1. Home
  2. Korba

Korba

कोरबा में अवैध होर्डिग की बाढ़,निगम को लाखों की प्रतिवर्ष क्षति

 **शहर में अवैध होर्डिग*

===============
 *सत्ताधारी दल ने बिगाड़ी शहर की खूबसूरती- सिन्हा*
---------------------------------------
कोरबा।सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा ने जारी एक बयान में बताया कि कोरबा नगर निगम में जब से कांग्रेस सत्ता में आई है तब से सत्ताधारी दलों के कार्यकर्ता,नेता,मंत्रियों का पूरे वर्ष भर लगातार शहरों में अवैध होल्डिंग (Hoardings)के चलते शहर की खूबसूरती को दाग लग रहा है वहीं नगर निगम को प्रतिवर्ष करोड़ों की क्षति हो रही है कांग्रेस शासित नगर निगम कोरबा  में होल्डिंग ठेका समाप्त कर दिया गया था कई वर्षों बाद पुनः ठेका टेंडर जारी किया गया लेकिन होल्डिंग  ठेकेदारों ने विशेष रूचि नहीं ली क्योंकि होल्डिंग  ठेकेदारों का कहना है कांग्रेस के नेता कार्यकर्ता जबरन बैनर पोस्टरअवैध होल्डिंग  लगा देते हैं *तो फिर राजस्व मैं क्यों भरू ?* इसलिए सत्ताधारी दल के चलते व्यापारी वर्ग आम जनता द्वारा लगातार शहर में  बैनर पोस्टर से  फ्री में (FREE) पट  चुका है नगर निगम आयुक्त द्वारा  अवैध होल्डिंग रोकने के आदेश निकालने पर कोई असर  इसलिए नहीं हो रहा है कि जब तक सत्ताधारी दल के अवैध होल्डिंग  पर बैनर पोस्टर लगाने  पर  रोक नहीं लगेगी तब तक आम जनता व्यापारिक प्रतिष्ठान अंधाधुंध बैनर पोस्टर लगाते रहेंगे ऐसा देखने से लग रहा है। सत्ताधारी दल द्वारा आए दिन लगातार किसी न किसी कार्यक्रम के बहाने जगह-जगह अवैध होल्डिंग होने की वजह से व्यापारिक संस्थानों द्वारा भी  बड़े पैमाने पर अवैध होल्डिंग  लगाने की होड़ लग गई है जो चिंता का विषय है।
              सिन्हा ने आगे बताया कि शहर की खूबसूरती बनाए रखने के लिए अवैध होल्डिंग  लगाओ अभियान पर रोक लगाने के लिए सत्ताधारी दल की लगीअवैध होल्डिंग हटाने की शुरुआत करनी होगी तभी  अवैध होल्डिंग लगाओ अभियान पर विराम लग सकता है।
 

नही जा सकेगें बिना कोविड टीका प्रमाण पत्र के सिनेमाघर::अब पुरी क्षमता के साथ चलेगे;कोरबा कलेक्टर का आदेश जारी

 निर्मल जैन,कोरबा जिला ब्यूरो चीफ::7000 72 73 30

कोरबा 13 नवंबर 2021/जिले में कोरोना संक्रमण की नियंत्रित परिस्थितियों के बीच कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने सिनेमाघर-थियेटर और मल्टीप्लैक्स संचालन के नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सिनेमाघरो-थियेटरों और मल्टीप्लैक्स में कोरोना टीकाकरण प्रमाण पत्र धारक आगंतुकों को ही प्रवेश दिया जाएगा। इन जगहों पर काम करने वाले स्टाफ को भी कोरोना टीकाकरण का प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से रखना होगा। जिला दण्डाधिकारी ने सिनेमाघरों, थियेटर और मल्टीप्लैक्स संचालकों को जारी दिशा-निर्देशों तथा कोविड प्रोटोकॉल कड़ाई से पालन करने के निर्देश जारी किए हैं। निर्देशों के उल्लंघन पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई है।
जारी किए गए निर्देशों के अनुसार सिनेमाघर-थियेटर-मल्टीप्लेक्स के एयर कंडीशनिंग हॉल में तापमान सेटिंग 24-30 डिग्री सेल्सियस तक रखा जाना होगा। यदि एयर कंडीशनर उपलब्ध न हो तो ताजी हवा का प्रवाह सुनिश्चित किया जाना चाहिए एवं क्रॉस वेंटीलेशन की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। एंट्री-एक्जिट पाईंट और कॉमन एरिया में टच फ्री डिस्पेंसर के साथ सैनिटाईजर रखना अनिवार्य होगा। प्रवेश के समय प्रत्येक व्यक्ति का हाथ सैनिटाईजर से सैनिटाईज करने अथवा साबुन से धोने तथा उनका थर्मल स्केनिंग किया जाना अनिवार्य होगा। प्रत्येक व्यक्ति के लिए मॉस्क पहनकर फिजिकल-सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स में कोरोना के लक्षण रहित व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति होगी एवं कोरोना के प्रारंभिक लक्षण जैसे कि सर्दी, खांसी, बुखार इत्यादि पाये जाते हैं तो उनको सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स में प्रवेश न दिया जाए। श्वसन शिष्टाचार का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। कक्ष में अथवा कार्यक्रम में उपस्थित सभी व्यक्ति खांसते-छीकते समय टीशू पेपर, रूमाल, मुड़ी हुई कोहनी का प्रयोग करेंगे। सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स में आगंतुको द्वारा छोड़े गए मॉस्क, फेसकवर, दस्तानों को चिकित्सीय अपशिष्ट मानते हुए नियमानुसार उसके समुचित निपटान की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स पर पान-गुटका इत्यादि खाकर एवं अन्यथा थूकना प्रतिबंधित रहेगा। सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स में स्पर्श की जाने वाली सतहों यथा दरवाजे का हैंडल, माईक, कुर्सी, टेबल, रेलिंग, बैरिकेटिंग आदि को समय-समय पर एक प्रतिशत सोडियम हाईपोक्लोराईड के घोल से साफ किया जावे एवं प्रभावी कीटाणुनाशक से विसंक्रमित किया जावे। सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स के पार्किंग स्थल एवं परिसर के बाहर समुचित भीड़ प्रबंधन में सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंस के मापदंडों का पालन करना होगा।
निर्देशों के अनुसार सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स में शामिल व्यक्ति एक-दूसरे से मिलते समय सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंस के मापदंडो का पालन करेंगे ताकि संक्रमण से बचाव हो सके। कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, छ.ग. शासन द्वारा समय-समय पर कोरोना महामारी से सुरक्षा हेतु दिये जा रहे निर्देशों का कड़ाई से पालन अनिवार्य रूप से करेंगे। कन्टेनमंेट जोन, बफर जोन में सिनेमाघर-थियेटर-मल्टीप्लेक्स के माध्यम से फिल्मों के प्रदर्शन की गतिविधियां बंद रहेगी। फेस कवर-मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से किया जावे। सिनेमाघर-थियेटर-मल्टीप्लेक्स संचालक द्वारा टिकिट में प्रवेश हेतु वैक्सिेनशन सर्टिफिकेट रखे जाने हेतु स्पष्ट लिखा जाना अनिवार्य होगा। प्रवेश और निकास बिन्दुओं के साथ-साथ परिसर के भीतर लोक समागम के क्षेत्रों में हैण्ड सैनिटाईजर (अधिमानतः टच-फ्री-मोड) की उपलब्धता सुनिश्चित करना होगा। स्वास्थ्य की स्व-निगरानी करना और किसी भी बीमारी की जल्द से जल्द जिला हेल्पलाईन नंबरों पर रिपोर्ट करना होगा। सिनेमाघर-थियेटर-मल्टीप्लेक्स के भीतर एवं परिसर में थूकना सख्त प्रतिबंधित रहेगा।
ऑडिटोरियम और परिसर में दर्शकों के प्रवेश और निकास के लिये कतार व्यवस्था एवं सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने हेतु चुने या अन्य किसी उचित रंग से गोल घेरा, सर्कल, निशान लगायी जावें। आगंतुकों के लिये अलग-अलग प्रवेश और निकास द्वार की व्यवस्था की जावें।  
भीड़ से बचने के लिये बाहर निकलने को पंक्तिबद्ध तरीके से सामाजिक-शारीरिक दूरी का पालन करते हुए किया जावेगा। एकल स्क्रीन पर और साथ ही एक मल्टीप्लेक्स में विभिन्न स्क्रीन पर लगातार स्क्रीनिंग के बीच पर्याप्त समय अंतराल रखा जावे एवं दर्शकों को बाहर निकलने के लिए पंक्तिबद्ध तरीके से निकलने हेतु व्यवस्था की जाए।
परिसर और परिसर के बाहर पार्किंग स्थल में विधिवत भौतिक दूरी मानदण्डों का पालन सुनिश्चित किया जाए। लिफ्ट में लोगों की संख्या को सीमित किया जाए, जिससे सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित हों। मध्यांतर के दौरान लॉबी और वॉशरूम में अधिक भीड से बचने के प्रयास किये जायें। मध्यांतर के दौरान आने जाने से बचने के लिये दर्शकों को प्रोत्साहित किया जाए। मध्यांतर की अवधि ज्यादा रखी जाए जिससे अलग-अलग पंक्तियों में बैठे दर्शक लंबे अंतराल में आना-जाना कर सकें। स्क्रीन पर शो का प्रांरभ समय, मध्यांतर अवधि और समाप्ति समय उसी मल्टीप्लेक्स में किसी अन्य स्क्रीन पर प्रारंभ समय, मध्यांतर अवधि या शो के समापन के समय के साथ ओरलैप न हो।
सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों पर टिकट की खरीदी खुली रहेगी और बिक्री काउंटरों पर भीड से बचने के लिये ऑनलाईन एवं अग्रिम बुकिंग की अनुमति होगी। टिकटों की भौतिक बुकिंग के दौरान भीड रोकने के लिये, सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों पर पर्याप्त संख्या में काउंटर एवं पर्याप्त सामाजिक दूरी मानदंडो के साथ खोला जाए। सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों पर कतार प्रबंधन के दौरान सामाजिक दूरी के लिये फर्श मार्कर का उपयोग किया जाए।
सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों ऑडिटोरियम में प्रत्येक स्क्रीनिंग के बाद सफाई एवं सैनिटाईजेंशन की जाए। बॉक्स ऑफिस, खाद्य और पेय क्षेत्र, कर्मचारी और कर्मचारियों के लॉकर, शौचालय, सार्वजनिक क्षेत्र, ऑफिस क्षेत्र एवं पार्किंग क्षेत्रों की नियमित सफाई और कीटाणुशोधन सुनिश्चित किया जाए।स्वच्छता कर्मचारियों की पर्याप्त व्यवस्था किया जाए। यदि किसी व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो परिसर का सैनिटाईजेंशन किया जाए।
सभी कार्यस्थलों पर कर्मचारियों के लिये फेस कवर-मास्क पहनना अनिवार्य है और ऐसे फेस कवर का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध कराया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जावे कि सभी कर्मचारियों को दो टीकाकरण किया जा चुका हो। सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों में कार्यरत समस्त कर्मचारियों को अपने मोबाईल फोन में आरोग्य सेतु एप स्थापित करना अनिवार्य होगा।
सहज जाने योग्य स्थान पर ’’क्या करें और क्या न करें’’ प्रदर्शित किया जाए जैसे ऑनलाइन ब्रिकी बिंदु, डिजिटल टिकट, सार्वजनिक क्षेत्र जैसे लॉबी, वॉशरूम आदि हेतु माईक के माध्यम से घोषणा की जाए। मास्क पहनने पर सामाजिक दूरी और हाथ की स्वच्छता को बनाए रखने के साथ-साथ परिसर के भीतर और बाहर होने वाली सावधानियों और उपायो पर विशिष्ट घोषणाएं स्क्रीनिंग से पहले, मध्यांतर के दौरान और स्क्रीनिंग के अंत में की जाए।कोविड-19 के निवारक उपायों पर पोस्टरों, स्टैंडर्स, आडियो-वीडियो मीडिया के प्रदर्शन के लिये प्रावधान किया जाए।
सिनेमाघरों-थिएटरों-मल्टीप्लेक्सों में ग्राहकों को यथासंभव भोजन आर्डर करने के लिये सिनेमा एप, क्यूआर कोड आदि का उपयोग करने के लिये प्रोत्साहित किया जाए। खाद्य और पेय क्षेत्र में एकाधिक बिक्री काउंटर जहां भी संभव हो उपलब्ध कराया जाए। हर बिक्री काउंटर पर सामाजिक दूरी को बनाये रखने के लिये फर्श स्टीकर का उपयोग करने के लिये एक पंक्ति प्रणाली का पालन किया जाए। केवल पैकेज्ड फूड और पेय पदार्थों की अनुमति होगी।

