*जेल से भागने वाले 5 कैदियों में से 3 को पुलिस ने गिरफ्तार किया,पूरे मामले में 3 प्रहरी निलंबित*

रायपुर/महासमुंद- जेल से भागने वाले 5 कैदियों में से 3 को पुलिस ने पकड़ लिया है। इनमें से एक बदमाश को तुमगांव और दो को कोमाखान के पास से पकड़ा गया है। पुलिस अब पूरे कांड के बारे में पूछताछ कर रही है।
भागने के बाद छिपते फिर रहे थे कैदी-
ये जेल से भागकर करीब 10 किलोमीटर के इलाके में छिपते फिर रहे थे। पुलिस की अलग-अलग टीमें इन्हें तलाश रही थीं। दो कैदियों के बारे में पूछताछ की जा रही है। गुरुवार की दोपहर ये बेमचा इलाके में बनी जिला जेल से दीवार फांदकर फरार हो गए थे। इस मामले में जेल के एक मुख्य प्रहरी और तीन अन्य प्रहरियों को निलंबित कर दिया गया है।
जहां गार्ड अपनी जगह पर ड्यूटी में नहीं था
इस पूरे मामले में जांच कर रही ASP मेघा टेंभुरकर ने बताया कि दोपहर करीब 3 बजकर 30 मिनट के आस-पास की इस घटना में बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। अब तक हुई जांच में ये बात सामने आई है कि जिस जगह पर गार्ड की ड्यूटी होनी थी वहां पर वो था ही नहीं। करीब आधे घंटे तक दीवार पर कंबल से रस्सी बनाकर कैदी भागने का प्रयास करते रहे, मगर किसी की नजर इन पर नहीं पड़ी थी।
इसी मौके का फायदा उठाकर वो भाग गए थे। दूसरी सबसे बड़ी बात कि जिस वक्त ये कांड हुआ बैरक से बाहर कैदियों के आने का सवाल ही पैदा नहीं होता। क्योंकि उस समय किसी को बाहर नहीं रखा जाता तो ये बाहर कैसे थे, हम इन सभी एंगल पर पड़ताल कर रहे हैं।
ये कैदी हुए थे फरार-
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक भागे हुए कैदी में शामिल 33 साल का धनसाय, 24 साल का डमरूधर और 22 साल का राहुल लूट के आरोपी हैं। महासमुंद में ही इन्होंने एक वारदात को अंजाम दिया था साल 2019 से ये इसी जेल में थे। इनमें से राहुल यूपी का रहने वाला है और अन्य दो महासमुंद के ही निवासी हैं। 23 साल के दौलत को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। 21 साल का करण नशीली चीजें रखने के मामले में पकड़ा गया था, ये दोनों भी महासमुंद के ही रहने वाले हैं। पांचों ने कंबल की एक लंबी रस्सी बनाई, इसके आगे लोहे की रॉड से एंगल बनाकर उसे 21 फीट ऊंची दीवार पर फंसाया और इसी के सहारे दीवार फांदकर बाहर चले गए। 


*गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल हुआ अम्बिकापुर शहर की रमा बुधिया का नाम*

