"लात बेल्ट से सरेराह शराबी युवक को पुलिस का पिटते हुए वीडियो वायरल मुंगेली जिले की घटना,पुलिस का अमानवीय चेहरा आया सामने"

 "छत्तीसगढ़ पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है,हरदम विवाद में रहने वाला पुलिस विभाग,और अगर जब वर्दी में दाग लगता ही हो तो फिर पुलिस अपने इस आदत को सुधारने का काम क्यों नही करती है,क्या पुलिस थाने से लेकर बीच चौराहे तक किसी को भी लात-घूंसों से पीट सकती है"

मुंगेली ब्यूरो:-
दरसल पूरा मामला मुंगेली जिले का है जहाँ के एक व्यस्ततम चौक  में पुलिस का एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ है...
वायरल वीडियो में पुलिस वाले बड़ी बेरहमी से एक युवक की पिटाई कर रहे हैं, पहले सिपाही पीटते हैं.. फिर टीआई भी पहुंच जाते हैं और अपनी वर्दी की हनक दिखाते हुए लातों से मारने लगते हैं… आम आदमी हो या फिर अपराधी.. बीच सड़क में आपको किसी को बेरहमी से पीटने का अधिकार किसने दिया.. कानून की किस किताब में लिखा है कि खाकी वर्दी को गुंडागर्दी करने की छूट है… उसे लायसेंस मिला है, कभी भी,कहीं भी,किसी को भी.. चाहे थाने के भीतर हो, या फिर बीच सड़क पर.. चौक-चौराहों पर,किसी को भी पीटना शुरु कर दे… डीजीपी साहब कानून की यह कौन सी किताब है जिसमें ऐसी छूट खाकी वर्दी पहनने वालों को मिली है..
 
वीडियो में जो टीआई दिख रहे हैं उनका नाम आशीष अरोरा है… और साथ मे दो सिपाही है अगर उस व्यक्ति ने कोई गुनाह किया था तो उसे वहां से ले जाते और उस पर कानून के तहत कार्रवाई करते लेकिन टीआई साहब खुद मारपीट कर रहे हैं…
 ऐसे में सवाल तो यही उठता है कि इतना बड़ा क्या गुनाह हुआ होगा के पुलिस को इनके साथ ये बर्ताव करना पड़ा।अधिकारी से इस मामले में जब हमने बात की तो वे जांच करवाने और कार्यवाही की बात कहते है।अधिकारी उस व्यक्ति को शराब के नशे में होने की बात कहकर कारवाही की बात कहते है तो उनके नजर में बीच सड़क पर लात जूतों से पीटना गुनाह नहीं है लेकिन शराब पीना घटना का पहलू है.. एसपी साहब आपकी जानकारी में बता दूं कि सरकार ही शराब बेच रही है… और शराब पीना अभी तक गुनाह भी नहीं है।
 
ब्यूरो रिपोर्ट

"गड्ढे में गिरा राजस्थानी उट मशक्कत के बाद नगरपालिका की टीम ने बाहर निकाला"

 मुंगेली। राजस्थानी खानाबदोश लोगों के बीमार हालत में छोड़ा गया ऊंट गौरव पथ स्थित नाले में गिरा पड़ा था। आसपास के लोगों ने इसकी सूचना नगर पालिका कार्यालय में दिए। नगर पालिका की टीम ने जेसीबी की सहायता से घायल ऊंट को गार्डन में ले जाकर ऊंट का उपचार करवा रही है। शहरी क्षेत्र में पिछले 15 दिनों से घायल ऊंट सड़क पर घूम रहा था। जो कही पर भी बैठ जाता था। बताया जाता है कि राजस्थान के खानाबदोश लोग के साथ क्षेत्र में आए हुए थे। ऊंट के पैर में चोट एवं बीमार हो जाने की वजह से वह उसको जिले में ही छोड़कर चले गए। कमजोर हो चुका ऊंट कृषि उपज मंडी बस स्टैण्ड के पास सुभाष ट्रेडर्स के सामने खुले नाली में गिरा पड़ा था। चैड़ी एवं गहरी नाली के चलते ऊंट के सिर्फ गर्दन ही नजर आ रही थी। आसपास के लोगों ने ऊंट को निकालने की कोशिश की। लेकिन लोगों को सफलता नहीं मिल पाई। लोगों की सूचना पर नगर पालिका की टीम जेसीबी के साथ पहुंची और किसी तरह बीमार और घायल ऊंट को नाले से बाहर निकाला गया। पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अनिल सोनी, शहर अध्यक्ष रोहित शुक्ला आदि लोगों ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी से बात कर ऊंट को नगर पालिका के स्टेडियम स्थित गार्डन में रखा गया। वहां उसके उपचार की व्यवस्था भी की जा रही है।

