*
 
ताजा मामला कटघोरा वन मण्डल विभाग का सामने आया है। कटघोरा वन मण्डल के पसान वन परिक्षेत्र में कैंपा मद के तहत के तहत कलेवा नाला व गोलवा नाला पर बनने वाले स्टॉप डेम का टेंडर गलत तरीके से निरस्त कर दिया गया। नियमो को ताक पर रख कर चहेतों कांग्रेस  ठेकेदारों को शासकीय अधिकारी किस तरह से फायदा पहुंचाते है? इसका नजारा कटघोरा वन मंडल में आसानी से देखा जा सकता है... कटघोरा वनमंडल में पदस्थ अधिकारियों ने इंजीनियर को आबंटित टेंडर को निरस्त कर अपने चहेते ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए स्टॉप डेम कार्य दिखावे के लिए विभागीय करने हेतु टेंडर जारी कर दिया,।। वही गौरतलब है कि शासन के आदेशानुसार बेरोजगार इंजीनियरों को रोजगार देने निर्देश दिए है लिहाजा टेंडर बेरोजगार इंजीनियरों को दिया गया था..!
 
*वही  बेरोजगार इंजीनियरों ने दो बार टेंडर डाला। टेंडर संबंधित प्रक्रिया करने में  प्रति इंजिनियरों का लगभग 25 से 30 हजार रुपए खर्च हुए है..लेकिन निरस्त होने के कारण उनके पैसे डूब गए। ऐसे में अब उन्हे टेंडर डालने के लिए दोबारा सोचना पड़ेगा।*
 
वही मामले में मुख्यालय के  अधिकारियों से चर्चा करने की बात कहते हुए कटघोरा वन मंडल के अफसर पल्ला झाड़ रहे है।
जिन इंजिनियरो का यह टेंडर निरस्त हुआ, उसने अफसरों पर अपने चेहते ठेकेदार को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट में अपील याचिका करने की बात की है ।

पानी फिल्टर प्लान्ट विकासनगर कुसमुण्डा से केबल वॉयर चोरी करने वाले आरोपी गिरफ्तार आरोपीगण के कब्जे से चोरी गई केबल वॉयर, चोरी में प्रयुक्त मो0सा0 व हेक्सा ब्लेड बरामद

 निर्मल जैन,कोरबा ब्यूरो चीफ 7000727330

कुसमुंडा ///:- //मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि आज दिनांक 20.05.2021 को प्रार्थी संजय कुमार दुबे सुरक्षा गार्ड एस.ई.सी.एल. कुसमुण्डा क्षेत्र द्वारा थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनांक 18-19.05.2021 के दरम्यानी रात्रि में विकासनगर स्थित पानी फिल्टर प्लांट से अज्ञात चोर के द्वारा कॉपर केबल 50मीटर करीबन को चोरी कर ले गये है कि रिपोर्ट पर अपराध कमांक 212/2021 धारा- 379 भादवि कायम कर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया ।
 
जिसमे श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय कोरबा श्री अभिषेक मीणा के द्वारा आरोपी को पकड़ने निर्देशित करने पर श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री कीर्तन राठौर व श्रीमान नगर पुलिस अधीक्षक श्री खोमनलाल सिन्हा के मार्गदर्शन पर तत्काल थाना प्रभारी कुसमुण्डा निरीक्षक सनत सोनवानी के नेतृत्व में कुसमुण्डा पुलिस टीम पतासाजी में जुट गयी ।
 
जो जरिये मुखबिर की सूचना मिला की मुकेश पाल निवासी फोकटपारा कोरबा का कॉपर वॉयर को बेचने की फिराक में है जिसे पकड़ कर हिकमतअमली से पूछताछ करने पर अपने साथी विजय कारडा व दीपक पटेल के साथ दिनांक 18-19.05.2021 के दरम्यानी रात में पानी फिल्टर प्लांट विकासनगर में लगे केबल वॉयर को हेक्सा ब्लेंड से काटकर चोर करना स्वीकार किये ।
 
आरोपियों के निशानदेही पर केबल वॉयर का कॉपर वॉयर ( तांबा तार), घटना में प्रयुक्त ड्रीम युगा मोटरसायकल व हेक्सा ब्लेड जप्ती किया गया उक्त आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है उपरोक्त कार्यवाही में स.उ.नि. राजेन्द्र कुमार पाण्डेय, प्र.आर. ईश्वरी लहरे, संतोष सिंह, आरक्षक महेन्द्र चंद्रा, संजय तिवारी की अहम भूमिका रही है।
 
गिरफ्तार आरोपी-
 
01. मुकेश पाल पिता सुबोध पाल उम्र 45वर्ष साकिन सर्वमंगला रोड फोकटपारा कोरबा, थाना कोतवाली, जिला कोरबा (छ.ग.)
 
02. विजय कारड़ा पिता तिरथ दास कारड़ा उम्र 30वर्ष साकिन सर्वमंगला रोड फोकटपारा कोरबा, थाना कोतवाली, जिला कोरबा (छ.ग.)
 
03. दीपक कुमार पटेल पिता मन्नू प्रसाद पटेल उम्र 22वर्ष साकिन सर्वमंगला रोड फोकटपारा कोरबा, थाना कोतवाली, जिला कोरबा (छ.ग.)