रायपुर-अम्बिकापुर शहर की श्रीमती रमा बुधिया का नाम *गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड* में शामिल हो गया है।इस बुक में 131 अर्जुन पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों पर काव्य संकलन किया गया है जिसमें अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर शोधकर्ता और रचनाकार शामिल हो रहे हैं।
श्रीमती रमा बुधिया ने भारत की फील्ड हॉकी खिलाड़ी सुंदरपुर,ओडिशा की ज्योति सुनीता कुल्लु पर काव्य शोध कर उसे चयन के लिए भेजा,जिसका चयन *गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड* में हुआ।रमा बुधिया को इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन की तरफ़ से भी ई सर्टिफिकेट दिया गया है।रमा बुधिया ने बताया कि ज्योति सुनीता कुल्लु भारतीय टीम की कप्तान भी रहीं,इन्होंने सन् 2002 में कॉमनवेल्थ गेम्स और सन् 2003 में एफ्रो एशियन गेम्स का स्वर्ण भी जीता। 2007 में भारत की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील जी के हाथों इन्हें अर्जुन पुरस्कार प्राप्त हुआ।ज्योति सुनीता कुल्लु ने फील्ड हॉकी के सफ़र में अनेकों पुरस्कार हासिल कर देश को गौरवान्वित किया।
*गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में* कपिल कुमार ( बेल्जियम),डॉ. रमा शर्मा(जापान),डॉ सीमा भाँति(अमेरिका),शालिनी वर्मा(दोहा) के साथ साथ बहोत से शोधकर्ता, रचनाकार विदेशों से भी शामिल हैं।इसके अतिरिक्त इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक चंद्रशेखर शर्मा जो मोतीलाल नेहरु विद्यालय ऑफ स्पोर्ट्स राई में स्पोर्ट्स कोच हैं,साथ है।
इस मौके पर अकादमिक काऊंसलर इग्नु,विशेषज्ञ केंद्रीय हिंदी निदेशालय उच्चतर शिक्षा विभाग शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार की डॉ विदूषी शर्मा ने बताया कि इस अंर्तराष्ट्रीय काव्य संकलन का उद्देश्य यही है कि सभी इन 133 खिलाड़ियों के विषय में जान सकें,खेलों में उनके योगदान को जान सकें।ख़ास बात यह है कि सभी रचनाकारों ने 20 से 25 लाइनों में अपनी रचनाओं के माध्यम से खिलाड़ियों के जीवन को सार को बख़ूबी प्रस्तुत किया है।उन्होंने बताया कि जल्द ही यह पुस्तक हमारे बीच होगी।
रमा बुधिया आकाशवाणी अम्बिकापुर में,महिलाओं के कार्यक्रम में कम्पीयर हैं,इस सफलता पर उनके परिवार वालों,मित्रों और शुभचिंतकों की ओर से अनेकानेक बधाइयां मिल रही हैं। 


*बस्तर के कांग्रेस नेता स्व महेंद्र कर्मा के बेटे दीपक कर्मा का कोरोना से निधन*

रायपुर– बस्तर के दिवंगत नेता महेंद्र कर्मा के बेटे दीपक कर्मा का कोरोना से इलाज के दौरान निधन हो गया. दीपक राजधानी के एमएमआई अस्पताल में भर्ती थे. दीपक की माँ देवती कर्मा कांग्रेस पार्टी की विधायक हैं।

दंतेवाड़ा में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद दीपक कर्मा को जगदलपुर मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था. फेफड़े में संक्रमण अधिक होने के बाद उन्हें रायपुर लाया गया था, यहाँ हॉस्पिटल में उनें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को ही डॉक्टरों से बातचीत कर दीपक कर्मा का हालचाल पूछा था।

फेसबुक में पोस्ट कर दी थी जानकारी -प्रदेश कांग्रेस महासचिव दीपक कर्मा ने 12 अप्रैल को फेसबुक पोस्ट के जरिए कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी. उन्होंने लिखा था कि ‘कोविड एंटीजन टेस्ट में मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मेरे संपर्क में आने वाले सभी लोगों से निवेदन है कि वे अपना ख्याल रखें. किसी भी प्रकार का लक्षण दिखने पर अपना टेस्ट जरूर करा लें।