कांग्रेस की मंहगाई घटाने में रूचि नही -विनोद सिन्हा

 ब्यूरो चीफ,निर्मल जैन

*कांग्रेस को महंगाई घटाने में रुचि नहीं -सिन्हा*
----------------------------------------
 कोरबा। सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा ने जारी एक बयान में बताया कि केंद्र सरकार ने दिवाली का तोहफा देते हुए पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटा कर महंगाई कम करने का प्रयास किया है केंद्र के अनुसरण करते हुए कांग्रेस शासित राज्यों को छोड़कर राज्यों ने बेट  में कमी कर डीजल -पेट्रोल की दरें घटाई है लेकिन कांग्रेस शासित राज्यों ने अब तक पेट्रोल- डीजल की दरें कम करने के बजाए केंद्र द्वारा पेट्रोल डीजल की दरें कम करने पर सवाल उठा रहे हैं इससे पता चलता है कि कांग्रेस शासित राज्य महंगाई कम करने की इच्छुक नहीं है।
              सिन्हा ने आगे बताया कि देश में बढ़ रहे महंगाई पर अंकुश लगाने के लिए सत्ता और विपक्ष की भूमिका समन्वय व जनहित में होनी चाहिए ना की नकारात्मक ऐसा इसलिए है कि जहां विपक्षी दलों की राज्य सरकारें हैं वहां जमाखोरी मिलावट नकली तथा अधिक दरों पर विक्रय करने वाले मुनाफाखोरी के खिलाफ प्रदेश सरकार द्वारा कार्रवाई नहीं करने के चलते महंगाई  बढ़ने का एक यह भी कारण है आवश्यक वस्तुएं जहां ₹5 कम होते हैं तो वहां जमाखोरों द्वारा ₹2 कम किए जाते हैं यह देखना छापामारी करना राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है ना कि केंद्र की?    
             सिन्हा ने आगे बताया कि छत्तीसगढ़ प्रदेश सरकार राजनीति त्याग कर जन भावनाओं का आदर करते हुए पेट्रोल -डीजल पर तत्काल बेट कम कर जनता को राहत दे तथा जमाखोरों,मुनाफाखोरो  पर कठोर कार्रवाई करें ताकि महंगाई कम हो सके।

CSEB प्रदेश स्तरीय अभियन्ता संघ का चुनाव::तीसरी बार अध्यक्ष बने कोरबा के लोकप्रिय अभियन्ता राजेश पा०डे

 निर्मल जैन,व्यूरो चीफ 7000 72 73 30

कोरबा/ (mor news) – छत्तीसगढ़ विद्युत मंडल अभियंता संघ के चुनाव नतीजे  कल देर शाम आ चुके । अध्यक्ष पद पर तीसरी बार जनरेशन कंपनी  कोरबा में पदस्थ राजेश पांडे चुने गए हैं। वहीं महासचिव के पद पर चंद्रशेखर सिंह और कोषाध्यक्ष के पद पर राकेश कुमार शर्मा ने जीत दर्ज की है। कोविड के मुश्किल दौर को सामना करते छत्तीसगढ़ विद्युत मंडल अभियंता संघ के चुनाव में कांटे की टक्कर थी। हालांकि अध्यक्ष चुने गए राजेश पांडे ने एकतरफा मत बटोरा है। उनके प्रतिद्वंदी आसपास भी नहीं पहुंच पाए हैं। 
राजेश पांडे को 575 वोट मिला है जबकि उनके निकटतम प्रत्याशी विनोद अग्रवाल को 276 वोट मिले हैं। 706 वोट पाकर महासचिव बने चंद्रशेखर सिंह को मनोज कुमार वर्मा ने कड़ी टक्कर देते हुए 466 वोट प्राप्त किए हैं।
 कांटे की टक्कर के बीच कोषाध्यक्ष चुने गए राकेश कुमार शर्मा ने 597 वोट प्राप्त किए हैं जबकि प्रतिस्पर्धी उम्मीदवार आशीष अग्निहोत्री को 559 वोट मिले हैं। कार्यकारिणी सदस्य के 18 पदों के लिए 48 उम्मीद्वारों ने भाग्य आजमाया था। जनरेशन कंपनी से मैदान पर उतरी अकेली महिला उम्मीदवार सुप्रिया रानी ने 632 वोट प्राप्त कर वोट संख्या के आधार दूसरे क्रम पर जीत दर्ज की है। जबकि 11 उम्मीदवारों को 643 वोट मिले हैं। अन्य सदस्यों में सतीश कुमार रस्तोगी, राजकुमार वर्मा, आशीष हटवार, मनोज कुमार जायसवाल, के. नागभूषण राव, शरतचंद्र पाठक, अतुल श्रीवास्तव, विनय कुमार कर, शिखा मिश्रा, मधु केरकेट्टा, सुशील यदु, ओमकार चंद्राकर, शशांक श्रीवास्तव, महेश कुमार ठाकुर, नीरज कुमार वर्मा, करूणेश कुमार यादव, अश्वनी कुमार गौरहा शामिल हैं।
 