लाकडाऊन में बढ़ी छुट:एकल शोरूम दुकानों सहित, स्टेशनरी,CA कार्यालय कोविड नियमो के तहत खुलेगें

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ

कोरबा । कोरबा  में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और आमजनों की सुरक्षा के लिए 31 मई रात्रि 12 बजे तक लाॅकडाउन लागू किया गया है। इस दौरान पूरे जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। इस अवधि में जिले में कुछ दुकानों के खुलने और कुछ अन्य जरूरी गतिविधियों की भी छूट दी गई है। जिला प्रशासन द्वारा इस संबंध में संशोधित आदेश जारी कर दिए गये हैं।
जारी किये गये आदेश अनुसार निर्माण सामाग्री से जुड़ी हार्डवेयर दुकानें, छड़, सीमेंट, आटोमोबाईल रिपेयर शाॅप, आटो पाट्र्स की दुकानें, टायर पंचर बनाने की दुकानें, चश्में की दुकानंे और सभी स्टैंड अलोन शो रूम- एकल शो रूम प्रातः नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक खुले रहेंगे। माॅल में स्थित शोरूम नहीं खुलेंगे। स्टेशनरी दुकानें भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए सुबह नौ से दोपहर तीन बजे तक खुलेंगी। चार्टर्ड एकाउंटेट आफिस को भी 50 प्रतिशत स्टाफ की उपस्थिति के साथ खोलने की अनुमति रहेगी। परंतु इन आफिसों में आम जनता या बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। अमेजन, स्विगी, फ्लिपकार्ट, जोमैटो जैसी आॅनलाइन होम डिलीवरी सुविधा की भी अनुमति होगी।
एकल शोरूम का संचालन रविवार को छोड़कर अन्य दिवस में प्रातः नौ बजे से अपरांह तीन बजे तक ही किया जा सकेगा किंतु स्थापित बाजारों में स्थित शो रूम हेतु सम-विषम नियमानुसार क्रम का पालन अनिवार्य होगा। नगर पालिक निगम-नगरीय निकाय इस हेतु आवश्यक कार्यवाही करेंगे। शो रूम में कार्यरत कर्मचारियों एवं ग्राहकों के उपयोग हेतु मास्क एवं सेनिटाईजर रखना तथा लोगों में जागरूकता हेतु शो रूम परिसर में पोस्टर-बैनर लगाना अनिवार्य होगा। शो रूम में कार्यरत सभी व्यक्तियों को नियमित अंतराल में कोविड जांच और कोविड वेक्सीनेशन कराना होगा। शोरूम में कार्यरत कर्मचारी और आने वाले ग्राहकों को कोविड प्रोटोकाॅल के तहत मुंह पर मास्क लगाना तथा दो गज की दूरी रखने का कड़ाई से पालन करना होगा। शोरूम में भीड़-भाड़ की स्थिति निर्मित होने पर या जारी निर्देशों का उल्लंघन होने पर नियमानुसार जुर्माना लगाने एवं 30 दिन के लिए शोरूम सील की कार्यवाही होगी।
ब्यूरो रिपोर्ट

NKH जीवन आशा अस्पताल में कोविड मरीजों का मनोबल बढ़ा

 निर्मल जैन,कोरबा जिला ब्यूरो चीफ


NKH जीवन आशा अस्पताल में कोविड मरीजों का दवा के साथ मनोबल भी बढ़ाया
 
कोरबा। जब पूरे भारत में कोविड से लाखों लोग बीमार हैं। तो ऐसे में उम्मीद की एक छोटी सी किरण भी बड़ा काम कर जाती है। ऐसा ही एक वीडियो वायरल हो रहा है। जो किसी को भी हौसला दे सकता है। वीडियो में डॉक्टर अपने स्टाफ के साथ मरीजों का मनोबल को बढ़ाने के लिए किसी को चाची तो किसी को अम्मा बोल कर गले लगा कर उनका हालचाल जान रहे है। जो इस वीडियो में नजर आ रहा हैं।ये वीडियो जमनीपाली स्थित NKH जीवन आशा हॉस्पिटल का है. यहां डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मी  हमेसा मरीजों के बीच उपस्थित रह कर उनका हाल चाल जानते रहते हैं। जारी वीडियो में एक जगह तो स्वास्थ्यकर्मी डांस करता भी दिखाई देता है।डॉक्टर व मेडिकल स्टाफ की मेहनत रंग लाती है। और उनके  इस हौसले से भर्ती मरीज भी डॉक्टर को अपना बेटा , भाई समझ दिल की बाते करने लगते है।
 डॉ.सगीर खान व डॉ. शाजिया खान का कहना है। कि मरीज रात में अकेले हो जाते हैं। वह ऐसे में वह मानसिक रूप से परेशान न हों, इसके लिए उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। उनसे बातें कर समझा जाता है। कि मरीजों के दिमाग में क्या चल रहा है। इसके बाद उनकी काउंसिलिग कर उनकी सोच को सकारात्मक किया जाता है। जिस तरह किसी जंग को जीतने के के लिए मनोबल की जरूरत है, उसी तरह बीमारी को भी मात देने के लिए सकारात्मक सोच और मनोबल जरूरी है। मरीजों का इलाज करने के साथ उनका मनोबल किसी भी तरीके से बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने आगे बताया  कि पीपी किट पहनने के बाद 6 से 7 घंटे तक मरीजों के बीच रहकर पानी तक नसीब नहीं होता है
NKH ग्रुप डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने कोरोना मरीजों की सेवा में लगे डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ जो दिन-रात मरीजों की सेवा कर रहे हैं. उनके इस जज्बे को मैं आभार ब्यक्त  करता हु।
 