ब्यूरो रिपोर्ट


*सरकार की नाकामी के कारण प्रदेश की जनता त्रस्त है-प्रदीप साहू*

रायपुर-आज दिनांक 05/05/21 को अजीत जोगी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री साहू ने बयान जारी कर बताया कि छत्तीसगढ़ मेडिकल कारपोरेशन के आला अधिकारियों के ढीले रवैये का खामियाजा आज पूरा प्रदेश भुगत रहा। कोरोना महामारी को देखते हुए जो तैयारी और खरीदारी CGMSC को करनी थी वो आजतक नही की गई । चाहे वो दवाइयां हो या उपकरण । CGMSC अधिकारियों को जवाब देना चाहिए कि क्यों 14 सितंबर 2020 में आये हुए खरीदी पत्र क्रमांक DHS/16/के स्टोर/2020/702 दिनांक जिसके अनुसार 21 *X-Ray मशीन* की खरीद करनी थी इसकी टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के बावजूद महीनों से इसकी खरीद नही की जा सकी। किसके इशारों का इंतजार किया जा रहा था क्या कमीशन का खेल तो नहीं था
उसी तरह जीवन रक्षक दवाई *FAVIPIRAVIR* जिसकी *77लाख टेबलेट* खरीद करनी थी। जिसकी मांग 13 अप्रैल 2021 DHS पत्र क्रमांक /स्टोर /2021/78 में की गई है उसकी खरीदी भी नही की गई जो कि कोरोना से लड़ने में सबसे आवश्यक है ।साहू ने तंज कसते हुए कहा कि ये दोनों ही चीज़े कोरोना महामारी से लड़ने के लिए उपयोगी है जिसकी खरीद न होने से प्रदेश की जनता को इलाज और दवाई में देरी हुई जिससे बहुत से लोगो की जान गई है जो बचाई जा सकती थी।CGMSC अधिकारियों को ये बताना चाहिए कि इतनी बड़ी जानलेवा लापरवाही क्यों हुई क्यों समय पर चीज़े नही खरीदी गई, क्यों महीनों समय होने के बावजूद व्यवस्था नही बनाई गई । आज दवाईओ और उपकरण की किल्लत है जिसके कारण लोगो की मौत हो रही। क्या CGMSC भ्रष्टाचार के रेट चल रही है या किसी कमीशन का खेल हैसाहू ने कहा कि मुख्यमंत्री @BhupeshBaghel इन अधिकारी की लापरवाही पे क्या कार्यवाही करेंगे जिसके ढीले और अड़ियल रवैये की कीमत प्रदेश की जनता को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।

ब्यूरो रिपोर्ट


*कोरबा CMHO के एकतरफा आदेश पर हाईकोर्ट की नाराजगी*

कोरबा-(निर्मल जैन,MORNews)। कोरबा के जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी(सीएमएचओ) डॉ. बीबी बोर्डे के द्वारा 23 अप्रैल 2021 को एक आदेश जारी कर बिना कलेक्टर के परमिशन बाहरी कोविड पेशेंट को जिले के किसी भी कोविड हॉस्पिटल में एडमिशन(भर्ती) नहीं दिए जाने फरमान जारी किया गया। इस फरमान को अकलतरा विधायक सौरभ सिंह ने अपने अधिवक्ता सुमित सिंह के माध्यम से हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए जनहित याचिका दायर किया। विधायक के अधिवक्ता सुमित सिंह ने तर्क प्रस्तुत कर बताया कि सीएमएचओ को यह आदेश पारित करने का अधिकार नहीं है, यह
अनुच्छेद 14,15 और 21 का उलंघन है। इसके अलावा हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस चंद्रचूड़ के फुल बेंच द्वारा पारित आदेश जिसमें कोई भी हॉस्पिटल द्वारा पहचान, जाति या वर्ग के आधार पर बिना ईलाज किये किसी भी मरीज को नहीं भेजेगा। सुप्रीम कोर्ट के द्वारा पारित आदेश और अधिवक्ता के तर्क को संज्ञान में लेते हुए हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पी.आर. रामचंद्र मेनन एवं जस्टिस पी.पी.साहू के डिवीजन बेंच ने जारी आदेश पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है। साथ ही कहा है कि यह आदेश असंवैधानिक है। किसी भी सरकार, कलेक्टर और सीएमएचओ को ऐसा आदेश जारी करने का अधिकार नहीं है। इस पर शासन ने हाईकोर्ट से कहा है कि हमने अपनाआदेश वापस ले लिया है। अब किसी भी पेशेंट को एडमिशन में दिक्कत नहीं होगी। 

ब्यूरो रिपोर्टर


*कोविड में नर्सिंग छात्रों को स्टाफ नर्स के पद पर नियुक्त कर समान काम समान वेतन का भुगतान सुनिश्चित करे सरकार-जेसीसीजे*