 
सभी अभियंता एकजुटता के साथ करेंगे कार्य-पांडे
 
      नवनिर्वाचित अध्यक्ष इंजीनियर राजेश पांडे एवं महासचिव इंजीनियर चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि चुनाव एक प्रक्रिया है। अब चुनाव के बाद समस्त विद्युत अभियंतागण एकजुट होकर बिना वैचारिक भेद के विद्युत कंपनीज एवं अभियंताओं के हित में पूरे जोश के साथ कार्य करेंगे। श्री पांडे ने कहा कि अब राज्य में विद्युत क्षेत्र के विकास के लिए एकजुट प्रयास किए जाएंगे। इसमें नए विद्युत संयंत्र की स्थापना, पारेषण व वितरण व्यवस्था के सुढृढ़ीकरण एवं उपभोग, उपभोक्ता एवं विद्युत अभियंताओं के हितों के संरक्षण के लिए पुरजोर प्रयास किए जाएंगे।
ब्यूरो रिपोर्ट

कोरबा SP का अपराध जागरूकता अभियान के तहत ६त्तीसगढ़ी में परिचर्चा से खुश क्षेत्रवासी

निर्मल जैन ब्यूरो चीफ 7000727330

कोरबा।कोरबा के नव नियुक्त पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल की शैली के चित परिचित अंदाज से आज क्षेत्र वासी कायल हो गये।इसकी वजह ६त्तीसगढ़ी में उदबोघन २हा।cseb chowkiअन्र्तगत आयोजित बघुवारी बाजार .स्थित दशहरा मैदान में आज एक जागरूकता अमियान की परिचर्चा आयोजित की गई थी।इसमे क्षेत्र वासियों को अपराध एवं जागरूकता संदेश दिया गया।३स अवसर पपर महिलाओं की उपस्थिति उल्लेखनीय २ही।


सटोरियों का मुख्य सरगना पवन यादव गिरफ्तार::पुलिस अधीक्षक की अपराधियों पर पैनी नजर

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000 72 73 30

 
निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,,7000-727330
 
*➡️ बालको कोरबा में सटोरियों के मुख्य सरगना पवन यादव सहित सट्टा के सामाजिक अपराध  में लिप्त सभी 08 सटोरिये के विरुद्ध की गई 04 (क) जुआ एक्ट के तहत गिरफ्तारी की कार्यवाही*
 
 
       कोरबा। *कोरबा पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल सर द्वारा लगातार थाना चौकी क्षेत्र में जुवा, सट्टा, कबाड़, कोयला ,डीजल और अन्य अवैध गतिविधियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है वही समाज मे व्याप्त सामाजिक अपराध पर भी विधि सम्मत वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है।*
           *पुलिस कप्तान के उक्त हिदायत पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री कीर्तन राठौर सर एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन पर सभी प्रभारियों और स्टाफ द्वारा लगातार मुखबिर लगाकर सभी थाना चौकी और पुलिस सहायता केंद्र के क्षेत्रान्तर्गत मिशन मोड में सघन कार्यवाही की जा रही है और प्रत्येक अवैध कारोबार में लिप्त होकर लड़ाई-झगड़ा, धमकी, दहशत गर्दी, रंगदारी जैसे अवैध कृत्य से लोगों में भय और आतंक का माहौल निर्मित करते है उनके आपराधिक प्रवृति पर अंकुश लगाने बुनियादी कार्यवाही करते हुए उन्हें जेल भेजने का काम किया  जा रहा है।*
         *इसी कड़ी में मुखबिर से सूचना प्राप्त हुआ था कि आदतन, शातिर, सटोरियों के सरगना "पवन कुमार यादव" अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर बालको क्षेत्र में सट्टा का अंक लिखकर रुपये पैसे के माध्यम से हार जीत का दाँव लगाकर बड़े स्तर पर जुआ का खेल खेला रहे है।* 
             *उक्त सूचना से तत्काल ही पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया जिस पर उनके द्वारा टीम गठित करके तत्काल नव पदोन्नत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामगोपाल करियारे के मार्गदर्शन में दबिश देकर के सटोरियों को शीघ्र पकड़ने हेतु निर्देशित किया गया।*
               *उक्त टीम द्वारा टी. आई. बालको राकेश मिश्रा, SI कृष्णा साहू, व थाने टीम के सदस्य के साथ विशेष सतर्कता और तत्परता से बड़े ही सूझबूझ के साथ आरोपियों की धड़पकड़ हेतु दबिश देकर घेरा बंदी करने रणनीति बनाई गई।  चूंकि मुख्य खाईवाल (सट्टा खेलाने वाला) आदतन सटोरिया है और सटोरियों के सरगना के रुप मे भोले भाले युवकों को भी जुआ और सट्टा का लत लगाकर उन्हें सामाजिक अपराध के अंधकार मय जीवन की ओर धकेलने का काम करता है।*
              *मुख्य खाईवाल "पवन कुमार यादव" कई जगह पर गिरोह के रूप में सट्टा चलाने की पूर्व आरोपी भी रहा है  अतः  सट्टा पट्टी के माध्यम से रुपये पैसे का दाँव लगाकर सट्टा खेल रहे 08 आरोपियों को पुलिस सूझबूझ और कुशल रणनीति से धर दबोचा गया। कुछ लोग भागने का प्रयास जरूर किये परंतु पुलिस की रणिनीति से नाकाम रहे।*
            *सट्टा के सभी आरोपियों से रुपये पैसे का दाँव लगाने वाले कुल नगदी रकम, 1,10,460/- रुपये, सट्टा पट्टी एवं 08 मोबाइल को जप्त किया जाकर कब्जा पुलिस में लिया गया।*
                   *उपरोक्त सूचना पर टीम बनाकर दबिश देकर पकड़े गए आरोपी:-*
 
*01 मुख्य खाईवाल पवन कुमार यादव पिता रामकुमार यादव 40 वर्ष परसा भाठा बालको*
*उसके साथी दरान*
*02- भूषण महंत पिता सुकृत दास महंत 47 वर्ष*
*03-दौलत ठाकुर पिता संकर सिंह ठाकुर 42 वर्ष*
*04-रामक्जमार साहू पिता बाबूलाल साहू 48 वर्ष*
*05-संतोष कुमार मनवार पिता तेरस राम 40 वर्ष*
*06-पुरषोत्तम साहू पिता राधेश्याम साहू 35 वर्ष*
*07-राजेश्वर यादव नेहरू पिता लाल यादव 35 वर्ष*
*08- दद्दू दास पिता रतन दास 27 वर्ष*
               *उक्त सभी सटोरिये निवासी बालकोके व्ताये गये हे' 

कोरबा में अवैध रेत खनन;-गलौज फिर धमकी बंद करवा दूंगा तुम्हारा काम, किया कलेक्टर से शिकायत पढ़िए पूरी खबर …