व्ग्यूरो 

फ्रीज में छुप कर बैठे सॉप को खुरक्षित पकड़ा जितेन्द्र ने।

 निर्मल जैन7000727330

फ्रीज में बैठा था नाग सांप... रात के 2 बजे किया गया रेस्क्यू।
कोरबा। मौसम का मिज़ाज बदलते ही जमीन में रेंगने वाली मौत (सर्प) का निकलना लगातार जारी हैं, अक्सर आप ने देखा होगा सांप घर में पड़े कबाड़ में आकर घुस जाते हैं पर अगर वही सांप आप के घर के सब से महत्वपूर्ण और घरेलू उपकरण में घुस कर बैठा हो जहा आप खाने पीने का सामान रखते हो तब तो आप के होस उड़ जाएंगे जी हां रामपुर बस्ती में रहने वाले सनद कुमार पटेल नामक एक व्यक्ति के घर में रात करीब 2 बजे उस समय हड़कंप मच गया जब उनके 2 बच्चे और उनकी धर्म पत्नी अपने बेडरूम सो रहें थे और  एक किनारे में रखें फ्रीज में सांप बैठा हुआ था पटेल नामक व्यक्ति ने बताया उसका बेटा पेशाब करने बाथरूम गया तभी उसने घर के एक किनारे में सांप बैठें हुए देखा जो अचानक कही गायब हो गया उसने तुरंत अपने पापा को बताया फिर काफ़ी धुड़ने पर भी नहीं मिला तब उन्होंने रात तकरीबन 2 बजे स्नेक रेस्क्यू टीम प्रमुख (वन विभाग सदस्य) जितेंद्र सारथी को इसकी जानकारी दी उस समय जितेंद्र सो रहे थे  पर अपना कर्तव्य समझ बिना देरी किए पटेल नामक व्यक्ती के घर पहुंचे और धुंडने पर देखा सांप बिस्तर के बगल में रखें फ्रीज में जाकर बैठ गया था फ़िर उसको सुरक्षित रेस्क्यू कर डिब्बे में रख लिया तब जाकर घर वालों ने राहत कि सांस ली और चैन की नींद सो पाए जिस पर पूरे परिवार ने जितेंद्र सारथी जी का धन्यवाद ज्ञापित किया।
ब्यूरो।

प्रदेश सरकार आर्थिक पैकेज या घोषणा वादा निभाये-विनोद सिन्हा

 निर्मल जैन ,ब्यूरो चीफ

 
 कोरबा ।सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा ने प्रदेश में कोरोना महामारी से परेशान आम नागरिक ,गरीब मजदूर, व्यापारी ,किसान व रोज कमाओ रोज खाओ मजदूर जो लॉकडाउन के चलते घरों में कैद हैं ऐसे नागरिकों को प्रदेश शासन वर्तमान समय में आर्थिक पैकेज जारी करें या चुनाव घोषणा पत्र में किए गए वादों को लागू करें। उदाहरण के तौर पर तत्काल गरीबों को लाभ पहुंचाने वाले घोषणा पत्र में निराश्रित वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन या बेरोजगारों को ढाई हजार रुपया बेरोजगारी भत्ता या अन्य जो वादे प्रदेश सरकार ने घोषणा पत्र में किया है जिसकी आज के समय में  महती आवश्यकता है अगर उसे भी लागू कर दे तो कुछ राहत आम जनता को मिल सकती है ।
           सिन्हा आगे बताया कि प्रदेश में  प्राकृतिक खनिज संपदाओ से परिपूर्ण है ऐसी स्थिति में पिछले 14 माह में कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा लॉक डाउन के समय आम नागरिकों को भारी आर्थिक क्षति उठाने के साथ कठिनाइयों का भी सामना करना पड़ रहा है आज दिनांक तक प्रदेश सरकार द्वारा कोई ठोस आर्थिक पैकेज जारी नहीं किया गया है जो चिंता का विषय है सिन्हा ने प्रदेश सरकार से मांग किया है कि पड़ोसी राज्यों से भी प्रदेश सरकार को सबक लेनी चाहिए अपनी क्षमता के अनुसार लॉकडाउन में गरीबों को राहत देने हेतु आर्थिक पैकेज की मांग बार-बार की जाती रही है लेकिन आज दिनांक तक इस महामारी में लॉक डाउन के दौरान गरीब मजदूर असहाय लोग आर्थिक कठिनाइयों से जूझ रहे हैं उनकी मानवता के नाते भूपेश सरकार अपने नागरिकों को मदद पहुंचाएं सामाजिक संगठनों द्वारा हर संभव मदद आम जनता को दी जा रही है लेकिन सरकार द्वारा आर्थिक पैकेज जारी करना अति आवश्यक है।
ब्यूरो रिपोर्ट

जीवन बीमा निगम के कोरबा कार्यालय को खोला जाय-विनोद सिन्हा। यह जनहित में,,,,

 निर्मलर्जैन,ब्यूरो चीफ

*जीवन बीमा कार्यालय खोला जाए- सिन्हा*
कोरबा।  सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा ने जारी एक बयान में जिला कलेक्टर महोदय से अनुरोध किया है कि कोरबा जिले में औद्योगिक क्षेत्र होने के नाते लाखों बीमा धारी जीवन बीमा कार्यालय में प्रीमियम जमा करने या डेथ क्लेम के लिए आवेदन देने हेतु एल.आई.सी. कार्यालय खोला जाना अति आवश्यक है । 
       सिन्हा ने आगे बताया कि लॉक डाउन के कारण कोविड-19 का पालन करते हुए सभी जीवन बीमा कार्यालय में आधे कर्मचारियों के साथ जीवन बीमा कार्यालय जन हित में खोली जाए ताकि आम जनता अपने प्रीमियम की किस्त जमा व मृत्यु क्लेम ले सके। जीवन बीमा निगम में समय पर प्रीवियम जमा नहीं करने पर अतिरिक्त राशि देनी पड़ती है तथा कोविड-19 काल में लगातार हो रहे मृत्यु दर में वृद्धि के कारण आए दिन जिनका प्रीमियम समय से जमा नहीं हुआ है अगर वह व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो डेथ क्लेम लेने में आम जनता को भारी भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में मानवता के आधार पर कलेक्टर महोदया को चाहिए कि कॉविड-19 प्रोटोकॉल के तहत आधे कर्मचारी अधिकारियों के साथ जीवन बीमा कार्यालय भी खोली जाए ताकि मृत्यु उपरांत आश्रितों को मृत्यु क्लेम करने में परेशानी न हो।