रायपुर-अजित जोगी युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने बयान जारी कर बताया की जहाँ छत्तीसगढ़ में कोरोना के बढ़ते प्रभाव के रोकथाम के लिए सरकार लॉक डाउन किया गया है वही सरकार के द्वारा नर्सिंग के छात्रों के साथ अन्याय किया जा रहा है। चिकित्सा शिक्षा छत्तीसगढ़ शासन तथा संचालनालय चिकित्सा शिक्षा के द्वारा 10 अप्रैल को आदेश जारी कर नर्सिंग के छात्रों से कोविड-19 में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अधीनस्थ विभिन्न संस्थानों में मुफ्त में सेवा लेना सुनिश्चित किया गया है। यदि चिकित्सा के क्षेत्र में नर्सों की कमी हो रही है तो शासन नई स्टाफ नर्सों की ऑनलाइन भर्ती कर इस कमी को दूर कर सकती है बावजूद इसके नर्सिंग की छात्रो को मौत के मुंह मे धकेलना निंदनीय है। नर्सिंग की छात्रों को सेवा लेना सुनिश्चित तो कर दिया गया है किंतु वेतन भुगतान की कहि कोई जिक्र नही है छत्तीसगढ़ शासन यदि छात्रों से समान कार्य लिया जाय तो समान वेतन का भी भुगतान किया जाना सुनिश्चित करे। नर्सिंग के सभी छात्र जो बाहर रहकर अपनी पढ़ाई कर रहे थे प्रदेश के लॉकडॉउन में वे सभी अपने अपने घर आकर खुद को सुरक्षित कर रखे है वापस उन छात्रों का विभिन्न संस्थानों में जाकर वह निवास ढूंढ कर रहना तथा उनके खाने रहने की व्यवस्था के बिना उनका गुजारा कैसे सम्भव है।शासन के द्वारा छात्रों पर सेवा लेने का आदेश तो थोंप दिया गया है किंतु आर्थिक तंगी में छात्र खुद के खर्चे से संस्थानों में सेवा देने में असमर्थ है।

साहू ने कहा की नर्सिंग के कई गरीब छात्र जिनके घर की आर्थिक स्थिति सही न होने के कारण वे शिक्षा ऋण लोन लेकर अपनी पढ़ाई कर रहे है ऐसे छात्र कैसे इन खर्चो का वहन का पाएंगे।

.साहू ने कहा छात्रों से मुफ्त की सेवा लेने के बजाय शासन उन सभी छात्रों को स्टाफ नर्स के वेतन के समान वेतन का भुगतान कर उनसे सेवा ले तथा सभी छात्रों का स्वास्थ्य बीमा सर्वप्रथम कराई जाए तथा उनसे सेवा पूर्ण सुरक्षात्मक उपकरण तथा आवागमन की व्यवस्था प्रदान कर लिया जावे। छत्तीसगढ़ शासन को सेवा दे रहे छात्रों का कोविड पॉजिटिव आने पर पूरा ख़र्चा शासन उठाये ये सुनिश्चित सेवा दे रहे छात्रों को कोविड-19 से सुरक्षित रखने वाले सम्पूर्ण सुरक्षात्मक उपकरण प्रदान करना सुनिश्चित करे। जिससे वे सक्षम हो सके तथा चिकित्सा व्यवस्था दुरुस्त हो सके
              
नर्सिंग छात्र हित में पांच सूत्रीय मांग---

(1)  *यह कि छ.ग. शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों को स्टाफ नर्स के समान कार्य पर समान वेतन का भुगतान करना सुनिश्चित करे।*

(2)  *यह कि छ.ग. शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग  छात्रों का सर्वप्रथम स्वास्थ्य बीमा कराना सुनिश्चित करे।*

(3)  *यह कि छ.ग. शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग  छात्रों को कोविड-19 से संक्रमित होने पर निःशुल्क उच्च चिकित्सा का प्रबंध करना सुनिश्चित करे।*

(4)  *यह कि छ.ग. शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग  छात्रों को कोविड-19 से सुरक्षित रखने वाले सम्पूर्ण सुरक्षात्मक उपकरण प्रदान करना सुनिश्चित करे।*

(5)  *यह कि छ.ग. शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों का रहने (रूम) खाने की उचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें*

ब्यूरो रिपोर्ट


प्रदेश में आज11,825 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं 12,168 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए देखिए आज जिलेवार आंकड़े*