 
ब्यूरो रिपोर्ट

"सरल सहज मंत्री जी जिनकी लोग मिसाल देते है,आज कार्यर्ताओं में फिर भर गए जोश"

 मुंगेली। स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव की सरलता किसी से छिपी नहीं है। टीएस बाबा सिर्फ प्रदेश में हैं नहीं, बल्कि पूरे देश में अपने सहज, सरल व सौम्य स्वभाव से जाने जाते हैं। यही वजह है कि लोगों में उनकी लोकप्रियता भी कुछ जुदा किस्म का है। टीएस बाबा का सरल और दिलचस्प अंदाज मुंगेली में आज उस वक्त देखने को मिला, जब वे स्कूटी पर सवार होकर हेलीपैड से कलेक्ट्रेट पहुंचे। फिर क्या था, बाबा साहब के पीछे-पीछे अधिकारी और कांग्रेसी नेता भी बाइक पर सवार होकर चलने लगे। बता दें कि मंत्री टीएस सिंहदेव मुंगेली जिले के प्रभारी मंत्री हैं। प्रभारी मंत्री होने के नाते आज वे डीएमएफ को लेकर अधिकारियों की बैठक लेने हेलीकॉप्टर से मुंगेली पहुंचे थे। हेलीपैड पर प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में कांग्रेसियों की भीड़ प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव का स्वागत करने पहुंची थी। स्वागत के बाद बाबा कलेक्ट्रेट जाने के लिए लक्जरी कार की बजाय एक स्थानीय कांग्रेसी नेता की स्कूटी पर सवार होकर करीब एक किलोमीटर का सफर तय कर मीटिंग लेने कलेक्ट्रेट पहुंचे। इसके बाद कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का जोश और दोगुना हो गया। इधर मंत्रीजी को बाइक पर सवार होते देख अधिकतर अधिकारी व कांग्रेसी कार्यकर्ता भी बाइक पर सवार होकर चलने लगे।

 
ब्यूरो रिपोर्ट

"शिक्षक रास्ट्रनिर्माता एवँ पूज्यनीय,कृष्णा बघेल"

 *शिक्षक राष्ट्र निर्माता एवं पूजनीय- कृष्णा बघेल।*

 
*शिक्षक दिवस पर शिक्षकों का नगद राशि, प्रशस्ति पत्र, शाल एवं श्रीफल से किया गया सम्मान।*
 