 निर्मल जैन,7000727330,9425224001ब्यूरो चीफ


कोरबा. जिले में अवैध रेत उत्खनन और परिवहन कार्य जोरों पर चल रहा है। जिला प्रशासन के साथ खनिज विभाग भी चुपी साधे है। जिले में बरमपुर, डेंगूनाला, रिसदा बायपास, कनबेरी हसदेव नदी, भिलाईखुर्द व राताखार बाईपास से रेत का उत्खनन किया जा रहा है। 
रेत माफियाओं का कहना है की विभाग मिलीभगत से रेत का उत्खनन किया जा रहा है। अगर इन रेत माफियाओं के विषय में खबर दी जाती है या शिकायत की जाती है। तो वे धमकी चमकी के साथ गाली गलौज पर उतर आते हैं। ऐसी एक शिकायत रेत भंडारण करता जय कुमार सोनी द्वारा कोरबा कलेक्टर से की गई है। जय कुमार सोनी ने अपने पत्र में लिखा है कि राताखार के पास नदी से रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। जिसे सोहेब अहमद द्वारा बकायदा जेसीबी मशीन लगाकर रेत निकाला रहा है। उनके द्वारा इस कार्य की फोटोग्राफी कर खनिज इंस्पेक्टर उत्तम कुमार खुटे को भेजा गया कि इस पर रोक लगाई जाए। उसके बाद ही सोहेब अहमद द्वारा उन्हें धमकी दी गई कि मैं तुम्हारी गलत शिकायत कर तुम्हारा भंडारण को बंद करा दूंगा गौरतलब है कि जिले में लगभग 6 से 7 लोगों को रेत भंडारण कार्य करने का लाइसेंस दिया गया है । लेकिन रेत माफिया रॉयल्टी ना देकर नदी नालों से अवैध उत्खनन करने में जुटे हुए हैं। जिससे रेट भंडारण कर्ता को लाखों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। यही वजह है कि जयकुमार सोनी को रेत माफिया द्वारा धमकाया जा रहा है। अब देखने वाली बात होगी कि जिला प्रशासन इस शिकायत को कितनी गंभीरता से लेता है या फिर इंतजार कर रहा है कि कोई अप्रिय घटना जिले में घटे फिर कार्यवाही की जाए।
ब्यूरो

दुकाने बंद रही फिर क्यों लिया जा रहा स्वच्छता शुल्क- हितानंद अग्रवाल* मिशन क्लीन सिटी अंतर्गत लिया जा रहा अत्यधिक यूजर चार्ज।मामले को कोर्ट में चुनौती की होगी तैयारी।।

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,70007-27330

कोरबा।
नगर निगम कोरबा में नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल एवं विपक्षी पार्षदगण क्ल नगर निगम आयुक्त से मुलाकात कर, उन्हें मिशन क्लीन सिटी अंतर्गत लिए जा रहे अत्यधिक यूजर चार्ज(स्वच्छता शुल्क) को माफ करने बाबत पत्र दिये । जिसमें उन्होंने लिखा कि वर्तमान समय में नगर निगम कोरबा क्षेत्र अंतर्गत सभी छोटे बड़े व्यापारियों से ₹600 प्रति माह के हिसाब से 1 वर्ष का एक साथ ₹7200, इस प्रकार 1 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक का ₹7200 एवं 1 अप्रैल 2021 से चालू वर्ष का ₹7200 व्यापारियों से संपत्ति कर में कुल ₹14400 जोड़ कर लिया जा रहा है। इसी प्रकार सभी घरों से ₹60 प्रति माह के हिसाब से 1 वर्ष का ₹720 एवं 2 वर्ष का 1440 रुपए संपत्ति कर जोड़ कर लिया जा रहा है। जो कि अत्यधिक निंदनीय कार्य है। इस कोरोनावायरस समय में गरीब जनता से इस प्रकार की वसूली उन्हें संकट में डालना है आगे उन्होंने लिखा कि आपके संज्ञान में है कि 1 अप्रैल 2020 से अभी तक कोरोनावायरस संक्रमणकाल नियमित चल रहा है, व्यवसाय लगभग पूरी तरीके से बंद रहे हैं। व्यवसायियों की स्थिति भी अत्यंत दयनीय है। बड़ी बात तो यह है कि जब व्यवसाय बंद है, दुकान बंद है ऐसे समय में दुकानदारों ने कचड़ा ही नहीं दिया तो उसका शुल्क लेना उन व्यापारियों के साथ अन्याय है। उसी प्रकार लॉकडाउन के समय लोगों का घर से बाहर निकलना नहीं हुआ तो कचड़ा भी ना के बराबर था इसलिए 1 अप्रैल 2020 से वर्तमान समय तक का यूजर चार्ज माफ करना चाहिए।
 एक तरफ तो केंद्र सरकार द्वारा कोरोना काल में जनता को राहत पहुंचाने हेतु लाखों करोड़ों रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की जा रही है। व्यवसायियों का व्यवसाय प्रभावित ना हो, छोटे बड़े व्यापारियों को व्यापार चलाने हेतु मुद्रा उपलब्ध कराया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत जनता के लिए अन्न धन एवं गैस की व्यवस्था की जा रही है। जिसके अंतर्गत प्रत्येक परिवार को 3 महीने का सिलेंडर मुफ्त दिया जा रहा है। दिवाली तक प्रत्येक व्यक्ति को 5 किलो अनाज दिया जा रहा है। महिलाओं के खाते में ₹500 मासिक मुफ्त में डाला जा रहा है। वहीं छोटे बड़े व्यवसायियों को पीपीएफ में 12 परसेंट का कंट्रीब्यूशन को भी माफ कर केंद्र सरकार स्वयं भर रही है। केंद्र सरकार द्वारा सभी को निशुल्क टीकाकरण भी कराया जा रहा है अन्य भी विभिन्न प्रकार की राहत योजना केंद्र सरकार चला रही है *ऐसे समय में कोरबा नगर निगम को भी अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए यूजर चार्ज को माफ करना चाहिए।*  
नेता प्रतिपक्ष ने हमारे ब्यूरो चीफ को बताया कि हमारे निवेदन को गंभीरता स यदि नही लिया गया तो समुचित तैयारी कर ३से कोर्ट में चुनौती दी जावेगी।
 
आयुक्त से मुलाकात के दौरान नेताप्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल के साथ पार्षद रितु चौरसिया, आरती विकास अग्रवाल कमला देवी बरेठ, प्रतिभा निखिल शर्मा, धनश्री साहू, अनीता सकुंदी यादव, सुफल दास, ममता बाली राम साहू, फिरत साहू, प्रभावती सुधार साय चौहान, नर्मदा लहरे, तरुण राठौर, अजय गोंड, अजय साहू एवं अन्य विपक्षी पार्षद उपस्थित रहे।*
 
ब्यूरो चीफ

गजानंद सांई मन्दिर;आन लाईन स्थापना सम्पन्न

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000727330,9425224001

 
 *गजानन-सांई मंदिर  स्थापना  दिवस आँनलाईन आयोजन* 
 
कोरबा॥।नन-सांई  समिती कोरबा द्वारा ३२ वर्ष पूर्व स्थापित गजानन-सांई मंदिर  का स्थापना  दिवस वरिष्ठ लोगों के संस्मरण अनुभव सुनेने हेतु आँनलाईन आयोजित किया गया
संयुक्त महाराष्ट्र सेवा मंडल, कोरबा ,गणेश सेवा समाज और संयुक्त महाराष्ट्रीयन मातृशक्ती द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में कोरबा के बाहर के शहरों से लगभग 50 से अधिक वरिष्ठ जन ने सहभागिता की मंदिर के स्थापना दिवस के ही उपलक्ष्य में, शाम 5 बजे ऑनलाइन गुगलमीट के माध्यम से, प्रवीण जाखडी मालती जोशी आरती आचार्या के द्वारा, मंदिर की स्थापना और संचालन से जुडे हुए लोगो को ,अपने अनुभव साझा करने का, अति ऊत्तम कार्य का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया..
इसमें सर्व श्री अरविंद वि. सवाई इंदौर, मंगेश मैराळ नासिक, चंद्रप्रकाश देवरस बिलासपूर,राजन पाठक मंडी एच.पी., आनंद कोलवाडकर,हेमलता युवराज चौधरी, उर्मिला ताम्हणकर, दीपक कुलकर्णी पुणे, ज्योती पाठक रायपूर, मधुकर जाखडी,सुधीर रेगे कोरबा,से थे
सभी ने मंदिर हेतु भूमि क्रय से निर्माण एवं वर्तमान स्वरूप में आने की अपनी यादों को ताजा किया
 सभी वरिष्ठजनों को आँनलाईन सम्मान पत्र सर्टिफिकेट प्रदान कियें गये जिन्हें कु. साक्षी आचार्य द्वारा विशेष रुप से तैय्यार किया गया था
 