रायपुर– कोरोना के लिहाज से रविवार का दिन थोड़ा राहत भरा रहा। प्रदेश में आज 11825 नये मरीज मिले, जबकि 12168 मरीज कोरोना से स्वस्थ्य हुए। प्रदेश में अभी कुल एक्टिव केस 1 लाख 20 हज़ार है। वही आज 154 लोगों की मौत भी हुई है।छत्तीसगढ़ में आज सर्वाधिक मरीज बिलासपुर में सामने आए। बिलासपुर में 1086 नये मरीज मिले, जबकि रायपुर में 1011 नए केस मिले। इसके अलावा दुर्ग- 794, राजनांदगांव- 527, बालोद- 297,, बेमेतरा- 139, कवर्धा- 198, धमतरी- 202, बलौदाबाजार- 596, महासमुंद- 505, गरियाबंद- 364, रायगढ़- 825, कोरबा- 900, जांजगीर- 955, मुंगेली- 479, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही- 268, सरगुजा- 479, कोरिया- 359, सूरजपुर- 256, बलरामपुर-226, जशपुर- 512, बस्तर- 89, कोंडागांव- 207, दंतेवाड़ा- 66, सुकमा- 27, कांकेर- 373, नारायणपुर- 14, बीजापुर- 30, अन्य राज्य- 02 रायपुर में आज जहां 32 मौतें हुई, तो वहीं बिलासपुर में 22, रायगढ़ में 16, कोरबा में 13 और धमतरी में 10 मौत हुई।

ब्यूरो रिपोर्ट


प्रदेश में आज 15,902 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं12,508 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज हुए आज के जिले के आंकड़े,देखिए mornews*

रायपुर– छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार थम नही रही है। प्रदेश में आज 15902 नये मरीज मिले, 229 मौतें हुई। वही 12508 मरीज कोरोना से स्वस्थ्य भी हुए। प्रदेश में अभी कुल एक्टिव केस 1.21लाख से ज्यादा है।आज मिले नए मरीजों की बात करें, तो रायपुर में आज कुल 1464 नये मरीज मिले हैं, जबकि दुर्ग में 1029, बिलासपुर में 1290, रायगढ़ में 1075, कोरबा 1228, जांजगीर में 1061 नए मरीज मिले है।कोरोना से हुई मौतों में बिलासपुर में आज सर्वाधिक 47, रायपुर में 41, कोरबा और दुर्ग में 16-16, रायगढ़ में 14, जांजगीर में 13 मौत हुई है।

ब्यूरो रिपोर्ट


*प्रशासनिक अव्यवस्था के कारण गयी गर्भवती महिला की जान,दुलारी ढीमर के परिजन को अनुकम्पा नियुक्ति व बिस लाख रुपए दे सरकार-प्रदीप साहू*

रायपुर-आज प्रदीप साहू ने बयान जारी कर सरकार पर तंज कसते हुआ कहा की थोड़ी भी शर्म बची हैं तो गर्भवती महिलाओं की कोरोना के प्रकोप से बचाव हेतु तत्काल पूर्ण वेतन पर अवकाश देने की घोषणा करे।श्री साहू ने कहा की बहन दुलारी ढीमर की मौत नहीं हुई है बल्कि यह तो हत्या है वो भी सिर्फ़ दुलारी बहन की नहीं उनके साथ साथ उनके पेट में पल रहे 8 माह के बच्चे की भी हत्या हुई है।
क्या सरकार दुलारी बहन के जैसी और गर्भवती बहनो के मौत का इंतज़ार कर रही है? कुछ दिन पूर्व 5 माह की गर्भवती महिला अधिकारी द्वारा सड़क पर उतरकर कोरोना से बचाव का जागरूकता अभियान चलाया गया था जिसे माननीय मुख्यमंत्री द्वारा सराहनीय कार्य बताकर उस लापरवाही पूर्ण कृत्य को सराहा गया था तो आज बहन दुलारी की मौत पर क्या कहेंगे माननीय मुख्यमंत्री महोदय?कौन होगा बेमेतरा साजा परपोड़ी ए. एन. एम. बहन दुलारी की हृदय विदारक हत्या का ज़िम्मेदार?? प्रदीप साहू ने कहा कि बहन दुलारी जो कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में फ्रंट वर्कर के रूप में कार्य कर रही थी इनको आवश्यकता पड़ने पर परिवार वालो को ब्लैक में रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदना पड़ा! दुलारी बहन के द्वारा 2 बार मातृत्व अवकाश हेतु पत्र लिखा गया था जिस पर कोई कार्यवाही नही की गई है इस लापरवाही का कौन होगा जवाबदार?अजीत जोगी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्य्क्ष प्रदीप साहू ने सरकार से पीड़ित परिवार के परिजन की अनुकम्पा नियुक्ति एवं 3 वर्ष की बेटी के शिक्षा एवं भरण पोषण हेतु बीस लाख रुपये मुआवज़े की माँग करती है|