LIC द्वारा बीमाधारको का प्रिमियम प्राप्त करने व मृत्यु पश्चात क्लेम सेटल करने हेतू कोरबा का कार्यालय खोलने की अनुमति दी जाय

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ 7000727330

 
 
कोरबा।
 
 * भारतीय जीवन बीमा निगम के कैन्द्रय मुख्यालय से जारी  इस आदेश के बावजूद कोरबा की ब्रांच बंद रहनी बताई जा रंही है*
 
    एक ओर जंहा  "क्लेम"सेटल नही हो २हे वंही दुसरी तरफ पुरानी बीमा पालिसी के प्रिमियम के चेक/ड्राफ्ट भी नही लिये जा रहे है।
प्रिमियम की ग्रेस पिरियड की अवधि समाप्त हो जाने के बाद भी निगम द्वारा  अब तक पेनाल्टी माफ नही किये जाने का आदेश जारी  किया है। पालिसी धारको के मध्य चिन्ता का विषय बन गया है। जबकि ६त्तीसगद सहित बिलासपुर  जोन के कई शहर बिलासपुर शहर एवं पत्थलगांव जैसे छोटे शहर में में खुलने के आदेश स्थानीय कलेक्टर द्वारा जारी कर दिया जाना बताया जाता है
 
*समय प्२ अथवा ग्रेस पिरियड के समाप्ति होने के पूर्व  बीमा निगम द्वारा चेक इत्यादि नही लेने के कारणों के बीच यदि किसी की मृत्यु हो जाती है तब बेवजह समय प्रिमियम अदा नही करने का आरोप लगेगा जिसका अस२ हितग्राही के क्लेम प्२ भी पड़ सकता है।*
 
आनलाईन राशि अभी व्यवहारिक रूप से ग्रामीण  अथवा अन्य स्थलो प्२ गई तकनिकी खामियों की वजह से सफल नही है।
 
कोरबा कलेक्टर महोदया को भाजिबिनि के उपरोक्त आदेश के तहत अति आवश्यक उपरोक्त दोनो कार्यो हेतू  कोविड नियमों के तहत कम से कम कोरबा के कोई एक ब्रांच न्पूनत्म 33%कर्मचारी के साथ खोलने की अनुमति तत्काल दी जानी चाहिये ।
ब्यूरो चीफ

कोरबा DEO का अनोखा आदेश:संक्रमित होने के बावजूद कर्मचारीयों को होना होगा उपिस्थत

 .निर्मल जैन,7000727330

 

कोरबा। कोरबा जिला  एक बार फिर चर्चा में हैं।  DEO सतीश पाण्डे द्द्वारा जारी आदेश के मुताबिक केवल कोविड पॉजिटिव शिक्षकों को ही 14 दिन का अवकाश दिया जाएगा मगर घर में किसी के पॉजिटिव आने की वजह से शिक्षकों को होम आइसोलेशन नहीं मिलेगा। शासकीय कर्मचारियों को कर्तव्य स्थल पर आना पड़ेगा।

क्या कहता है कोविड प्रोटोकॉल?

कोविड प्रोटोकॉल के मुताबिक किसी परिवार में एक भी सदस्य के संक्रमित आने पर उसे अलग कर शेष सदस्यों को भी होम आइसोलेट ही रहना है, बाहर नहीं निकलना है और कोई निकल गया तो एफआईआर दर्ज हो रही है तब ऐसे में शिक्षा विभाग अपना अलग निर्देश जारी कर रहा है।

जिला शिक्षा अधिकारी का अलग ही कानून

इस जिले में कोरोना काल के नियमों को अपने काम और जरूरत के अनुसार बनाया और तोड़ा जा रहा है। इससे भय, आक्रोश और दुविधा के हालात बन रहे हैं। वर्चुवल बैठक के बाद शिक्षकों को भेजे जा रहे आवश्यक सूचना में जिला शिक्षा अधिकारी एवं विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा दिए गए निर्देश के हवाले से कहा जा रहा है कि बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी एवं विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा दिए गए निर्देश–

  • जिन शिक्षकों की अन्य कार्यों में ड्यूटी लगी है उन्हें छोड़कर बचे हुए सारे शिक्षक/ व्याख्याता प्रतिदिन नियमित रूप से विद्यालय आएंगे।
  • विद्यालय आकर एक्टिव सर्विलेंस के कार्य में सहयोग करेंगे।
  • प्रतिदिन लगभग 50 घरों का एक्टिव सर्विलेंस करना है। दिए गए प्रपत्र में जानकारी जमा की जानी है।
  • नो वर्क नो पेमेंट के सिद्धांत पर कार्य किया जाएगा। प्रत्येक शिक्षक को ड्यूटी करना आवश्यक है। उपस्थिति पत्रक के हस्ताक्षर के आधार पर ही वेतन आहरण किया जाएगा।
  • केवल कोविट पॉजिटिव शिक्षकों को ही 14 दिन का अवकाश दिया जाएगा। घर में किसी के पॉजिटिव आने के कारण शिक्षकों को होम आइसोलेशन नहीं मिलेगा। शासकीय कर्मचारियों को कर्तव्य स्थल पर आना ही है।
  • मेडिकल लिव देने वाले सभी शिक्षकों को मेडिकल बोर्ड के सामने उपस्थित होकर मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा
  • राष्ट्रीय विपदा की इस घड़ी में सभी शासकीय कर्मचारियों से अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूर्ण इमानदारी से किए जाने की अपेक्षा की जाती है।
  • ब्यूरो