कार्यक्रम का प्रारंभ मंदिर में दीपप्रज्वलन के पश्चात चिंतन ओत्तलवार के सुमधुर भजन से हुआ तत्पश्चात साहेबराव साऊथकर ने अध्यक्षीय उद्बोधन दिया
कार्यक्रम का विशेष आकर्षण मालती जोशी द्वारा बीते वर्षों में हुए कार्यक्रमों  गजानन महाराज प्रकट दिवस भंडारा स्वर्णजयंती, पालखी यात्रा, मंदिर स्थापना रजत जयंती महोत्सव,हिंदू नव वर्ष गुडी पाडवा के फोटो का पावर पॉइंट प्रेझेंटेशन था जिसका सभी ने आनंद लिया
आरती आचार्य ने मंदिर की पूर्ण प्रतिकृती अति सुंदर रांगोली में प्रदर्शित की
सचिव सुनील पाठक ने सभी का आभार प्रदर्शन किया
 कार्यक्रम का अंत पसायदान से हुआ !
सभी ने इस पूरे आयोजन की भरपूर तारीफ की !
कार्यक्रम में सहयोग ,हेमंत माहुलीकर, प्रवीण जाखडी , प्रतिभा पुंडलिक,  आलोक दिवाटे, अभिलाष साउथकर गणेश राठोड, नीरज नाईक का रहा

कोरबा जिले के नये पुलिस कप्तान ने पदभार ग्रहण किया

 निर्मल जैन ,ब्यूरो चीफ,7000727330

कोरबा :- दिनांक 02.07.2021 को कोरबा जिले के नए पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल (भापुसे) ने जिला पुलिस कार्यालय कोरबा पहुंचकर पदभार ग्रहण किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा, श्री कीर्तन राठौर सहित जिले के थाना/चौकी के  प्रभारियों ने नए पुलिस अधीक्षक को पुष्प गुच्छ देकर किया स्वागत। साथ ही कोरबा जिले के पुलिस अधिकारियों की भी संक्षिप्त मीटिंग लेकर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। 

श्री अभिषेक मीणा भापुसे, ने नए पुलिस पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल को चार्ज देकर रायगढ जिले के लिए प्रस्थान किए। नए पुलिस अधीक्षक कोरबा के पदभार ग्रहण के समय जिले के पुलिस अधिकारी श्री कीर्तन राठौर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा, नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा, श्री योगेश साहू, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय प्रदीप येरेवार, रक्षित निरीक्षक कोरबा, संजय साहू, 

निरीक्षक विवेक शर्मा, थाना प्रभारी बालको राकेश मिश्रा, थाना प्रभारी यातायात हरीश टांडेकर, थाना प्रभारी कटघोरा, लखन पटेल, थाना प्रभारी पाली पौरूष पुर्रे, थाना प्रभारी उरगा, विजय चेलक, निरीक्षक रामेन्द्र सिंह, चैकी प्रभारी हरदीबाजार अभय सिंह, चैकी प्रभारी रामपुर मयंक मिश्रा, चैकी प्रभारी मानिकपुर अशोक पाण्डेय, चैकी प्रभारी सीएसईबी आशीष सिंह एवं जिला पुलिस कार्यालय कोरबा के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहें।

 

ब्यूरो रिपोर्ट


SECL में बिजली संकट,समस्या का स्थायी न नही ;विनोद सिन्हा

 निर्मल जैन,94252-24001

*
कोरबा। सामाजिक कार्यकर्ता व पूर्व श्रमिक पदाधिकारी विनोद सिन्हा ने बताया कि एसईसीएल कोरबा में आए दिन बिजली, पानी का संकट बना हुआ है जिसके चलते कोरोना काल में पानी का सप्लाई नहीं होना कोरोना को वापस आने का निमंत्रण देना है।            
                 एसईसीएल कोरबा में  विद्युत रखरखाव कर्मचारियों के अतिरिक्त ठेकेदारों को सौंप दिया गया है जिसके चलते आए दिन 12:00 -12:00 घंटे से अधिक बिजली और पानी की आपूर्ति ठप हो जाता है जिसके चलते कर्मचारियों में मानसिक तनाव व प्रबंधन के प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही है।
                सिन्हा ने आगे बताया कि एसईसीएल में बिजली और पानी आपूर्ति के लिए स्थाई विकल्प नहीं होने के चलते जल एवं बिजली आपूर्ति बार-बार लंबे समय तक बाधित हो रही है इसके पीछे कुछ अधिकारी तथा बिजली एवं पानी आपूर्ति से संबंधित कुछ कर्मचारी जो अपने कार्य क्षेत्र से निजी व राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होने के कारण अनुपस्थित रहते हैं या अपने कार्यों के प्रति लापरवाह होने के कारण एसईसीएल के कर्मचारी बिजली व पानी का संकट लंबे समय से  झेल रहे हैं प्रबंधन को चाहिए की बिजली और पानी की बाधित होने पर वैकल्पिक व्यवस्था की जाए ताकि अव्यवस्था के बावजूद पानी और बिजली की आपूर्ति जारी रहे।

एनकेएच में डॉ. वाधवानी की स्मृति में गरीबों के लिए 25 बिस्तर आरक्षित 0 शहर के वरिष्ठ चिकित्सकों के हाथों किया गया शुभारंभ

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ

एनकेएच में डॉ. वाधवानी की स्मृति में गरीबों के लिए 25 बिस्तर आरक्षित
0 शहर के वरिष्ठ चिकित्सकों के हाथों किया गया शुभारंभ
कोरबा। डॉक्टर्स डे के अवसर पर एनकेएच परिवार ने चिकित्सा गुरु के नाम से प्रख्यात स्व. डॉ. जीएल वाधवानी को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये उनके सम्मान में 25 बेड जरूरतमंदों गरीबों के नाम किए हैं। इस मौके पर एनकेएच परिवार ने स्व. वाधवानी के सपनों को साकार करते हुये वरिष्ठ चिकित्सकों का सम्मान किया। कार्यक्रम का शुभारंभ गुरुवार को दोपहर 1 बजे जिले के वरिष्ठ चिकित्सकों व स्व. डॉ. जीएल वाधवानी के करीबी रहे डॉ. यू.एस. जायसवाल, डॉ. अनिल शेष, डॉ. पी.आर. कुम्भकार, डॉ. अरुण तिवारी, डॉ. नन्द, डॉ. रमेश थवाईत के हाथों किया गया।
कोरबा में चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाने वाले प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. जीएल वाधवानी का सेवा ही मूल मंत्र था। इस मूलमंत्र को आधार मानकर एनकेएच के डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने अस्पताल में एक जुलाई से नई व्यवस्था प्रारंभ की है। डॉ. वाधवानी की स्मृति में गरीबों के लिए 25 बिस्तर आरक्षित किए हैं। इनमें 20 बिस्तर जरूरतमंद, मध्यम व गरीब परिवार के मरीजों के लिए रखे गए हैं, जिनसे नाममात्र शुल्क लेकर उनका समुचित इलाज किया जाएगा। अस्पताल में भर्ती मरीजों से बेड शुल्क मात्र 500 रुपये ही लिया जायेगा। इन्हें चिकित्सा सेवाओं में भी रियायत देने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह 5 बिस्तर ऐसे मरीजों के लिए आरक्षित रहेंगे, जो शासन की योजनाओं के तहत बीमारी का उपचार कराने के लिए किसी भी तरह की कार्ड संबंधी और दस्तावेजी खानापूर्ति कर सकने में असक्षम हैं और उनके पास इलाज कराने के लिए पैसे भी नहीं हैं। इनसे सिर्फ दवाइयों का ही शुल्क लिया जाएगा। चिकित्सा से लेकर परामर्श और विभिन्न प्रकार की आवश्यक जांच की सुविधा भी इन्हें नि:शुल्क प्रदान की जाएगी। 
एनकेएच के डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने बताया कि स्व. डॉ. वाधवानी जो हमारे चिकित्सा गुरु हैं। उनके बताए रास्तों पर चल कर सेवापूर्ण चिकित्सा एनकेएच परिवार हमेशा करता रहेगा। उनके ही मार्गदर्शन में चिकित्सकीय कार्य को आगे बढ़ाया गया जो इस मुकाम तक पहुंचा है। गरीबों के प्रति सेवा की भावना उनके मन में आई है। डॉ. वाधवानी की स्मृति में अभी 25 बिस्तर जरूरतमंदों के लिए आरक्षित रखा गया है। इनमें से 5 बेड अत्यधिक जरूरतमंदों के लिए हैं। अत्यधिक गरीब मरीज को स्व. डॉ. वाधवानी के नाम से नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस तरह से एनकेएच परिवार ने उनको अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। शुभारंभ अवसर पर जिले के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. यू.एस. जायसवाल, डॉ. अनिल शेष, डॉ. पी.आर. कुम्भकार, डॉ. अरुण तिवारी, डॉ. नन्द, डॉ. रमेश थवाईत सहित डॉ. शंकर पालीवाल, डॉ. आर.पालीवाल, डॉ. ज्योति श्रीवास्तव, डॉ. अविनाश तिवारी, डॉ. दिविक एच मित्तल, डॉ. सुदीप्ता शाह, डॉ. नागेंद्र बागरी, डॉ. अनिल मिश्रा, डॉ. नीलिमा महापात्रो, डॉ. एस.पी.पांडेय, डॉ. परवेज संमीम, डॉ. रोहित मजूमदार, डॉ. पूजा कुंडू, डॉ. सचिन टी.आर., डॉ. यशा मित्तल, डॉ. अमन श्रीवास्तव के अलावा ड्यूटी डॉक्टरों का सम्मान एनकेएच के डायरेक्टर डॉ. एस.चंदानी व एडीसी की डायरेक्टर डॉ. वंदना चंदानी के हाथों किया गया। डॉक्टर्स डे के अवसर पर केक काट कर शुभकामनाएं दी गई।
हमारा एक साथी और मार्गदर्शक बिछड़ गया : डॉ. पालीवाल 
डॉ. जीएल वाधवानी के निधन को व्यक्तिगत क्षति बताते हुए डॉ. एस. पालीवाल और डॉ. श्रीमती आर. पालीवाल ने बताया कि आज से 15 साल पहले डॉ. जी.एल. वाधवानी और डॉ. एस. चंदानी के साथ हम लोग मिलकर 10 बिस्तरों वाला कोरबा हॉस्पिटल कोसाबाड़ी में प्रारम्भ किया था। इस परिवार का एक सदस्य बिछड़ गया है। स्व. डॉ. वाधवानी कुशल सर्जन ही नहीं बल्कि बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। उनके निधन से हुई क्षति की भरपाई तो नहीं होगी, लेकिन उनके आदर्श हमारे बीच हमेशा स्थापित रहेगा। जब कोसाबाड़ी क्षेत्र में न्यू कोरबा हॉस्पिटल की नींव डाली गई तो स्व. डॉ. वाधवानी भी उस नींव के महत्वपूर्ण हिस्सा थे। अब वह हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनका मार्गदर्शन और अनुभव हमेशा हमारा पथ प्रशस्त करता रहेगा। वह सादगी विनम्रता के साथ संघर्षशील भी रहे। अपने व्यापक अनुभव से सैकड़ों बीमार मरीजों को स्वस्थ किए हैं। एनकेएच समूह उनको याद करते हुये यह नेक काम किया है, जिससे उनकी याद सदैव बनी रहेगी।
-----