ब्यूरो रिपोर्ट


*मुख्यमंत्री ने आज टीकाकरण महाअभियान का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ किया,18 से 44 वर्ष वालो को लगेगा टिका*

रायपुर-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार 1 मई से छत्तीसगढ़ राज्य में 18 वर्ष से 44 वर्ष तक की उम्र के लोगों को निशुल्क कोरोना टीका लगाने के महाअभियान का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री बघेल ने इस मौके पर भिलाई , दुर्ग ,रायपुर में टीकाकरण टीम और टीका लगाने वाले को बधाई और शुभकामनाएं दी । उन्होंने इस मौके पर टीका लगवाने वालों से भी चर्चा की। उन्हें कोरोना संक्रमण से बचने के लिए नियमों का पालन करने की भी सलाह दी। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य जिसने 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए निशुल्क कोरोना टीका लगाए जाने की शुरुआत एक मई से कर दी है। इस दौरान मंत्री ताम्रध्वज साहू, रविंद्र चौबे, टीएस सिंहदेव , मोहम्मद अकबर , अनिला भेड़िया, जयसिंह अग्रवाल, गुरु रूद्र कुमार, अमरजीत भगत सहित अन्य मंत्री, मुख्य सचिव अमिताभ जैन ,अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए। 

ब्यूरो रिपोर्ट


प्रदेश में आज14,994 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं 12,804 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए देखिए आज जिले के आंकड़े*

रायपुर– छत्तीसगढ़ में कोरोना बेलगाम हो चुकी है। प्रदेश में आज 14994 नये मरीज मिले हैं, तो 12804 मरीज कोरोना के खिलाफ जंग जीते भी है। वहीं 216 लोगों की मौत हुई है।छत्तीसगढ़ में आज एक्टिव केस 1 लाख 18 हज़ार से ज्यादा रहे हैं। प्रदेश की राजधानी रायपुर में आज 1118 नये मरीज मिले हैं, जबकि दुर्ग में 1310 नए केस आये हैं। बिलासपुर में 1081, रायगढ़ में 879, कोरबा में 1236, जांजगीर में 1077 नए मरीज मिले हैं।छत्तीसगढ़ में मौतों की बात करें, तो आज रायपुर में 56, बिलासपुर में 31 लोगों की मौत हुई है। दुर्ग में 20, राजनानंदगांव में 19, धमतरी में 12, कोरबा में 15 और जांजगीर में 17 मौत हुई है।आज 14,994 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं 12,804 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए।

ब्यूरो रिपोर्ट


प्रदेश में आज 15,804 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं 15,003 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए देखिए आज के जिलेवार आंकड़े*

रायपुर-छत्तीसगढ़ में कोरोना से मौत और मरीजों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश में आज प्रदेश में 15804 नये मरीज मिले हैं। वही 191 की मौत हुई है, जबकि 15003 मरीज कोरोना के खिलाफ जंग जीते भी है। छत्तीसगढ़ में आज एक्टिव केस 1 लाख 17 हज़ार से ज्यादा रहे हैं।  रायपुर में आज 1414 नये मरीज मिले हैं, जबकि दुर्ग में 1496, बिलासपुर में 1337, रायगढ़ में 1196, कोरबा में 1043, जांजगीर में 1043 नए मरीज मिले हैं।रायपुर में 48, बिलासपुर में 37 लोगों की मौत हुई है। दुर्ग में 13, गरियाबंद में 11, धमतरी में 10 और बालोद में 9 मौत हुई है। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*वेक्सीनेशन में आएगी और तेजी वैक्सीन की डोज पहुचीं राजधानी*