कोतवाली पुलिस ने लाकडाउन का उल्लघन करने वाले 45 लोगों पर FIR व 42 के वाहन सीज

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ 7000727330

कोरबा –(मोर न्यूज)// वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रभावी रोकथाम हेतु शहर मे पूर्ण लॉक डाउन घोषित किया है । इसके बावजूद भी लोग लॉक डाउन का उल्लघंन कर अनावश्यक बिना वजह घर से बाहर घूम रहें है इसी तारतम्य मे श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय कोरबा श्री अभिषेक मीणा के निर्देश पर श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय श्री कीर्तन राठौर एवं नगर पुलिस अधीक्षक महोदय कोरबा श्री योगेश साहू के मार्ग दर्शन पर निरीक्षक श्री दुर्गेश शर्मा थाना प्रभारी कोतवाली , चौकी प्रभारी मानिकपुर श्री अशोक पाण्डेय , चौकी प्रभारी रामपुर श्री मयंक मिश्रा एवं चौकी प्रभारी सीएसईबी श्री आशीष सिंह के नेतृत्व मे शहर मे लॉक डाउन का उल्लघंन कर यह जानते हुये कि संकामक महामारी की बिमारी कोविड -19 वायरस कोरोना संक्रमण के फैल जाने के समय में बिना उचित कारण बिना पास के घूमते पाये जाने वाले 45 व्यक्तियों के विरूद्ध महामारी अधिनियम की धारा 269,270 भादवि के तहत् प्रकरण पंजीबद्ध कर कार्यवाही की गई है । इसी प्रकार शहर मे अनावश्यक बिना काम के घूमने वाले 42 व्यक्तियों के वाहन को सीज कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है ।

नाम आरोपीगण 01. किशोर मंडल पिता स्व . जितेन्द्र मंडल , उम्र 43 वर्ष , सा . पोड़ीबहार थाना कोतवाली कोरबा 02. गोरेलाल पटेल पिता दुकालु राम , उम्र 54 वर्ष , सा . पोड़ीबहार थाना कोतवाली कोरबा 03. राजू अग्रवाल पिता स्व . प्रभाती लाल , उम्र 58 वर्ष , सा , पोड़ीबहार थाना कोतवाली कोरबा 04. रमेश कुमार सारथी पिता राजकुमार सारथी , उम्र 34 वर्ष , सा . कांशीनगर थाना कोतवाली कोरबा 05. रमेश दास पिता रामदास महंत , उम्र 21 वर्ष , सा . कांशीनगर थाना कोतवाली कोरबा 06. के रमेश पिता के रम्हैया , उम्र 34 वर्ष , सा . सीएसईबी कालोनी कोरबा 07. धीरज चौहान पिता कन्हैया , उम्र 24 वर्ष , सा . ढोढीपारा कोरबा 08. द्वारिका प्रसाद पिता भरतलाल तंबोली , उम्र 29 वर्ष , सा . पंप हाउस कोरबा 09. हीरादास पिता मिलन दास , उम्र 25 वर्ष , सा . मैगजीन भांठा कोरबा 10. शत्रुहन अगरिया पिता राजेश , उम्र 26 वर्ष , सा . कोटमेर 11. मोह . अनसाद पिता असलम , उम्र 28 वर्ष , सा . सुभाष ब्लाक कोरबा 12. राजेश पटेल पिता रामलाल पटेल , उम्र 22 वर्ष , सा . बुधवारी कोरबा 13. सुरेन्द्र सिंह सारथी पिता अमृत लाल , उम्र 42 वर्ष , सा . डुमरटोल 14. मनोज कुमार पिता रामलखन , उम्र 35 वर्ष , सा . बुधवारी 15. विनय कुमार नायडू पिता किशोर नायडू , उम्र 30 वर्ष , सा . पानीटंकी कोरबा 16. हरीश कुमार पिता ज्ञानचंद , उम्र 40 वर्ष , सा . सीतामणी कोरबा 17. सुरज साहू पिता श्याम किशोर , उम्र 23 वर्ष , सा . शांतिनगर बाल्को 18. दीपक केशरवानी पिता रामबाबू , उम्र 25 वर्ष , सा . कांशीनगर कोरबा 19. श्याम कुमार पिता रामचरण , उम्र 39 वर्ष , सा . मानस नगर कोरबा 20. गोलू साहू पिता मुरारी साहू , उम्र 28 वर्ष , सा . एसएस प्लाजा के पीछे कोरबा 21. मुन्ना केशरवानी पिता रामजी केशरवानी , उम्र 52 वर्ष , सा . चिमनीभटठा मानिकपुर 22. राकेश कुमार साहू पिता सोनालाल , उम्र 32 वर्ष , सा . पंप हाउस कोरबा 23. विरेन्द्र कुमार पिता स्व . नत्थुलाल जैन , उम्र 55 वर्ष , सा . पथरीपारा कोरबा 24. हेमंत गुप्ता पिता हरनारायण , उम्र 32 वर्ष , सा . चिमनभटठा मानिकपुर 25. अजय लहरे पिता मार्कंडेय लहरे , उम्र 32 वर्ष , सा . मानिकपुर 26. रवि प्रकाश गोड़ पिता परमानंद सिदार , उम्र 21 वर्ष , सा , सीतामणी कोरबा 27. योगेश बंजारे पिता लखन राम , उम्र 25 वर्ष , सा . रामनगर मानिकपुर 28. सावन कुमार सारथी पित मोतीलाल , उम्र 26 वर्ष , सा . रामनगर कोरबा 29. धनीराम मरकाम पिता सपुरन सिंह , उम्र 22 वर्ष , सा . पुरानी बस्ती कोरबा 30. अमन देवांगन पिता श्याम लाल , उम्र 22 वर्ष , सा . एमपी नगर कोरबा 31. कृष्णा सारथी पिता चुन्नी लाल , उम्र 22 वर्ष , सा . पोखरीपारा कोरबा 32. अंकित जायसवाल पिता सनत कुमार , उम्र 22 वर्ष , सा . कांशीनगर कोरबा 33. सुभाष अग्रवाल पिता द्वारिका प्रसाद , उम्र 36 वर्ष , सा , सीतामणी कोरबा 34. रामाधार पटेल पिता पंचराम पटेल , उम्र 60 वर्ष , सा . भिलाई खुर्द उरगा 35. राधेश्याम आदिले पिता परसराम आदिले , उम्र 53 वर्ष , सा . पुरानी बस्ती कोरबा 36. शिवालाल राठौर पिता चीनी लाल राठौर , उम्र 35 वर्ष , सा , कोहड़िया कोरबा 37. सुनील दास महंत पिता भुनेश्वर दास , उम्र 25 वर्ष , पथरीपारा कोरबा 38. दुर्गेश साहनी पिता स्व . बाबूराम साहनी , उम्र 25 वर्ष सा . कुंआभट्ठा कोरबा 39. अरविंद साहू पिता जागेश्वर साहू , उम्र 34 वर्ष , सा . कुंआभट्ठा कोरबा 40. अमित मिंज पिता जयप्रकाश , उम्र 25 वर्ष , सा . सिंचाई कालोनी रामपुर कोरबा 41. भुनेश्वर सिंह मरकाम पिता सुनाराम , उम्र 34 वर्ष , सा . सिचाई कालोनी रामपुर 42. भानुप्रताप जलतारे पिता अमरूराम , उम्र 25 वर्ष , सा . सिचाई कालोनी रामपुर 43. आदित्य चौहान पिता स्व . ईश्वर प्रसाद , उम्र 40 वर्ष , सा . कांशी नगर कोरबा 44. महेन्द्र कुमार बरेठ पिता रतन लाल , उम्र 25 वर्ष , सा . सीएसईबी कालोनी कोरबा 45. लक्ष्मीनाराण गोड़ पिता मयाराम गोड़ , उम्र 32 वर्ष सा . रामसागर पारा,कोरबा।