कीचन में घुसा उल्लू का बच्चा;रेसक्यू कर जंगल में विचरण हेतू छोड़ा गया

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000 727330

 
को२बा। कोरबा जिला वन्य जीवों से भरा है, आए दिन जिले के विभिन्न क्षेत्रों में अनेक प्रजातियो के जीवों के साथ पक्षियों का मिलना इस बात को दर्शाता हैं, ऐसा ही कुछ बीती रात्रि  पत्थरी पारा में देखने को मिला जहां एक परिवार के घर किचन में उल्लू का बच्चा जा घुसा, जिसकी सूचना  समीर गुप्ता (इंडिया समाचार) के संपादक के द्वारा स्नेक रेस्क्यू टीम प्रमुख (वन विभाग सदस्य) जितेंद्र सारथी को सूचना दी गई जिसके बाद जितेंद्र सारथी मौके पर पहुंच उल्लू के बच्चे को सुरक्षित रेस्क्यू किया गया, जिसके उपरांत घर वालों ने राहत कि सांस ली, जितेंद्र सारथी ने बताया यह उल्लू कही पेड़ से गिर गया होगा फिर आचनक उड़ने का प्रयास करते घर के अंदर प्रवेश कर गया होगा।
 
डीएफओ श्रीमति प्रियांका पाण्डेय मैडम ने इस विषय पर खुशी जाहिर करते हुए कहा की हमारा कोरबा जिला वन्य जीवों से भरा पड़ा है जो की बहुत अच्छी बात हैं साथ ही इन जीवों की सुरक्षा करना हम सब की ज़िम्मेदारी हैं।

NKH एवं बालाजी ब्लड बैंक द्वारा डाक्टर्स डे पर आज ब्लड ङोनेशन कैपं

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000727330

 
कोरबा। बालाजी ब्लड बैंक और न्यू कोरबा हॉस्पिटल के सयुक्त तत्वाधान में एक जुलाई डॉक्टर डे गुरुवार के दिन बालाजी ब्लड बैंक एनकेएच के पिछे ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया गया है। ब्लड डोनेट करने के लिए न्यू कोरबा हॉस्पिटल के कर्मचारियों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। इससे पूर्व भी संस्था द्वारा 60 यूनिट ब्लड दान किया गया था। ब्लड बैंक द्वारा रजिस्ट्रेशन और ब्लड कलेक्ट किये जाने की अलग-अलग हॉल में व्यवस्था की गई है। रजिस्ट्रेशन कराने के बाद कर्मचारियों का सबसे पहले हेल्थ जांच किया जाएगा। ताकि, पता चल सके कि  कोई और बीमारी तो नहीं है। जांच में सही पाए जाने पर ब्लड कलेक्शन हॉल में ब्लड कलेक्ट किये जायेगे।
यह केम्प सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक जारी रहेगा। ब्लड बैंक के संचालन ने ब्लड डोनरो से अपील किया है कि रक्त दान कर किसी का जीवन बचाया जा सकता है।

NKH ने डा.वाधवानी का सपना किया साकार;25बैड जरूरत मन्दो के नाम:वदंना चन्दानी बनी प्रेरणा स्त्रोत

 निर्मल जैन,7000727330

 
0 कार्डहीन गरीबों को नि:शुल्क उपचार की सुविधा
देना होगा सिर्फ दवा का खर्च
0 शहर के वरिष्ठ चिकित्सको के हाथों होगा शुभारंभ
कोरबा। एनकेएच परिवार ने चिकित्सा गुरु के नाम से प्रख्यात स्व. डॉ. जीएल वाधवानी को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करने उनके सम्मान में 25 बेड जरूरतमंदों के नाम किए है। एनकेएच परिवार ने स्व. वाधवानी के सपनों को साकार किया है।
अविभाजित मध्यप्रदेश में बिलासपुर जिले के समय से ही कोरबा में चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाने वाले प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. जीएल वाधवानी का सेवा ही मूल मंत्र था। इस मूलमंत्र को आधार मानकर एनकेएच के डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने अस्पताल में एक नई व्यवस्था प्रारंभ की है। डॉ. वाधवानी की स्मृति में गरीबों के लिए 25 बिस्तर यहां आरक्षित किए गए हैं। इनमें 20 बिस्तर जरूरतमंद, मध्यम व गरीब परिवार के मरीजों के लिए रखे गए हैं, जिनसे नाममात्र शुल्क लेकर उनका समुचित इलाज किया जाएगा। अस्पताल में भर्ती मरीजों से बेड शुल्क मात्र 500 रुपये ही लिया जायेगा। इन्हें चिकित्सा सेवाओं में भी रियायत देने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह 5 बिस्तर ऐसे मरीजों के लिए आरक्षित रहेंगे, जो शासन की योजनाओं के तहत बीमारी का उपचार कराने के लिए किसी भी तरह की कार्ड संबंधी और दस्तावेजी खानापूर्ति कर सकने में असक्षम हैं और उनके पास इलाज कराने के लिए पैसे भी नहीं हैं। इनसे सिर्फ दवाइयों का ही शुल्क लिया जाएगा। चिकित्सा से लेकर परामर्श और विभिन्न प्रकार की आवश्यक जांच की सुविधा भी इन्हें नि:शुल्क प्रदान की जाएगी, जिसका शुभारंभ गुरुवार डॉक्टर्स डे के दिन दोपहर 1.00 बजे जिले के वरिष्ठ चिकित्सको के हाथों किया जायेगा। इसके अलावा जिले के वरिष्ठ चिकित्सकों का भी सम्मान करने का निर्णय लिया गया है। 
 