रायपुर- कोरोना संकट काल में बढ़ते आंकड़ों के बीच प्रदेश में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। गुरुवार को कोविशील्ड की खेप राजधानी पहुंची है। 17 कार्टून में भरकर वैक्सीनेशन के लिए इंजेक्शन पहुंची है। एक कार्टून में 1200 वायल मौजूद है। इस तरह लगभग 2 लाख डोज रायपुर पहुंची है। 

ब्यूरो रिपोर्ट


*प्रदेश में आज 14,893 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई वहीं 14,434 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए।देखिए जिले के आंकड़े*

रायपुर- छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जारी है. प्रदेश में मंगलवार को 14 हजार 893 केस सामने आए हैं. जबकि 236 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। राहत की बात ये है, कि 14 हजार 434 लोगों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है. अब तक प्रदेश में 5 लाख 55 हजार 489 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है. मौत का आंकड़ा 7 हजार 782 पहुंच गया है. प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1 लाख 19 हजार 68 है. जबकि आज 54 हजार 156 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है। आज इन जिलों में मिले कोरोना के ज्यादा केस--- आज रायपुर में सिर्फ 1456 कोरोना केस सामने आए है. दुर्ग में 1046, राजनांदगांव में 1032, बिलासपुर में 1234, कोरबा में 1021, बेमेतरा में 311, कवर्धा में 455, धमतरी में 531, बालौदाबाजार में 860, महासमुंद में 365, गरियाबंद में 367, सरगुजा में 481, रायगढ़ में 997, जांजगीर में 863 कोरोना मरीज मिले हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट


*जेसीसीजे ने लिखा राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग को पत्र*

रायपुर-आज दिनांक 27/04/21 को अजीत जोगी युवा मोर्च प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने बयान जारी कर बताया कि छत्तीगसगढ़ प्रदेश की राजधानी रायपुर के ग्रामीण क्षेत्रसड्डू में कोरोना से मृत व्यक्तियों के अंतिम संस्कार हेतु अस्थायी रूप से बनाए गये शमशान घाट में अंतिम संस्कार पर लापरवाही बरतने के कारण शवों का पूर्ण रूप से जल ना पाने के कारण कुत्तों के द्वारा अधजले शवों को नोच-नोच कर खाया जा रहा है और उन मानव अवशेषों को आसपास के आवासीय क्षेत्रों में यहाँ वहाँ छोड़ दिया जा रहा है जिसकी पुष्टि स्वयं ग्रामीणों द्वारा किया गया है ,जिसके कारण उस क्षेत्र के निवासियों में दहशत और भय व्याप्त हो गया है की शासन की इस लापरवाही के कारण वे और उनका परिवार इस महामारी के प्रकोप में ना आ जाये।ग्रामीणों के द्वारा आक्रोशित होकर आला अधिकारियों के समक्ष शिकायत दर्ज किया गया है।साहू ने बताया की ज्ञात हों की इस सम्बंध में प्रादेशिक अखबारो में ख़बर प्रकाशित हुई है,इलेक्ट्रोनिक मीडिया में खबर प्रसारित हुई है साथ ही साथ इस मुद्दे पर वाद-विवाद भी हो रहा है उसके बाद भी राज्य मानव अधिकार धृतराष्ट्र बना हुवा है जब कि इस संविधानिक संस्था मानव अधिकार आयोग का गठन भी भी इस लीये किया गया है कि मानव अधिकार की रक्षा की जाए
जब कि ये कठिन समय ज्ञापन का भी नही इसमें में मानव अधिकार को त्वरित कार्यवाही करना चाहिये लेकिन यहा तो उल्टा मानव अधिकार धृतराष्ट्र बना बैठा है राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग इस विषय में संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब तलब कर न्याय दिलाने की कृपा करें और छत्तीसगढ़ की जनता के मानव अधिकारों की रक्षा करें

ब्यूरो रिपोर्ट


*पूर्व सांसद कांग्रेस नेत्री करुणा शुक्ला का निधन,कुछ दिनों पूर्व से अस्पताल में थी भर्ती*