र्फतस द्वारा अपील की गई है कि ३स महामारी में लाकडाउन के नियमो व आदेश  का पालनकरें।


कोरबा में विवाह कार्यक्रम पर जिला प्रशासन का छापा; निर्धारित सख्या से ज्यादा मेहमानी,जुर्माना हुआ 10,000

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ 94252-24001

कोरबा। आज सॉय कोरबा ब्लॉक के गोढ़ी ग्राम में विवाह कार्यक्रम  में मोती राम राजे के घर में निर्धारित संख्या से अधिक संख्या में लोगों की उपस्थिति पाई गई।
जिसके कारण जिले की संयुक्त प्रशासनिक टीम के द्वारा 10000 की जुर्माना राशि लगाई गई और नियमों के पालन करने की समझाइश दी गई। 
कार्यवाही स्थल प२ सूचना पश्चात नायब तहसीलदार मनहरण राठिया, खाद्य सुरक्षा अधिकारी विकास भगत, खाद्य सुरक्षा अधिकारी ,आर आर  देंवागान सहित एक खाछ निरीक्षक की टीम ने यह कार्यवाही की ।

*सहायक आयुक्त ने अनुपस्थित व संक्रमित छात्रावास अधीक्षको से रिपोर्ट के साथ जवाब मागा*

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ 7000 727330

.कोरबा/  जिले में कोविड  संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने डॉक्टरों के साथ अब छात्रावास अधीक्षकों की ड्यूटी भी कोरोना वारियर्स के रूप में जिला स्तरीय एवं होम आइसोलेशन मॉनिटरिंग विभाग में लगाई  है।
 जिसमे  कई छात्रावास अधीक्षकों की ड्यूटी भी है।
 
कोरबा के सहा,आयुक्त और सहायक नोडल अधिकारी, होम आइसोलेशन सेल के श्री, एस के वाहने ने कार्य में अनुपस्थित रहने पर छह छात्रावास अधीक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। हालांकि, इनमें से कुछ अधीक्षक कोरोना पॉजिटिव हैं,व स्वेच्छा से बाहर भी है जबकि बगैर हैडक्वार्टर को सूचना दिये बगैर अनुमति के बाहर जाना आदेश विपरित है।
अनुपस्थित अधीक्षको ने आरोप लगाया है कि वाहने ने उनके आवेदन और कोरोना रिपोर्ट को व्हाट्सएप पर स्वीकार करने से इनकार कर दिया है/ जबकि  जानकारों के अनुसार अनुपस्थित अधीक्षको द्वारा मौखिक रूप से कोविड संक्रमण का हवाला देकर मुख्यालय में उपस्थिति नही होने से कोविड प्रोटोकाल का उलंघन बताया है।
३स मामले की जानकारी मिलने पर
सहायक आयुक्त श्री एस के, वाहने से हमारे प्रतिनिधि द्वारा पुछने पर बताया कि जो करोना पॉज़िटिव है उन्हें उपस्थित होने की आवयकता नहीं वे अपने जवाब के साथ पॉज़िटिव का प्रमाणपत्र लगाकर भेज सकते हैं।