0 मेरे आदर्श और चिकित्सा गुरु-डॉ. चंदानी
एनकेएच के डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने बताया कि स्व. डॉ. वाधवानी के कार्यों से वे हमेशा प्रभावित रहे हैं, उन्हें अपना चिकित्सा गुरु मानते हैं। उनके ही मार्गदर्शन में उन्होंने अपने चिकित्सकीय कार्य को आगे बढ़ाया और इस मुकाम तक पहुंचाया है। डॉ. चंदानी बताते हैं कि उन्होंने भी गरीबी को काफी नजदीक से देखा और उन हालातों में भी जिया है। वे इस बात को भली-भांति जानते हैं कि किसी गरीब के लिए आपात परिस्थितियों में इलाज करा पाना कितना मुश्किल होता है। उनकी पीड़ा को जानकर, समझकर आज जब वे इस लायक हुए हैं तो गरीबों के प्रति सेवा की भावना उनके मन में आई हैं। डॉ. वाधवानी के नाम से अभी 25 बिस्तर जरूरतमंदों के लिए आरक्षित रखा है। इनमें से 5 बेड अत्यधिक जरूरतमंदों के लिए हैं। इसे आने वाले दिनों में 10 तक करने की योजना है। अत्यधिक गरीब मरीज को डॉ. वाधवानी के नाम से नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस तरह से एनकेएच परिवार उनको अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करने का एक प्रयास कर रहा है। उनके बताए रास्तों, उनके पदचिन्हों पर चल कर सेवापूर्ण चिकित्सा एनकेएच परिवार हमेशा करता रहेगा।
 
0 नेक मकसद से मिलती है मंजिल
इंसान के जीवन में ऐसे कई अवसर आते हैं जो उसे भीतर से इतना झकझोर देती है कि वह अपने साथ-साथ समाज में बदलाव लाने का दृढ़ निश्चय कर लेता है। इसके लिए आवश्यक होता है संसाधन के साथ ही साथ आर्थिक सुदृढ़ता, प्रबल इच्छाशक्ति लेकिन इन सबके आभाव के बावजूद अपने मिशन में कामयाबी का लक्ष्य लेकर नेक मकसद के साथ अपनी मंजिल की ओर अग्रसर होते हैं। ऐसे ही अनेक विपरीत परिस्थितियों से लड़कर बदलाव लाने का जज्बा डॉ. एस चंदानी में रहा है, जिन्होंने जिले की स्वास्थ्य सुविधा में सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के अलावा पड़ोसी जिले सहित जमनीपाली में भी मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल स्थापित कर एक नए अध्याय की शुरुआत की।
 
0 गरीबों के लिए चेरिटेबल ट्रस्ट
गरीबी को काफी नजदीक से देखने वाले डॉ. चंदानी उनके दर्द को भी भली भांति समझते हैं, इसीलिए वर्ष 2009 से वे गरीबों के लिए एक चेरिटेबल ट्रस्ट सह अस्तित्व मानव सेवा संस्थान के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर, असहाय मरीजों को मुफ्त व रियायती दरों पर इलाज मुहैया कराया जा रहा है। कुछ समय पूर्व कोरबा में भारी बारिश के दौरान बाढ़ से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया था। इसी दौरान एनकेएच ने इस आपदा की घड़ी में बालको में विशाल राहत शिविर लगाकर पीडि़तों को मुफ्त इलाज व भोजन सामग्रियों की व्यवस्था करने का बीड़ा उठाया था। अपनी पूरी सफलता का श्रेय अपने परिवार के सहयोग तथा जनता के प्यार एवं विश्वास को देते हैं, परंतु अपनी इस विशाल सफलता को भी वे अभी पूर्ण नहीं मानते। उनका यह ध्येय एवं दृष्टिकोण है कि आने वाले वर्षों में कैंसर, हृदय की गम्भीर समस्याएं, किडनी संबंधित गहन बीमारियों का उपचार भी न्यू कोरबा हॉस्पिटल में ही संभव करा पाएं, ताकि लोगों को मजबूरीवश बड़े शहरों का रुख न करना पड़े। वे मानते हैं तभी उनकी सफलता पूर्ण होगी। सह अस्तित्व मानव सेवा संस्थान स्वास्थ्य के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में अपनी सेवाएं देने के लिए संकल्पित है। इसी कड़ी में बालिका गृह की एक बालिका जिसका कक्षा बारहवीं तक की पढ़ाई का पूरा खर्च संस्था उठा रही है। गर्मी के समय संस्था की ओर से जगह-जगह शुद्ध पेयजल की नि:शुल्क व्यवस्था की जाती है। कड़कड़ाती ठंड में जरुरतमंदों को कंबल वितरण किया जाता है। डॉ. चंदानी ने कहा की समाज के प्रति अपनी भागीदारी सुनिश्चित करना हम सभी की जिम्मेदारी है। 11 वर्ष पहले इस मिशन की शुरुआत की गयी थी। इन सेवा कार्यों से जो आत्म संतुष्टि मिलती है, वह धन दौलत शोहरत इन सभी से ऊपर उठकर है।
 
0 प्रेरणा बनी वंदना चंदानी
यह कालजयी सत्य है कि हर महान उद्देश्य की प्राप्ति में महिला की भागीदारी सुनिश्चित होती है। एनकेएच आज पूरे क्षेत्र में अपनी विशेष पहचान रखता है। इसके पीछे निश्चित तौर पर इस समूह के निदेशक डॉ. एस. चंदानी की धर्मपत्नी डॉ. वंदना चंदानी का भरपूर सहयोग और साथ रहा है। हर कदम पर उनका सहयोग और मार्गदर्शन मिलता रहा है, जिससे एनकेएच ग्रुप आज अपनी विशेष पहचान बनाने में सफल रहा।

महानगरों की तर्ज पर कोरबा में मिल रही स्वास्थ्य सेवाएं, मरीजों की सेवा और विश्वास के सात साल 0 स्वस्थ्य कोरबा संकल्प के साथ एनकेएच ग्रुप क्षेत्र में शीर्ष पर