रायपुर- कोरोना से पूर्व सांसद कांग्रेस नेत्री का निधन,अटल बिहारी वाजपेयी की भतीज करुणा शुक्ला का दुःखद निधन हो गया। उनका 14 अप्रैल से रामकृष्ण केयर अस्पताल में कोरोना का इलाज चल रहा था। उनका अंतिम संस्कार बलौदाबाजार में होगा। राज्यपाल अनुसुइया उइके, सीएम भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। सीएम ने अपने शोक संदेश में उनके निधन को निजी क्षति बताया और कहा कि निष्ठुर कोरोना ने मुझसे मेरी चाची को छीन लिया दी है। करुणा शुक्ला के पिता अवध बिहारी वाजपेयी, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के बड़े भाई थे। वे 2014 में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गई थीं। वे 1993 में पहली बार विधायक बनीं। 2004 में भाजपा के टिकट पर जांजगीर से सांसद बनी थीं।
पिछले विधानसभा चुनाव में राजनांदगांव सीट से तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ी थीं। इस बीच प्रदेश के 5 जिलों में 42 फीसदी एक्टिव मरीज हैं। ये जिले रायपुर, दुर्ग, बलौदाबाजार, बिलासपुर व रायगढ़ हैं। इन्हीं 5 जिलों में प्रदेश में हुई मौतों में 64 फीसदी जानें भी गई हैं। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के कारण पहली बार बलौदाबाजार जिला एक्टिव मरीजों की सूची में प्रदेश में तीसरे स्थान पर आ गया है, जबकि कुल मरीजों के मामले में आठवें नंबर पर है।
जहां तक प्रदेश का सवाल है, सोमवार को 15084 नए मरीज मिले हैं, जिनमें 1394 राजधानी के हैं। 226 मौतें हुई हैं, जिनमें 70 रायपुर की हैं। जगदलपुर मेडिकल कॉलेज के माइक्रो बायोलाॅजी विभाग के एचओडी डॉ. डीजे मजूमदार की कोरोना से मौत हो गई।
ब्यूरो रिपोर्ट 


*कोरोना अपडेट;

रायपुर-छत्तीसगढ़ में कोरोना के आज 12 हज़ार से ज्यादा मरीज मिले है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 12 हज़ार 666 नये मरीज मिले हैं, वहीं 190 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में आज कुल 11 हज़ार 223 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं, जबकि कुल एक्टिव केस 1 लाख 23 हज़ार से ज्यादा हैं।
राजधानी में आज भी मौत और मरीज की रफ्तार सबसे ज्यादा रही है। रायपुर में आज 1639 नये मरीज मिले हैं, जबकि दुर्ग में 1355 नए केस आये हैं। बिलासपुर में 906 नये मरीज मिले हैं।रायपुर में आज 44 लोगों की मौत हुई है, जबकि बिलासपुर में 35, दुर्ग में 21, बालोद में 13, धमतरी में 12, कोरबा में 14 लोगों की मौत हुई है।  

ब्यूरो रिपोर्ट


*प्रदेश में आज 16731नए मामले रायपुर बिलासपुर में कहर जारी देखिए जिलेवार आंकड़े*

रायपुर-छत्तीसगढ़ में कोरोना बेलगाम हो चुका है, शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 16 हजार 731 मरीज सामने आए हैं. जबकि 203 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। राहत भरी खबर ये रही, कि 13 हजार 348 लोगों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है. अब तक प्रदेश में 5 लाख 9 हजार 622 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है. मौत का आंकड़ा 7 हजार 111 पहुंच गया है. प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1 लाख 22 हजार 963 है. जबकि आज 57 हजार 225 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है।

इन जिलों में मिले कोरोना के अधिक मरीज- रायपुर जिले में अकेले 2138 कोरोना केस सामने आए है. दुर्ग में 1786, राजनांदगांव में 936, बिलासपुर में 1424, कोरबा में 975, बेमेतरा में 397, कवर्धा में 441, धमतरी में 523 समेत छत्तीसगढ़ में आज 16 हजार 731 नए मरीज मिले हैं.
इन जिलों में कोरोना से मौत-
रायपुर में कोरोना वायरस से शनिवार को 46 लोगों की मौत हुई है. बिलासपुर में 43, जांजगीर में 5, धमतरी में 11, दुर्ग में 13, रायगढ़ में 13 और राजनांदगांव में 13 लोग समेत प्रदेश में 203 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

ब्यूरो रिपोर्ट