*देवेश दुबे रिपोर्टर, मो 7999216722*
 
*मुंगेली-:* शिक्षक दिवस के अवसर पर सरदार वल्लभ भाई पटेल सामुदायिक भवन पुराना बस स्टैण्ड मुंगेली में मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण के अंतर्गत शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले वृक्षारोपण एवं नवाचार कार्य के आधार पर जिले के तीनों विकासखण्डों के प्राथमिक शाला के 9 शिक्षकों को शिक्षा दूत से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा बघेल ने संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता एवं पूजनीय होते है। उनके पढ़ाये विद्यार्थी राजनेता, कलेक्टर, डाॅक्टर, इंजीनियर जैसे उच्च पदों पर कार्यरत है। उन्होने शिक्षकों से कहा कि और अधिक मेहनत कर जिले को आगे बढ़ायें, ताकि विद्यार्थी अपने स्कूल व माता पिता का नाम रोशन कर सकें। उन्होने शिक्षक दिवस पर सभी शिक्षकों को बधाई दी।
जिला पंचायत उपाध्यक्ष शत्रुहन चंद्राकर ने कहा कि गुरूजन हमारे पूज्य वंदनीय है। उनके आशीर्वाद से आगे बढ़ते है। उन्होने कहा कि शिक्षक समर्पित होकर विद्यार्थियों को शिक्षा देते है। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सावित्री सोनी ने कहा कि अशिक्षा रूपी अंधकार को दूर करने का प्रयास करते है। एक अच्छे शिक्षक को चरित्रवान होना चाहिए। विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा देकर आगे बढ़ायें। उनके पढ़ाये बच्चे उच्च पदों पर आसीन है।
कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कहा कि आज का दिन महत्वपूर्ण है क्योंकि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों का सम्मान किया जाता है। उन्होने कहा कि प्रदेश सहित जिले में शिक्षा गुणवत्ता पर काम किया जा रहा है। जिले में हम होंगे कामयाब के तर्ज पर 10वीं और 12वीं बोर्ड के विद्यार्थियों को शिक्षा दी जा रही है। जिले में शिक्षकों की कमी के बाद के बावजूद बेहतर शिक्षा देने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक सी डी टंडन ने कहा कि गुरूजन विश्ववंदनीय है। शिक्षक राष्ट्र के नवनिर्माण में अहम भूमिका निभाते है। जिला शिक्षा अधिकारी जी पी भारद्वाज ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि वर्ष 2016-17 से उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण पुरस्कार दिया जा रहा है। उन्होने बताया कि वर्ष पहली बार उत्कृष्ट प्रधान पाठक एवं प्राचार्यो को ज्ञानदीप से पुरस्कृत किया जा रहा है। कार्यक्रम का संचालन अशोक सोनी ने किया।
*उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों का सम्मान-:* 
शिक्षा, वृक्षारोपण, अनुशासन नवाचार के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को ज्ञानदीप के अंतर्गत क्रमशः 7 हजार, 5 हजार रूपए नगद राशि, प्रशस्ति पत्र, शाल एवं श्रीफल से सम्मानित किया गया। इनमें मुंगेली विकासखण्ड के प्राथमिक शाला फास्टरपुर की सहायक शिक्षक श्रीमती रेणु क्लाडियस, प्राथमिक शाला लिमहा की श्रीमती सपना ठाकुर, लोरमी विकासखण्ड के प्राथमिक शाला नवागांव वेंकट से श्रीमती कुसुमलता राजपूत, प्राथमिक शाला मोहनपुर से कमलेश महिलांगे, श्री कश्यप, पथरिया विकासखण्ड के प्राथमिक शाला गोइन्द्रा से जितेंद्र गेंदले, प्राथमिक शाला ककेड़ी से श्री कंवर, प्राथमिक शाला भुलनकापा से लोमेश कुमार साहू पुरस्कृत किया गया। 
इसी कड़ी में मीडिल स्कूल स्तर पर लोरमी विकासखण्ड से तिलकपुर स्कूल से रामभरोसे ठाकुर, पथरिया विकासखण्ड से अमोरा स्कूल से अश्वनी साहू को तथा उत्कृष्ट प्रधान पाठक के रूप में प्राथमिक शाला नुनियाकछार से नेमीचंद भास्कर, कोतरी स्कूल से द्वारिका दास वैष्णव, ककेड़ी स्कूल से प्रधान पाठक चिरंजीव पाठक, सतीश वैष्णव एवं पूछेली स्कूल के प्रधान पाठक को सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अनिल सोनी, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती उर्मिला यादव, सहायक परियोजना अधिकारी अजय नाथ, सहायक परियोजना समन्वयक व्ही पी सिंह, पी सी दिव्य सहित बड़ी संख्या में शिक्षकगण उपस्थित थे।

"दो बाइक की आमने सामने भिड़त मौके पर मौत"

 मुंगेली। जिले के जरहागांव थाना क्षेत्र के बरेला में दो बाइकों में आपस में जोरदार भिड़ंत हो गई। इस हादसे में दो लोगों को मौत हो गई है, जबकि एक युवक गंभीर रुप से घायल हो गया है। जिसका जिला अस्पताल में इलाज जारी है।

 
जानकारी के अनुसार सड़क हादसा बीती रात करीब 12 बजे की है। बरेला के साथ दो बाइक सवारों की आमने सामने जबरदस्त टक्कर हो गई। हादसा इतना भयानक था कि मौके पर ही कोटा निवासी भुवन सिंह और छतौना निवासी समीर राज कश्यप की मौत हो गई।
 
 
ब्यूरो रिपोर्ट