 निर्मल जैन,7000727330,कोरबा ब्यूरो चीफ

 
कोरबा। कोरबा जहां एनकेएच ग्रुप ने मरीजों की सेवा और विश्वास के साथ महानगरों की तर्ज पर स्वास्थ्य सेवाएं निरंतर दे रहा है उसके सर्मपण और रियायती चिकित्सा सेवा का आगाज आज से सात वर्ष पहले हुआ है। जिस चिकित्सा सुविधा और सेवा के साथ आज हजारों मरीज कोरबा में उपचार करा मर्ज दूर कर रहे, पहले हालात ऐसे नहीं थे। औद्योगिक नगरी में लगातार मरीजों की बिगड़ते हालात और चिकित्सा सेवा की कमी यहां मौजूद कुछ चिकित्सकों के रातों की नींद उड़ाए हुए थे । सीमित संसाधनों में कोरबा के तीन वरिष्ठ चिकित्सकों ने त्वरित व आपातकालीन चिकित्सा सेवा देने 10 बिस्तरों के साथ  कोरबा हाॅस्पिटल की शुरूवात की। साफ मन से की गई कोशिस के नतीजे भी बेहतर होते है। मरीजों को रियायती और त्वरित चिकित्सा सेवा देने में कोरबा हाॅस्पिटल पर लोगो का विश्वास बढ़ा और चिकित्सकों के बेहतर प्रयास का ही यह नतीजा रहा कि कोरबा से बाहर रिफर होने वाले केसों में काफी कमी आई। एनकेएच ग्रुप में कोरबा ही नहीं बल्कि पड़ोसी जिलों से मरीज पहुंचने लगे। तमाम कठीन परिस्थितियों के बीच एनकेएच अत्याधुनिक उपकरण, 40 से अधिक चिकित्सक व 100 बिस्तरों के साथ स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में अग्रणी स्थान पर है। पिछले सात सालों में एनकेएच ग्रुप क्षेत्र में सेवा और विश्वास का प्रतीक बन गया है। 
अपने स्थापना काल से ही स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर न्यू कोरबा हॉस्पिटल निरंतर प्रगति पथ पर अग्रसर है। सामाजिक सरोकारों में भी अस्पताल प्रबंधन ग्रामीण इलाकों में निःशुल्क चिकित्सा कैंप लगा लोगो को निःशुल्क दवाईयों का भी वितरण करता रहता है। एनकेएच ग्रुप की स्थापना का पवित्र उद्देश्य यही है कि जिले में एक अच्छी चिकित्सा सुविधा मिले, जहां दूर-दराज से आए ग्रामीण मरीजों को बेहतर और उत्तम इलाज कर उन्हें पूरी तरह से राहत प्रदान कर सकें। प्रबंधन की पाक कोशिश हरबार कामयाब रही और 7 साल में सतत् सेवा से प्रत्येक मरीज यहां से निरोगी ही लौटे है। 
स्व. डॉ. जी. एल. वाधवानी, डॉ. एस पालीवाल व डॉ. एस चंदानी ने काफी कठीन प्रयासों के बीच सात साल पहले 10 बिस्तरों वाले कोरबा हाॅस्पिटल की शुरूवात की थी। चिकित्सकों के नेक इरादे उनके प्रयासों पर बेड व अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरणों की कमी नाकाफी साबित होते थे बावजूद सीमित संसाधनों के बीच भी तीनों चिकित्सक रात्रि पाली में भी बारी-बारी से अपनी सेवाएं देते थे। औद्योगिक नगरी में सूचना तंत्र और सुविधा की कमी होने के कारण इमरजेंसी केस आने पर स्वंय ही मरीज का ईलाज करके उनकी जान बचाते थे। चिकित्सकों की सेवा का लाभ मरीजों को मिलने लगा और एनकेएच ग्रुप का क्षेत्र में एक अलग पहचान बनता गया। समय के साथ-साथ जूनून भी बढ़ता गया। लोगों का भरोसा और विश्वास मिला, अब न्यू कोरबा हॉस्पिटल में 100 बिस्तर हैं जहां सभी मर्ज के विशेषज्ञ चिकित्सक उपलब्ध है। यहां नियमित तौर पर राजधानी से भी विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम निरंतर सेवाएं देने पहुंचती है। मरीजों के साथ उनके परिजनों के लिए भी यहां विशेष व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। प्रबंधन, मरीजों की संतुष्टि के लिए हमेशा तत्पर रहा है। उनकी शिकायत व सुझाव के अनुरूप अपनी कार्यप्रणाली में सुधार किया जाता रहता है।
बाक्स
मरीज को निरोगी घर भेजना पहला धेय - डॉ. चंदानी
अस्पताल के ग्रुप डायरेक्टर डॉ. एस. चंदानी ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र होने के कारण सड़क दुर्घटनाओं के सैकड़ों मामले आते है । ऐसे गंभीर मरीजों को उपचार के लिए पहले बिलासपुर या फिर रायपुर जाना होता था। समय पर उपचार के अभाव में कई बार मरीजों की जान पर बन आती थी। यही वजह है कि कोरबा में एनकेएच सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल स्थापित किया गया ताकि यहां ट्रामा केयर के जरिए गंभीर मरीजों का त्वरित उपचार कर लाइफ सेविंग का कार्य किया जा सके। साथ ही अन्य बीमारियों का भी एक ही छत के नीचे उपचार हो सके। समय के साथ आवश्यक उपकरणों की सुविधा नियमित रूप से बढ़ायी जा रही है। नगरवासियों का अटूट विश्वास के कारण एनकेएच पिछले सात वर्षों की अपनी उपलब्धियों के साथ शीर्ष पर पहुंचा है।
बाक्स....
हर मर्ज के चिकित्सक 24 घंटे उपलब्ध 
एनकेएच कोरबा में हड्डी रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, न्यूरोलॉजी,  सर्जन, चर्म रोग विशेषज्ञ, मनोरोग विशेषज्ञ, बीपी-शुगर जैसी बीमारियों के लिए विशेष एमडी मेडिसीन, फिजियोथेरेपी सहित निश्चेतना विशेषज्ञ नियमित 24 घंटे सातो दिन उपलब्ध रहते है। इसके अलावा जटिल रोगों के लिए समय-समय पर रायपुर से विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम को भी प्रति माह आमंत्रित किया जाता है। ताकि चिकित्सालय में आने वाले सभी मरीजों के समस्या का निदान किया जा सके। 
बाक्स....
अत्याधुनिक उपकरणों से लैस अंचल का पहला चिकित्सालय
चिकित्सालय में विश्व स्तरीय आपरेशन थियेटर, सेंट्रल आईसीयू, बच्चों के लिए एनआईसीयू, सीटी स्केन, लेबर ओटी, इमरजेंसी वार्ड, एक्स-रे, पैथोलैब, फार्मेसी, फिजियोथैरेपी सहित डायलिसिस की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

निगम उपायुक्त बने वैक्सीनेशन कार्य के नोडल अधिकारी

 निर्मल जैन ब्यूरो चीफ,9425224001,7000727330

कोरबा - आयुक्त कुलदीप शर्मा ने आदेश जारी कर नगर निगम कोरबा क्षेत्र में किए जा रहे कोविड वैक्सीनेशन कार्य के नोडल अधिकारी का दायित्व उपायुक्त पवन वर्मा को दिया है, इसके साथ ही प्रत्येक वैक्सीनेशन सेंटर हेतु सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त कर उन्हें पूरी निष्ठा के साथ दायित्व निर्वहन के निर्देश दिए हैं।

यहां उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार 18 से 44 वर्ष एवं 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोविड-19 का टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण कार्य के समुचित संचालन हेतु आयुक्त श्री कुलदीप शर्मा ने आज आदेश जारी कर निगम के उपायुक्त पवन वर्मा को कार्य का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है, साथ ही उक्त कार्य हेतु वैक्सीनेशन सेंटर वार सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। आयुक्त श्री शर्मा ने निर्देशित करते हुए कहा है कि वे जोन कमिश्नर के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए योजनाबद्ध तरीके से 18 से 44 वर्ष एवं 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का पंजीयन व कोविड-19 टीकाकरण की कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होने आदेशित करते हुए कहा है कि टीकाकरण प्रगति संबंधित टीकाकरण केन्द्र वार, वार्डवार व जोनवार जानकारी नोडल अधिकारी के माध्यम से समक्ष में प्रस्तुत करेंगे।

Beuro Report


कोरबा के विद्युत संयत्र के कैटिन में भयानक जहरीला सॉप घुसा;लोहे के पाईप में फंसा रेस्क्ययू हुआ

 निर्मल जैन,ब्यूरो चीफ,7000727330

*सीएसईबी प्लांट (KTPS)के कैंटीन में घुसा ज़हरीला नाग, लोहे के पाईप में फस गया था।*
 
 कोरबा।बारिश का मौसम  आते ही कोरबा जिले में लगातार सांपो का निकलना बड़ी संख्या में चालू हो गया हैं, जिसके कारण सर्प दंश की घटना भी सामने आते रेहती हैं पर साथ ही जिले में एक ओर सांपो को रेस्क्यू कर सुरक्षित जंगल में छोड़ने का भी काम स्नेक रेस्क्यू टीम कर रही जिसके कारण कहीं न कहीं सर्प मृत्यु के साथ सर्प दंश की घटना में भी कमी देखने को मिल रहा, बारिश शुरू होते ही शहरी क्षेत्र के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी साप बड़ी संख्या में निकल रहें, जिले के अलग अलग क्षेत्रों में सांप निकलने की सुचना मिलते ही रहती हैं, ऐसा ही कुछ आज देखने को मिला जिले में विद्युत आपूर्ति करने वाली सीएसईबी प्लांट में देखने को मिला, जिसके अन्दर एक कैंटीन संचालित है जहां एक ज़हरीला नाग एक पाईप में फस गया जिसके बाद वहा के संचालक के द्वारा स्नेक रेस्क्यू टीम प्रमुख (वन विभाग सदस्य) जितेंद्र सारथी को सूचना दी जिसके बाद जितेंद्र मौके पर पहुंचे और पाईप को कैंटीन से बाहर निकाला और साप को सुरक्षित रेस्क्यू कर डिब्बे में रखा तब जाकर सभी ने राहत की सांस ली साथ ही लोगों ने जितेंद्र सारथी का धन्यवाद ज्ञापित किया।
 
 *जितेंद्र सारथी ने बताया एक खास बात*  जितेंद्र सारथी ने बताया की उनको वहा बहुत ही मान सम्मान मिला, जहा एक ओर उनकी टीम की मेहनत को नज़र अंदाज़ करते हैं वही कैंटीन के संचालक के द्वारा सम्मान में कैंटीन आने पर निशुल्क भोजन करने की बात कहीं जिसे सुन कर जितेंद्र सारथी बेहद भावुक हुए और कहा सम्मान धन्यवाद।
 
ब्यूरो रिपोर्ट