सब्जी विक्रेताओं को पास नहीं, पुलिस कर रही है परेशान -सिन्हा

 ब्यूरो चीफ,निर्मल जैन 

 कोरबा । सब्जी विक्रेता कल्याण समिति जिला कोरबा के सचिव विनोद सिन्हा ने जारी एक बयान में बताया कि नगर निगम कोरबा द्वारा दिनांक 17 अप्रैल 2021 को सब्जी व फल विक्रेताओं की एक बैठक लेकर बताया गया था कि वेंडर के द्वारा घूम- घूम कर कॉलोनी व मोहल्लो में सब्जी बेचने वालों को निगम पास जारी करेगी लेकिन निगम ने आज दिनांक तक किसी भी सब्जी विक्रेताओं का पास जारी नहीं किया जिसके फलस्वरूप सुबह 6:15 बजे मानिकपुर पुलिस चौकी द्वारा दो सब्जी विक्रेताओं को पकड़ा और पूछा कि कहां जा रहे हो सब्जी विक्रेता श्री कमल कुमार पटेल पिता रामलाल पटेल मकान नंबर 844 वार्ड क्रमांक 30 मानिकपुर कोरबा ने बताया कि मैं दादर किसान से थोक में सब्जी खरीदने जा रहा हूं। सब्जी लाकर वेंडर ठेला के माध्यम से घूम-घूम कर विक्रय करूंगा । पटेल ने पुलिस को जिला सब्जी विक्रेता कल्याण समिति द्वारा जारी परिचय पत्र दिखाने के बावजूद पुलिस ने ₹500 का चालान काट दिया । 
    सिन्हा ने आगे बताया कि नगर निगम कोरबा द्वारा वेंडर के माध्यम से सब्जी क्रय के पूर्व सभी इच्छुक वेंडर सब्जी विक्रेताओं को परिचय पत्र जारी करने की बात कही थी लेकिन आज दिनांक तक निगम केवल मौखिक खानापूर्ति कर गरीबों को परेशानी में डाल रही है । सिन्हा ने जिला कलेक्टर व निगम आयुक्त से आग्रह किया है कि पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही की जानकारी लें तथा तथा वेंडर सब्जी व फल विक्रेताओं को परेशान ना करे । इस घटना की तत्काल संज्ञान ले । माननीय मुख्यमंत्री द्वारा बार-बार जिला प्रशासन को निर्देशित किया जा चुका है कि क्षेत्र में बेंदरों के माध्यम से सब्जी विक्रय अधिक से अधिक सुनिश्चित किया जाए , लेकिन नगर निगम मौखिक आदेश पर मुख्यमंत्री जी द्वारा दिशा-निर्देश की अवहेलना की जा रही है क्योंकि जब वेंडर विक्रेता को पुलिस या प्रशासन समयावधि के अंदर अगर परेशान करेंगे तो फिर सब्जी विक्रय व आम जनता को सब्जी मिलने में कठिनाई होगी । प्रशासन यह सुनिश्चित करें कि सब्जी खरीदने और बेचने तक किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं होनी चाहिए।
ब्यूरो चीफ

*मरीजों की मदद के लिए एनकेएच व जीवन आशा कोविड हॉस्पिटल ने जारी किए कई हेल्प लाइन नंबर*

 कोरबा ।कोविड हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती मरीज के परिजन मोबाइल से जानकारी के अलावा बात भी कर सकते हैं, यह सुविधा इसलिए चालू की गई हैं कि मरीज हॉस्पिटल में अपने को अकेला न समझे और उसका मनोबल भी बढ़ा रहे।

NKH जीवन आशा और न्यू कोरबा हॉस्पिटल के तीसरे व चौथे मंजिल को कोविड हॉस्पिटल चलाने की अनुमति मिली हैं। न्यू कोरबा हॉस्पिटल के तीसरे व चौथे मंजिल के लिये अलग से रास्ता बनाया गया है। वहीं ओपीडी सहित प्रथम व दुतीय तल के मरीजों के लिये मुख्यद्वार से आवागमन कि सुविधा किया गया। जिसे कोविड से पूर्णता सुरक्षित रखा गया है इस हॉस्पिटल में इलाजरत मरीज व उनके परिजनों के मध्य सतत संवाद हो सके इसके लिए कोविड हॉस्पिटल में मैनेजर की नियुक्ति भी अलग से की गई है जो मरीज और उनके परिजन के बीच होने वाले कन्फ्यूजन को दूर करेंगे। जारी नम्बर 24 घण्टे चालू रहेगा,नम्बर पर परिवार का कोई भी सदस्य मरीज अथवा हॉस्पिटल स्टॉप से मरीज के स्वास्थ्य संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकता हैं। यह सुविधा इसलिए चालू की गई हैं क्योंकि अक्सर यह सुनने को मिलता हैं कि कोविड हॉस्पिटल में भर्ती मरीज पूरी तरह से अपने परिवार से कट जाते है न तो कोई उनसे मिल सकता न ही बात कर सकता हैं। स्थिति ऐसी बन जाती हैं कि मरीज दहशत में आ जाते हैं और इसका असर उनके दिमाग मे भी पड़ता हैं। इन्ही सभी बातों को ध्यान में रखते हुए NKH जीवन आशा और न्यू कोरबा के दोनों कोविड हॉस्पिटल के लिये एक कस्टमर केयर नम्बर 6232033300 भी जारी किया है। NKH कोरबा के लिए 6 नम्बर जारी किया गया है जिसमें रिसेप्शन .6232033210, मैनेजर ऑन ड्यूटी 6232033235, बिल के संबंधित जानकारी के लिए-6232033223,इलाज संबंधित-6232033231,
पेशेंट केयर -6232033237, सिटी स्कैन पंजीयान -7987953485 के अलावा खाने कि जानकारी के साथ अन्य आवश्यक जानकारी हेतु-6232033236
जारी किया हैं.इसी तरह NKH जीवन आशा जमनीपाली के लिये भी ये नम्बर रिसेप्शन .6232033233, मैनेजर ऑन ड्यूटी 6232033202, बिल के संबंधित जानकारी के लिए-6232033296,इलाज संबंधित-6232033298,
पेशेंट केयर -6232033163 के अलावा खाने कि जानकारी के साथ अन्य आवश्यक जानकारी हेतु-6232033297
जारी किया हैं. कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए मरीजों को 24 घंटे सुविधा मिलेगी। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए NKH हॉस्पिटल की ओर मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। इन नंबरों पर घर बैठे कॉल कर इमरजेंसी व अन्य सेवा ले सकेंगे।


NKH में कोविड अस्पताल हेतू भर्ती ,;अभ्यार्थी आवेदन कर सकते हैं,,,

 कोरबा/ : एनकेएच कोरबा में पृथक से बन रहे कोविड हास्पिटल के लिए विभिन्न पदों के लिए तत्काल आवेदन आंमत्रित किये गये है

 जिसमें स्टाफ नर्स, वार्ड बॉय/गर्ल, हाऊस किपिंग, फार्मासिस्ट, क्वालिटी मैनेजर, डायटेशियन तथा सिक्यूरिटी गार्ड के पदों भर्ती की जानी है। 
इच्छुक अभ्यर्थी जो उक्त पदों की पात्रता रखते हैं 
वे इस मोबाईल 6232033222 नम्बर पर 
संपर्क कर सकते है।

बालको सिविक सेंटर में तय समय के बाद दुकान खोलने पर 2000 जुर्माना

   निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ7000727330

बालको(कोरबा)। जिला टाक्स फो र्स समिति द्वारा करोना के मद्देनजर मानिटरिंग कमेटी द्वारा आज शहर के अतिरिक्त बालको नगर में भी निगरानी की गई जिसमे अनेक लोगो को समझाइस दी गई जबकि एक दुकान तय समय से अधिक खुलने की वजह से उस प्२ 2000/- रूपये का जुर्माना लगाया गया।
टीम में नायब तहसील दार सोनू अग्रवाल,खाछ निरीक्षक शुभम मिला,सेफ्टी आफिसर आर आर देवांगन व विकास भगत शामिल २हे।
इसके पूर्व कोरबा में अधिक मुल्य पर आलू बेचने पर भी जुर्माने की कार्यवाही की कार्यवाही की गई।उम्मीद की गई है कि कड़ी से कड़ी कार्यवाही धोनी चाहिये।
 
ब्यूरो रिपोर्ट

*भ्रामक खबरों से रहें दूर:दुकाने रात 9 तक खुलेंगी *

 *रेस्टोरेंट एवं होटल-ढाबा में डायनिंग दस बजे तक, होम डिलीवरी की सुविधा रात साढ़े 11 बजे तक

0* शराब दुकानों का समय भी निर्धारित, सुबह नौ से रात नौ तक खुली रहेंगी शराब दुकानें
कोरबा (मोर न्यूज)। जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए व्यापारिक प्रतिष्ठान एवं दुकानों के खुलने-बंद होने का समय तय करने के बाद आज शराब दुकानों का भी समय निर्धारित कर दिया गया है। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। जिले की 12 देशी, 18 विदेशी एवं सात प्रीमियम वाइन शॉप अब सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक ही खुली रहेंगी। नगरीय क्षेत्र के दुकानों के खुलने-बंद होने का समय सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक निर्धारित किया गया है। दुकानों में खरीददारी के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने एवं कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने और ग्राहकों से पालन कराने की जिम्मेदारी दुकानदारों को दी गई है। कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन, दुकानों में भीड़ इक_ी होने, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन नहीं करने, मास्क के बिना खरीदी-बिक्री करने पर संबंधित व्यक्तियों के साथ-साथ दुकानदारों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया में आज प्रकाशित भ्रामक खबर को भी जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है और सोशल मीडिया संचालक सभी लोगों से कोरोना के संबंध में खबरों के प्रकाशन या उन्हें वायरल करने में ऐहतिहात और विशेष सावधानी बरतने की भी अपील की है।
जिले के शहरी क्षेत्रों में रेस्टोरेंट, होटल-ढाबा में केवल इन डोर डायनिंग के लिए सुबह आठ बजे से रात 10 बजे तक समय तय किया गया। रेस्टोरेंट, होटल, ढाबा से केवल टेक अवे तथा होम डिलीवरी की सुविधा के लिए रात साढ़े 11 बजे तक का समय तय किया गया। पेट्रोल पंप एवं मेडिकल स्टोर्स इस नियंत्रण से मुक्त रहेंगे तथा अपने निर्धारित समय पर खुलेंगे। सभी व्यापारियों तथा उनके कर्मचारियों सहित ग्राहकों को भी खरीददारी के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य होगा। समस्त व्यापारिक गतिविधियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी अनिवार्य होगा। सभी दुकानों के सामने दुकानदारों को स्वयं फ्लैक्स छपवाकर दुकानों के खुलने एवं बंद होने के समय को प्रदर्शित करना होगा। सभी व्यापारियों को अपने दुकान में बेचने के लिए मास्क रखना अनिवार्य होगा ताकि बिना मास्क पहने खरीददारी करने आए ग्राहकों को मास्क का विक्रय किया जा सके उसके उपरांत ही वस्तुओं की खरीददारी की जाए। प्रत्येक दुकान में स्वयं तथा आगंतुकों के उपयोग के लिए सेनेटाइजर रखना अनिवार्य होगा। किसी बाजार या किसी क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन घोषित हो जाता है तो उस क्षेत्र के समस्त व्यवसाय और दुकानें बंद कर दिए जाएंगे। उस क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन के समस्त नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। यदि किसी व्यापारी के द्वारा उपरोक्त शर्तों में से किसी शर्त का उल्लंघन किया जाता है तो उसकी दुकान को 15 दिन के लिए सील कर बंद करने और नियमानुसार निर्धारित जुर्माना या महामारी अधिनियम के तहत वैधानिक कार्रवाई भी की जाएगी।